बीएफ फुल सेक्सी चुदाई

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी वीडियो सेक्स सेक्स सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

डर्टी स्टोरी: बीएफ फुल सेक्सी चुदाई, मैंने उनकी जांघों को किस किया, तो उन्हें मानो करंट सा लगा … वो सिसकारते हुए हिल गईं.

बहू की सेक्सी चुदाई

उसकी चूत से रस निकल रहा था और वो चादर पे गिर रहा था, जिससे उस पर दाग बन गया था. सेक्सी जाधवमैं तो प्यार के मारे मयूर से लिपट गई और उसको अपनी बांहों और टांगों में जकड़ लिया.

माफ़ करना तीनों की नहीं चारों की, मेरे पेट में जो अभी प्यारा सा बच्चा है, उसे कैसे भूल सकती हूं. सेक्सी वीडियो शहर काजीजा ने रूम की कुंडी लगा ली और मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे दूधों को दबाने लगे.

मैं- कोई बात नहीं, मैं तुम्हारी मौसी का दोस्त हूँ और तुम मेरे साथ बाहर कहीं भी घूमने के लिए चल सकती हो.बीएफ फुल सेक्सी चुदाई: वो बहुत जोर से मेरी चूत में जीभ को चला रहे थे और फिर थोड़ा और नीचे खिसका के एक साथ दो उंगली मेरी चूत में डालने लगे.

अब मुझसे भी कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था, तो मैंने अपने पैंट की ज़िप खोल कर अपना लंड बाहर निकाला और उसे लंड चूसने के लिए बोला.एक हाथ वो से मेरे बूब्स दबा रहा था, दूसरे हाथ से मेरी जांघें सहला रहा था और मुंह से बुर चाट रहा था.

सेक्सी गर्ल्स xxx - बीएफ फुल सेक्सी चुदाई

मैंने बैग से दूसरी निकाल के जलाई और फिर मैंने रानी का सुनहरा बदन चाटना शुरू किया.एक दो बार धक्का देने के साथ ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया.

कुछ ही देर की लंड चुसाई से मेरा पानी निकल गया और उसके मुँह में चला गया. बीएफ फुल सेक्सी चुदाई तभी अभय ने आगे से मेरी चूत में पूरी ताकत के साथ अपना लौड़ा जोर से घुसाना चालू कर दिया.

बीच में मौका देखकर वो मेरे पास आ रही थी, हर चक्कर में वह मुझे प्यार से खूब लंबा चूमकर जा रही थी, कभी सेंडविच लायी, कभी कॉफी लायी.

बीएफ फुल सेक्सी चुदाई?

मैंने उनसे पूछा- मज़ा आया?उन्होंने भी हंसते हुए हां में गर्दन हिलाई. मैं राज को सुनाने के लिए जोर से बोला- उषा कपड़ों को धो दो, राज 2 घंटे में आएगा. तभी मैंने सबा को रोका, तो सबा मुझे गुस्से से देखने लगी … क्योंकि वह गर्म हो चुकी थी और मुझे छोड़ना नहीं चाहती थी.

आज एक राउंड हो जाए?मैंने सोचा कि पहले एक बार राज से बात कर लेता हूं कि कहां है. वैसे तो मुझे मेरे पति भी पूरी तरह संतुष्ट करते हैं, पर आज मैं जेठजी का स्टैमिना और टाइमिंग देखकर उनकी दीवानी हो गयी. मुझे एक फ़ाइल के चक्कर में ब्यावर जाना जरूरी था तो मैंने बस से जाना फाइनल किया.

मैंने उसको व्हाट्स एप पर मैसेज किया तो उसका नम्बर और फोटो मुझे दिखाई दिया. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लन्ड पर रख दिया तो मैंने उसका लन्ड सहलाना शुरू कर दिया. फिर अभय ने मेरी चूत में नीचे हाथ ले जाकर देखा तो उसके हाथ में खून लग गया था.

तभी बॉस ने मेरा हाथ अपने लंड पर रख दिया, जिसे मैंने सहलाना शुरू कर दिया. पहले बॉस मेरे साथ डांस कर रहे थे, उन्होंने मुझे कस के अपनी बांहों में लपेट कर मेरे कान में कहा- यार, तेरी बहन तो कसम से पटाका है.

वो जिद करते हुए बोली- नहीं बताओ, मुझे जानना है कि ऐसा क्या बोल दिया था मैंने!मैं बोला- तुम मेरे साथ सेक्स करने की बात कर रही थी.

फिर महेश ने ज्योति के चूतड़ों को पकड़ कर चौड़ा किया और अपनी बेटी की गांड के छेद के चारों ओर जीभ फेरने लगा.

पर आज तो मैं बस खूब चुदना चाहती थी।हमने इस पोजीशन में 15-20 मिनट तक सेक्स किया. तब मैंने अपनी मौन स्वीकृति दे दी और मनु ने तो मेरे नक्शे कदम पर चलना ही ठीक समझा, लेकिन परमीत को कोमल ने उकसा ही लिया. उसकी बातें सुनकर मुझे भी जोश आने लगा और मुझे भी उससे गांड मराने की बात खुलकर करने का जी करने लगा.

मैंने उसकी गांड में सीधे लंड डालने की बजाय उसको दूसरे तरीके से उत्तेजित करना था. सोनिया- ओह्ह्ह रोहन जानू … मैं पागल हुई जा रही हूँ … आह्ह्ह ह्ह्ह्ह … हाय कितना मजा आएगा जब तुम्हारा लंड मेरे हाथों में होगा. आह आह आह्ह्ह मजा आ रहा है सर … पहले क्यों नहीं चोदा दोनों ने मिलकर … आह … मैं आज से दोनों की रंडी हूँ … चोदो मुझे … आह्ह्ह आह्ह्ह मजा आ रहा है और जोर से.

तभी विक्की बोला- रुको यार … मैं कार में सामान भूल गया हूं … लेकर आता हूं.

मैं अपने पति के बॉस के सामने घोड़ी बन गई और फिर उन्होंने कंडोम से लगा लंड मेरी चूत में डाल दिया. तो फिर एक कपड़ा और उतारने में क्या ऐतराज है?लेकिन पत्नियों ने दोनों ही मर्दों में से किसी की नहीं सुनी और बोली- हम अभी तक इतना को-ऑपरेट कर रही हैं वही काफी है. हम साथ जाने लगी तो रास्ते में मैंने इकरा को सब बताया जो मैंने रात में अपनी कुंवारी बुर के साथ किया था और जो मजा मुझे मिला था.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों, खासकर हॉट भाभी की चूत को मेरा प्यार और लंडवत प्रणाम. मैं- ठीक है भैया …ये कह कर मैंने भाबी के पैरों को फैलाया और उनकी बुर की फांकों में अपना मुँह लगा कर लपर-लपर चाटने लगा. रास्ते में जाते हुए मैंने अपने एक स्कूल के दोस्त को फोन करके कह दिया कि एक कंडोम का पैकेट ले लेना.

सबा की रसीली चुचियों को चूसने के बाद मैं फिर से धीरे धीरे नीचे की तरफ बढ़ने लगा.

मैं आज फिर ये सोच सोच कर बहुत ही ज्यादा गर्म हो रही थी कि आज उसी बेड पर विक्की मुझे चोदेगा, जिस पर कुमार इतने दिन से मुझे चोद रहा था. रोहन- और मेरी टांगों के बीच में यह 8 इंच का सिपाही, जो परेड कर रहा है … इसका क्या करूं?सोनिया- हाय उसे आजाद क्यों नहीं कर देते … हटाओ ना यह स्टुपिड अंडरवियर और उस सिपाही को आजाद कर दो.

बीएफ फुल सेक्सी चुदाई मैं जानती थी कि ये दर्द बस कुछ ही पल का है।उन्होंने एक दो बार लंड को आधा बाहर निकाल कर अन्दर डाला और लंड अच्छे से पुद्दी में सेट हो गया।कुछ देर तक वो ऐसे ही मेरे ऊपर लेटे रहे और कुछ ही देर में मेरा दर्द कम हो गया, मैं सहज हो गई।उन्होंने धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करना शुरू किया। लंड इतना मोटा था कि फुद्दी से चिपक के अन्दर जा रहा था. पर मामी की साँसों के भारीपन और गति से मुझे अंदाजा हो गया कि वो भी पानी छोड़ने लग गयी हैं।यह मेरे लिए बहुत ज्यादा था और मामी के अनुभवी हाथ कुछ ज्यादा ही तड़पा रहे थे और ऊपर से उनकी चूत की छुवन।तभी मामी रुकी और मेरे पेट पर हाथ रख दिया.

बीएफ फुल सेक्सी चुदाई तभी दीदी के ससुर जी को न जाने क्या सूझा कि उन्होंने नजदीक आकर अपना लंड मेरी बहन के मुँह में लगा दिया और उसको लंड चूसने के लिए कहने लगे. ”ऐसा क्यों?”मुझे अब कौन सी शादी करवानी है?” कहकर गौरी जोर-जोर से हंसने लगी थी।ओह…”गौरी क्या तुम्हारा मन प्यार करने और करवाने का बिल्कुल नहीं होता?”हट! प्यार करने से थोड़े ही होता है वह तो अपने आप हो जाता है?”अब मैंने गौरी की सु-सु के पपोटों को पकड़कर भींचना शुरू कर दिया। गौरी की मीठी सीत्कार निकलने लगी।गौरी आज मेरा मन बहुत कर रहा है तुम अपने लड्डू को अपने होंठों से प्यार करो.

संजू लंड के ऊपर ही उठक बैठक करने लगी और आंख मूंदे अपने होंठों पर दांत फेरते हुए कसमसाने लगी.

चीन की सेक्सी दिखाओ

मैं तुरंत ही भाग कर अपने बेडरूम में चली गयी और अपने बाथरूम में घुस गई. मोसी मुझसे बोलीं- तुम्हारे मौसा मुझे कभी इतना प्यार नहीं करते … सच में तुमने मुझे खुश कर दिया. फिर वो फव्वारे की तरह झड़ गईं और दीदी की चुत से ढेर सारा पानी निकल गया.

वो दोबारा से मेरे बोबों से खेलने लगा और मैं उसके लंड को सहलाने लगा. वो जवान आंटी गर्म होने लगीं और मज़े लेने लगीं … सिसकारियां लेने लगीं ‘आह … आह …’मैंने उनके कानों के अन्दर अपनी जीभ नुकीली करके डाल दी. शुरू में तो इसकी आदत नहीं थी लेकिन फिर घर से दूर रहने की आदत भी हो गई.

कोई 10-15 मिनट बाद उसका कॉल आया और उसने मुझे अपने घर की लोकेशन बताई.

उसने झड़ते हुए ज़ोर ज़ोर से जब झटके दिए, तो मैं दुबारा उसके साथ झड़ गई. मैंने उनकी मैक्सी हौले से ऊपर करके उनकी घुंडियों को चूमने लगा, तो तब वो पागलों के जैसे तड़पने लगी थीं. कुछ देर तक मैं धीरे-धीरे अपने लंड को उसकी गांड में ऐसे ही फंसाये हुए उसको किस करता रहा.

वहां चाची को छोड़कर आने का मेरा मन ही नहीं हो रहा था, फिर भी पढ़ाई के लिए आना पड़ा था. मैं समझ तो नहीं पाया कि वो तीनों आपस में क्या बातें कर रही थीं मगर कुछ तो बात थी जो वो आपस में एक दूसरे को बता रही थीं. खैर रिया इसी के साथ विदा हो गई और मैं फिर से मेरे उपन्यास में सर को छुपा कर उस दुनिया में खो गई, जो कई हजारों साल पहले बनी, जी गई … और तबाह हो गई.

यह देखकर उनके ससुर भी जोश में आ गए और अपना लंड उनकी चुत में पीछे से डालने की कोशिश करने लगे. दोनों के लंड पर वीर्य की मलाई लगी हुई थी, जिसे मैं जीभ से चाट रही थी.

मेरे होंठ उसकी पीठ को चूम रहे थे और हाथ उसकी चूचियों को दबा रहे थे. हम दोनों यानि मैं और उनके ससुर जोश में आ गए और सेजल दीदी के कपड़े फाड़ कर उनके शरीर के अलग करने लगे. वो जिद करते हुए बोली- नहीं बताओ, मुझे जानना है कि ऐसा क्या बोल दिया था मैंने!मैं बोला- तुम मेरे साथ सेक्स करने की बात कर रही थी.

वो वैसे ही मेरी दोनों टांगों के बीच में अपने दोनों पैरों को मेरे शरीर के दोनों तरफ फैलाते हुए पेट के बल औंधी लेट गई.

गाली गलौज कर लेना लंड चूत की बातें कर लेना, अब हमारे लिए बहुत बड़ी बात ना रही. ऐसा लग रहा था कि उसका लौड़ा उसके अंडरवियर को फाड़ कर बाहर आने के लिए बेताब हो रहा था. सुहास ने मुझे फिर से बेड पर लेटा दिया और मेरी चुत पर अपना लंड सैट करके मेरी चुत में अपना लंड डालने लगा.

उसने पिंकी को ही गोद में उठा लिया और बोला- चलो शावर लेते हैं, फिर लंच लेने भी जाना है. महेश ने अपना लंड हाथ में पकड़ा और उसका मोटा सुपारा ज्योति की चूत के मुँह पर टिका दिया.

”हाय पापा, इतना तंग करते हैं मेरे नितम्ब आपको? ठीक है मैं कुतिया बन जाती हूँ. शुरूआत में तो मुझे उसका यूं घूरना कुछ चुभता सा था … पर अब मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है. मैं अभी भी उनसे अलग होने की कोशिश कर रही थी क्योंकि वो नशे में थे और मुझे पता था कि अगर मैंने उनको नहीं रोका तो फिर बात बहुत आगे तक बढ़ जायेगी.

सनी लियोन के सेक्सी सॉन्ग

बिन पानी की तरफ हॉट भाभी तड़पने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उनके मुँह से गालियों का अम्बार लग गया- आह बहन के लौड़े मैं कोई रंडी हूँ … जो इस तरह लौड़ा पेल दिया … धीरे चोद मादरचोद.

शान- अरे लेकिन …वो आगे कुछ कहे, उससे पहले मैंने फिर से उसके लंड को दबाया और कहा- क्यों चिंता कर रहे हो. जिन्होंने मेरी पहली कहानीबस स्टॉप के पीछे गर्लफ्रेंड को चोदाको पसंद किया और मुझे ढेर सारे मेल भेजे. मेरे दोस्त ने मुझे कॉल करके बोला कि आर्यन इस लड़के को 2-3 दिन अपने पास रख लो यार.

संजू रोहित की आंखों में झांक कर मुस्कुराते हुए बोली- वाकयी में बहुत एक्सपर्ट हो गए हो. अब अगर तुमने अपनी बहन की चूत नहीं दिलवाई तो फिर मैं नाराज हो जाऊंगा. सेक्सी चुदाई लड़कामैं तो इतना उत्तेजित हो गया था कि मुझे तो लगने लगा था कि मैं झड़ ही जाऊंगा.

हम तो बहुत लकी हैं कि तुम हमारे साथ सब कुछ करने के लिए तैयार हो गई हो. यह मैं उनकी राहत भरी एक सांस से समझ गया था।शायद मेरा ‘हो गया है’ यह सोच कर उन्होंने अपने हाथ पीछे कर के साड़ी नीचे करने की सोची.

हम दोनों बहनें अब कण्ट्रोल में नहीं थी लेकिन मेरी निगाह बस सोनम और बॉस पर थी. मेरे बोलने पर उसने आंख खोली और बोली- हम्म क्या है … अब सोने भी दो यार. भाभी को बहुत मजा आ रहा था और राहुल था कि भाभी की चूत को चूसने में लगा हुआ था.

इस जबरदस्त चुदाई के दौरान मैं कितनी बार झड़ी थी, ये तो मुझे याद भी नहीं. इस पर परमीत ने फिर ताव दिखा कर कहा- मैंने कह दिया, सो कह दिया … मैं पीछे हटने वाली नहीं हूँ, हां तुझे लंड चुसाने वाला नहीं मिल रहा है, तो भले पीछे हट जा. वो उसको ऐसे निचोड़ रही थी जैसे उसको वीर्य पीना सबसे ज्यादा पसंद हो.

उसने एक हाथ से मेरे सिर के पीछे के बाल पकड़े और दूसरे हाथ से अपना एक दूध पकड़ कर कड़क निप्पल को मेरे मुँह में दे दिया.

अच्छी बात ये थी कि अब मेरी चुत में लंड ठीक से घुसने का समय आ गया था. मैंने उससे कंडोम का पैकेट ले लिया, तो सबा मेरी तरफ देखने लगी लेकिन कुछ बोली नहीं.

मैंने उससे कहा- अरे यार इसमें शर्माना क्या … ये तो जानवर हैं, कहीं पर भी चालू हो जाते हैं … इसके लिए क्या कर सकते हैं. अब सुनील भी बेड पर आ गया और सीधा अपने होंठ दीपा के होंठ से मिला दिये. बस वहां से 7 बजे चली और 7:45 पर मैं वापिस कॉलेज वाले बस स्टॉप पर उतर गया.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि दोनों सेठों ने मेरी चूत और गांड की चुदाई शुरू कर थी. उसने कहा- बिटिया बिना दूध पिये ही सो गई है, मैं उसको दूध पिला दूँ अगर उसने पी लिया … तो हम आधी रात तक फ्री हैं. या यूं कहें कि कॉलबॉय का काम करता हूँ, बदले में दोनों तरफ का काम बन जाता है.

बीएफ फुल सेक्सी चुदाई वो मेरे होंठों को चूसते हुए नीचे से लंड के धक्के मेरी चूत में लगा रहे थे. मौसी गनगना उठीं और मेरे बालों को पकड़ कर मेरे सर को अपनी चूत में ज़ोर ज़ोर से अन्दर बाहर करने लगीं.

হিন্দি এডাল বই

मेरा तो रोम रोम खड़ा हो गया, मेरी गोरी गोरी जांघ अपने आप मचलने लगी।ऐसा करते हुए वो मेरे पेट तक पहुँच गए और मेरी नाभि में अपने होंठ डाल कर चाटने लगे।मेरे मुँह से नशीली सिसकारी निकलने लगी- आआअह्ह ह्ह्हऊऊऊ अओओ ओओह्ह ह्ह्ह शीस्स्स स्स्सस्स … आआअह्ह ईईईई!ऐसा करते हुये वो मेरे दूध तक पहुँच गए, मेरे एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और एक दूध को अपने हाथों से मसलने लगे. जिस दिन से उसकी बहन ने मुझे बताया था कि उसकी बहन की शादी उसी गांव में हो रही है उसी दिन से मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था. फिर मैं शादी वाली जगह प्रतीक के साथ आ गई और उससे मिलने के बाद मैं बाजू के कमरे में पंडितजी के बुलावे का इंतज़ार करने लगी.

मूतने के बाद मैंने उसे अपनी तरफ खींचा, तो हम दोनों अब सूखे में आ गए थे. मैंने सर झुका कर माँ से कहा- मम्मी शान को जाने दीजिए प्लीज़ … उसकी कोई गलती नहीं थी. माला सिन्हा सेक्सीजब मैंने इस बारे में अपने बॉयफ्रेंड आशीष से बात की तो उसकी मां ने मेरी मां को रंडी बता दिया.

बुर्का और ऊपर करके वो टॉप के बटन खोलकर सामने से वो मेरे बूब्स चूसते हुये मुझे चोदने लगा।उसके झटके देखके लग रहा था कि अभी उसको बहुत कुछ सीखना बाकी है.

और फिर मेरी चूत में से फच्च … फच्च … कर के एक फव्वारा छूट गया और 2-3 फव्वारे और छोड़ती हुई एकदम ढीली पड़ गयी और बेड पे सीधी होके हाथ आगे फैला के लेटती चली गयी।उधर सचिन भी मेरी लबालब भरी चूत में फच्च फच्च करते हुए आखिरी झटके मारने लगा और एकदम से उचक के अपना वीर्य मेरी चूत में भरता हुआ मेरी कमर पे ही निढाल होकर गिर गया। फिर वो लंड निकाल के मेरे बगल में आकर गिर गया. ”क्यों?” गौरी ने मेरी ओर तिरछी नज़रों से देखा।वह मंद-मंद मुस्कुरा भी रही थी।गौरी तुम बहुत खूबसूरत हो मेरी जान!”बस … बस झूठी तारीफ़ रहने दो … आप कपड़े चेंज कर लो। मैं चाय बनाती हूँ, वैसे खाना भी तैयार है आप बोलो तो गर्म करके लगा दूं?”गौरी तुम्हें अपनी बांहों से अलग करने का मन ही नहीं हो रहा.

एक दिन हम दोनों रात में बात करते करते बार में चले गए और हम दोनों ने वहां पर बियर पी और उसके बाद मैं उसकी बाइक पर घूमने निकल गई. पापा पूरे निढाल होकर मेरी चूचियों के ऊपर गिर गये और काफी देर तक ऐसे ही पड़े रहे. मैं आहें भर रही थी- बेबी धीरे बेबी धीरे आह बेबी धीरे धीरे आह सुहास बेबी धीरे आह …कुछ देर और चोदने के बाद सुहास भी झड़ने लगा.

किसी अनजान व्यक्ति का साथ पहली बार था तो मेडम मसाज लेने को रेडी नहीं हो रही थी.

कुछ देर बाद मैंने चाची का एक पैर टॉयलेट के कमोड पर रखा और फिर से उन्हें चोदने लगा. यहाँ पर ज्यादातर पुरुष जो उसके संपर्क में आते थे, उससे उम्र में काफी छोटे थे. पर इतना तो मैं पक्का कर चुकी थी कि अगर इस बार मौका बना, तो मैं अपने हिसाब से चुदूंगी.

सेक्सी वीडियो हटाबांए हाथों ने मम्मों को थाम लिया था और संजय के कारनामों की तरह ही निप्पल को उमेठने लगे थे. फिर जब मेरा दर्द कम होने लगा तो उसने मेरी गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया.

सेक्सी 16 सेक्सी सेक्सी

कुछ देर बातें करने के बाद श्वेता दीदी बोली- ठीक है आप दोनों बातें कीजिए … मैं सोने जा रही हूं. उसके बाद वो दोनों उठे और अपने कपड़े पहनते हुए भाभी कहने लगी कि अब उनको घर जाना होगा. बोल चुदाई करेगी ना मेरे साथ?मैं भी मस्ती में बोली- क्यों नहीं … आज जितना मन है, चोद लो.

मैं उसकी बांहों में ऐसे जकड़ी हुई थी जैसे किसी ने बच्चे को गोद में भर कर उठा रखा हो और कस कर दबा रहा हो. आज भी हम दोनों मिलते हैं और मौका मिलते ही हम दोनों सेक्स का मजा कर लेते हैं. अभी तक मैंने सिर्फ तीन यानि विकी, शरद और सिद्धार्थ के बारे में लिखा है.

भाभी की चूत का रस पीते हुए मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि उनकी चूत से शहद निकल रहा हो. लेकिन भैया ने मेरे दोनों हाथ पकड़ रखे थे और भाबी ने मेरा सिर अपनी बुर में घुसाया हुआ था. चाची बोलीं- दीपू ये कैसी बात कर रहा है तू? तुम्हें शर्म नहीं आती … मैं तुम्हारी चाची हूं.

”नहीं सर …”हाँ मेरी जान!”और उन्होंने मेरी चूत पर किस कर के चूसनी शुरू कर दी. मुझे उसके नियम कानून भी नहीं पता थे, तो हम लोगों ने ज्यादा ध्यान भी नहीं दिया.

अब मेरी बीवी थोड़ी सी परेशान होकर कहने लगी- यह तुम दोनों का ही प्लान था न हम दोनों को इस तरह सबके सामने नंगी करने का? यह तुम्हारी अच्छी बात नहीं है.

मैंने शाम की चाय पी और चैक किया कि वो ऑनलाइन थी कि नहीं, लेकिन वो ऑनलाइन नहीं थी इसलिए मैंने उसे एसएमएस किया ‘गुड इवनिंग डायरेक्टर साब. भाभी देवर की कहानी सेक्सीमैं इससे ज्यादा चुदाई करवाने की हालत में नहीं थी क्योंकि मेरी चूत और गांड दोनों ही सूज गई थी. वीडियो सेक्सी देखने वाली वीडियोअब तो मेरा और मनु का भी मन इस खेल में कूद जाने का हो रहा था, लेकिन हम लोगों ने पैरों को आपस में कस कर खुद को संभाले रखा. वो बोले- क्या तुम आज रात मेरे दोस्त से चुदवा लोगी क्योंकि आज मैं तुम्हारी बहन को चोदना चाहता हूँ.

नशे के कारण उसके पैर लड़खड़ा रहे थे। मैंने उसकी कमर को थामते हुए उसे सम्हाला।उसके जिस्म की मादक खुशबू पाकर मेरा मोटा लंड एक झटके में खड़ा हो गया। उसने लोवर और टीशर्ट पहनी हुई थी।मैंने उसे कहा- देखो, आज रात तुम मेरी हो और मैं तुम्हारा! तुम अपने दिल से निकाल दो कि हम दोनों की उम्र क्या है, बस बिना शर्म के मेरा साथ दो.

मैं चाची की गर्दन पर किस करने लगा और गैस को बंद करके चाची को उठा क़र बेडरूम में ले आया. हम दोनों बस का इंतजार कर ही रही थी कि अचानक से मेरे बॉस की कार हम दोनों के पास आकर रुकी. मैंने उसको बोलने का मौका भी नहीं दिया और सारी बात उससे अपनी तरफ से ही कहने लगी.

सोनिया- तुम्हारे साथ बात करना बहुत अच्छा लग रहा है रोहन … मेरे साथ होने के लिए शुक्रिया. इतनी चिकनी चूत देख कर मुझे लगा, जैसे चाची अपनी झांटों को आज ही साफ़ करके आई हों. मैं- आह रंडी … क्या मस्त चुत है तेरी … मजा आ रहा है चाटने में … साली पहले बुला लिया होता, तो रोज सुबह शाम तेरी बुर चाटता और चोदता.

అమెరికన్ బ్లూ ఫిలిం

वो बोले- मैंने इंटरनेट में देखा था कि लड़का जब लड़की की चूत को इस पोज में चोदता है तो लड़की को ज्यादा मजा आता है. जांघों की मसाज के बाद वो ऊपर की तरफ आया और नीता के कंधों और पीठ की मसाज करने लगा तो मैं बोला- ब्रा में आयल लग जाएगा, ब्रा उतार दूं क्या?इस पर नीता बोली- नहीं, रहने दो, ब्रा नहीं उतारना. मगर उसकी सादगी देख कर मेरे मन में अभी सेक्स के विचार नहीं आ रहे थे.

उसके एक सप्ताह के बाद मैंने उसको हाँ बोल दी और हम दोनों लोग एक दूसरे से प्यार करने लगे.

पर आज जब उसने कहा कि ड्रिंक कर लो, दर्द नहीं देगा, तो मैंने सोचा कि आज मौका अच्छा है … एक बार गांड में भी लंड ट्राई कर लेती हूँ.

फिर जब मुझे बरामदे की लाईट बंद होने का आभास हुआ, तो मैंने अपनी जगह से उठ कर खुद को आश्वस्त किया और अपने कमरे का दरवाजा बंद करके बिस्तर पर चली आई. अब माहौल इतना गर्म हो गया कि नहाने की बजाय चूमा-चाटी होने लगी वहीं पर।चूंकि मेरी बीवी नंगी थी इसलिए मैंने दोस्त की बीवी को भी नंगी करने के लिए उसकी पेंटी में हाथ देकर उसको खींचना शुरू किया लेकिन वो मुझसे मिन्नतें करते हुए मना करने लगी. डिस्कवरी चैनल सेक्सीमैंने भी झट से अपना मुँह खोला और भैया का 8 इंच का मोटा लम्बा लंड चूसने लगा.

[emailprotected]मैं अपनी चुदाई की आगे की कहानी जल्दी ही लेकर आऊंगी. मेरी माँ ने शान का हाथ पकड़ लिया था और वो उसको गुस्से से देख रही थीं. इस कहानी की हीरोइन मेरी चाची हैं, जो कि दिखने में बहुत मस्त लगती हैं.

मैंने जीजा से उनकी शर्त के बारे में पूछा तो वो कहने लगे कि तुमको मेरे सेठ दोस्तों से चूत चुदवानी होगी. इस तरह की घमासान चुदाई के बाद प्रिन्स थकने लगा तो वो रुक गया और सीधा लेट गया.

ऐसे ही रात के 9 बज चुके थे, बाहर मेरे कालोनी का माहौल भी शान्त हो चुका था।सुखविन्दर ने मुझे कहा- अब किसी के आने का डर नहीं है, चलो अन्दर रूम में ही खाना खाते हैं।और हम तीनों अन्दर बैडरूम में गए.

मैं तो बस घर पर अकेला होने का फायदा उठा कर सिर्फ अंडरवियर और बनियान में ही घूम रहा था. उसके मुंह से गूं … गूं … की आवाज बाहर निकलने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैंने उसकी योनि में अपने लंड को घुसाये रखा. पर उस समय तो मैंने लंड को मध्यम आकार के केले से तुलना करके ही अच्छा समझा था.

भाभी की चुदाई सेक्सी स्टोरी भाई बहन और ससुर बहू की चुदाई अब बाप बेटी की गांड चुदाई स्टोरी का रूप ले चुकी थी. मैं अन्दर से तो विराट से चुदाई करवाने का मन बना रही थी, पर थोड़ा झिझक रही थी.

उसके बाद उसने मेरे चेहरे को पकड़ा और अपना चेहरा करीब लाते हुए मेरे होंठों पर होंठ रख दिए. फिर उन्होंने आकर टिश्यू से मेरा चेहरा और बूब्ज़ साफ किये और साथ लेट गए मेरे!थोड़ी देर बाद मैंने अपने कपड़े पहने और उन्होंने मुझे मेरे घर छोड़ दिया. वह खूब जानती थी कि किसी भी मर्द को किस तरह मनाया और रिझाया जा सकता है.

अंतर्वासना सेक्सी स्टोरी हिंदी

रुको थोड़ी देर … फिर पहन लेना!”मैंने अपनी मिड्डी वहीं रख दी और बोली- मैं वाशरूम जाकर आती हूँ. पर मनोज ने कहा- सुनील से कोई तकल्लुफ नहीं है, तुम यही नाईट ड्रेस डाल लो. जब मैंने इस बारे में अपने बॉयफ्रेंड आशीष से बात की तो उसकी मां ने मेरी मां को रंडी बता दिया.

फिर जब क्लास खत्म हुई तो सबके जाने के बाद वो मेरे पास आई और मुझे थैंक्स बोलते हुए हग करने लगी. उसके लिए अब सब कुछ कभी ना मिटने वाली जिस्मानी इच्छाओं पर निर्भर था.

फिर झुक कर उसने अपने होंठ मेरी चूचियों के बीच बनी दरार पर रख दिए और जीभ से मेरी दूध घाटी को ऐसे चाटने लगा जैसे वो किसी मक्खन के गोले को चाट रहा हो.

मैंने चुपके से पूछा- तुमने पैंटी क्यों नहीं उतारी?अमृता- वहाँ साफ जगह नहीं थी. चूंकि बेटे का पहला जन्मदिन था तो श्वेता ने जाते ही मुझे गले से लगा लिया. मयूर से मेरा मिलना अब बहुत ही कम मिलना हो पाता था, परंतु हम दोनों के बीच मैसेज वगैरह तो पूरे दिन चालू ही रहते थे.

मेरे कहने पर भाई ने मेरे पैरों पर बंधी हुई रस्सी को खोल दिया और मुझे नीचे उतार दिया. चूंकि अब हमारी चुदाई पर ताले लग गये थे तो मैं बड़ा ही बेचैन रहने लगा था. मगर एक बात का ध्यान रखना कि आशीष को इस बारे में कुछ पता नहीं चलना चाहिए.

मैं उन्हें ताकता ही रह गया, क्योंकि वो इतनी ज्यादा हॉट लग रही थीं कि मस्त माल की सही परिभाषा दिख रही थीं.

बीएफ फुल सेक्सी चुदाई: हम दोनों कुछ देर तक तो एक दूसरे की आँखों में देखते रहे और पता नहीं क्या सोचते रहे।वो मेरा बचपन का दोस्त था और मैं उससे बिल्कुल भी नहीं शर्माती थी. मैंने ही आगे बढ़ते हुए पूछा- क्या हुआ मोना? इतना क्यों शरमा रही हो?ये कह कर मैंने उसे आंख मार दी.

मैंने उससे कह तो दिया था लेकिन मैं सोच में पड़ गई कि मैंने इससे ये क्या कह दिया. मैं क्या कहती कि माँ आज ये मेरी चुत की चुदाई पहले करने वाला था और तुमने इसको झूठा कर दिया. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में उठा लिया और मुझे बेड पर फिर से ले गये.

हमारा किस इतना लम्बा चला कि हम दोनों के मुँह से लार तक टपकने लगी थी और मैं चाची की सारी लार चाट गया.

तुम्हारी चूचियां तो कमाल हैं जान … इतनी खूबसूरत … इतनी बड़ी बड़ी, इतनी सॉफ्ट … मुझे तो शब्द ही नहीं मिल रहे हैं कि मैं तुम्हारी उन चूचियों से मिले मजे को कैसे बताऊं. अपने यार के अलावा से अपने यार के बॉस से भी चुदेगी?साली तूने तो रंडीपेशा शुरू कर दिया है. मैं- नहीं … आप मेरे साथ ही चलो और अगर आपको मेरे साथ खाना खाने में शर्म आ रही है, तो मैं आपका खाना यहीं लेकर आ जाती हूं.