बीएफ फिल्म नंगी ब्लू

छवि स्रोत,एक्सएक्सएक्सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली की सेक्सी वीडियो: बीएफ फिल्म नंगी ब्लू, हरामजादे, तुम पहले से ही गर्म हो रखे हो! क्या मालकिन की चूचियों को देखकर ऐसा हुआ है?” कहते हुए मैंने उसके लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही ऐेसे पकड़ लिया जैसे गाड़ी का गियर हो।वो चुपचाप मेरी ओर देख रहा था.

ब्लू पिक्चर वीडियो चलने वाला

भाभी और मैं फिर आपस में लिपट गयी और एक दूसरी के अंगों को छेड़ने लगी और न जाने हमें कब नींद आ गई. माधुरी दीक्षित का सेक्स फोटोभाभी जी मेरे साथ लेट गईं, तो मैंने उनकी टांग के ऊपर अपनी टांग रख दी.

मैं सोच रहा था कि औरत जब कामवासना में डूब जाती है तो वह अपनी प्यास बुझाने के लिए कुछ भी कर सकती है. चतुर मुर्गानीरजा चुदाई के बाद मेरे लंड के जूस को अपने जिस्म पर मल लेती, जिससे उसके जिस्म पर एक चमक आने लगी थी.

मैं- ये बुजदिल कौन है?विक्की- मैं ही वो नीच बुजदिल हूं जिसको एक आज्ञाकारी दास की तरह सिमरन मैडम की सेवा करनी चाहिए.बीएफ फिल्म नंगी ब्लू: ” मैंने हंसते हुए कहा।सानिया आश्चर्य से मेरी ओर देखने लगी उसे तो लगा मैं प्रीति के बारे में कोई अन्यथा टिप्पणी करूंगा।उसने एक बात और भी बताई थी?”क्या?”वो बोलती है बड़े दूद्दू वाली लड़कियों को उनके बॉय फ्रेंड बहुत प्यार करते हैं.

बोलो क्या बोलती हो?मेरे पास कोई और रास्ता ही नहीं था … मैंने कहा- ठीक है … जैसा तुम कहो.सरोज कहने लगी- राज बस तुम्हारी चाहत ने यह सब करवा दिया, मैं तो तुम्हारी कायल हो गई हूँ, अब तुम आराम से यहां रहो और हम आराम से जब मर्जी अपना काम कर लिया करेंगे.

बांग्ला पिक्चर - बीएफ फिल्म नंगी ब्लू

वो मुझे एकदम से डांटने लगे और बोले- अगर सही से सीखना हो, तो आपको डेली आना होगा … वरना अपना नाम वापस ले लो.साथ ही मैंने अपनी 2 उंगलियों को भी उसकी चूत में घुसेड़ दिया जिससे वो चिल्ला उठी- आआआहह … ऊऊ … यसस्स अजय … कमॉन ओह्ह … यू आर सो अमेजिंग … कितना मजा दे रहे हो तुम … आह्हह … ऐसे ही करते रहो.

कहीं ये इन्फेक्शन ले आई तो?उसने अंदर आकर शीला से कहा- तुम आज तो काम कर लो. बीएफ फिल्म नंगी ब्लू मेरे एक टूरिस्ट मित्र से, जो धार्मिक यात्रा करवाता था, उससे मेरी मित्रता अच्छी थी.

लेकिन लंड फिसल गया।मैं समझ गया कि भाभीजान पहली बार गांड में डलवा रही हैं.

बीएफ फिल्म नंगी ब्लू?

अभी इससे पहले जो चुदाई उन्होंने मेरी की थी वो बहुत ही दर्द देने वाली थी जिसको मैं बर्दाश्त नहीं कर पायी थी. गर्लफ्रेंड की चूत की शेप देख कर मैं हमेशा उसको चोदने के लिए उतावला रहता हूं और उसकी चूत को खूब पीता हूं. मैंने बैठे हुए शशि भाभी को अपने गले लगा लिया और वो भी बड़े आराम से मेरी गोद में लेट सी गईं.

कभी वो लंड के सुपारे पर अपनी गीली जीभ गोल गोल घुमाने लगती, तो कभी पूरा लंड मुँह में भर कर अन्दर ही रख कर जीभ से पूरा लंड चाट जाती. उसका नाम देखते ही दिल धड़कने लगा, मैंने बहुत खुश होकर फोन उठाया।खुशी ने कहा- अभी शॉपिंग के लिए निकली हूं. रजनी की चूत में अब लंड का पूरा मजा मिलने लगा और वह बड़ी तेजी से ऊपर नीचे होने लगी.

परन्तु लड़कियों को तो बहुत ज़्यादा सावधानी रखनी ज़रूरी है और वह भी विशेषतः टीवी वाली जानी पहचानी लड़कियों को. तभी मैं फिर से झड़ गयी और कुछ देर बाद मेरा भाई ने भी मेरी चूत में वीर्य की बाढ़ ला दी. अब तो वो बुरी तरह चीख कर बोली- ओह्ह… आज तो तुमने मेरी चूत का चिथड़ा बना दिया.

क्यों? पैसे के लिए न! तुम लोगों के झूठे बर्तन साफ करती हो, झाड़ू फटका करती हो, क्यों? पैसे के लिए न. दिन में उंगली डालने से मेरी चूत में जो दर्द हुआ था अब उतना नहीं हो रहा था और मैं मजा लेने लगी.

मेरी चुदासी तड़पती साली के मुंह से निकली एक एक सिसकारी और एक एक शब्द मेरे अंदर मानो चिंगारी भड़का रहे थे। उसने मुझसे पोज चेंज करने को कहा तो मैंने उसे अपनी गोद में बैठा लिया.

बेबी रानी का कहना था कि उस दिन क्या … पिछली शाम से गुड्डी रानी कई बार चुद ली.

आप बताते क्यों नहीं कि क्या तकलीफ है आपको? जीजू आपको मेरी कसम है अगर नहीं बताया तो!” निष्ठा इस बार मुझे पकड़ कर हिलाते हुए अधीर होकर बोली. इतने में मेरे भाई ने मेरी बगल में बैठते हुए मेरे हाथ में एक पैकेट थमा दिया. ”कैसे?”आपने तो मुझे बताया ही नहीं कि आपकी वाइफ मुंबई गई है?”ओह … हाँ … पर?”मुझे घर बुला लेते तो यहाँ बंगलुरु आने का झंझट ही नहीं होता.

काश … कि वो मेरी जांघों पर हाथ रख ले, मैं मन ही मन कुछ ऐसे ही दुआ कर रहा था. यूं ही उसके साथ बात करते करते मैंने पूरा लंड जावेद की गांड में डाल दिया. अगले ही पल मेरी चुदासी हो चुकी साली ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया.

मैंने लंड को उनके मुँह से लगाया, तो भाभी जी भी मेरा लंड चूसने लगीं.

कुछ देर बाद उन्होंने मेरी शर्ट के सारे बटन खोल कर मेरी चुचियों को बाहर कर दिया और खूब ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे. उसने ढेर सारा थूक अपने लंड पर लगाया और फिर अपने लौड़े को बीवी की गांड पर सेट कर दिया. भाभी ने मुझे अपने साथ लिटा लिया और मेरी चूचियों पर प्यार से हाथ फिराने लगी.

भाभी ने धीरे धीरे खीरे को पहले मेरी चूत के छेद और क्लिटोरियस पर चलाया. इस पर मुकेश बोला- क्या बात कह रहा है यार … कैसी लगती है उनकी पुसी?मैंने कहा- थोड़ा इंतजार कर … तुझे दर्शन भी करा दूंगा. तो उसने धीरे से मेरे चेहरे को अपने से अलग किया और बोला- तुम अभी नशे में हो.

उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू किया और फिर चूमते हुए मेरी छाती पर किस करते हुए मेरे निप्पलों पर जीभ फिराने लगी.

हम दोनों के जाते ही सबने आखिरी विदा लेने से पहले साथ में कुछ मस्ती करने की फरमाइश रखी. भाभी मुझसे कहने लगी- रानी, कैसा लगा, मजा आया?मैंने कहा- भाभी बहुत मजा आया? क्या भैंस को भी ऐसा ही मजा आता होगा?भाभी बोली- पागल, भैंस को तो और भी ज्यादा मजा आता है क्योंकि उसके अंदर तो एक फुट लंबा लंड भी जाता है.

बीएफ फिल्म नंगी ब्लू मैं सभी पाठक पाठिकाओं को निरंतर सहयोग के लिए धन्यवाद देना चाहता हूँ. तो मैंने उसको रोका- अगर तुम ऐसे ही झड़ गए तो मेरी चूत कर क्या होगा?वो बोला- मेरी जान, तुम्हरी चूत की आग तो मैं शांत कर दूंगा.

बीएफ फिल्म नंगी ब्लू कुछ मिनट की लंड चुसाई के बाद जब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूं, तो मैंने उसके मुँह से लंड को बाहर निकाल लिया और उसे उठा कर बेड पर पटक दिया. क्या चोदते हो हर्षद तुम … मेरी चुत, कमर और जांघों में दर्द हो रहा है … लेकिन मजा ही बहुत आ रहा था हर्षद.

दोस्तो … मैं अनिकेत अपनी चुदक्कड़ पूजा के साथ आपके सामने बाँडेज सेक्स करने को तैयार हूँ.

जय और वीरू सॉन्ग

फिर मैंने लंड टिकाकर चूत में धक्का मारा तो भाभी की दर्द भरी आह्ह … निकल गयी लेकिन वो दर्द को बर्दाश्त कर गयी. मगर मैं उसे अभी और तड़पाना चाहता था … क्योंकि असली सेक्स का मजा तब ही मिलता है, जब चुदने की और चोदने की तड़प हद से ज्यादा हो. वो अपने हाथ से मेरी मिडी उठा कर मेरी चूत में उंगली कर रहा था, जिससे मैं गर्म होने लगी थी और दोनों का साथ दे रही थी.

अगले दिन मैं स्कूल गयी और मुझे स्कूल के एक अलग कमरे में ले जाकर फिर से टीचर ने चोदा. उन्होंने मेरी टांगें चौड़ी की और उन्होंने अलमारी से थोड़ी वैसलीन उठाकर मेरी चूत पर और खीरे के ऊपर लगा दी. मैं- घर पर ही कुछ बना लेते है, कल शनिवार है … मेरा ऑफ है, बहुत सारी बातें करेंगे.

अरे वाह … फिर तुमने क्या जवाब दिया?”किच्च!”अरे क्यों? बेचारी कितनी अच्छी राय दे रही थी और तुमने ना बोल दिया.

लेकिन आपने कभी बताया नहीं कि कभी इन्होंने आपकी भी मारी थी?सलीम- हां. मेरी पड़ोसन भाभी की चुदाई कहानी के पहले भागपड़ोस की भाभी सेक्स की चाह-1में अब तक आपने जाना कि मेरी और शशि भाभी की बातें होने लगी थीं. इतना बोल कर मैं उस वैरी सेक्सी गर्ल के पैरों के बीच में आ गया और नीरजा की बुर खोल कर अपना लंड नीरजा की बुर के गुलाबी होंठ पर रगड़ने लगा.

अब राजेश ने कुनमुनाते हुए आँख खोली तो शीला कमरे से तेजी से बाहर आ गयी. कुछ देर तक उन्होंने ऐसे ही रिया रंडी की गांड चोदी और फिर दोनों बेड पर खड़े हो गये. अब तो शांति रोज घर का काम निपटाने के बाद बेडरूम में आ जाती है और तरह तरह के आसनों का प्रयोग करके मुझे मजा देती है.

वो बोली- आज तक मेरी ऐसी गांड मारने वाले तुम पहले आदमी हो … आई लव यू … बस तुम मेरी इच्छा पूरी करते रहना तुम्हारे जैसा आदमी मुश्किल से मिलता है. तभी एक दिन शांति ने बम फोड़ा- साहब, स्वरा की शादी तय हो गई है, अगले महीने की 6 तारीख को शादी है.

जैसे ही इस पोजीशन में मेरी चूत भाभी की चूत से टकराई तो भाभी की मजे से चीख निकल गई आई …. वो फिर से हंसने लगी और बोली- अब बता भी दो यार कि आपकी गर्लफ्रेंड है या नहीं है. रवि- जाने दूं? पागल हो गया है क्या? ऐसे माल को जाने दूं? अगर इसकी जगह मेरी बेटी रश्मि भी होती तो मैं उसे भी चोद देता, और फिर यह तो एक बाजारू रंडी है.

कुछ देर तक उन्होंने ऐसे ही रिया रंडी की गांड चोदी और फिर दोनों बेड पर खड़े हो गये.

उन्होंने सलीम को आवाज दी- सलीम … जा भैया के साथ चला जा … पन्द्रह पच्चीस मिनट साईकिल इनके साथ चला कर देख ले … कोई शिकायत आए, तो बताना. गुड्डी रानी स्खलित होने के बाद कुछ देर तो मेरे से चिपक के पड़ी रही, गहरी गहरी साँसें लेते हुए. मैं बाप बन गया था एक बेटे का पर मैं कोई एन्जॉयमेंट करने की स्थिति में नहीं था.

उसने मेरी कमर ज़ोर से पकड़ ली।मैं उसके होंठ चूस कर बोला- बस थोड़ा सा रह गया है मेरी जान, बस एक बार और!नहीं कपिल नहीं, उसने मेरा चेहरा दोनो हाथों में लेकर होंठ चूम लिये, मत रुलाओ अपनी रितु को, तरस खाओ, सच मैं बहुत दर्द है उफ़्फ़।बस मेरी गुड़िया देख, बस दो इंच लण्ड बचा है. मैंने अगले ही धक्के में अपना आधा लंड और दूसरा धक्के में अपना पूरा लंड चूत के अन्दर डाल दिया.

तभी सलहज नजदीक आकर बोली- शर्म नहीं आती है मेरे सामने हल्की हरकतें कर रहे हो. ग्राउंड फ्लोर पर दो बैडरूम, एक ड्राइंग रूम, किचन और दोनों बेडरूम के साथ अटैच बाथरूम थे. और आएशा भाभी को डबल इंजन के मजे देने लगा।मैं जब पीछे से गांड में पेलता, नीचे से दीपक का लंड भाभी की चूत की गहराई में बच्चेदानी को ठोकरें मारकर जन्नत की सैर करा रहा था।चुदाई से महरूम भाभी आज पूरी रंडी बनकर तैयार थी। मैं छुटने वाला था तो मैंने गति बढ़ा दी.

स्कूली सेक्सी वीडियो

वो इतने अच्छे से मेरी चूत को चाट रहा था जैसे कि ये उसका रोज का काम हो.

कुछ देर चूचियों को चूसने के बाद सर ने मेरी पैंटी भी निकाल दी और मुझे टेबल पर लिटा दिया. मैंने उसके मुंह में लंड दे दिया और उसने शिद्दत के साथ मेरे लंड को चूस चूस कर गीला कर दिया. यह बात सुनते ही जैसे उसका चेहरा खिल गया और उसने बोला- ठीक है मेम साहब, मैं सिखा दूँगा।मालकिन ने मुझे बोला- सारा काम खत्म कर के दोपहर में इससे सीख लेना।कुछ देर बाद वो अपने अस्पताल चली गयी.

अपने हाथ उसकी छाती पर ले गया और धीरे से टीशर्ट के ऊपर से ही उसके बूब्स दबा दिए. फिर भगवान् कृष्ण से मीरा भी तो प्यार करती थीं … पर कृष्ण तो सिर्फ रुक्मणि के ही रहे. मुस्लिम लड़कों का नामक्या तुम बीच-बीच में उसकी खबर मुझ तक पहुंचाती रहोगी?उसने कहा- ठीक है सर.

फिर मैंने बाथरूम का दरवाजा खटखटाया और भाभी को कल का वादा याद कराया. तुमने मेरी गांड फाड़ दी और मैं खुश हो रही हूँ, मुझे ऐसे ही चोदते रहना, मेरी दुनिया तुम्हीं हो विजय.

पर मैं जालिम भी सब देख रहा था।हर बार जब मेरा लण्ड किट्टू की चूत के अंदर जाता तो मुझे एक खिंचाव सा महसूस होता जो इस बात का प्रतीक था कि किट्टू की चूत मेरे लण्ड के लिए अभी बहुत तंग थी।किट्टू की सिसकारियाँ धीरे धीरे तेज़ होती जा रही थीं. 10 12 झटकों के बाद साँड ने फिर अपने वीर्य से भैंस की चूत को भर दिया. भाभी मुझे गाड़ी धीरे चलाने को बोल रही थीं और मैं कन्फ्यूज था कि पता नहीं इनके मन में क्या चल रहा है.

मैं तो उत्तेजित था ही और अब नेहा की उत्तेजना भी फिर से पूरे शवाब पर थी. कुछ मिनट बाद जोर जोर से चिल्लाते हुए नैना उछल उछल कर अपनी चूत से पानी निकालने लगी. शक होता है तो मुझे कुछ नहीं लेना लेकिन इसकी मेरे सामने मुंह खोलने की हिम्मत नहीं है.

फिर उसके हिप्स को सहलाता हुआ उसकी पीठ चूम चूम कर उसे नार्मल करने लगा.

”कैसे?”आपने तो मुझे बताया ही नहीं कि आपकी वाइफ मुंबई गई है?”ओह … हाँ … पर?”मुझे घर बुला लेते तो यहाँ बंगलुरु आने का झंझट ही नहीं होता. देसी वर्जिन गर्ल इरोटिक सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपनी कमसिन कामवाली के जिस्म को भोगने के लिए उसे अपनी बातों के लपेटे में लिया.

मैंने उसके सिर को लंड की तरफ झुकाया। उसने झट से लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. फिर हम लोगों ने प्लान बनाया कि रात में बीच के किनारे खुली हवा में चुदेंगे. लंड तो मिला …मैं आपकी कोमल आपके सामने अपनी एक और सेक्सी जवानी की कहानी लेकर हाज़िर हूँ।मेरी पिछली कहानीकुवारी जवान बुर की चुदाई की लालसाको आप सब ने इतना पसंद किया; उसके लिए दिल से धन्यवाद।आप लोगों के बहुत से मेल मुझे प्राप्त हुए.

उसका आदमी तो बहुत ही खुश हुआ और राजेश के पैर पकड़ कर शीला से बोला- देख साब को कोई तकलीफ न हो. मुझे किसी स्पीच से क्या लेना देना था, मगर मैं तब भी थोड़ी थोड़ी देर में ताली बजा देता था, जिससे कुछ चूतिया टाइप के लोग भी ताली बजाने लगते थे. रगड़ने के बाद हल्का हल्का अन्दर डालने लगा और वो अपने मुँह से सिसकारियां निकालने लगी.

बीएफ फिल्म नंगी ब्लू एक सच्चाई और भी है कि मैं इसी बहाने अपने मंगेतर की जानकारी में भी तुम्हारे पास रह सकती हूँ, तुम्हें देख सकती हूँ तुम्हें महसूस कर सकती हूँ।अब मेरे पास खुश होने के बहुत से कारण थे. अपने हाथ को भाभी ने अच्छी तरह से लण्ड और चूत पर मसल कर गीला किया और फिर अपनी चुचियों पर मसल लिया.

ववव कॉम सेक्सी फिल्म

पढ़ कर मजा लें कि उस इंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई का मौका मुझे कैसे मिला?माफ़ करना साथियो, मेरा लंड औरों की तरह 8 या 9 इंच का नहीं है. भाभी जी ने मुझे मना किया, पर मैं माना नहीं और भाभी जी के चूचे दबाता रहा. एक दिन सुमीना के बेटे की तबियत बिगड़ गयी और मैं उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गया.

भाभी ने इस पर कुछ नहीं कहा और मुस्कुराते हुए किचन में काम करने लगीं. कम से कम तुम अपनी मां को वहशी जानवर की तरह तो नहीं चोदोगे, है न बेटा?मैं- हां मां, मैं सोच रहा हूं कि तुम मेरे मुंह पर अपनी गांड लगा कर मसल रही हो. मैया काली कंकाली कालका हो मांआंटी के घर से अपने घर आने के बाद मैंने दोस्त को वो सारा वाकया बताया सिवाय आंटी के नंगे जिस्म और चूत में उंगली करने के।मैंने किसी और औरत की कहानी उसको बता दी.

फिर मेरे बारे में ऐसा कैसे सोच सकते हो?मैं- क्यों रिश्तेदार को पसंद नहीं कर सकते हैं? ऐसा कहीं लिखा तो नहीं है? मैंने तुम्हें अपनी मन की बात बता दी है.

”सच्ची?” सानिया हैरत भरी निगाहों से मेरी ओर देखने लगी।उसे तो मेरी बातों पर जैसे यकीन ही नहीं हों रहा था।हाँ भई सोलह आने सच्ची. मैंने उसको और उसने मुझको अपनी बांहों की गिरफ्त में इस कदर ले लिया लिया था कि हमारे बीच से हवा भी नहीं निकल पा रही थी.

और मैं भी इस ताबड़तोड़ चुदाई से थोड़ी थकान महसूस कर रहा था। मैं भी किट्टू के ऊपर ही ढेर हो गया. ऐसी बात नहीं है निष्ठा, तू तो मेरी सगी इकलौती साली है, साली आधी घरवाली होती है वैसे भी!” मैंने कहा. मेरी बातें सुनकर नैना झल्लाकर बोली- उफ्फो … तुम हमेशा दूसरों के बारे में बातें करते रहते हो.

फिर मन में प्रश्न उठा कि इसकी चूत अभी भी सील बंद होगी या …?इसकी चूत की भगनासा और मोती कैसा होगा … इसकी तो गांड भी मस्त होगी … इसके होंठ चूसते हुए इसकी चूत मारने में क्या मस्त मज़ा आएगा … भरपूर जवान हो गई है सो मेरा लंड तो झेल ही लेगी.

मैं बोला- नहीं शिवानी भाभी, मैं आपको कैसे भूल सकता हूं? आप तो मेरी जान हो. दो-तीन बार तो उन लोगों ने बाहर लान में घुप्प अँधेरा करके वहां भी चुदाई की. हॉट सेक्स चुदाई स्टोरी के पिछले भागजवानी की अधूरी प्यास- 1में आप लोगों ने पढ़ा कि कैसे मैंने अपने जिस्म की हवस को शांत करने के लिए पहले सचिन से दोस्ती की.

manforce गोलीकुछ देर बाद वो खड़ा हुआ और एक थप्पड़ मेरी गांड पर लगा दिया जिससे मुझे मज़ा आया. मैंने कार्ड भेजने के लिए धन्यवाद दिया और कार्ड को बहुत बारीकी से पढ़ने लगा.

नया सेक्सी वीडियो हिंदी

इधर संजय और मैंने भी अपने ऊपर के कपड़े उतार दिए ताकि कपड़ों की शाइनिंग खराब न हो जाए क्योंकि हम घर से एक्स्ट्रा कपड़े 1-1 ही लेकर आये थे. मैं बिना दरवाजा खटखटाये उसके रूम में चला गया और उसको नंगी देख लिया. थोड़ी देर बाद मम्मी का दर्द थोड़ा कम हुआ, तो मैंने सीधा होकर अपने लंड को थोड़ा बाहर निकाला और फिर से जोर का धक्का दे मारा.

अगर तुम दोनों को मेरी चूत और गांड चुदाई आगे भी करनी है तो रत्न से ही बात करनी होगी. उसके साथ ही उसकी छोटी बेटी यानि कि सरोज की छोटी बहन गीतिका बैठी थी. आकाश नीचे बैठ गया और अपने हाथों से नैन्सी का चेहरा पकड़ कर अपने होंठों को उसके होंठों से भिड़ा दिया और अब उसकी जीभ नैन्सी की जीभ से टकरा रही थी.

नेहा लंड चाटते हुए नीचे जाकर मेरी गोलियों तक पहुंच जाती और उसे भी चूस चाट रही थी. थोड़ी देर में भाभी ऊपर छत पर आईं, तब मुझे पता चला कि वो हर रोज धूप के लिए ऊपर आ जाती थीं … क्योंकि छत का दरवाजा खुला ही रहता था. अगर राजी खुशी से चुदने को मान जाये तो ठीक … नहीं तो जबरदस्ती ही सही.

पर अलग जाति की होने से बात शादी तक नहीं पहुंची और वे दोनों घर वालों के आगे झुक गए. उसने दरवाजा नॉक किया और रवि ने दरवाजा खोला तो रमेश ने उसे गले से लगा लिया.

मैंने सरोज से कहा- भाभी कुछ दिखाई तो दे नहीं रहा है, इतने मन से आज तैयार हुई हो, बेडरूम में चल कर करें.

पहले तो मैं शर्म कर रही थी लेकिन भाभी कहने लगी- अगर शर्म करोगी तो कुछ भी मजा नहीं आएगा. सीमा की सेक्सी वीडियोजब भी मर्द बाहर मुँह मारने जाते हैं, तो कुछ ने कुछ ऐसा इंतजाम करके जाते हैं कि जल्दी जल्दी उनका माल ना झड़े. गुजराती बीपी फिल्म वीडियोमैं मज़ाक करते हुए बोली- इतनी बड़ी क्यों ले आए?मेरा भाई भी मज़ाक करते हुए बोला- सही बोल रही हो दी, कुछ ज्यादा ही बड़ा साइज़ आ गया है. मेरी खुशी हल्के कदमों से आगे बढ़ते हुए किसी महारानी की तरह लग रही थी.

मेरे हाथ पैरों की मालिश करके आपने मुझे बहुत राहत दी है पर उसी का साइड इफ़ेक्ट ये हुआ कि ये लिंगदेव उत्तेजित हो कर खड़े हो गए.

मुझे बदलते हुए देखकर एक बार उसने पूछा- मनोज, यार तू तो बदल गया है बिल्कुल! ऐसा क्या मिल गया है यार तुझे, मुझको भी बता दे भाई?दोस्तो, वैसे तो जिगोलो कभी अपनी पर्सनल लाईफ के बारे में नहीं बताते. कविता ने अब आयल सीधा रवीना के मम्मों पर उड़ेल दिया और मम्मों से लेकर उसके पेट पर हाथ फहराते हुए वो सीधे अपनी हथेलियाँ रवीना की चूत में ले गयी. उनको सेक्स वीडियो देखना पसंद था … तो मैं भाभी को अपने एक सेक्स ग्रुप से वीडियो भेजता रहता था.

मामी ने मुस्कुराते हुए मुझसे बोला- अतुल मैं एक रिक्वेस्ट करूं?मैंने कहा- बिल्कुल मामी … एक क्या जितनी मर्ज़ी उतनी कर लो, अब तो आपकी हर ख्वाहिश पूरी करना मेरा फ़र्ज़ है. मैं बुरा नहीं मानूंगी।तुम्हें तो कई अच्छे से अच्छे लड़के मिल सकते हैं. आंटी के शरीर की बनावट और चाल की चुस्ती देख कर कोई नहीं कह सकता था कि वह 60 साल की होंगी.

বাঙালি বৌদি সেক্সি বিএফ

इस बार एक और रिकॉर्ड टूटने जा रहा है, वो है दिसंबर जनवरी में रिकॉर्ड बच्चे पैदा होना और दूसरे जून में रिकॉर्ड गर्भपात. कुछ देर तक भाभी की चूचियों को देखने के बाद जब मुझसे रहा नहीं गया, तो मैं भाभी से बात करने के लिए उनके पास जाने लगा. पायल और आंचल का मेरे प्रति खुले व्यवहार का कारण भी अब स्पष्ट हो गया था.

कैसे प्रिंसीपल टीचर ने चोदा मुझे! और इसके अलावा मेरी चुत चुदाई का मजा किस किस ने लिया, ये सब मैं आपको अगले भाग में लिख कर बताऊंगी.

नीचे लेटी निष्ठा को शायद चुदने की मिसमिसी छूटने लगी थी … वो बार बार अपनी कमर ऊपर उठा कर चोदने का संकेत कर रही थी.

दूसरे दिन उसने मुझे जयपुर में धार्मिक यात्रा एक ऑफिस खोलने को कहा, साथ में भागीदारी का प्रस्ताव भी रखा. ऐसा करते देख मैंने भी नेहा के मम्मों को हाथ में लिया और उसकी एक चूची को अपने होंठों में ले लिया. क्ष वीडियोमैंने भाभी को उनके चूतड़ों से पकड़ कर अपनी ओर खींचते हुए लण्ड को भाभी की चूत में ठोक दिया.

चूत का पर्दा काफी सख्त था और गर्म खून की एक बौछार लंड पर पड़ती महसूस हुई. मैंने कहा- अब तो मिल गया न सबूत कि मैं अपनी हर रानी को कितना अधिक प्यार करता हूँ … रानी जब मेरे सामने होती है तो मेरी सभी इन्द्रियां, मेरा पूरा ध्यान, मेरा दिमाग और मेरी आत्मा सब रानी पर सौ प्रतिशत नहीं बल्कि एक हज़ार प्रतिशत केंद्रित होती हैं … मुझे दुनिया की बाकी हर बात दिमाग से निकल जाती है … रानी, रानी और सिर्फ रानी ही रानी मेरे सर्वस्व में होती है. लगभग तीन चार साल पहले कि बात है भैया ने घी लिया और अन्दर कमरे में जाकर घी अपने लंड पर लगा कर मालिश करने लगे.

नेहा काम करती रही और मैंने अपनी पैंट की जिप खोलकर लण्ड निकाला और नेहा के चूतड़ों में फिट कर दिया. इस बार मैं गर्म कपड़े लेकर नहीं आया था, मुझे मालूम ही नहीं था कि इस बार इस तरह की यात्रा करने को मिलेगी.

मैंने अपने घर के पीछे वाली दीवार के सामने से गाड़ी को खड़ा कर दिया जिससे कोई हम दोनों को देख ना सके और मैंने गाड़ी बंद कर दी और उस पर निढाल हो गयी.

अब आगे पढ़ें बाप बेटी का सेक्स:होटल मूनलाइट पहुंच कर रमेश सीधा रवि के रूम पर पहुंचा. हम दोनों अब करवट ले कर लेट हुए थे और एक दूसरे को बांहों में जकड़े हुए थे. तभी भाभी ने मेरे चूत वाले हाथ पर अपना हाथ मारा और मेरी तरफ मुस्करा दी.

नंबर ब्लैक लिस्ट में कैसे डालें अब एक रात मैं शिवानी की चूत चोदता था और दूसरे दिन सुमीना भाभी की चूत चुदाई करता था. मेरा लण्ड बहुत तगड़ा है, मतलब? और कितने लण्ड खा चुकी हो?”हम पर विश्वास करिये, साहब.

उसकी सांसें एकदम भांप की तरह गर्म हो चुकी थीं। फिर वो जल्दी से मेरी तरफ घूम गयी. मैंने हमेशा तुम्हारे सीनियर होने की तारीफ की है और तुमसे बेहतर मुझे कोई और नहीं मिल सकता. मेरे पेरेंट्स की गैरमौजूदगी में मैं एक पब में गयी और मुझे मेरे तनाव को दूर करने का एक खूबसूरत साधन मिल गया.

बंगला सेक्स व्हिडीओ

पूछने पर मैंने उनको बताया कि एक बार जब मैं नीचे झुक कर रुमाल उठा रही थी तो एक पड़ोसी ने मेरी गांड पर अपना लंड टच कर दिया था. फिर मैंने जोर से धक्का दे दिया, तो मेरा आधा लंड मम्मी की चुत में घुसता चला गया था. मैं अपने भाई से बोली- तू बहनचोद अपनी बहन को चुदते देखना चाहता था ना … तो अब देख भोसड़ी के.

वो अपने चूतड़ों को गोल गोल हिलाते हुए अपनी चूत में डिल्डो लेती रही. नेहा ने आगे से खुलने वाली साटन की घुटनों तक कि एक स्लीवलेस नाइटी पहन रखी थी जिसे उसने एक डोरी से कमर पर बांध रखा था.

सोच सोच कर खुश हो रहा था कि हफ्ते भर पहले मिला ये माल आज मेरे लंड के नीचे है.

फिर हमने एक ही तौलिया अपने तन पर लपेट लिया और धीरे धीरे एक दूजे को चूमते चाटते हुए एक दूसरे के शरीर को पोंछा। इसके बाद मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया. मैंने उसे प्यार से अपनी गोद में उठाया और किस करते हुए बेडरूम में लेकर चला आया. इस पर मुकेश बोला- क्या बात कह रहा है यार … कैसी लगती है उनकी पुसी?मैंने कहा- थोड़ा इंतजार कर … तुझे दर्शन भी करा दूंगा.

सपाट पेट के बीच गहरी नाभि और मांसल चौड़े नितम्ब किसी भी लंड का मदनरस निचोड़ लेने में सक्षम थे. मैं- घर पर ही कुछ बना लेते है, कल शनिवार है … मेरा ऑफ है, बहुत सारी बातें करेंगे. इस बार भाभी जी अपनी चुत में मेरा पूरा लंड एक बार में ही ले गईं और ‘सस्स्स्स … आह.

हां सुन रहा हूं तुम बोलो तो सही!” मैंने मरी सी आवाज में करवट लिए हुए ही कहा.

बीएफ फिल्म नंगी ब्लू: मेरे दोनों दूधिया बूब्स मेरे हाथ में थे और उनके गुलाबी निप्पल नुकीले होकर बाहर निकल आये थे. पलंग के पास खड़े होकर चाचा ने अपना लण्ड हमें चूसने को कहा तो हम चूसने लगे.

जैसे ही मैंने उन दोनों के निक्कर नीचे किए, उन दोनों के फनफनाते हुए लंड बाहर निकल आए. मैं कुछ बोलती कि इतने में राजीव मेरे दूसरी साइड में बैठ गया और मेरे दूसरे गाल पर किस करते हुए बोला- मधु जी मान जाइए ना … कसम से आपको भी बहुत मजा आएगा. पर मैं तोंदूमल कहीं से नहीं बना हूं।अपनी उम्र से कम ही लगता हूँ और किसी भी प्रकार के कपड़े मुझ पर फबते हैं, वैसे तो चश्मा पहनकर मेरे फोटोग्राफस बहुत अच्छे आते हैं, पर लड़कियाँ सबसे ज्यादा मेरी भूरी आँखों पर ही मरती हैं.

मैं तुरन्त जाकर मेनगेट बंद कर आया और आ कर मैंने रसोई में ही नेहा को पीछे से फिर पकड़ लिया.

वो चाचा के साथ लेटी होने के कारण ज्यादा हिल नहीं सकती थी, न आवाज कर सकती थी. मेरे इतना बोलते ही उसने मेरी मिडी को खींचा और मेरी चुचियों को बाहर निकाल कर चूसने लगा. उसने किसी तरह घुटी हुई आवाज में कहा- छोड़ दो यार!मैं- चुदवाना पड़ेगा अभी.