बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,जापानी बस में सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

સેક્સી બીએફ વિડીયો: बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी, भाभी के बेड की ऊंचाई इतनी थी कि उनको कोने पर लाकर बिल्कुल सीधी खड़ी अवस्था में लेकर उनकी चुत में लंड डाल सकता था.

मराठी सेक्सी वीडियो महाराष्ट्र

बदले में मम्मी भी उनसे कह रही थीं- आह भड़वे साले मादरचोद … चोद दे कमीने … क्या हुआ आज तेरे लंड में बड़ी सुर्खी आई हुई है … आह चोद अन्दर तक लंड पेल दे हरामी. इंडियन स्टूडेंट सेक्सये सुनते ही उसने धीरे धीरे से अपने लंड को मेरी रसमलाई से भरी हुई चूत में डाल कर मुझे चोदना शुरू कर दिया.

थोड़ी देर बाद हमने वो मूवी छोड़ कर बाहर आ गए और उसके पसंद के एक होटल में चेक-इन करा।रूम में घुसते ही मैंने पूरे कमरे में कैमरा वगैरह की जांच करी। और उसके बाद हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. मारवाड़ी सेक्सी फिल्म वीडियोउसमें पीछे से मेरी ब्रा की दोनों पट्टियां दिखाईं दे रहीं थीं लेकिन मुझे मालूम नहीं था.

इतने में जीजू ने कसकर दूसरा धक्का लगा दिया जिससे उनका पूरा लिंग अन्दर चला गया.बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी: लेफ्ट साइड के गेट में अंदर जाने के बाद ड्राइंगरूम से होते हुए दो बेडरूम थे.

धक्के लगाते हुए फिर मैं उनकी गांड में ही झड़ गया और फिर हम दोनों आराम करने लगे.जब मैंने फिटनेस सेंटर में भाभी को चोदा तब से मुझे भाभियों की चुदाई में नये नये तरीके अपनाने का मन करने लगा था.

असली लग रहा है - बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी

मैंने सोच लिया कि बेटा अभी काम तो कुछ है नहीं … आज तो इसके साथ दोस्ती करनी ही है, चाहे कितना टाइम लगे.उसकी गान्ड लाल हो गई।अब हम दोनों ऐसे हिल रहे थे जैसे घोड़े की सवारी कर रहे हों।मेरा लौड़ा अकड़ने लगा तो उसकी तेज गांड की रफ्तार में लन्ड अब रूकने लगा.

पर ब्रा पेंटी भी तह लगाकर कपड़ों के ऊपर रखी दिखाई दे रही थी।मैंने पहले उसकी पेंटी को उठाकर देखा। अनायास मेरा हाथ उस जगह पर चला गया जहां उसकी सु-सु लगी होगी।याल्ला … उस जगह पर तो कुछ गीलापन सा लग रहा था. बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी फिर एक दिन मैंने और सूरज ने फिर कोशिश की सेक्स की … और जैसा मुझे डर था, वही हुआ.

चूचियों के बाद मैंने भाभी की गहरी नाभि में शहद डाला और जीभ घुसा कर चूसने लगा.

बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी?

उनके एक निप्पल को मैंने काली ब्रा से निकाल कर चूसा और थोड़ा काट लिया जिससे वो सिसकारने लगी लेकिन मैंने तुरंत उनके मुंह को बंद कर दिया. मैं जोर जोर से उनके मम्मे दबा रहा था और वो मुझसे छुड़ने की कोशिश कर रही थीं. एक गोरी चिकनी मस्त माल भाभी को भरी बस में चोदने में जो मजा आ रहा था उसकी व्याख्या के लिए शब्द नहीं है मेरे पास.

उसने मुझे रविवार की सुबह कॉल किया और पूछा- कहां मिलना है?मैंने कहा- कोई रूम बुक कर लेते हैं. वो मेरी तरफ देखती हुए बाहर लगे पानी के कूलर की तरफ गयी और पानी पीने लगी. अब आगे इस तरह की चुदाई किस तरह कर पाऊंगी, ये सोच कर ही मुझे रोना आ गया.

फिर तुम्हें किस बात का डर है?मेरे ऐसा कहने के बाद वो थोड़ा सा स्थिर हुई और उसने मेरे गालों पर किस किया. किसी ने सच ही कहा है कि बरसात में बहते हुए आंसुओं को कोई देख नहीं सकता … आज कुछ वैसा ही लग रहा था. मुझे उसका कारण अच्छे से पता था, उसका कारण ये था कि हम क्रॉसड्रेसर को लड़की की अनुभूति ब्रा और पैंटी पहने रहने पर ही होती है.

दोस्तो, उसके बाद अभी हाल ही में मैंने अन्जना के साथ एक और लाइव सेक्स चैट सेशन किया था. उनके कहने पर मैं अपनी चड्डी पहनने लगी मगर उन्होंने कहा- ऐसे ही चलो … क्या परेशानी है?मैंने सबसे पहले पीछे तरफ की सभी लाइट बंद कर दी और आगे आगे चल पड़ी.

हम दोनों के झटकों की वजह से हमारी महारानियों की चूतें भी आपस में टकराती और उनके अंदर लिया हुआ दो तरफी डिल्डो भी दोनों की चूतों में हलचल मचा कर उनकी चूतों को चोद देता.

मम्मी दूर कुर्सी पर बैठी हुई थी।करीब बीस मिनट के बाद डाक्टर ने मुझे उठा दिया और कहा- अल्ट्रासाउंड हो गया है.

चमेली का तेल, बचे हुए कंडोम, एक इस्तेमाल किया हुआ कंडोम, इन सबको को पेपर में लपेट कर अपने बैग में डाल लिया. फिर भी मेरे मोटे लवड़े के जोरदार प्रहार से भाभी दहल गई थीं और मेरी कमर को अपने हाथ से रोक कर मुझे अपने दर्द का अहसास करवा दिया था. मैं अभी तुम्हारे बैंक खाते में पैसे डलवा देता हूँ।”थैंक यू माय लव। बाय।” कहते हुए मधुर ने फोन काट दिया।सारे मूड की भेन चुद गई।दीदी क्या बोल लहे थे? सब ठीक है ना?” सानिया ने पूछा.

मैं अब उसके होंठों को चूमना छोड़ कर उसके गालों, गले और सीने को चूमती हुई उसके स्तनों की ओर बढ़ने लगी. कुछ पल बाद भाभी मेरे बगल में आकर मेरे कान में धीरे से बोलीं- बी एफ है क्या मोबाइल में!मैं तो उनकी बात सुनकर दंग रह गया और मुंडी नीचे किए हुए बोला- मैं ये सब नहीं रखता. इसी मस्ती में मैंने अपने नीचे दबी रंजू की चूत में फिर से लंड डाल दिया और झटका लगाने लगा.

तीसरी औरत का नाम विमला था, वो मेरे अनुमान से वो 40-45 के बीच की होनी चाहिए थी.

उस दिन वो थोड़ा गहरे गले का सूट पहने हुई थी जिसमें वो बला की सेक्सी दिख रही थी. कभी कभी जब मैं गर्म हो जाती, तो मैं भी उनका साथ दे देती थी … जिससे वो और जोश में आ जाते थे. मेरे पास कन्डोम नहीं था, तो भाभी बोलीं- तुम ऐसे ही चोद दो … मैं दवा ले लूंगी.

मगर शायरा की चुत की मुझे बस एक ही झलक दिखी थी कि शायरा ने तुरन्त अब अपने पैरों को मोड़कर अपनी चूत को छिपा लिया. एक बोला- अबे भोसड़ी के जिस चूत को तू चाट रहा है, उसे हम सबके लंडों ने चोदा है. होटल के एक कमरे में मेरी दो दोस्त लड़कियां और मेरा एक दोस्त नंगे होकर एक दूसरे के जिस्म से खेल रहे थे.

वैसे तो उसको मुझे थैंक्स कहना चाहिये था … पर उसको शर्म आ रही थी इसलिए वो बस हल्का सा‌ मुस्कुरा कर रह गयी.

उसके लंड को मैं अपने होंठों पर लिपस्टिक जैसे रगड़ती हुई उसके एक आड़ू को पूरा का पूरा मुँह में भरके चूसने लगी. उनको ही झेल पाना मेरे लिए बहुत था।उनकी ही चुदाई से मैं कई बार प्रग्नेंट हुई.

बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी फिर मैं भी चाची के साथ बैठ गया क्योंकि सीट डबल स्लीपर वाली थी।तभी कन्डक्टर आया और उसने मुझे बताया कि इस सीट पर चाची के साथ एक और महिला हैं और मेरी सीट सबसे पीछे बने कैबिन में है. मैं भी उसका विरोध करती रही, पर जब चीजें बेकाबू हो गईं, तो मेरे सब्र का बांध टूट गया और मैंने पूरे गुस्से में उसे ज़ोर का तमाचा मार दिया.

बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी अनीता बोली- फूफाजी के घर में उनके बार में कितनी तरह की बोतलें मैंने देखी हैं. समझ नहीं आ रहा क्या करूं?निशी बोली- मेरी मान तो उससे ब्रेकअप कर ले और नया बॉयफ्रेंड बना ले.

धीरू अंकल को छोड़कर बाकी तीनों तो मुझ पर कुत्तों की तरह पड़ गए थे; जैसे मुझे आज ही नोच कर खा जाएंगे.

मां की चुदाई देसी

जैसे ही मैं पार्क में अंदर पहुँचा तो देखा कि वहाँ दो तीन औरतें और दो बुजुर्ग आदमियों ने एक लड़का और लड़की को पकड़ रखा था और उन्हें जोर जोर से डांटने लग रहे थे. अभी करीब 10 मिनट ही हुए होंगे कि कविता ने मेरा दरवाजा पीटना शुरू कर दिया. फिर धीरे धीरे हम एक दूसरे के होंठों की ओर बढ़ चले और हम दोनों ने पहली बार होंठों पर चुंबन किया.

अब हम एक दूसरे की जीभ को चूस रहे थे और रश्मि मेरे निप्पल को जोर-जोर से मसल रही थी. मैं तो उसकी चुत में इतना ज्यादा खो गया था कि मुझे कुछ होश ही नहीं था. अनीता का पति रोस्टेड चिकन के साथ ब्रांडी की बोतल और सिगरेट के पैकेट ले आया था.

अब वो मेरे सामने सिर्फ एक छोटे से कसे हुए ब्लाउज और पेटीकोट में थीं.

मैंने बहुत देर तक चूत चाटने को बाद सुमन के चेहरे के पास लंड ले जाकर चूसने को कहा, तो सुमन ने कहा- ये बहुत बड़ा है … मेरा मुँह दुखेगा … और मैंने ये पहले किया भी नहीं है … इसलिए मुझे ये पसंद नहीं है. मैं आशा करती हूं कि Bhai Bahan Xxx कहानी आप चाव से पढ़ेंगे, यदि कुछ कमी रह जाये तो मुझे बाद में बता सकते हैं. मुझे लगा कि ये कैसी हरकत कर रहे हैं?लेकिन मुझे क्या था … मुझे तो इसमें भी मजा आ रहा था.

मैंने कहा- वैसे तो जरूरत नहीं है भाभी … मगर आप कहेंगी कि मेरे हाथ कुछ खाने शर्मा रहे हो, तो मैं मना नहीं करूंगा. वो अपनी इस नयी उपलब्धि में इतना खो गया था कि उसे अपने दोस्तों की भी याद नहीं आयी. मेरे हाथ उसकी चुचियों को मसलने में लगे हुए थे और मेरे होंठ उसके होंठों का रस पीने में लगे हुए थे.

वो- तो और क्या क्या करोगे?मैं- तुम्हारे सारे कपड़े बारी बारी से निकाल दूंगा और तुम्हारी चूचियों को खूब चूसूंगा. इसलिए छोटे छोटे रोएं जितने बाल थे।वह मेरी चूत को खोलकर देखने लगा और एक उंगली से कुरेदने लगा.

मैंने भाईजान के लंड को मुंह में लिया और चूस चूसकर पूरा गीला कर दिया. दीदी को गाली देते हुए मैंने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया- आह्ह … ले साली … तेरी मां की चूत … आज तेरी चूत का भोसड़ा बनाऊंगा. क्योंकि शायरा की चुत देखने में ही इतनी तंग लग रही थी कि मानो बस एक लाईन भर में ही उसने अपना सारा अनमोल खजाना छुपा रखा हो.

उन्होंने आगे कहा- मैं इधर उधर के लोगों पर ज्यादा विश्वास नहीं कर सकती हूँ.

मैं उनकी बातों को बड़ी धैर्यता से सुन रहा था और वे मुझे सब बताती जा रही थीं. उसकी बात का जवाब मैंने दिया- साली गीत को भी बातें ज्यादा आने लग गयी हैं आजकल. हम दोनों अब नाग नागिन की तरह एक दूसरे से लिपट कर पूरी ताकत से एक दूसरे को कचोटते मसलते हुए चूम रहे थे.

पिंकी ने घुटने मेरे सिर के इधर उधर फर्श पर अच्छे से टिका लिए और लगी अपनी चूचियां निचोड़ने. वो गुस्सा करेगी … या मुझसे शर्माएगी? इसका पता तो उससे मिलकर ही चलेगा.

तब तक तुम और बच्चे यही रेस्ट करो!विजय हमारे रूम से निकलकर चुपके से दूसरे रूम में घुस गया और मेरा इंतजार करने लगा. थोड़ी दर्द होगी लेकिन दो चार बार अंदर बाहर करने पर छेद मतलब भर ढीला हो जायेगा।तेल नहीं है. तो मैं भी उसके कपड़े उतारने लगा कुछ ही पलों में हम दोनों ने एक दूसरे को नंगा कर लिया!अब वो मुझे किस करने लगी और किस करते-करते हम दोनों बिस्तर पर गिर गये!मैंने उसकी चूचियां चूसनी शुरू कीं तो ज़ारा तड़प उठी और नीचे हाथ ले जा कर मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी.

bhabhi ki beautiful चूत villege

बंगाली सेक्स कहानी का अगला भाग:बंगालन भाभी को फ्लैट दिला कर चोदा- 2.

मैं परिवार की इज्जत को रो रही थी … इसलिए खून का घूंट पीकर सहन करती आ रही हूँ. मैंने अपने ड्राइंग रूम में एक कार्नर में म्यूजिक सिस्टम लगाया हुआ था. भाभी से मैंने इसका कारण पूछा, तो भाभी ने कहा- अब मैं दिल से आपको अपना पति मान चुकी हूं, इसीलिए आज आपके साथ सुहागरात मनाना चाहती हूं.

उसने ब्लैक जींस और सफेद शर्ट पहनी हुई थी, जिसके आगे के दो बटन खुले हुए थे. जी‌ … कल ये गलती से आपके‌ कोरियर के साथ आई चिट्ठी मेरे पास ही रह गयी थी. फुल हॉट सेक्सीमैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोलीं- तुम्हारे चाचा को काम से फ़ुर्सत ही कहां है.

मैंने बैग में से एक गुलाब का फूल निकाला और उसे देकर बोला- आई लव यू पूजा!उसने हैरान होकर मेरी तरफ देखा और पूछा- क्या?मैंने फिर से बोला- आई लव यू. वह सफाई देते हुए आगे बोलने लगा तो मैंने बीच में टोक कर कहा- अब आप प्लीज जाइये।ऐसा बोलकर मैं अपने कमरे के अंदर चला गया और दरवाजा बंद कर लिया.

धीरू अंकल को छोड़कर बाकी तीनों तो मुझ पर कुत्तों की तरह पड़ गए थे; जैसे मुझे आज ही नोच कर खा जाएंगे. गीतिका ऊपर से बिल्कुल नंगी हो गई थी, उसका गोरा बदन और गदराए पेट के ऊपर दो बड़े बड़े 38 साइज के नुकीले मम्मे अपने निप्पलों को सख्त किये खड़े हो गए जिन्हें मैं मसलने लगा. भाभी बोलीं- मैं तो तुम्हारे लंड की गुलाम हूं, तुम बस बोलो, क्या करना है.

वह भी इतनी तेजी से लगाए कि गीतिका आह … आह … आह … आह … ई ई ई ई ई ई … करती रही. मैंने सारा ध्यान चुदाई पर लगा कर ताबड़ तोड़ 15- 20 शॉट लगाए और भाभी की चूत को अपने वीर्य की गर्म पिचकारियों से भरने लगा. दोस्तो, स्तन के आपरेशन के दो महीने बाद कुछ दिन के लिए मैं दीदी के पास रहने उनके ससुराल आ गयी.

फिर चाची ने कहा- अच्छा अपनी आंखें बन्द करो, तुम्हें अब ही एक गिफ़्ट मिलेगा.

उसके बाद उसने अपनी पैंटी के ऊपर से अपनी चूत को सहलाया और अपनी पैंटी की इलास्टिक को खींचने लगी. वो- हां … हां … आपको होटल से नाश्ता भी करना होगा?मुझे भी अब हंसी आ गयी और मैं ‘वो … म्.

साली जी ने मुझे नंगा देखा और लजा कर अपनी हथेलियों में मुंह छिपा लिया. भाभी- उन्हह … मार ही डालोगे क्या संजय … मैं कांप रही हूँ … मुझे ऐसा लग रहा है … जैसे ये सब आज मैं पहली बार कर रही हूँ … लव यू संजय … आह खा जाओ मुझे आज. अब आगे की रंडी सेक्स कहानी:शाही सर ने शमा के मम्मे दबाए, तो बाकी सब भी अपने लंड हिलाते हुए शमा के आजू-बाजू खड़े हो गए.

10 मिनट की किस के बाद मैं अब पूरी तरह से गर्म हो चुका था और अब उसको नंगी करना चाह रहा था इसलिए पीछे हटने लगा. तुम्हें तो कोई भी लड़की मिल जाएगी … फिर मैं ही क्यों?मैं उनके बेड पर बैठ गया और भाभी से बोला- आप मुझसे कब तक दूर भागेंगी इधर आइए, मेरे पास बैठिए. मैंने चुदाई नहीं रोकी और फच्च फच्च फच्च करता लंड अंदर बाहर हो रहा था।मैंने उसे घोड़ी बनाया और लंड घुसा दिया और तेज़ रफ़्तार से चोदने लगा।अब मेरा लंड चौथे गियर में था। उसकी चूत फूल गई थी अब और मजा आने लगा था।मैं उसके बालों को पकड़ कर गांड पर थप्पड़ मारने लगा.

बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी मैं उनके चूतड़ों को प्यार करने लगा और साथ साथ चूत के अन्दर दो उंगली अन्दर बाहर करने लगा. वो कंपकपाती आवाज से बोली- जीजा अभी कुछ न बोलो … पहले मैं एक बार अपनी चूत की प्यास बुझा लूं, फिर बात करूंगी.

प्रियंका चोपड़ा का एक्स एक्स वीडियो

थोड़ी देर बाद भाभी तैयार होकर बाहर आईं, तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. कोई दो मिनट तक मम्मों को सहलाने के बाद मेरा लंड फुदकने लगा, तो मैंने एक हाथ उसकी सलवार में डाल दिया और उसकी चूत को मसलने लगा. मैं आँटी के ऊपर लेट गया और धीरे धीरे अपने चूतड़ उठा कर लण्ड अंदर बाहर करने लगा.

लेकिन ये भी सच है कि मैं तुम्हारी मर्ज़ी के खिलाफ कुछ भी नहीं करूंगा. इतना कहकर मैंने भाईजान को अपनी बांहों में ले लिया और उनको आई लव यू बोलकर उनके होंठों पर होंठों को रख दिया. செஸ் மோவிஸ்इस अन्नू ने तपाक से पूछा- वो कैसे?एकता ने पूछा- कितना खर्चा किया है इस पर?डॉली ने कहा- करीब साढ़े चार पांच लाख तक किया है.

लंड की भूखी ये चुदक्कड़ बीवी अपने पति के लिए कोई भी सबूत नहीं छोड़ना चाहती है कि वो किसी और के पास चुदकर आई है.

भाभी अपने कपड़े निकाल कर नंगी होकर बेड पर लेट गई और उन्होंने मुझे भी नँगा कर लिया. फिर वो पेट पर चाटते हुए नाभि पर आ गये और मेरी नाभि में जीभ डालकर चूसने लगे.

मगर मैंने ये पहल इसलिए की थी क्यूंकि मैं जान गया था कि रानी बहुत थक चुकी है. हैलो फ्रेंड्स, मैं अंजलि शर्मा फिर से अपनी आगे की दास्तान के साथ आप सभी के सामने वापिस आ गयी हूँ. मैंने उनके होंठ चूसना शुरू कर दिए तो उन्होंने भी अपने होंठ चुसवाने में मेरा पूरा साथ दिया.

सुबह दस बजे तक फ्रेश होकर मैंने अपने रूम को ठीक किया, तब तक कविता भाभी मेरे लिए नाश्ता लेकर आ गईं और प्यार से बोलने लगीं.

भाभी की नंगी कमर को देखकर कर मैं उत्तेजित होने लगा और मैंने उनकी को चूम कर बहुत प्यार किया. गीतिका बोली- राज मैंने भी कभी पहले इतना मर्दाना लौड़ा नहीं देखा है, आज तुम इस लौड़े से मेरी चूत की शेप बिगाड़ दो, मैं तुम्हारा एहसान मानूँगी, औरत अपने सारे शरीर को सुंदर रखना चाहती है परंतु वह कभी यह नहीं चाहती कि उसकी चूत की शेप वैसी की वैसी रहे, वह तो चाहती है कि उसकी ठुकाई हो … हो … कर मर्द उसके चिथड़े कर दे, आज फाड़ दो इसको, आओ और चढ़ जाओ इस पर. मैं भी बाथरूम जा कर वापिस दीवान पर आ कर बैठ गया और नेहा के साथ चाय पीने लगा.

पलंग तोड़ वेब सीरीज हिंदी videoउसने नैपकिन उठाकर अपनी गांड साफ की फिर मेरा लंड भी साफ किया और बाथरूम में जाकर अपनी गांड धोकर मेरे पास आ लेटी!हमने एक-दूसरे को आगोश में भर लिया और ऐसे ही सो गये. उन्होंने कुछ देर अपनी चूचियां मसलीं और अपनी चुत खुजा कर गांड हिलाई.

बिहार मस्ती बिहार मस्ती बिहार मस्ती

नेहा की बात से हम तीनों थोड़ा सीरियस से हुए और संजय रुक गया और मैंने कहा- बेड पर चलो. हमारे घर से 2 किलोमीटर दूर बस स्टॉप है। मैं ममा को वहाँ तक छोड़ने गयी सामान ज्यादा था इसलिये।सुबह 9 बजे मैं ममा को बस मैं बैठाकर वापस घर आने लगी तो सोचा कि पूरा दिन है … क्यों न पैदल ही घर तक चली जाऊं।और सर्दी के दिन थे तो मौसम का मजा भी ले लूंगी।मैंने लोअर, शर्ट और जूते पहन रखे थे. भाभी की नंगी कमर को देखकर कर मैं उत्तेजित होने लगा और मैंने उनकी को चूम कर बहुत प्यार किया.

सनी बोला- मासी, आप कॉल पर ही रहना और सुनना दीदी क्या क्या करती हैं. कुछ ही देर में रोहन का शरीर झटके खाने लगा और उसने तुरंत अपने जेब से अपना रूमाल निकाला और उसमें अपना माल छोड़ दिया. महिलाओं की तरफ मेरा हद से ज्यादा झुकाव होने में कई कारक जिम्मेदार रहे हैं- पहला ये कि मेरा जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ जो लेडीज कपड़ों के बिजनेस में था.

मुंह मांगी रकम दूंगा, मगर 10 दिन तक तुझे दिन रात चोदूंगा, बोल चुदेगी?रिया- नहीं।रमेश- 10 लाख दूंगा। चुदेगी?इस बार रिया सोच में पड़ गयी- क्या करूं? हां कर दूं? नहीं नहीं … एक ना एक दिन यह सारी दौलत मेरे ही नाम होने वाली है। मगर कहीं डैड ने सारी दौलत रेहाना जैसी रंडियों के आगे लुटा दी तो? नहीं नहीं … वे ऐसा नहीं कर सकते।रमेश- बोल, चुप क्यों हो गयी?अचानक ही रिया के मुंह से निकला- हां, मैं तैयार हूं. दोस्तो, मुझे मालूम था कि किसी लड़की को गर्म कर दो, तो वो बिना चुदे नहीं रह सकती. मैंने अपने दोनों हाथ भाभी की बड़ी बड़ी चुचियों पर रख लिए और उन्हें भींचता दबाता रहा.

इस बारे में मैंने अपने एक दो दोस्तों से बात भी की कि यदि उनके पास कोई ऐसी महिला मित्र हो तो मेरा भी काम बन जाये. तभी महिला पुलिस बोली- तुझे मैं भेजूं क्या अंदर?और मारने की धमकी देने लगी.

मुझे बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मैंने पहली बार दीदी की गांड को छुआ था.

वो दौड़ता हुआ आया और उसने पूछा- जी मालकिन क्या काम है?मैंने उसको बोला- श्यामू मेरे पूरे बदन में दर्द हो रहा है … क्या तुम मालिश कर दोगे. फुल एचडी में सेक्सी मूवीउसने मेरे हाथों को पकड़ा और मुझे गाली देती हुई बोली- साली कुतिया, दुनिया भर के मर्दों और औरतों से चुदवा कर सती सावित्री बन रही है. फिल्म मेरा गाँव मेरा देशवो सब बैठ गए और रात का समय था तो सोने की तैयारी करने लगे।मैं भी दोबारा इयर फोन कनेक्ट करके लेट गया और पता ही नहीं चला कब सो गया।रात में करीब 2 बजे मेरा प्रेशर फिर बना तो देखा वो भाभी मेरे बगल में ही सो रही थी।भैया नीचे वाली सीट पर एडजस्ट करके सो गये थे. बड़ी मुश्किल से उठ कर मैंने पहले कपड़े पहने, फिर शमा के साथ घर समेटा.

इतनी सेक्सी भाभी की चुदाई करने के लिए अब मैं बिल्कुल मरा जा रहा था.

उनकी साड़ी नाभि दर्शना थी और उन्होंने बहुत गहरे गले का बिना आस्तीन का ब्लाउज पहना हुआ था. देसी गर्ल की चुत कहानी में पढ़ें कि मेरा मौसेरा भाई मेरे साथ रह रहा था. बड़ी चाची मेरे पास आकर बोलीं- आज फ़िल्म में जो भी होगा, वही हम भी करेंगे.

फिर मैंने चादर में हाथ घुसा कर उसके नितम्ब सहलाते हुए बीच की दरार अपनी उंगली से सहलाते हुए उसकी चूत तक ले गया और वहां गोल गोल घुमाने लगा. इसलिए मैं अपने दोस्तों से चैट करके अपना ध्यान वहां से हटाने की कोशिश करता था. वो चूत को पूरा ऊपर ले लेती जिससे लंड की सुपारी का थोड़ा सा भाग चूत में रह जाता.

गन्ने का खेत

आदमी ने पूछा- आपके पास किराये के लिए फ्लैट खाली है?मैं- जी हाँ, है. मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया।वो ‘अआह हाय … ऊई ईल्ल्ला ल्ल्ला अम्मी … मर गई’ चिल्लाने लगी और पैर पटकने लगी. जाते हुए बोले- ठीक है राज जी, हमने जब शिफ्ट करना होगा तब बता देंगे.

भाभी जब वापिस आई तो उनके हाथ में लगभग 5 इंच लम्बा, हाइब्रिड पतला, लगभग 100 ग्राम का खीरा था.

भाभी की चूत की गर्मी जैसे मेरे लंड को जला रही थी और मैं उस आग में जैसे भस्म हो जाना चाह रहा था.

हम दोनों पसीने से लथपथ हो गये थे लेकिन चिपक कर लेट गए।30 मिनट बाद वो उठी बाथरूम चली गई मैं भी उसके पीछे पीछे चल दिया।दोनों ने पेशाब की मैंने उसे गोद में उठाया और बिस्तर पर ले आया।उसने मुझे अपनी बांहों में खींच लिया और चूमने लगी मैं भी उसके पीछे से हाथ फेरने लगा।मेरा लौड़ा फिर से खड़ा होने लगा. उसने मशीन को ऑन करके वो अपना लंड फुल स्पीड में मेरी गांड में अन्दर बाहर करने लगा. एनिमल सेक्सी गर्ल्समैंने भी देर न की और उसकी चूत के रस से अपना लौड़ा गीला करके उसके चूत पर टिका दिया.

उसने मुझे होटल का नाम बताते हुए कहा- मुझे इस होटल के बाहर उतार दीजिएगा. मेमसाब जैसा आपने आर्डर दिया था मैं वैसे ही तो कह रहा हूँ मेमसाब … आप हुक्म करेंगी तो रानी कहूंगा जैसा बाकी सबको कहता हूँ. चमेली का तेल, बचे हुए कंडोम, एक इस्तेमाल किया हुआ कंडोम, इन सबको को पेपर में लपेट कर अपने बैग में डाल लिया.

भाभी- तुमने सही किया संजय … जिस दिन तुमने मुझे गर्लफ्रेंड बनने के लिए ऑफर किया था, तो मैं डर गयी थी. वो बोली- आह प्लीज़ छोड़ दो … मैं दूसरे तरीके से आपके लंड का पानी निकाल दूंगी.

जब अनामिका की चूत जब तीन उंगलियां आराम से अन्दर लेने लगी … तो प्रियंका ने साथ में अपना मुँह भी चुत में लगा दिया.

2 मिनट के बाद धीरू अंकल ने अपना सारा पानी कंडोम में ही मेरी चूत में निकाल दिया और मेरी चूत में से अपना लंड निकाल कर मेरे बगल में लेट गए. एक के बाद एक चूत में इतना पानी निकलता है कि मन करता है चुदवाती ही रहूं. इधर मैंने अपने दोनों हाथों से नेहा के चूतड़ों को ऊपर किया और उसकी चूत और आस पास के एरिया को अच्छे से चूसने लगा.

घर पेंट कलर उसने अपनी दोनों आंटियों को चोदने के बाद मुझे कई मेल किए, जिसके बाद मैंने वहां जाने का फैसला किया. मेरी बालकॉनी के सामने पूरा खुला दृश्य होने के कारण पूरी प्राइवेसी भी थी.

वो आगे बोली- फूफाजी मेरा पति शादी के बाद एक साल तक तो सेक्स बराबर करता रहा. मुझे मूवी में कोई इंटरेस्ट नहीं था, मैं तो बस रुबीना के मजे लेना चाहता था. आँटी ने अपनी कोहनियों को थोड़ा मोड़ा और छाती को थोड़ा बेड से ऊपर उठा लिया.

अंतरवासना सेक्स व्हिडिओ

मैं बोली- क्यों दीदी?दीदी बोलीं- वो सब छोड़ … तू कल चुद लेना … बस अभी इतना ही फाइनल करते हैं. पीछे से चूतड़ों का आधा हिस्सा दिखाई दे रहा था और नाइटी उठी होने से चूत सारी दिखाई दे रही थी. मैंने अपने घर पर बोल दिया- मेरे फ्रेंड का बर्थडे है, देर हो जाएगी, तो मैं रात को घर नहीं आऊंगा.

दो मिनट चुत चाटने के बाद जब मुझे एहसास हुआ कि अब डेज़ी पूरी तरह से गर्म हो चुकी है, तो मैंने उसे उठाया और अपने लंड पर कंडोम चढ़ा कर लौड़ा उसकी चुत पर रगड़ने लगा. आंटी की गांड मेरी तरफ ही उठी हुई थी और उसे देख देखकर ही मेरे लौड़े में तनाव आ रहा था.

इस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया फ्री चैट गर्ल स्टोरी में आपको बड़ा मजा आने वाला है.

मैं- भाभी ज्यादा आवाज मत करो, किसी ने सुन लिया तो ये मजा यहीं खत्म हो जाएगा. मैं अपने काम के सिलसिले में सुबह निकल जाता और शाम को वापस ससुराल वाले घर आ जाता. बाहर बाड़े में और सड़क पर लाइट जल गई थी जिससे सब कुछ साफ दिखाई दे रहा था.

चाय का कप साइड में टेबल पर रख कर उसने मुझे मेरे होंठों पर किस करके मुझे जगाया. जिसने आज तक मेरा लन्ड शादी के इतने महीनों में नहीं चूसा, वो आज गपागप चूस रही थी. जब मैंने भाभी के हाथ को अपने हाथ में पकड़ कर पूछा तो बोली- राज, उस दिन जब मैं बिन्दू की पिटाई कर रही थी तो मेरी मम्मी भी थी.

थॉमस का खड़ा लंड मेरी गांड की दरार में मुझे गड़ता सा महसूस हो रहा था.

बीएफ देहाती हिंदी सेक्सी: मैं बार बार अपने लंड को भाभी की बच्चेदानी तक अन्दर ठेल दे रहा था जिससे वो कराह उठतीं और नीचे से अपनी गांड उठा कर मेरे लंड को चुततोड़ जवाब दे देतीं. अपनी गांड और चूत चटवाते हुए रिया भी मज़े में सिसकारी लेने लगी- आह्हम … आआ … डैड … ओह्ह … माय गॉड … आआऊ … अम्म … ओह्ह जोर से।कुछ देर ऐसे ही चाटने के बाद रमेश खड़ा हुआ और अपने लंड पर थूक लगा कर उसने रिया की गांड में लंड को लगा दिया और एक धक्के के साथ अपना लंड रिया की गांड में पेल दिया.

भाईजान ने भी मेरी पैंटी में हाथ डाल लिया और मेरी चूत को सहलाने लगे. मनु ने मुझे दीवार की ओर मुँह करके खड़ा कर दिया और मेरी एक टांग चेयर पर रखकर मेरी गांड को थोड़ा सा ऊपर किया और उंगली से मेरी गांड में क्रीम लगाना स्टार्ट कर दिया. ऐसा कोई भी आसन बाकी नहीं रहा था, जिसमें मैंने भाभी को संभोग का सुख ना दिया हो.

मैंने इस मौके का फायदा उठाते हुए उसकी साड़ी ऊपर की और पैंटी हटा कर उसकी चुत में उंगली करने लगा.

मोहल्ले में न जाने कितने ही लोग उन्हें देख कर अपने लंड की पिचकारियां छोड़ते होने. तभी किचन से रीना ने सबको खाने के लिए आवाज लगाई। बुआ खाना खा कर सोने की तैयारी में लगी. अब तू खुद ही बता तुझे क्या सेक्सी गाने सुनना अच्छे नहीं लगते! तूने भी ब्लू फिल्म तो देखी है, भले ही एक दो बार देखी है.