हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई

छवि स्रोत,ٹرپل ایکس ایکس ویڈیو

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो भाई बहन वाला: हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई, जिसका नतीजा ये रहा कि आगे की तारीफ सुनने के लिए मैंने जब नाइटी उतारने को कहा तो मेघा ने वो भी बिना कुछ नखरे किए हटा दी.

गांव की लड़कियां कैसे चुदवाती है

जब मैं जाने लगा, तो मैडम बोलीं- अर्पित तुमसे बात करके अच्छा लगा, तुम बहुत अच्छे लड़के हो. पिक्चर सेक्स ब्लूवो मादक आवाजें निकालने लगी थी- आह … आह चैन पड़ गया सुधीर … चोद दो मेरी जान.

मैं ये सुनकर हैरान हो गया कि मैंने ऐसा तो कभी नहीं कहा, तो भाभी भैया से ऐसा क्यों कह रही हैं?फिर भैया ने भाभी के कपड़े उतारना शुरू किए. चाची की ब्लू फिल्मतब मैंने बोला- अब क्या करना है रूपा रानी?आंटी मुस्कुरा कर बोलीं- आज तुमको मैं तुम्हारी पसंद का तोहफा दूंगी.

उसकी माँ नहीं थी, उसके बाप ने कुछ ऐसा किया कि बेटी को अपना जिस्म देना पड़ा.हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई: मैंने देखा कि एक पेड़ के नीचे हमारे सामने के कुत्ता कुतिया सेक्स कर रहे थे.

कुछ देर में गांड ढीली पड़ गई और अब मॉम को भी गांड मराने में मजा आने लगा था.मैं उसकी तरफ देख ही नहीं रहा था, तो उसको पता चल गया कि मुझे गुस्सा आ गया है.

देहाती बुर छुडाई - हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई

उसकी गांड भी साथ देती सी दिखी … तो मैंने फिर से एक जोरदार धक्का दे मारा और इसी के साथ मैंने अपना पूरा लंड लक्की की चूत में पेल दिया.मैंने पूछा- वो कैसे?वो बोली- दरअसल मेरे पति से मेरा तलाक हो गया है.

इससे कुछ ही पलों में मेरी अम्मी को राहत मिलने लगी और वो बोलीं- आह मर गई यार … तुम्हें आराम से डालना था. हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई मगर मैं अभी उससे कुछ पूछता, तभी उसने पलट कर सवाल दाग दिया कि क्या आप वर्जिन हैं?मैंने उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दिया और ना में सर हिला दिया.

मेरे पति दिल्ली में लॉकडाउन की वजह से फंसे हैं और मेरा इस शहर में कोई नहीं है.

हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई?

बस फिर क्या था मैंने सोचा कि अब लंड का इतने सालों का सूखा खत्म होने का अवसर आ सकता है. मैं उनके पास जाकर बैठ गया और उनकी पीठ पर हाथ रख कर उनको चुप कराने लगा. अब मेरे हाथ शिवानी के मस्त कड़क शानदार कसे हुए एकदम अमरूद के जैसे टाइट चुचे पर पहुंच गए.

मैं ये सब पहली बार कर रहा था, चाची के साथ किस करने में मुझे बहुत मज़ा आने लगा. मैं तो तैयार हो गया क्योंकि चूचियों का अहसास दीदी अपने आप दे देती थीं. मैं अपने दोस्त के बारे में सोचता था कि इस साले के तो मज़े हो गए हैं.

चुत चिकनी होने के कारण उसका पूरा लंड एक ही बार में मॉम की चुत में घुसता चला गया. कुछ पल बाद धीरज ने मेरी अम्मी को फोन किया और मुझसे बोला- असलम सुन, अभी उसी रंडी की आवाज आएगी. दीदी ने 12वीं के बाद 2 साल कुछ नहीं किया, फिर दो साल के बाद दीदी ने D.

अब डॉक्टर उसके पास गया और कुर्ते को ब्रा के पास तक ऊपर कर दिया, जिससे उसका गोरा मखमली पेट सामने आ गया. हालांकि चुदने से पहले मैंने अपना ब्वॉयफ्रेंड बालिग़ होते ही बना लिया था.

उन्होंने कुछ नहीं कहा और इस बार उनका हाथ भी मेरे लंड के ऊपर से नहीं हटा.

हमने समंदर के किनारे एक रिसॉर्ट बुक कर लिया।छुट्टी होते ही हम वहां चली गयी.

इसके आगे फिर क्या हुआ वो आप अगले भाग में पढ़ सकते हैं।कहानी के बारे में अपनी राय देना न भूलें।आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा। आप इस ईमेल पर मैसेज करके अपनी राय जरूर बतायें।[emailprotected]लड़के की गांड चुदाई हिंदी कहानी का अगला भाग:एक अनोखी शादी- 2. Xxx बॉय देसी गे सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं एक अपार्टमेंट में सिक्योरिटी गार्ड था. मैं बहुत खुश था क्योंकि मुझे ये बहुत अच्छा मौका नजर आ रहा था क्योंकि मैं और मेरी बहन एक साथ लेटने वाले थे.

उनकी नजर मेरे फूलते लौड़े पर गई तो मुस्करा कर बोलीं- मैं क्या करूं राज … मुझे किसी लंड ही नहीं मिलता. उस वक्त तक मैंने केवल एक लड़की को ही चोदा था … वो भी मेरे शहर इंदौर से 60 किलोमीटर दूर की ही थी. उसने मेरे सामने अम्मी को बहुत ज़ोरदार किस दिया और वह अम्मी को लेकर चला गया.

भाभी ने हल्के गुस्से से मुझे देखा और बोलीं- यार, मुझे इसके कारण से दर्द होने लगता है.

– गांड में लंड डालने के समय कंडोम और के-वाई जैल का उपयोग करना चाहिए।– बवासीर से बचने के लिए: फल और सब्जी खाना, कब्ज से बचना, खूब पानी पीना. इस Xxx बॉय देसी गे सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको नील की गांड चुदाई की कहानी से रुबरू कराऊंगा. ‘उम्मम्म अह … मुंऊउं’वह मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा कर चूस रही थी और मैं भी ऐसा ही कर रहा था.

दोस्तो, ये मेरी हिंदी देसी सेक्स कहानी जिसमें मैंने एक गरम औरत की गांड मारी, आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल अवश्य करें. मॉम ने अपनी गांड में फंसे डिल्डो को एक दो बार आगे पीछे किया, फिर भिखारी का लंड अपनी चूत पर सैट करके बैठ गईं. मैं उत्तेजना भरी आवाजें निकाल रहा था- आह आह चूस … शाजिया लंड चूस ले.

मेरा इतना अधिक पानी निकला कि ऊपर से नीचे जाने वाली सीढ़ियों पर पिचकारी दूर तक फिंकी.

अम्मी ने इशारा किया, तो मेरी बहन सबीना आगे बढ़ कर नवीन के लंड पर रखे लिफ़ाफ़े को उठाने लगी. मैंने कहा- मेरे जिस्म का हर हिस्सा पसंद आने लायक है, चाहो तो मुझे परख कर देख लो.

हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई पर इस दौरान मैंने उनके मम्मों को नहीं छोड़ा था, उनके बड़े-बड़े मम्मों को मैं पूरी मस्ती से मसल रहा था. ये वाली कुछ और ज्यादा डरावनी राइड थी तो थोड़ी देर में आंटी मेरे एकदम पास में आ गईं और उन्होंने फिर से अपना एक हाथ मेरी जांघ पर रख दिया.

हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई मैं कम्बल ओढ़ कर दीवार का सहारा लेकर बैठा था और वो मेरे पास मुझसे चिपक कर मेरे साथ कम्बल में बैठी थी. मैंने आंटी की पकौड़ी सी फूली हुई चिकनी चुत को किस किया और जीभ से चाटने लगा.

दोस्तो, इस तरह से अपने से बड़ी उम्र की लड़की के साथ ये मेरा पहला संभोग बहुत यादगार रहा.

सेक्सी बीएफ फिल्म हिंदी आवाज में

लंड ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे लोहे की तरह कड़क होने लगा. मॉम ने डब्बा खोला तो उस डब्बे मैं कुछ पीले रंग की क्रीम जैसी चीज थी. मैंने उसको आश्वासन दिया कि सब ठीक रहेगा … जब तुम्हें लगे, तो रोक देना.

मैं उसके पास पहुंचा और उससे पूछा- बुकिंग आपने ही की है न!वह बोली- हां बुकिंग मैंने ही की है. हम दोनों झूले से उतरे, तो आंटी धीरे से बोलीं- अब अगले वाले झूले में चलते हैं. मैंने लंड चुत से निकाल कर गांड में घुसा दिया और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

उसने डरते हुए कहा- भैया आप अन्दर जाओ और कपड़े पहन कर आओ और खाना खा लो.

जब वो अपने कूल्हे मटका कर चलती हैं … तो इस बात की गारंटी है कि किसी का भी लंड खड़ा हो जाएगा. मैं उनके बूब्स सहलाने लगा, वो लंड को अपने हाथों में लेकर मसलने लगीं. मैंने उन्हें चूमते हुए कहा- गांव से वापस आकर सब होगा, मुझे 2-3 दिन लगेंगे.

इधर शिवानी मेरे बदन से चिपक कर बुरी तरह से कांप रही थी, उसके रसीले होंठ थरथरा रहे थे. मेरा मन तो कर रहा था कि उसकी कच्छी को अपने साथ ही ले जाऊं, पर इससे उसे सीधा शक हो जाता … इसलिए बाहर जाने से पहले मैंने उसकी कच्छी को एक बार फिर अच्छे से सूंघा और चाटा. कुछ देर बाद नफीसा आंटी लंड पर तेज़ तेज़ उछलने लगीं और मैं ‘आह हहह उम्महह …’ की आवाज निकालने लगा.

वो अब मस्ती से टांगों को फैला कर और बुर उठा कर अपने भाई की जीभ से चटवाए जा रही थी. मेरे लंड का सुपारा उसकी चुत की फांकों में घुस गया और उसकी एक मीठी सी आह निकल गई.

मेरी बहन उसकी गांड उठ कर मेरी जीभ को अपनी चुत में काफी अन्दर तक लेना चाह रही थी. मेरी हॉट मॉम- उह्ह ह्म्म्म हां बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ … इसलिए मेरी चूत भट्टी सी तप रही है … अह्ह अह्ह्ह. तभी न जाने का हुआ … मेरे शैतानी दिमाग में दीदी की गांड और चूची की झलक दिखाई देने लगी.

कैसी लगी आपको मेरी सास दामाद Xxx कहानी? मेल और कमेंट्स दोनों में बताएं.

जब वो मेरे लंड से खेलने में खो गई, तो मैं धीरे धीरे उसके कपड़े उतारने लगा. फिर ऊपर से एक शालवह बोला- आप अकेली ही रहती हैं?मैंने कहा- नहीं, आप लोग तो हैं न?वह हंस पड़ा।फिर मैंने बताया- मेरे शौहर नागपुर में हैं. तो वो चकित रह गईं और बोलीं- हायल्ला इत्ता बड़ा लंड!मैंने पूछा- चाचा का छोटा है क्या?चाची- हां, उनका तो इससे काफी छोटा है.

भाभी हंस कर बोलीं- मेरी जैसी क्यों चाहिए?मैं बोला- क्योंकि आपसे ज्यादा खूबसूरत मैंने किसी किसी और को देखा ही नहीं है. ’अपनी आई का कहना मानते हुए सोनू बाजूवाले काउच पर बैठ गयी और माधवी एक बार फिर से भिड़े के लंड पर बैठ गयी.

उसने झुककर मेरे लंड पर एक चुम्मी ली और मेरे लंड ने इठलाते हुए प्रीकम छोड़ दिया, जिसे कोमल ने सुरप कर चाट लिया और मेरे लाल सुपारे को अपने नाजुक रसीले होंठों में लेने लगी. अब मैं इन्हें कैसे रोकूं मेरी जान?मुझसे सब्र कर पाना मुश्किल हो रहा था. वो भी मस्त होकर नीचे से अपनी गांड को उछाल उछाल कर खूब मस्ती से लंड चुत में पिलवा रही थी.

जंगली बीएफ देसी

आज दिन में जो भी हुआ था, मैं उसे ही सोच कर अपने लंड को सहला रहा था.

बीच-बीच में तो मुझे ऐसा लगा जैसे वो जानबूझकर मेरे लंड पर हाथ लगा रही हैं. मुझे लण्ड पकड़ने की आदत कम उम्र में ही लग गयी थी और 19 साल की उम्र में मैं चुदवाने लगी थी।तब से आज तक मैंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।मैं लण्ड पे लण्ड पकड़ती गई और मौक़ा पाकर चुदवाती गई. फिर मैं भाभी के पेट को चूमने लगा और उनकी नाभि के पास आकर जीभ से खेलने लगा.

आह … क्या बूब्स थे, एकदम कड़क और तने हुए मम्मों को देख कर मैं खुश हो गया. वो अब मस्ती से टांगों को फैला कर और बुर उठा कर अपने भाई की जीभ से चटवाए जा रही थी. सेक्स करती हुई औरतमैंने उनकी मस्त गोल गोल चुचियों पर कसके दो चमाट मारे, जिससे वो कराह उठीं.

मैं चुत को काटता या चूमता … लेकिन चूत को मुंह से अलग नहीं होने देता. मैंने कहा- ओके, अब ये बताओ शाजिया बेगम कि मैं कितने बजे आऊं?उसने मुझसे दोपहर के 12 बजे के समय पर आने को कहा.

शिवानी की चूत को देखकर मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा था कि जवान लड़की की चूत इतनी सी होती है. थोड़ी देर में मैंने उनका टॉप निकाल दिया और हम दोनों चुंबन की बारिश करने लगे थे. मैंने उससे पैंटी उतारने को कहा, तो मेघा पलट गई और धीरे धीरे अपनी गोल गोल गोरी गांड से पैंटी को नीचे सरकाने लगी.

इतने में नवीन ने सबीना के हाथ को खींच लिया और उसके हाथ में लंड थमा कर बोला- मेरा लंड कैसा है रांड?मेरी बहन ने अपने लिए रांड शब्द सुनकर स्माइल देते हुए नजरें झुका लीं और लिफाफा अम्मी को दे दिया. कुछ देर बाद चुत में लंड सटासट आने जाने लगा तो मैंने उसको अपनी गोद में बिठा लिया और चोदने लगा. मैं इतनी गन्दी तरह से चूत मारने लगा था कि वो बस अपना सिर ऊपर करके सिसकारियां ले रही थीं.

मैं- हां, वो तो दिख रहा है मामीजी, लेकिन उसको चोदना भी तो ज़रूरी है नहीं तो मेरा लंड चुप नहीं बैठेगा.

मैंने कहा- मुझे आप दोनों को बिल्कुल नंगा देखना है और आप दोनों के अंग छूकर देखना है. भाभी हंस दीं और मेरे सीने पर चूमती हुई बोलीं- दक्ष हम लोग आज अपनी गोल्डन नाईट सेलिब्रेट करेंगे.

मैंने देखा कि कमरे का दरवाजा खुला था … दीदी बिस्तर पर नंगी लेटी हुई थीं और चूत रस बिस्तर में टपक रहा था. मैंने पूछा- क्या?वो- एक दिन नशे में वो अपने किसी दोस्त को रूम पर ले आया. मैं खुद नीचे बैठ गया और प्रीति के होंठों को चूमने लगा, उसकी जीभ को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा.

भाभी ने मुझे देखा और बोल उठी- तुम्हें क्या चाहिए बाबू … मैं कब से देख रही हूं कि तुम दूर चुपचाप खड़े हो. मैंने उससे पूछा- एक्स्ट्रा ड्रेस लाई हो?वो बोली- एक्स्ट्रा ड्रेस क्यों?मैंने कहा- यदि हम दोनों ऐसे ही सब करेंगे तो इस ड्रेस की हालात खराब हो जाएगी. वो मादक आवाजें निकाल रही थी और मेरा सर अपनी चुत पर दबा रही थी- आह और चाटो मेरी जान सुधीर … आज खा जाओ मेरी चुत को … चोदो इसे, ये अब तुम्हारी है!मैंने शाजिया की चुत को दो मिनट तक चाटा.

हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई मस्ती से सेक्स के आनन्द में डूबे हुए हम दोनों हर एक स्ट्रोक के मज़े ले रहे थे और एक दूसरे को चूसते चूमते हुए सहला रहे थे. उसके हाथ अपनी चूचियों को मसल रहे थे और वो अपने होंठों को दांतों से चबाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली

थोड़ी देर बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और अपने सारे कपड़े उतार दिए. मैं उसकी चूत में ही झड़ गया और वो भी एकदम से मेरे ऊपर ऐसे गिर पड़ी … जैसे वो मर गई हो. मेरी देसी भाभी सेक्स कहानी में एक भाभी और मेरे बीच की चुदाई की रसभरी घटना का जिक्र किया गया है.

उन्होंने हंस कर कहा- जो दिखाया था, उसमें कुछ फर्क तो नहीं निकला साहब!मैं हंस पड़ा. मैं ये सीन देखकर बिल्कुल दंग हो गया और उनसे पूछ बैठा कि यह सब क्या है भाभी और ऐसा क्यों?भाभी ने कहा- अच्छा बच्चू, पहले तो तुमने मेरी बहुत ज़ोर ज़ोर से चुदाई की और मज़ा भी बहुत लिया. सेक्सी फुल बीएफलेडी ऑफिसर सेक्सी कहानी हिंदी में पढ़ें कि कैसे एक मैडम ने मुझसे सम्पर्क करके मेरे साथ दोस्ती की.

मैं लंड हिलाते हुए बोला- मॉम, कोई फायदा नहीं … मैंने सब देख लिया है.

[emailprotected]Xxx बॉय देसी गे सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरे कुंवारे लंड ने चिकने लड़के की सील तोड़ी- 2. धीरे धीरे धक्के देते हुए मैंने अपना पूरा लंड भाभी की चुत के अन्दर कर दिया.

हम एक दूसरे को बेहद प्यार करते हैं और हम एक दूसरे के साथ खुश भी रहते हैं. दीदी ने अन्दर ही अन्दर खुश होते हुए कहा- सुन उनको एक सरप्राइज दें, तो कैसा रहेगा?मैं- हां अच्छा आईडिया है, लेकिन कैसा सरप्राइज?दीदी- हम उन्हें वहीं जाकर विश करेंगे. प्रीति भी इसमें मेरा पूरा साथ देने लगी, हम दोनों की जीभ आपस में लड़ने लगी.

राजेश जी दीदी के पीछे आ गए और पीछे से दीदी के दोनों मम्मों को पकड़ कर मसलने लगे.

मैंने पीछे से उनकी चुत में लंड घुसा दिया और आगे हाथ लेकर उनके बूब्स को पकड़ कर आंटी की चुत चोदने लगा. आंटी बोलीं- ओके … तुम करके दिखाओ मैं तुम्हें वो दूंगी, जो तुमने सोचा ही नहीं होगा. मैं दर्द से कराही, तो वो अपना लंड मेरी चुत में धीमे धीमे अन्दर बाहर करने लगा.

बीएफ सेक्सी हिंदी में बताएंफिर जब भाभी अपने कपड़े बदल कर बाहर आईं तो उनकी तरफ से ऐसा कुछ भी नहीं हुआ जिसकी वजह से मैं डर जाता. भाभी ने फोन पर बात की तो भैया ने कहा- मुझे आज तीन बजे की ट्रेन से वाराणसी जाना है … मैं एक घंटे में घर आ जाऊंगा.

उड़ीसा के बीएफ वीडियो

मैं लंड को उसकी चूत पर रखकर घिसा और उसकी आंखों में देखते हुए पूरी ताकत से धक्का दे मारा. उन्होंने साड़ी पहनी हुई थीं, दीदी की कमर साफ़ दिख रही थी, उन्होंने नाभि के नीचे साड़ी बांधी हुई थी. वो किस करते करते बड़बड़ा रही थी- आह फाड़ दी मेरी बुर … घुसा दिया फिर से लौड़ा … मैं तो मर ही जाऊंगी निकाल लो इसको … भैनचोद निकाल जल्दी … आह … निकाल ना गांडू साले ओह … मां चुद गई मेरी!मैंने उसकी गालियों को नजरअंदाज किया और उसको किस करता रहा, उसके चूचे सहलाता रहा.

एक मिनट बाद वो बोली- दूध की जगह रम पीना पसंद करोगे!मैंने उसकी तरफ देखा और कहा- नेकी और पूछ पूछ … इस वक्त तुम्हारे साथ रम ही सबसे ज्यादा मजा देगी. गर्म वीर्य की पिचकारियां आंटी की चुत में गिरना शुरू हुईं तो मेरी आंखें मदहोशी में बंद हो गईं और लंड के स्खलन का सुख मिलने लगा. मुझे ऐसा लग रहा था कि किसी ने मेरे मुँह में गर्म केला घुसेड़ दिया हो.

वो मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड थी, इसलिए मैं अपने आपको थोड़ा कंट्रोल में रख कर बात करता था. जीजा जी- मादरचोद रंडी कितनी गर्मी है तेरी चूत में … तेरा पति तुझे सही से नहीं चोद पाता है … इसीलिए तू सबको गांड दिखा कर गर्म करती है. हमें यहां आए 10-15 मिनट ही हुए थे कि तभी स्मिता की मम्मी का कॉल आ गया और उसे अर्जेंट घर बुलाया गया.

उस समय विकी वहां नहीं था तो मॉम ने बुआ से पूछा- विकी दिखाई नहीं दे रहा है … वो कहां है?बुआ ने कहा कि वो ऊपर अपने कमरे में है. आप मेरी इस इंडियन हॉट भाभी सेक्स कहानी के लिए अपने कमेंट्स और मेल करना न भूलें.

कुछ पल बाद मैंने लंड चुत से बाहर निकाल लिया और हम दोनों बेड पर लेट गए.

इधर शिवानी की चीखें डर पैदा करने रही थीं कि कहीं किसी को पता चल गया तो भारी मुसीबत हो जाएगी. सेक्सी सेक्सी बीएफ वीडियोअब मैंने उसका लोअर निकाला और उसके पैरों के तलवों को चाटते हुए धीरे धीरे उसकी चूत की तरफ बढ़ गया. অনলাইন সেক্স ভিডিওमुझसे भी रहा नहीं गया और उनकी पीठ सहलाते हुए उन्हें शांत कराने लगा. मैंने उनसे कहा- सलीम कहां है?वो बोलीं- सलीम अपनी खाला के घर गया है … वो कल सुबह तक आएगा.

राजेश जी ने तुरंत मेरी दीदी के एक दूध को अपने हाथ से पकड़ा और मसलने लगे.

बोल कर अपने घर वापस चल आया।घर जाकर मैंने दीदी को बोला- दीदी, आपको मेरी एक मदद करनी होगी. मेरे पड़ोस में एक लड़का किराए से रहता था, उसका नाम डब्लू था, मतलब उसको प्यार से डब्लू कहते थे. ’भाबी एकदम से उछल पड़ीं और खुद को आगे को करती हुई गांड में लंड निकालने की चेष्टा करने लगीं.

तब मैंने केशव को फ़ोन लगाया और उसे दो लोगों के नाश्ते के इंतजाम करने को बोला. बल्कि वो मुझ पर गुस्से से चिल्लाती हुई बोलीं- तुम अपने काम से काम रखो. आंटी ने मुझे पकड़ कर गले लगा लिया, बोली- तन्मय, आज मुझे तुम्हारे साथ बहुत मजा आया.

चोदने वाला बीएफ दिखाइए

थोड़ी देर में मम्मी की गांड चुदाई के लिए तैयार हो गई तो पापा ने अपने लंड पर तेल लगाया और एक ही झटके में मम्मी की गांड में डाल दिया. यह तो मेरा हक भी है कि मुझे जन्म देने वाले मम्मी पापा को नंगा देखूं. फिर भाभी ने लेट कर टांगें फैला दीं और मुझे अपने ऊपर चढ़ने का इशारा कर दिया.

दोस्तो, मैं राज आज अपनी रोजाना लिखने वाली डायरी के कुछ पन्ने आपके साथ शेयर करना चाहता हूं.

मैं और मेरी मॉम ने प्रोग्राम बनाया और मेरी बुआ के घर जाने का तय कर लिया.

सुनील ने मुझे कुर्सी पर बैठाया और सिखाने लगा।सिखाने के बहाने वह कभी मेरा गाल, तो कभी स्तन छूने लगा. दीदी इतने दिनों बाद मेरा लंड लेकर तृप्त हो गईं, उनकी कामुक आह निकल गई. बीएफ फिल्म हिंदी सेक्सी वीडियोमैं असमंजस में ये सोचते हुए कि वह मेरी इस हरकत पर क्या बोलेंगी, उनके पास पहुंच गया.

उमैय्या फिर से बोली- नील हम अकेले नहीं हैं घर पर!मुझे याद आया कि मेरा एक दोस्त घर पर ही सो रहा है. अब मेरा लौड़ा पूरा खड़ा हो गया था लेकिन मैं अभी तक बहुत आराम से सब कर रहा था।अब मैंने पीछे से साड़ी उठा दी. उस समय मैं शिवानी के चूचों को मसल रहा था और शिवानी धीरे धीरे गर्म होकर आहें भर रही थी.

स्वाति भी मस्ती में अपने चूचे दबवा और चुसवा रही थी और आवाज निकाल रही थी- ओह … आह … और … करो … प्लीज़ भैया!ऐसा बोलते बोलते स्वाति मेरा सिर अपने चूचे पर दबाए जा रही थी. उसके बाद एक लड़की ने नकली लंड लगाकर दूसरी लड़की की चूत में डालकर संभोग किया। मैं यह देखकर उत्तेजित हो गई.

पापा मम्मी से कह रहे थे- आज हम दोनों को अपने बेटे को इसी कमरे में सोने देना चाहिए.

मैंने कहा- तो स्वाति देर किस बात की है … उतार दे अपने कपड़े और आ जा यहीं बेड पर. फिर जब मैंने देखा कि वो मेरे लंड को सही से नहीं ले पा रही है तो मैंने चूत से लंड हटा कर उनका सर पकड़ा और मुँह में लंड पेल कर धक्के मारने लगा. मैं हंस दी और पूछा- कब मिलना है?काशिफ बोला- बताता हूँ … पर तू इस बार साड़ी नहीं … जीन्स टॉप पहन कर आना.

खेसारी का सेक्सी मैंने ब्रा के ऊपर से ही पूरी ताकत से उसकी दोनों चूचियों को खूब मसला. मॉम ने डब्बा खोला तो उस डब्बे मैं कुछ पीले रंग की क्रीम जैसी चीज थी.

बीच बीच में वो भिखारी अपना लंड बाहर निकालता तो मॉम उसका लंड पकड़ कर अन्दर डलवा लेतीं. मुझे अपनी जिम्मेदारियों में से एक जिम्मेदारी यह भी दी गयी थी कि रात को ग्यारह बजे के बाद सारे कैम्पस, छत और बेसमेंट में एक चक्कर लगा कर देखना है कि सब ठीक है कि नहीं. सोमू बोला- इसकी शुरुआत कैसे हुई थी?साई बोला- एक बार जब हम दोनों बाहर घूमने गए थे.

बीएफ लड़कियों की बीएफ

हॉट सेक्सी वाइफ की चुदाई कहानी के पहले भागलॉकडाउन में माधवी की अन्तर्वासनामें अब तक आपने पढ़ा था कि माधवी अपने पति भिड़े के लंड को चूस रही थी, जिससे भिड़े का लंड तन्ना उठा था, मगर वो अभी भी माधवी के मुँह में अपना लंड चला रहा था. मैंने उनके निप्पल को खींच खींच कर चूसना शुरू किया, तो भाभी अपने मुँह से ‘अअअह … होई मां … धीरे करो न … प्लीज धीरे धीरे करो हां … और जोर से करो राजा … मुझे बहुत मजा आ रहा है. उसकी टी-शर्ट बूब्स वाले जगह से पूरी गीली हो गई थी और उसके बूब्स के साथ चिपक गई थी.

मुझे इस बात से कोई आपत्ति नहीं थी कि उसने मुझे लंड हिलाते हुए देख लिया था क्योंकि थोड़ी देर पहले मेरी बहन भी अकेले कमरे में मुठ मार रही थी और मैंने भी उसे देख लिया था. मैं कभी होंठों पर होंठ रगड़ता, तो कभी गाल पर, तो कभी कान को, तो कभी गर्दन को चूमने लगता.

कल तुम्हारी छुट्टी रहती है तो तुम्हारे कमरे में बैठ कर कुछ एन्जॉय कर लूं.

उन सबकी बातों को अनदेखा करके … और एक दो को गाली देते हुए सुबह का नाश्ता कराकर मैं सबसे पीछे वाली सीट पर सिर झुका कर बैठ गया और सो गया. उन्होंने मेरी पीठ पर हाथ फेरते हुए कहा- मैं तुम्हें पैसे भी दे दूंगा. वो लंड की छुअन पाकर फिर से गांड सिकोड़ने लगी थी मगर मैंने फिर से उंगलियों को उसकी गांड में चलाना शुरू कर दिया.

मेरे हाथों में मेरा लंड था और भाबी किसी छिनाल की तरह मेरे सामने अपने दूध गांड हिलाती हुई धीमे धीमे नाच रही थीं. मैं- तो क्या अच्छी लड़की को लंड की जरूरत नहीं होती है?मामीजी- हां, लंड की जरूरत तो हर एक लड़की को होती है, लेकिन फिलहाल मुझे शिवानी को देखकर नहीं लगता कि उसे इस समय लंड की जरूरत है. मैंने भी दीदी की कमर को पकड़ कर उनकी गांड में अपना लंड सैट कर दिया.

उमैय्या मेरी तरफ़ देखती हुई कुछ अलग से अंदाज में बोली- वही तो डर है.

हिंदी बीएफ शायरी हिंदी माई: मैं भी अपनी आंख थोड़ी बंद करके सब कुछ देख रहा था और भाभी सेक्स करती रहीं. पर मुझे तो अभी इसकी चुदाई करनी थी, मैंने उमैय्या को बोला- बस करो उमैय्या!उमैय्या ने बड़े प्यार से मेरी तरफ़ देखा और मेरे लंड को एक बार पूरा मुँह में अन्दर तक लेकर गीला किया और खड़ी हो गयी.

एक दिन मैंने उससे पूछा कि तुमने कभी सेक्स किया है?उसने बिंदास हां कह दिया. कोई गर्लफ्रेंड बना ली है क्या?मैं उनकी इस बात से एकदम से चौंक गया और कहा- नहीं मौसी, मैं इन चक्करों में नहीं पड़ता. मगर मैं अभी उससे कुछ पूछता, तभी उसने पलट कर सवाल दाग दिया कि क्या आप वर्जिन हैं?मैंने उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दिया और ना में सर हिला दिया.

मेरे लंड का सुपारा उसकी चुत की फांकों में घुस गया और उसकी एक मीठी सी आह निकल गई.

जब उसकी तरफ से कोई रिस्पांस नहीं आया तो मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर कर दिया. उसने खुद अपने हाथ से अपना एक दूध पकड़ा और मेरे होंठों में निप्पल फंसा दिया. मुस्कान की टी-शर्ट के ऊपर से उसकी चूचियों के निप्पल साफ़ झलक रहे थे.