हिंदी हॉट सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,जापान की फुल सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बाल बढ़ने वाला तेल बताइए: हिंदी हॉट सेक्स बीएफ, खैर … बैचलर पार्टी के लिए बुलाई गई हसीनाओं को चखने का आफर देकर वैभव अपने कमरे में चला गया.

इंडियन लोकल सेक्सी

दरअसल वो फोन मैंने जानबूझकर करवाया था अपने दोस्त से ताकि मैं जीजा साली सेक्स का मजा ले सकूँ। फिर मैं उन लोगों से पहले ही घर से निकल गया. सेक्सी वीडियो नई नई सेक्सी वीडियोभाभी के लम्बे लम्बे काले बाल हैं जो उसके गोरे चेहरे को और अधिक आकर्षक बनाते हैं.

बस आप मेल करना मत भूलना।पुष्कर से आने के बाद क्रिया के साथ साथ मेरी जरीना से भी नजदीकियां बढ़ने लगी थी।ऐसा नहीं कि मेरा मन क्रिया से भर चुका था। बल्कि जरीना का नशा मुझे उसकी तरफ खींच रहा था. सेक्सी व्हिडीओ कॉम सेक्सी व्हिडीओ कॉमरामू चाचा गांव में चाट का ठेला लेकर घूमता था और चाची घर पर कपड़े सिलना सिखाती थी.

लेकिन उसने मेरे बालों में अपनी उंगलियों को फंसा कर इतना ज़ोर का दबाव बनाया हुआ था कि उससे खुद को छुड़ाना मुश्किल था.हिंदी हॉट सेक्स बीएफ: मैंने प्रतिभा के हाथों की हरकत रोक दी … उसने भी मेरा इशारा जान कर खुद को रोक लिया.

मामी बोलीं- अतुल थोड़ा धीरे-धीरे डालियो … अचानक से मत घुसा दियो … नहीं तो मैं मर ही जाऊँगी.प्रीति भाभी मेरे आगे और मैं उसके पीछे बैठ गया लेकिन जैसे ही नीचे बैठा हुआ ऊँट उठने लगा तो प्रीति घबरा कर मुझसे चिपक गयी और गलती से उसका एक हाथ फिसल कर मेरे लंड पर जा लगा.

सेक्सी वीडियोस डॉट कॉम - हिंदी हॉट सेक्स बीएफ

उनकी चूत की दोनों मोटी पुट्टीयां मेरे लण्ड के चारों ओर फैल कर चिपक गई थीं.मैं अपने मोटे पेट की वजह से उसकी चूत में लंड को अंदर तक नहीं घुसा सकता था.

वो बोली- छोड़ो मुझे, जाने दो हिमांशु।मैंने कहा- अच्छा चली जाना, ये बताओ कि तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?उसने ना में गर्दन हिला दी. हिंदी हॉट सेक्स बीएफ मधु जी आपका बहुत बढ़िया प्लान है … आपको इस तरह से खुले में चोदने में बड़ा मज़ा आएगा.

उसने अपने हाथ ऊपर उठाकर आकाश के घुंघराले बालों को पीछे से पकड़ कर उसको अपनी ओर झुका लिया.

हिंदी हॉट सेक्स बीएफ?

इसलिए अब ये जी जी लगाने का सिस्टम खत्म करो, सिर्फ नाम से बुलाना ठीक रहेगा. थोड़ी ही देर में वह फिर से साथ देने लगी। हमारी यह चुदाई काफी लम्बी चली. जानते हो रमित, उसने इतने कम समय में मेरे साथ बहुत अच्छा वक़्त बिताया है.

मैं सीधा होकर अब अहिस्ता अहिस्ता अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा, तो मम्मी भी अपनी गांड उठा उठाकर मेरा हथियार अपनी चुत मे ले रही थीं. लचीली और बलखाती कमर के नीचे भाभी के उभरे हुए चूतड़ ऐसे ठुमकते थे, जो किसी को भी दीवाना कर दें. तो मुझे समझ आया कि वो लड़का उस लड़की से अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ रहा है.

अगर आप लोगों को मेरी पहली स्टोरी पसंद आई हो और मेरे नये सेक्स गुलाम का काम पसंद आया हो या फिर आप मुझसे बात करना चाहते हों तो मुझे कॉन्टेक्ट करें. सेक्सी भाभी की कड़क चूची मेरे हाथ में आईं तो मैंने उनको जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया. भाभी ने अपनी टांग को और ऊपर उठाया और मेरे लण्ड को अपनी चूत के छेद पर सेट कर लिया.

मैंने प्रतिभा के हाथों की हरकत रोक दी … उसने भी मेरा इशारा जान कर खुद को रोक लिया. बेबी रानी चिढ़ के बोली- मुझे नहीं करनी किसी से बात … इसको चुदना हो चुदे, नहीं तो साली माँ चुदवाये … तू छोड़ इस रंडी को.

मैं भी उनकी चुचियों को मसलकर बोला- अदिति, अब मेरा लंड सिर्फ तुम्हारा ही है.

मैंने ओके लिखा और जल्दी से बाथरूम में जाकर लंड की झांटें साफ़ करके चिकना चोदू बन गया.

हमारे सामने ही संजय ने भी गीत को चूतड़ उठाने का इशारा किया और गीत ने जैसे ही अपने चूतड़ उठाये तो संजय ने उसकी पैंटी भी उसके जिस्म से अलग कर दी. एक साथ छह मर्दों से चुदवाना कोई छोटी बात नहीं है … कोई खाला जी बाड़ा तो है नहीं कि सबके लंड ले लिए जाएं. थोड़ी देर के बाद मैंने उसके माथे की चुम्मी ली और कहा- रीना आई लव यू बेबी … तुमने मुझे बेहद सुकून दिया है.

अब उनका शरीर मुझे थोड़ा कम था इसी लिए मुझे उनके सारे कपड़े बिल्कुल फिटिंग के आते थे।जब भी मैं काम करती या चलती तो उनका लड़का अखिल और उनके पति दोनों मुझे बड़े ध्यान से देखते।उनका ड्राइवर तो बहुत हरामी था, वो हमेशा मुझसे डबल मीनिंग बातें करता और ताड़ता रहता।कुछ दिन ही बीत गए. खुली पीठ चौकोर खुले गले में स्कूल के सफ़ेद बोर्ड की भांति नजर आ रही थी, जिस पर मैं अपनी उंगलियों से अपने प्रेम को उकेरने के लिए बेचैन हो उठा था. चूंकि वो नर्स थी, तो उसने मर्दों के लंड देखे हुए थे, मगर वो सब शायद उस समय खड़े नहीं होते थे, इसलिए उसने किसी खड़े लंड का अहसास पहली बार किया था.

इसके बाद मैंने एक रिक्शा लिया और एक थ्री-स्टार होटल में पहुंच कर उसी रिक्शे से स्टाफ को वापिस भेज दिया.

मैं- अकेली हो?नेहा- जी, मम्मी अभी मार्किट गई हैं, घंटे भर में आएंगी. मैंने उसे प्यार से अपनी गोद में उठाया और किस करते हुए बेडरूम में लेकर चला आया. उसके बाद मैं फिर जीभ से रगड़ता हुआ जीभ को उसकी चूत के अंदर उतार देता.

सामने ही हाथ जोड़े एक सुंदर युवती खड़ी थी। वो देखने से ही किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी. खड़े खड़े चुदाई करने से सरोज के चूतरस से मेरे दोनों टट्टे गीले हो गए. इतने में मेरा भाई मेरे पास आया और मेरी गांड पर चपत मारते हुए बोला- मेरी बहना तुझे ओपन सेक्स ही करना है ना!तो मैं उसके गालों को प्यार से उमेठते हुए बोली- हां मेरे चोदू भैया राजा.

मैं तुम्हें अपने घर तो ले जा सकती हूँ अगर तुम बुरा न मानो तो?तो वो थोड़ी न नुकुर करने के बाद तैयार हो गया.

फिर मैंने कहा- ठीक है, आपकी बात भी सही है, मैं अकेला क्या खाना बनाऊंगा, यहीं पर आपके साथ ही खा लूंगा. जब हम दोनों की दोस्ती और गहरी हुई, तो मैं भी उन्हें अपने घर ही बुला लेती.

हिंदी हॉट सेक्स बीएफ उनकी चूत की दोनों मोटी पुट्टीयां मेरे लण्ड के चारों ओर फैल कर चिपक गई थीं. मैंने भाभी को बेड पर धक्का देते हुए लेटा दिया और भाभी के पैरों को चूमते चाटते ऊपर को बढ़ने लगा.

हिंदी हॉट सेक्स बीएफ तो रवीना ने अपना टॉवल खोल दिया और नंगी ही खड़ी हो गयी, बोली- अब भी शर्मा आ रही है क्या?रवीना बिल्कुल सनी लियोनी की स्टाइल में खड़ी थी. पर उसके ज़ोर से मेरे लण्ड को ही दिशा मिली जिससे वो जरा अंदर को जगह बनाता दिखा।किट्टू समझ गयी कि उसकी सब मेहनत व्यर्थ है और मैं ऐसे नहीं मानने वाला.

एक मिनट बाद उन्होंने मेरी ब्रा भी निकाल कर फेंक दिया और मेरी चुचियों पर भेड़िये से टूट पड़े.

मां बेटे का सेक्सी हिंदी आवाज में

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी स्टोरी पढ़ने में उतना ही मजा आया होगा जितना मुझे करवाने में आया. कुछ देर में ही मैंने अंकिता भाभी का ब्लाउज़ उतार दिया और उनकी ब्रा के ऊपर से ही मम्मों को दबाने लगा. चूचा कभी होंठों से चूसता और कभी निप्पल के दायरे के इर्द गिर्द अपनी गर्म गर्म जीभ घुमाता.

मीता- पर अंकल आप तो पूरे जानवर हो … एक बार भी ख्याल नहीं आया मेरी कमसिन चूत का … और मेरा … कितनी बेरहमी से अपना लंड मेरी चूत में डाला … मेरी तो जान ही निकाल दी आपने!मैं- मेरी जान वो पल ही ऐसा होता है, जब मर्द को जानवर बनना पड़ता है … वरना जो आनन्द बाद में आना है, उससे तुम वंचित रह जाती … और मैं अगर तुम्हारी बात मान लेता, तो तुम मेरे को लंड दोबारा डालने ही नहीं देती. मैंने उस अंधेरे में उसका हाथ पकड़ा और संभल कर चलते हुए अपने बेडरूम में आ गया. मुझे प्यास लगी तो मैं घर के पिछले दरवाजे से अंदर घुसा जो किचन में जाता था.

लेकिन कोच फुल स्पीड से मेरी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर कर रहे थे.

भाभी- सब खा लो यार … और …मैं- और!भाभी ने मेरा लंड हाथ में लेकर कहा कि मैं तुम्हारा ये मैं भी खा लूंगी. जब तक मैं पूरी तरह से झड़ नहीं गयी तब तक मैं अपने क्लिट को मसलती रही. सरोज ने दोनों कपड़े पहने, दोबारा अपने बेडरूम से होती हुई पिछले आंगन में जो गैलरी खुलती थी, उस गैलरी का दरवाजा बंद किया और बेडरूम के सारे पर्दे लगाकर लाइट जला दी.

जितनी बार मेरा भाई अपने लंड को आगे पीछे करता, उतनी बार मेरे बदन में आग सी लग रही थी. दिया- अच्छा, तो ऐसा क्या परख लिया तुमने मुझमें?मैं- तुम्हारी बातें, स्माइल, लिप्स, फिगर… सब कुछ तो अच्छा है. फिर कमल ने मेरी मेरी गांड में अपना वीर्य निकाला और रमेश ने मेरी चूत में अपना माल भर दिया.

मैंने नेहा की एक टांग को बेड पर रखा और उसकी चूत में लंड डाल कर, उसे उसके चूतड़ों से पकड़ कर ठोक लगाने लगा. तुम पहली लड़की हो।”कल रात जब तुमसे फोन पर बात हुई तो मुझे लगा कि कोई अधेड़ उम्र की औरत होगी.

मैंने कहा- अरे ऐसा क्यों बोल रही हो?वो- इस तरह से चोदे हो कि चुत का कचूमर बन गया है … नीचे अभी भी ऐसे जल रहा है … जैसे मिर्ची डाली हो. मैंने उस रात अपना डिनर भी जल्दी ही कर लिया और फिर अकेले ही पार्टी करने के लिए सोचने लगी. फिर भार्गव और तुषार दोनों नीचे उतरे … और रुमित नीचे उतरकर बस मुझे देख रहा था.

मेरी ब्रा मेरी चुचियों से एक झटके से सरक कर नीचे आ गयी और मेरे 32 इंच के बड़े बड़े मोटे चुचे उनके सामने उछल पड़े.

इसी बीच कम्पनी ने मुझे 6 महीने और रुकने का आग्रह किया, जिसे मुझे मानना ही पड़ा क्योंकि कंपनी ने मुझे बोला था कि मैं रिजाइन ना करूं. उसकी आंखों में देखते हुए बोला- दिया, तेरी खूबसूरती को बार बार देखने का मन करता है. जैसे ही मैं चूत में लण्ड घुसाता वह भी अपने चूतड़ों को झटका दे कर चूत को लण्ड पर पटकती.

भाभी एकदम बोली- हाय मां, इतने बड़े और मोटे लण्ड से मेरी चुदाई हो रही है. कुछ देर टीवी देखने के बाद मुझे लगा कि शायद निष्ठा कोई अपना प्रिय सीरियल देखती हो इसलिए मैंने टीवी म्यूट कर दिया और उसे आवाज लगाई.

इस पर वो थोड़ी देर मनाने के बाद एकदम से बोली- बहनचोद।अचानक उसके मुंह से निकली इस गाली पर हम दोनों खिलखिला कर हँस पड़े. अब जरा अपनी गांड को खोल कर दिखा दो मेरी बच्ची।अस्मि ने पैंटी नीचे खींच दी और अपनी गांड को दोनों हाथों से खोल कर फैला दिया. सुबह घूमने का बहाना करते हुए हम अपने हॉस्टल में चले गए।फिर बाद में सब अपने अपने कॉलेज के लिए निकल गए।मैं और मेरी क्लास वाले सब मेरी जीत से बहुत खुश थे.

8 साल बच्ची की सेक्सी वीडियो

तो सुनील ने कहा- क्यूँ डर रही हो? देखो दूर दूर तक सिर्फ खुला असामान ही तो है.

जो लोग स्टीव को नहीं जानते वो मेरी कहानीचूत की ऐसी भयानक चुदाई सोची न थीके सारे भाग पढ़ सकते हैं. मैंने भी हँसते हुए कहा- जान ए मन … अभी तुमने मेरा पूरा अंदाज़ देखा ही कहाँ है … मौका देकर तो देखो मैडम … अगर कोई शंका हो तो इन दोनों रानियों से पूछ लो. धर जब तक वो मुझे अच्छे से मसल कर मेरे चूचे नहीं चूस लेता, बाहर ही नहीं निकलता था.

आप लोगों ने मेरी पिछली सेक्स कहानीप्रोड्यूसर का बेटा मॉडल पर फ़िदामें पढ़ा था कि किस तरह हमारे डायरेक्टर के युवा बेटे राजीव ने मुझे गर्म करके चोदना शुरू करके खुद ठंडा हो गया था. इससे पहले मैं कुछ बोलता, बेबी रानी बोली- चुप रह गुड़िया … बस दो तीन मिनट में सब ठीक हो जायगा … दो चार लम्बी लम्बी सांसें ले … राजे तू थोड़ा रुका रह … झटके अभी न मारियो. जासूसी कैमरातभी संजय बोला- उफ्फ्फ … अह्ह्ह … सी सी … साली छोड़ … अब तेरी जवानी का उद्घाटन करूँ डार्लिंग … अह्ह्ह … सी … सी … सी … उफ्फ्फ … चोद दूंगा तुझे साली रंडी, मेरे लंड को छोड़ दे अब।संजय की बात सुन कर गीत ने अपने मुंह से मेरा लंड बाहर निकाला और बोली- उफ्फ्फ … सालों पहली बरसात तो हमने अपने मुंह में ही लेनी है.

मगर दोस्तो, मुझे जिसकी जरूरत है वो है इस कुदरत की बनायी सबसे नायाब चीज़ जिसे हम चूत कहकर बुलाते हैं. सोचा कि जब जिंदगी में आज तक कोई बुरा काम किया ही नहीं, मेरे चरित्र पर आज तक कोई दाग नहीं तो फिर आधे घंटे के मजे के लिए क्यों जिंदगी भर के लिए कलंक मोल लिया जाय.

ये सुनकर उन्होंने मुझे मेज़ के नीचे, जो पैरों को रखने की जगह होती है, उसमें घुसा दिया. ऐसा कहने के बाद उसने सीधा अपना हाथ मेरे कच्छे में डाल दिया और मेरे लौड़े को पकड़ लिया. पसरते हुए मैंने उन्हें उनकी जांघों से पकड़ा और चूतड़ों पर थाप मार मार कर अपना सारा माल उनकी चूत में भर दिया.

वो बीच बीच में मेरी चुत के दाने को अपने दांतों से पकड़ कर खींच देता था … जिससे मैं और बेकरार हो जाती. मैंने उसकी चुत में हाथ लगाया तो वो एकदम खुश्क पड़ी थी … बिल्कुल सूखी हुई थी. इसी बीच शाही सर ने उसका दुपट्टा खोल दिया और उसके दोनों मम्मे पकड़ लिए.

मैंने धीरे से उसके गालों को चूमते हुए उसके स्तनों को धीरे से एक साथ में जैसे ही मसला वैसे ही उसने अपने होंठों को खोल दिया.

मैंने अपने चरमोत्कर्ष तक मजा लिया और पूरा वीर्य भाभी की चूत में डाल दिया. जब लण्ड अन्दर जाता और मनजीत की बच्चेदानी से छूता तो आंखें बंद किये हुए मनजीत कहती- विजय, मेरे राजा, मेरी जान.

मेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली. अंदर आकर शीला ने बताया कि उसका शराबी आदमी कल सुबह उससे लड़कर अपने मां के शहर चला गया था और अब लॉक डाउन की वजह से दो चार दिन बाद ही आ पायेगा. कॉलेज के बारे में बातें करते हुए मैंने उसे कहा कि वो काउंटर से मेरे लिए ऑर्डर लेकर आ जाये।वो बोला- जो हुक्म मैडम!उसने मुझे हल्की सी आंख मारी और उठ कर चला गया.

हर पड़ते कौड़े के साथ विक्की चिल्ला देता था- सॉरी मैम।कई जोर के कौड़े मारने के बाद मैं अपने घुटनों पर आ गयी और मैंने कौड़े को एक तरफ रख दिया. वो बहुत ज्यादा गर्म हो गयी और ऐसे तड़पने लगी जैसे मछली को पानी से बाहर फेंक दिया गया हो. इससे पहले भाग में आपने पढ़ा था कि रमेश अपने दोस्त रवि से मिलने जा रहा था.

हिंदी हॉट सेक्स बीएफ Xxx कहानी भाभी की चूत की में पढ़ें कि मैं भाभी को जैसलमेर कैमल सफारी पर ले गया. मैं और संजय दोनों लड़कियों की चूतों को चूसे जा रहे थे और उन्हें मज़ा दे रहे थे.

हरियाणा की लोकल सेक्सी वीडियो

सरोज की मम्मी बोली- मैं तो समझी थी तुम कोई बच्चे जैसे होंगे? तुम तो पूरे नौजवान हो, बिल्कुल खिलाड़ियों जैसा बदन है तुम्हारा, जिम जाते हो क्या?मैं- नहीं आँटी, बस मेरा शरीर ही ऐसा है, जब भी मौका मिलता है तो कभी स्टेडियम में थोड़ी एक्सरसाइज या रेस वगैरह लगा लेता हूँ. पर ऐसा करने का नताशा ने मौक़ा ही नहीं दिया था।अब हालत यह थी कि जैसे ही मेरा लंड दाने पर रगड़ खाता उसकी एक हल्की सीत्कार निकल जाती।उसका पूरा शरीर ही जैसे लरजने लगा था और अब तो वह अपने पैर भी पटकने लगी थी। मुझे लगता है वह अपनी उत्तेजना को संभाल नहीं पा रही है। और फिर जैसे अक्सर ऐसा होता है उसकी चूत ने हार मान ली और उसका एक बार फिर से स्खलन हो गया।आईईईइ … मैं मर जाऊंगी … प … प्रेम. मेरे बूब्स से खेलने के बाद कमल ने मेरे पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और उसे नीचे सरका कर मेरी टांगों से अलग करवा दिया.

बीच पर पहुंचते ही मैं उस वन पीस को उतार दिया और अब मैं एक छोटी सी बिकनी में रह गई थी. माथे तक घूंघट डाल रखा था … आंखों में गहरा काजल, होंठों पर हल्की सी लाली और मधुर मुस्कान और लाज से झुकीं नज़रें; ये सब देख कर मैंने बरबस ही उसे अपने सीने से लगा लिया और उसे चूमने किस करने लगा. सेक्सी जंगल वीडियोमैंने कहा- बस अब … अब निकल जाएगा!उसने तुरंत लंड को मुँह से निकाला और हाथ से हिलाने लगी.

देखो मेरा लंड, तुम्हारे सामने आते ही ये कैसे बेकाबू हो रहा है! (कहते हुए मैंने मेघा को आंख मार दी)कातिल सी स्माइल के साथ मेघा ने अपने नीचे वाले गहरे लाल होंठ को अपने दांतों से दबाते हुए कहा- आह्ह … तुम्हारा (लंड) तो बहुत मस्त है.

मैं खुद लंड के लिए मरी जा रही हूँ और तुम ये पूछ रहे हो?मैं समझ गया कि ये मुझे छेड़ रही थी. उसके घर वाले किसी शादी में जाने वाले थे और उसने पढ़ाई का बहाना करके जाने से मना कर दिया तो उसके घर वालों ने मेरी मम्मी को 2 दिन के लिए मुझे उनके घर सोने को बोल दिया और आखिर हम भी तो यही चाहते थे.

मैं उसको अपनी गीली हो चुकी चूत की खुशबू देना चाह रही थी ताकि वो और ज्यादा तड़प जाये. मैंने मामी से इसका कारण पूछा, तो मामी बोलीं- गांड और चुत के छेद में बहुत अंतर होता है … चुत पानी छोड़ती है लेकिन गांड नहीं … चिकनाई की कमी की वजह से लंड अन्दर जाने में दिक्कत करता है. कुछ देर बाद भाभी जी की ‘आ आआह निकलने लगी और वो ज़ोर से और कांपने लगीं.

उसके मुंह में पानी निकलने से हुआ वो कामोन्माद सच में बहुत मदहोश कर देने वाला था.

बस भार्गव ने कुछ देर बाद कार मेनरोड पर ले ली … और धीरे धीरे चलाता रहा. अब आप ही कहो … मेरी क्या सजा है? क्या आपके मन में मेरे लिए एक पल को भी प्रेम आया था? आप परदेशी हो. उसकी उभरती जवानी और विकसित होती हुई चूचियां किसी को भी उसकी चुदाई के लिए तड़पा दें.

सेक्सी एचडी इंग्लिशमैंने उसकी एक चूची के निप्पल को मुँह में दबाया और दूसरे दूध को अपनी हथेली में भर कर मसलने लगा. जब मैं बहुत अधिक उत्तेजित हो गया तो मेरे लिंग ने वीर्य की पिचकारी छोड़ दी.

सेक्सी एचडी सेक्सी सेक्स

फिर सुबह को मैंने भाभी से पूछा- कल आपका मोबाइल भैया के पास था?तो भाभी ने बताया- मोबाइल पास में ही रखा था तो इन्होंने उठा लिया था।मैं बोला- भाभी जी, पता है रात भैया कॉल काटना ही भूल गये थे. मुझे गाड़ी चलानी नहीं आती तो मालकिन को मेरे साथ बाज़ार जाना पड़ता।जब एक हफ्ते बाद वो आया तो मेरी मालकिन ने उस पे बहुत गुस्सा किया. मैंने उससे कहा- ये क्या कर रहे हो तुम … मैं तुम्हारी शिकायत कर दूंगी.

मैंने उसके सख्त हो चुके लंड को मुट्ठी में भर लिया और उसे जोर से भींच दिया. मेरे लिए बाथटब में रोमांस करना भी एक नया अनुभव था, नेहा किसी जलपरी की भांति मुझसे लिपटकर छटपटा रही थी. नहीं साली जी, सिर्फ आपको दुल्हन के वेश में देखते हुए प्यार करना है आपको!” मैंने कहा.

मैं- अब मेरा लौड़ा तुम्हारी गीली चूत के अंदर जाने के लिए और इंतजार नहीं कर सकता मधुलिका, जल्दी से इसको अंदर ले लो. मैंने कहा- अरे ऐसा क्यों बोल रही हो?वो- इस तरह से चोदे हो कि चुत का कचूमर बन गया है … नीचे अभी भी ऐसे जल रहा है … जैसे मिर्ची डाली हो. दोनों छेद में लंड जाने की वजह से रिया भी चीख चीख कर सिसकारने लगी- आआआ … आहहहा … ओह्ह … ऊह्हह ओह यस … आहहा कमॉन… आहह सेठ … चोदो और जोर से आहह फाड़ दो मेरी चूत और गांड का छेद।थोड़ी देर ऐसे ही जबरदस्त तरीके से चोदने के बाद दोनों ही मर्दों ने अपना लंड रिया के दोनों छेदों से निकाल लिया.

फिर रमेश ने रिया का मुंह अपने हाथों से भींच कर खोला और ढेर सारा थूक इकट्ठा करके उसके मुंह में थूक दिया. एक शादीशुदा स्त्री के मांसल मम्मों और कुंवारी लड़की के अनछुए मम्मों में क्या फर्क होता है, राजेश ने ये आज जाना.

जीजू, मैं बार बार आपको छू कर देख रही थी आपका टेम्परेचर डाउन ही नहीं हो रहा था, तो मैं क्या करती फिर?” निष्ठा ने अपना पक्ष रखा.

कमरे में तेज तेज धक्कों की पट पट … फट फट की आवाजें गूंज रही थीं।इतने में ही रमेश के लंड ने मेरे मुंह में वीर्य की पिचकारी मार दी और अपने लंड को मेरे मुंह में दबा दिया. सिर में दाने की दवाउन्होंने मुझे फोन किया और बोला कि बेटा उनको बता देना कि हम पहुंच गए हैं. इंडियन ब्यूटीफुल सेक्सी वीडियोभाभी जब मेरा हाथ पकड़कर अपनी ओर खींचने लगी तो मैंने अपने लण्ड के सुपारे को भाभी की चूत के छेद पर टिका दिया और धीरे धीरे लौड़ा अंदर करने लगा. रात को डिनर टाइम पर सभी अपनी अपनी प्लेट लगा कर अपने अपने कमरे में आ गए.

मुझे बहुत रोमांच महसूस हो रहा है और मेरी चूत लगातार पानी छोड़ती जा रही है.

उसकी बात सुन कर संजय ने उसे हाथ से पकड़ कर बेड पर खीँच लिया और बोला- आ साली, पहले तेरी ही चूसता हूँ, ज्यादा गर्म है न तू? बहनचोद।ये बोलकर संजय ने उसको बेड पर लिटाया और उसकी दोनों टाँगें चौड़ी करके उसकी चूत के बीच अपनी जीभ रख दी. मैंने दुबारा से खीरे को थोड़ा बाहर निकाला और उसे अपने छेद पर फिर फिट करके नीचे दबाया तो भाभी ने अबकी बार अपनी चूत को थोड़ा टाइट कर लिया था जिससे खीरे का दूसरा सिरा मेरी चूत में थोड़ा घुस गया और मेरी भी मजे से चीख निकल गई … आह … भाभी … मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है. इसलिए रमेश को वहां से निकालने के लिए रिया ने कहा- जाने दो सेठ इनको, वैसे भी उनकी उम्र हो गयी है.

उसका जब भी दिल करता, वो मुझे छेड़ देता और मैं भी उसका साथ बराबर दे रही थी. खैर जो भी हो … कुछ लोगों से प्रस्तुति दिलवाई गई … उसमें सारे लोग बहुत आनन्दित हुए और हर प्रस्तुति के साथ ही मेरा संकोच भी कम हो रहा था. मैंने भी बिल्कुल पोर्न एक्ट्रेस के तरह सर के लंड को डीप थ्रोट देना शुरू कर दिया मतलब मैं लंड को अपने मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी थी.

हिंदी सेक्सी असली

तो मैंने ब्रा पैंटी को वहीं छोड़ा और उसे पीछे से पकड़ कर बांहों में भर लिया. कुछ देर बाद वो खड़ा हुआ और एक थप्पड़ मेरी गांड पर लगा दिया जिससे मुझे मज़ा आया. वो लंड की चोटों से मस्ती से बोल रही थीं- आह कितना मजा आ रहा है … पूरा अन्दर तक जा रहा है … आह आज फाड़ दे मेरी चुत को अतुल … फाड़ दे इस निगोड़ी को.

अनीता ने कहा- चल भावना … जा, ये तुझको बुला रहा है और इसपर चढ़कर चुदाई कर देना … ये वही चाह रहा है.

अब मैंने उसकी दोनों टांगों को अपनी कमर के इर्द गिर्द किया और उसकी चुत पर लंड रगड़ने लगा.

इतना कहते ही भाभी घूम गयी और अपनी पीठ मेरी तरफ कर दी।भाभी मैं कैसे लगा सकता हूँ? मुझे शर्म आती है. और सुन तुम्हारी मम्मी का कोई फोन आया क्या, शर्मिष्ठा कैसी है सब ठीक तो है न?” मैंने व्यग्रता से पूछा. सट्टा किंग दिसावर आज कीमैं बोली- इसकी ब्रा पेंटी कहां है?मेरा भाई कुटिल मुस्कान देते हुए बोला- मैं तो तुझे नंगी ही ले जाने को सोच रहा था.

फाड़ दो मेरी चूत को… आह्ह … बहुत दिनों के बाद मेरी चूत को लंड का सुख मिला है. क्या तुम मुझसे दोस्ती करोगी?वो एक बार तो मुझको देखती ही रह गई फिर अपना हाथ छुड़ाते हुए बोली- ये तुम क्या कह रहे हो? तुम तो मेरे रिश्तेदार हो. इसके बाद हम दोनों ने एक वाटर बोतल में नीट दारू को भरा और होटल से बाहर आने लगे.

उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू किया और फिर चूमते हुए मेरी छाती पर किस करते हुए मेरे निप्पलों पर जीभ फिराने लगी. अब आगे:इसके बाद कोमल ने बाहर डाइनिंग टेबल पर रख दिया और मुझे खाना खाने आने के लिए आवाज दे दी.

आप वापस क्यों आ गईं?वह सिर नीचे किए हुए बोली कि मेरा फोन यहां रह गया है.

बस जब खुद का मन हुआ तो कपड़े उतार कर चढ़ गया मेरे ऊपर।इसके अलावा मैं सन्तुष्ट हुई कि नहीं उससे उसे कोई मतलब नहीं. मैंने करवट ली और अपनी एक टांग सरोज की सुडौल चिकनी जांघ पर रख ली और एक हाथ उसके मम्मे पर फिराने लगा. उसे शराब की जरूरत थी तो मैंने उसे होटल रूम में पिलायी और चालू माल की चुदाई की.

सेक्सी एचडी वीडियो पिक्चर थोड़ी ही देर में मेरा लंड फिर खड़ा हो गया। उसने मुझे नीचे पटक लिया और मेरे लंड को बुर पर सेट करते हुए गांड को नीचे दबा दिया. आह्ह … इतना मजा … आ रहा है … चोदते रहो बस।मैं भी दोगुने जोश के साथ चूत में अपना लंड आगे-पीछे करने लगा.

मैंने बोला- बताऊं!उसने आखें नचाईं … तो मैंने आगे बढ़ कर उसके गाल पर चूम लिया और बोला- मुझे तो ये पसंद है. इस पर मेरा भाई बोला- जिसकी तेरी जैसी हॉट चुदक्कड़ बहन हो, वो तो बहनचोद होगा ही. फिर मैंने उसके दोनों चूतड़ अपने दोनों हाथों से फैलाए और धीरे धीरे लंड घुसा दिया,वह आआ करने लगा.

सेक्सी वीडियो नंगे फोटो

मेरा लौड़ा भी तन कर कड़क हो चुका था जो मेरी जीन्स में डंडे जैसा दिख रहा था. मैंने अब तक अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ और उसकी कजिन सिस्टर के साथ सेक्स किया है. अब और आगे नहीं!मैंने भी कहा- अब एक साहित्यकार को छेड़ा है, तो सुनना तो पड़ेगा ही!उसने कहा- साहित्यकार हो … ये जान कर ही तो आपको प्रशंसा के लिए कहा.

पर हकीकत में कई लौंडे मेरे दोस्त यहां लाए गए और उन्होंने लंड का मजा लिया था और अब भी लेते रहते हैं. सरोज की मम्मी बोली- राज बेटा, ये लोग अभी तुम्हारे बारे में ही बातें कर रहे थे, ये बता रही थी कि कैसे तुमने इनकी हेल्प की और रोहित को यहाँ से निकाला.

हालांकि ये मेरी ही गलती थी जो मैंने उनको ये दिखाया कि मैं भी लंड की भूखी हूं.

बेडरूम में जाकर मैंने मैंने अपनी शर्ट व बनियान उतार दी और मनजीत का ब्लाउज व ब्रा उतार दी. वहाँ कोई नहीं होता।फिर उसने बोला- सुहानी, एक आखरी बार और चुदवा लो प्लीज।मैंने कहा- दिमाग खराब है? टाइम देख रहे हो?उसने कहा- आज संडे है, कोई जल्दी नहीं उठेगा. और वो बेचारी अपने छोटे से बच्चे के साथ यहीं अटक गई।पहले पहल तो सब ठीक ठाक चलता रहा.

तुम दरवाजा बंद करके यह ब्रा-पेंटी पहन लेना फिर साड़ी वाला प्रोग्राम करते हैं. ये सब खुलासा होने के बाद मेरा भाई और राजीव आपस में बिल्कुल फ्रेंक हो चुके थे. अपनी रंडी की चूत को नोंचकर खा जा!मैंने उसकी मालपुआ जैसे चूत से लेकर नाभि, निप्पल, कानों को चाट चाट कर गीला कर दिया.

जिन लोगों ने मेरी पहली सेक्स कहानी नहीं पढ़ी है, उन्हें मैं एक बार फिर से अपना परिचय दे दूं.

हिंदी हॉट सेक्स बीएफ: उसके घूमते ही उसकी नज़र सीधे मेरे मम्मों पर पड़ी … चूंकि चोली मोटे कपड़े की होने की वजह से मुझे ब्रा पहनने का मन नहीं था. भाभी- तुमने ऐसा क्यों कहा कि सारी बात हज़्बेंड को नहीं बतानी चाहिए.

” कह आकर सानिया जोर-जोर से हंसने लगी।अच्छा सानिया एक बात बताओ?”क्या?”वैसे सानिया नाम है तो तुम्हारी तरह है तो बहुत सुन्दर पर कोई निक नेम होता तो बहुत अच्छा होता? तुम्हें घर वाले भी सानिया नाम से ही बुलाते हैं या कोई और छोटा नाम भी है?”घर पर तो तो सभी मुझे मीठी के नाम से बुलाते हैं … पल मुझे तो यह नाम अच्छा नहीं लगता. इस पर वो थोड़ी देर मनाने के बाद एकदम से बोली- बहनचोद।अचानक उसके मुंह से निकली इस गाली पर हम दोनों खिलखिला कर हँस पड़े. जैसे ही मैं उनके ऊपर बैठी, मुझे उनका तना हुआ लंड अपनी गांड पर महसूस होने लगा.

तुमको कोई दिक्कत तो नहीं?मैं- नहीं, मुझे कोई दिक्कत नहीं … बस घर पर किसी को नहीं पता चलना चाहिए।ड्राइवर- नहीं यार, तुम उसकी चिंता मत करो.

अब तक हम दोनों अन्तर्वासना को लेकर इतने खुल चुके थे कि सीधा चूत लंड बोल कर बात कर रहे थे. मैं रीना का एक चुचा अपने मुँह में लेकर चूसने चाटने लगा … उसकी चौंच को हौले से काट लेता … फिर दूसरे के साथ भी ऐसा ही करता. मैंने देखा सरोज भाभी ने घुटनों तक की एक घाघरी स्कर्ट और ऊपर एक स्कीवलेस टॉप पहन रखा था.