बीएफ सेक्स देखना है

छवि स्रोत,2020 में सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

మహారాష్ట్ర సెక్స్ వీడియో: बीएफ सेक्स देखना है, भाभी के मुंह में मेरा माल भरा हुआ था जिसमें से थोड़ा थोड़ा रस नीचे भी टपक रहा था। इधर माल निकलने से मेरा लन्ड ढीला पड़ गया। इस तरह लंड का रस पिलाने से भाभी नाराज़ हो गई। उसका चेहरा लाल हो गया।वो बोली- मैंने सोचा नहीं था कि तुम मेरे साथ ऐसा करोगे.

जबरदस्ती सेक्सी वीडियो देसी

अब मैं पूजा भाभी पर हाथ साफ करने के लिए योजना बनाने लगा।एक दिन जब मैं सीमा मामी को चोद रहा था तो मामी जी की चूत में लंड डालने से पहले मैं रुक गया. पंजाबी सेक्सी मूवी सेक्सीअगर नहीं हो रही है तो अपनी चूत में उंगली करना शुरू कर दीजिये क्योंकि जल्दी ही आपकी चूत को मैं गर्म करने वाला हूं.

भाभी का चेहरे देखकर लग रहा था कि वो मुझसे नाराज हैं … क्योंकि मैंने उनकी बातों को अनसुना करके बिना रुके उनकी ताबड़तोड़ चुदाई की. हिंदी में गाने सेक्सीचाय वगैरह पीने के बाद मैं आग के सामने बैठ गया ताकि बदन को थोड़ी गर्माहट महसूस हो सके.

फिर मेरी नजर धारा के साथ बहते-बहते एक स्त्रियों के समूह पर जा टिकी.बीएफ सेक्स देखना है: चूचियां दबाते हुए मैं उनके रसीले, गुलाबी, कोमल होंठों को चूसने लगा.

जब मैं अंडरवियर बदलकर गमछी लपेटने लगा तो वह मेरी ओर तेजी से आने लगी। उसे देखा तो मालूम हुआ कि उसकी नजर तो मेरी गमछी से ढके लंड के उभार पर ही थी.सुमन- लेकिन मैं कैसे किसी अनजान से … नहीं नहीं मुझे बहुत अजीब लग रहा है.

सेक्सी पिक्चर फिल्म अंग्रेजी - बीएफ सेक्स देखना है

शायद सिमरन को लगा होगा कि मैं सो रहा हूँ तो वो बेधड़क कमरे में आ गई.बड़ी मुश्किल से ये मौका हाथ लगा था और मैं इस मौके को किसी भी कीमत पर अपने हाथ से जाने नहीं दे सकता था.

मैंने फिर से मुंह खोलकर उनको इशारा किया कि मेरे मुंह में लंड दे दो. बीएफ सेक्स देखना है उसका परिवार उसी ट्रेन में चला गया और उधर से हफ्ते में एक ही ट्रेन उसके शहर को जाती थी, जिसको लेकर उसने ज्यादा पता किया कि अगली ट्रेन कहां से मिलेगी.

कुछ ही देर में हम दोनों ने खाना खत्म कर लिया और भाभी बर्तन साफ करने लगीं.

बीएफ सेक्स देखना है?

आपकी पिंकी सेन[emailprotected]न्यू चूत की सेक्स कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 10. सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं ट्रेन के लिए स्टेशन पर था. उसका बदन बहुत ही सेक्सी था, वो जिम करता था और उसकी छाती चौड़ी एकदम कसी हुई थी.

उसने ब्लाउज़ और साड़ी पहनी और ब्रा-पैन्टी व पेटीकोट दूसरे कपड़ों के साथ ले लिए। फिर मैंने उसे पलंग के पास बुलाया और पलंग पर खड़ा हो गया।अपना लन्ड मैंने आंटी के मुंह में दे दिया. मैंने मोनिषा के आधे उतरे लोवर में हाथ डाला और गांड की तरफ से उसकी चुत पर हाथ फेर दिया. मैंने खिड़की की ओर अपनी पीठ कर ली थी और भाभी बर्थ के दूसरे कोने पर बैठी थी.

सेक्सी फॅमिली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं, मेरी बीवी और मेरी भानजी होटल में एक साथ सो रहे थे. मैं उसकी चूत के अगल बगल उसकी जांघों को चूमने लगा और हर चुम्बन के साथ उसके बदन में करंट जैसे झटके लगने लगे. मैंने फ़ोन को लॉक मोड से हटा दिया था और स्क्रीन टाइम बढ़ा दिया था ताकि फ़ोन बार बार लॉक और स्क्रीन ऑफ़ ना हो.

आयशा को समझाने की मैंने बहुत कोशिश की लेकिन वो मेरे अलावा किसी और से शादी नहीं करना चाहती थी. बिस्तर पर आकर कासिब ने मेरी दोनों टांगें खोल दीं और मेरी चूत पर एक लम्बा चुम्मा लिया.

ये सुनते ही मैंने रफ़्तार पकड़ी और कुछ ही देर में सारा माल उनकी चूत में भर दिया और उन्हीं के ऊपर लेट गया.

भाभी बोलीं- आह क्या करते हो … कोई देख लेगा यार!मैं समझ गया कि भाभी का मन तो है, पर डर रही हैं.

तो चुदाई का मजा लेने के लिए मैंने क्या तरकीब लगायी?इस इंडियन सेक्सी गर्ल स्टोरी के पिछले भागअब और न तरसूंगी- 4में आपने पढ़ा किअब आगे की इंडियन सेक्सी गर्ल स्टोरी:अगले दिन मैं और वो खामोश रहे, हमने एक दूसरे से नज़र भी नहीं मिलाई. उसकी गांड में उंगली घुसेड़ कर मैंने जैल लगानी शुरू की तो उसको जैल की ठंडक से मजा आने लगा. मैं बोला- आह्ह … रोको मत भाभी … आपकी चूचियां इतनी मस्त हैं कि मैं उनको भींच भींच कर उखाड़ ही दूंगा.

उसके बाद सिर्फ़ मज़े आते हैं अच्छा एक बात बता, वो नए दारोगा से तू आज मिली थी क्या?गीता- हां मालिक … वो रास्ते में मिल गया था … मुझे बहुत घूर रहा था. क्या मस्त खुशबू आ रही थी उसकी चूत से! मैंने लगभग 2-3 मिनट तक उसकी चूत को चाटा और चूसा।उसके बाद में खड़ा हुआ और उसके दोनों पैरों को अपने दोनों कंधों पर रखा और फिर अपने लंड को उसकी चूत के द्वार पर सेट कर दिया. राहुल ने झट से उसे रिप्लाई लिख दिया- हाई!रूचि- कभी का मैसेज किया हैं मैंने … क्या कर रहे थे इतनी देर से?राहुल- अरे यार अभी अभी डिनर हुआ है जैसे मैसेज देखा, तो तुरंत रिप्लाई दे दिया.

कब कब कैसे कैसे मैंने उसको पेला और मजा किया, वो सब मैं फिर कभी लिखूंगा.

मैं बोला- कोई बात नहीं, मैं हूं न यहां पर तुम्हारा ख्याल रखने के लिए. अब वो केवल एक छोटी सी चड्डी में, दुनिया की बेशकीमती चीज़ छुपाए खड़ी थी. उसकी बीमारी का इलाज करने में मुझे तुम्हारी मदद की जरूरत पड़ेगी, बोलो करोगी?मीता- मेरी मदद! मैं क्या कर सकती हूँ भला?सुरेश ने मीता की अच्छी तरह समझाया कि उसका लंड खड़ा नहीं होता, तो उसको थोड़ा मज़ा देना होगा, जिससे उसका लंड खड़ा हो जाए.

अब ऐसा समय आ गया था कि मेरे पति अजय के पास कोई काम ही नहीं रह गया था न ही घर था. अब मैं तेरे मुँह में माल छोड़ने वाला हूँ।इतना बोलकर सर ने एक बार मेरे मुँह में कस कर अपनी गांड दबाई और झटका लेते हुए अपना सारा माल मेरे गले में उड़ेल दिया. खैर मैंने उसकी पैंटी एक तरफ रख दी और अपने कंधों पर उसके एक पैर को रख लिया.

मैंने उनकी ब्रा को निकाल कर दूर फेंक दिया और उनके बड़े बड़े मम्मों को खूब चूसा.

मधु गर्म होने लगी और ‘अअअह … उईईई …’ करते हुए मादक सिसकारियां लेने लगी. मैं बाहर आया, तो नीलिमा ने मुझसे पूछा- क्या तुमने हमारी बातें सुनी हैं?मैंने कहा- नहीं.

बीएफ सेक्स देखना है मैंने हुक लगाकर उन्हें अपनी तरफ मोड़ा, तो बाप रे … काली ब्रा में से चूचियां और निप्पल साफ़ झलक रहे थे. मेरा लन्ड मेरी पैंट से बाहर निकलने के लिए बेकाबू हो रहा था।धूप बहुत तेज थी और मैं तो पसीने से तर हो रहा था.

बीएफ सेक्स देखना है अबकी बार उसने जरा सा भी विरोध नहीं किया और बहुत ही सहजता से मेरे होंठों से अपने होंठ मिलने दिये. अगली सुबह उजाला होने से पहले वो चाचा को नहला रही थी और साबुन लगाते हुए उनके लंड को खड़ा कर चुकी थी.

वैसे भी मुखिया उसके कंट्रोल में है, उसको मुखिया से कैसा डर!भूत वाली बात तो उसको वैसे भी हजम नहीं हो रही थी, वो तो बस झूठ-मूठ का नाटक कर रही थी.

चाची की चुदाई सेक्सी

उसकी चुदाई के पहले ही मैंने पहले ही अपने कैमरे रिकॉर्डिंग पर लगा दिये थे. साथ ही उनके पेट और चूत की भी मालिश करने लगा।जब मैं उसकी चूत में मालिश करता तो वो अपनी चूत को छुपाने का प्रयास करती लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पा रहा था. मैं बोला- सुनिये, अगर आपको दिक्कत हो रही है तो आप एक बैग मुझे दे सकती हैं.

पिताजी को थोड़ा ज़्यादा ही दारू चढ़ गई थी, तो मां ने हमें अन्दर रूम में जाने को बोला. हां रूपांगी बेटा चाहिए है न, फिर से!” वो अपना लंड मसलते हुए मेरी आंखों में झांकते हुए मुझसे बोले और मुझे आंख मार दी. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 7.

सुमन- नहीं मुखिया जी, मैंने अपने कानों से किसी के रोने की आवाज़ सुनी है.

वो बोली- तुम इतने गंदे कब से हो गये?मैं बोला- जब से तुम्हारी चूची मैंने देखी हैं. चूंकि मैं थोड़ा गुस्से स्वभाव वाला लड़का हूँ, जिस वजह से अब तक मेरा दो लड़कियों के साथ बेक्रअप हो चुका है. लगभग बीस मिनट बाद धीरज ने अपने लंड का पानी मेरी अम्मी की चूत में छोड़ दिया और उनके ऊपर ढेर हो गया.

सेक्सी मौसी को चोदने के लिये मैंने क्या किया? कैसे अपने लंड की प्यास बुझायी?कैसे हो मेरे प्यारे पाठको? सभी के लौड़े फनफना रहे होंगे? पाठिकाओं की चूतों को भी मेरे लंड का सलाम। मेरा नाम दीक्षांत है. उसने नीचे से ब्रा भी नहीं पहनी थी जो मुझे उस देसी गर्ल की चूची दबाते हुए ही पता लग गया था. मेरे हाथ उसकी चूचियों पर पहुंच गये और मैं उसकी चूचियों को किस करते हुए जोर जोर से दबाने लगा.

मैंने नताशा को नीचे गिराकर उसको जोर से चूसा और फिर अपनी टीशर्ट उतार दी. कुछ देर यूं ही एक दूसरे को चूमने चाटने के बाद वे दोनों फिर से गर्म हो गए.

दो मिनट बाद अचानक से भाभी ने दरवाजा खोल दिया और मैं वहीं पर लंड को बाहर निकाल कर हाथ में लिये हुए मुठ मार रहा था. उसने नीचे से ब्रा भी नहीं पहनी थी जो मुझे उस देसी गर्ल की चूची दबाते हुए ही पता लग गया था. फिर धीरज मेरी अम्मी की गांड पर हाथ घुमाते हुए बोला- आंटी आप बहुत सेक्सी हो.

भाभी के मम्मे हाथ में पकड़ पर उनकी चुत में धक्के लगाने लगा और जोर जोर से चोदने लगा.

इन दोनों की बात सुनकर मुखिया समझ गया कि अब उसकी दाल नहीं गलने वाली. अब जल्दी से अपना लंड डालकर मेरी चूत की चुदाई कर दो।फिर मैं उठा और उनकी चूत पर थोड़ा सा थूक दिया और अपने लंड को उनकी चूत पर रख दिया. आज तू उससे चुदवाने चली जाना … ठीक है!गीता- नहीं नहीं मुखिया जी, ऐसा ज़ुल्म मत करो.

सर ने भी पक्का वादा किया कि उनकी बीवी को वो चोदने के लिए जरूर आयेंगे. मैं अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत में उसे घुस जाने का न्यौता देने लगी.

लेकिन मेरे दिमाग में न जाने क्या आया कि मैं बाथरूम की तरफ चल दिया और जाकर दरवाज़ा खोला तो सामने भाभी नीचे झुकी हुई कपड़े धो रही थीं. मैंने पति से अपनी चूत के बाल साफ करवाए और फिर बाहर आकर तैयार होने लगी. मैंने राजेश को फोन किया कि वो कितने बजे तक आयेगा तो उसने बोला कि डेढ़ दो घंटे में वो पहुंच जायेगा.

घर में सेक्स

20 मिनट तक मैं उसकी चूत को पेलता रहा और फिर वो एकदम से झड़ गयी और मेरे से लिपट गयी.

उसके बाद हमारी सेक्स कहानी का दूसरा माली यानि मेरा दोस्त आ गया और हम दोनों ने नीला की चूत और गांड एक साथ मारी. वो मुखिया जी ने कहा है कि मैडम जी बड़ी हवेली में अकेली हैं उनको पूछ आओ कि कोई काम तो नहीं है. फिर मॉम ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी चूत पर रखवा लिया और बोली- चोदेगा मुझे?मॉम के मुंह से ऐसी बात सुनकर मैं डर गया.

सुरेश धीरे से बड़बड़ाने लगा ‘इतनी कमसिन कली को इस चूतिया अनाड़ी ने खराब कर दिया. मुझे डर था कि कोई देख न ले क्योंकि शादी में आई हुईं आंटी टाइप की कुछ लेडीज अभी भी रुकी हुईं थीं. ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಚೆಕ್ಸ್मेरी गांड में बहुत दिनों से खुजली मची थी और मैं उसको नाराज़ नहीं करना चाह रहा था, क्योंकि उसका लन्ड मुझे चाहिए था.

शादी में से वापस आने के बाद सुजाता का ख्याल मेरे दिमाग से निकल ही नहीं रहा था. मुखिया- अबे भोसड़ी के … मेरा गुलाम होकर मुझे नहीं बता रहा!कालू- मालिक आपको मुझ पर विश्वास नहीं है क्या! आपका काम बन जाएगा और क्या चाहिए आपको, बोलो मंजूर है?मुखिया- साला पहले ही दिमाग़ खराब है.

सुमन- तुम अनाड़ी तो नहीं लगते, फिर ये सब हुआ कैसे?कालू- मैडम जी … मेरा लंड थोड़ा भारी है. सुरेश जिस तरह बोल रहा था, उससे रघु का लंड टन टन करने लगा और साथ ही दो चूतें गीली होने लगीं. मुनिया- नहीं भाबी, वो बहुत बड़े हैं और उनके लंड पर नसें उभरी हुई दिखती हैं.

कुछ देर बाद मौसा जी ने मुझे बिस्तर पर लिटा लिया और मेरी जांघें खोलकर मेरी चूत में जीभ घुसा कर चाटने लगे. मैं उसकी चूत को रगड़ते हुए कहा- हां मेरी जान … आज तेरा पति बनकर तेरी चुदाई करूंगा. अब हम दोनों बहुत उत्तेजित हो गए थे, तो बुआ ने मेरा हाथ पकड़ा और बेडरूम में ले गईं.

दोस्तो, गांव की चुत चुदाई की दुनिया में आपका एक बार फिर से स्वागत है.

मैंने बाहर से दरवाज़ा खटखटाया, तो उन्होंने आंख खोल कर मुझे देखा और उठ कर बैठ गईं. गीता- नहीं काका, मुझे डर लगता है कि किसी ने देख लिया या कहीं कुछ हो गया तो!मुखिया समझ गया कि अब चिड़िया जाल में फंस गई है.

फिर हम उस दिन सुबह को निकले और रोडवेज पकड़कर शाम को 5:00 बजे आगरा पहुंचे. दारू का नशा अब मुझ पर पूरी तरह से हावी था तो मैं मस्त आवाजें निकालते हुए चुद रही थी. मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया और उसकी चूत की पोजीशन को सेट कर दिया.

उसके बाद उसने अपनी जींस पहनी और मेरे पास आकर मेरे गाल पर एक किस करके मुस्करा दिया. मेरा आपसे पूरा काम चल रहा है। आप तो बहुत अच्छी हो। मेरा पूरा पूरा ख्याल रख रही हो। मगर पूजा भाभी मेरे लन्ड को भा गई है, इसलिए मैं पूजा भाभी की भी लेना चाहता हूं। आप ही मुझे पूजा भाभी की चूत दिलवा सकती हो।वो पहले तो मना करने लगी लेकिन फिर उनको लंड भी लेना था तो बोली- मैं इतना जोखिम कैसे उठा सकती हूं? मैं सीधे सीधे पूजा से नहीं कह पाऊंगी. क्या बताऊँ दोस्तो, क्या मस्त हुमक हुमक के चोदते हैं पांडेय सर … जब अपना पूरा लौड़ा बाहर निकाल कर सट्ट से पूरी ताकत से अंदर पेलते तो मैं चिहुंक उठती.

बीएफ सेक्स देखना है अम्मी बोलीं- हां कहो!आंटी बोलीं- दीदी, कुछ कॉलेज के लड़के मिलना चाहते हैं, वो हमारी चुदाई करेंगे और पैसे भी देंगे. मैंने भी तरसते हुए कहा- चोद लो मादरचोदो, मुझे जी भरकर पेल दो, मैं जितनी चाहे चिल्लाऊं लेकिन मुझे छोड़ना नहीं.

रंडी की सेक्सी

मैं भाभी की चुत चूसता रहा और भाभी गर्म सिसकारियां लेते हुए अपनी टांगों को मेरी गर्दन पर लपेट कर चुत चुसवाती रहीं. अब मैंने दूसरा झटका मारा और मैंने कसकर अपने होंठों को उसके होंठों पर दबा दिया. कहानी के पिछले भागवो मुझे देखकर मुस्कुराती थीमें मैंने आपको बताया था कि कैसे रेखा आंटी ने मुझे पटाया और मैंने छत पर उनको पकड़ लिया.

बूब्स की गोलाई को देखकर तो अच्छे अच्छे लौड़े पानी छोड़ने की कगार पर पहुंच जाया करते थे. नीलिमा- अच्छा … तो ये पैंट में क्या खड़ा है?वो ये कहकर हंसते हुए बाहर चली गयी और मेरी तरफ देख कर आंख मारते हुए एक नॉटी सी स्माइल दे गई. सेक्सी चित्रपट सेक्सीवो अपनी गुड़िया के साथ खेल रही थी और मेरे इंतज़ार में तैयार होकर बैठी थी.

आंटी की सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … राज … आह्ह … आराम से … आई … आह्ह … अम्म … आहिस्ता।आंटी मेरे सिर के बालों को सहलाने लगी थी.

फिर वो मेरे लन्ड पर बैठती चली गई जिससे मेरा पूरा लन्ड उनकी रसीली चूत में गप्प से घुस गया। उन्होंने मेरे दोनों हाथों को पकड़ लिया. वो जैसे ही टॉवल उठाने झुकी तो ओह्हहह ये क्या दिखा दिया सिमरन ने … उसकी टाइट चूत और टाइट गांड के छेद दिख गए.

मैंने भी देर करना ठीक न समझा और मैंने उसकी दोनों टांगों के बीच आकर अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा तो रीमा ने अपनी गांड नीचे से उठा दी और मुझे अपनी ओर खींचते हुए मेरा लंड खुद ही अपनी चूत में डलवा लिया. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]वासना की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 5. हर कोई चोदने को तैयार है और लड़कियाँ भी लंड का मजा लेने में पीछे नहीं हैं.

मुखिया- बहुत अच्छा किया तुमने, आओ साहेब जी बैठो … और सुनाओ क्या सेवा करूं आपकी.

मुखिया- कौन वो नारायण की बीवी गीता?कालू- नहीं मालिक, अपने बिरजू की बेटी गीता. अब इन भाई बहन के बीच क्या होता है … और बाकी का रस किस तरह से बहा, ये अगले भाग में लिखूंगी. जब संगीता ने अपने आपको तौलिया में लपेट लिया, उसके बाद मेरे सामने उसने देखा.

तमन्ना भाटिया एक्स एक्सउससे सेक्स की शुरुआत कैसे हुई और मेरी सील कैसे खुली?हैलो फ्रेंड्स, मैं नेक्षा फिर से आपके सामने लॉकडाउन में हुए सेक्स को लेकर हाजिर हूँ. अब मैं चुप हो गया। मैंने भाभी को गले लगाया। उसके होंठों को चूसा और उसके नंगे बदन को कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्ला

मगर इतने में ही वो हलचल करने लगी और मैंने घबराकर अपना हाथ तेजी से बाहर खींच लिया. सो उन्होंने लौड़े को अपने मुँह में ले लिया और जोर-जोर से चूसने लगीं. मैंने कहा- तुम्हें यदि बुरा न लगे और तुम गुस्सा न हो, तो मैं एक बात कहूं?उसने कहा- कहो.

वैसे भी रूम में हम दोनों के अलावा और कोई थोड़ी है? आप कर दो, कुछ फर्क नहीं पड़ता।ये कहकर कपिला ने अपनी जीन्स का बटन खोल दिया और बोली कि इसको पकड़ कर नीचे की ओर सरका लो. कुछ देर यूं ही वे दोनों मुझसे बात करते हुए अपनी चूचियों की घाटियां दिखाती रहीं. मेरी पिछली कहानीमेरे लंड को मिली पहली चूतमें मेरी बुर चोदने की तमन्ना पूरी हो गई थी.

मैं बोला- सुनिये, अगर आपको दिक्कत हो रही है तो आप एक बैग मुझे दे सकती हैं. मेरे पति कहते हैं कि मैं शक्ल से बहुत भोली, मासूम और दुनिया की सबसे सेक्सी व सुंदर औरत हूँ. यह गे सेक्स कहानी ना सिर्फ मेरे साथ घटी सत्य घटना है, बल्कि मेरा पहला गांड सेक्स अनुभव भी है.

सुहानी के हाथ बार बार आगे की ओर उसके ससुर के झांटों तक जा रहे थे और इस अहसास में चाचा की आंखें बंद हो जा रही थीं. सच बताऊं, तो मुझे उसके होंठों का स्पर्श महसूस करने से मजा आने लगा था.

मैं अब उसकी पैंटी भी उतार दी, तो देखा उसकी बुर पर एक भी बाल नहीं था.

मैं- पर क्यों दीदी?दीक्षा- यार आगे की मैं सिर्फ अपने बीएफ को ही दूंगी. सेक्सी ब्लू बीपी सेक्सकिसी तरह से मैं घर पहुंचा और फिर आते ही बाथरूम में घुसकर दो बार मुठ मारी. वीडियो सेक्सी हिंदी गानामैं उसके बहुत नजदीक था और ऊपर से मुझे उसकी चूचियों की गहराई उसकी शर्ट में दिख रही थी. राजेश ने भी फटाक से मेरी चड्डी उतार फेंकी और अपनी पैंट उतार कर वो भी नंगा हो गया.

उसकी चीख निकली, लेकिन मेरे होंठों का ढक्कन उसे चीखने से रोके हुए था.

मैंने थोड़ी हिम्मत करके आराम आराम से उसके मम्मों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. मुनिया- ये आप क्या बोल रही हो … क्या आपने भी मुखिया को खुश किया है!सन्नो- हां मेरी प्यारी ननद … अपनी इस चुत में मैं उनका लंड कई बार ले चुकी हूँ. उसने उन्हें मेरा परिचय देते हुए कहा कि हम दोनों इंडिया में एक साथ काम करते थे.

मैं झड़ने जैसा तो पहले ही फील कर रही थी सो उनके आठ दस धक्कों में ही मैं निपट गयी और उनसे जोंक की तरह लिपट गयी; मेरी चूत से रह रह कर रस की फुहारें छूट रहीं थीं. फिर ऐसे ही लंड को लगभग पूरा बाहर तक लाकर मैं पूरा अंदर तक घुसाने लगा. जाते समय मैं पाण्डेय सर से वादा करके गयी थी कि पति के पास जाते ही दूसरे दिन मैं उनको अपने घर पर बुला लूंगी.

बंगाली चुदाई वीडियो

तो मैं डर गया कि कहीं मुझे झांकते हुए देख तो नहीं लिया गया, मैं जल्दी से आंख बंद करके सोने का ड्रामा करने लगा. वो बोली- चलो, आज तो मैं तुम्हें छोड़ रही हूं लेकिन आगे से ऐसी हरकत मत करना. भाभी- फिर?मैं- फिर मैं आपकी ब्रा को थोड़ा हटा कर आपके दोनों मम्मों को ज़ोर से पकड़ लूंगा और एक चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगूंगा.

मैंने मेरी फूफी की कुंवारी बेटी को अपने घर की छत पर रात को सोते हुए चोद दिया.

उन्होंने पूरे जोर से पेटीकोट को पकड़ लिया था। इधर मैं भी उनके पेटीकोट को खोलने के लिए पूरा जोर लगा रहा था लेकिन वो पेटीकोट खोलने ही नहीं दे रही थी।फिर मैंने ज़ोर से झटका देते हुए उनके हाथों से नाड़े को छुड़ा दिया और उनका हाथ हटते ही मैंने तुरंत पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया.

कॉलेज गर्ल लव सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे साथ वाले घर में रहने वाली लड़की मेरी फ्रेंड थी. अंडरवियर नीचे जाते ही मेरा मूसल जैसा लंड बाहर आ गया। बाहर निकलते ही मेरा लन्ड चूत में घुसने के लिए फुफकार मारने लगा। मेरे लन्ड को देखकर पूजा भाभी की आंखे फटी की फटी रह गईं। अब मेरा लन्ड भाभी की चूत में जाने के लिये छटपटा रहा था।भाभी के ऊपर से मैं नीचे उतरने लगा क्योंकि मुझे उनकी चूत में लंड डालने के लिए जगह बनानी थी. 10 साल की लड़की की सेक्सी फिल्ममैंने मधु के मम्मों को हाथों से पकड़ के दबाना शुरू किया और उसे किस करने लगा.

मैंने तो अपने हाथों से ब्रा पकड़ रखी है!मैं- भाभी, आप चिन्ता ना करो. मैंने उसके फोन में भी चुदाई की एक पोर्न मूवी डाल दी और उसके फ़ोन को रख दिया. जैसे ही वो आयी, मैंने उसे स्कूटर पर बिठाया और हम दोनों मेरे घर की ओर निकल पड़े.

हैलो फ्रेंड्स, मैं सोनू सैम अपनी रोमांटिक सेक्स स्टोरीलॉकडाउन में मिली अनजान लड़की- 2का अगला भाग लिख रहा हूँ. मेरा ब्लाउज का गला भी काफी बड़ा था जिसमें से मेरी छातियों का उभार और क्लीवेज स्पष्ट रूप से दिखती है.

मैं एक कंप्यूटर कंपनी में काम करती हूँ … और पिछले दो साल से चंडीगढ़ में रह रही हूँ.

चूंकि वे करवट के बल लेटी थीं इसलिए उनकी पतली कमर और विशाल चूतड़ इतने कामुक लग रहे थे कि मैं अपना लंड सहलाने लगा. फिर हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए चुदाई का मजा लेने लगे. तो मैंने अपना हाथ कंधे पर हटाकर उनकी जांघ पर रख दिया और भाभी की नंगी गोरी जांघ को सहलाने लगा.

ब्लू फिल्म हिंदी में सेक्सी हिंदी में जब मैं अंडरवियर बदलकर गमछी लपेटने लगा तो वह मेरी ओर तेजी से आने लगी। उसे देखा तो मालूम हुआ कि उसकी नजर तो मेरी गमछी से ढके लंड के उभार पर ही थी. वो बोलीं- आह … मज़ा आ रहा है जानू और आगे बोलिए न!मैं बोला- फिर मैं आपको दीवार से टेक लगा कर आपको और ज़ोर से किस करूंगा.

अब दोनों खुलकर मज़ा करना … क्योंकि तुम्हारी चुत अब ठीक से खुल गई है. काफी दिन गुजर गये थे लेकिन मामी की चुदाई का कोई मौका हाथ नहीं लग रहा था. मैं उन्हें कमर के ऊपर से हाथ लेकर दबा रहा था। मैं उनके ऊपर झुक कर मामी के भूरे बूब्स को जी भर कर पी रहा था। अब मैं मामी की चूत में लौड़ा डाल देना चाहता था।मैं दोबारा उनकी सीट पर आया और लौड़ा चूत में लगा दिया.

एंटी की चुदाई

मैं बोला- मैं आपकी सेक्सी चूत पर अपने मुँह को रख कर उसकी खुशबू ले रहा हूँ. कुछ देर बाद मैं बोला- स्मायरा, अब तुम्हारी चूत में डाल दूं अपना लंड?वो बोली- हां डाल दो, मेरी चूत में अब बहुत बेचैनी हो रही है. फिर मैंने जीभ अंदर दी तो चाची जोर से सिसकार उठी- आह्हह … अम्म … स्स्स … क्या कर रहा है … जान निकालेगा मेरी?मैं बोला- चाची, जान तो आप हो मेरी!वो बोली- हां, मैं भी कितने दिन से तेरे प्यार के इंतजार में थी.

मेरी अम्मी ने उससे सीधे सीधे कहा- मुझसे करना है, तो 3000 लगेंगे और बेटी से करना है, तो 5000 खर्च करना पड़ेंगे. मैं उसकी चूत मारने के हर एक पल का मजा लेते हुए आंखें बंद करके उसे चोदने लगा.

राहुल मेरे ऊपर ही लेट गया और मेरे एक बोबे को मुँह में लेकर चुसकने लगा.

मगर पढ़ाई की बजाय मैं तो ये सोचकर खुश हो रहा था कि प्रियंका पट गयी तो चुदाई में कोई बाधा नहीं आयेगी यहां. मुझे लगा कि मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाऊंगा तो मैंने उसको लंड निकालने के लिए कह दिया. मैं कुछ करती, इससे पहले ही कासिब ने मेरे मुँह पर अपना हाथ रखा और मुझे उठाकर मेरे कमरे में ले जाने लगा.

अम्मी पोजीशन बना कर जल्दी से मस्कुराती हुई आंख बंद किये हुए लेट गईं. मगर धीरज रखिए, रुक्मणी भाभी की चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से अगली बार लिखूंगा. फिर वो खाना बनाने लगीं और मुझसे मेरी लाइफ के बारे में बात करने लगीं.

उसकी कुंवारी चूत में चुदाई करते हुए लंड के अंदर बाहर होने की आवाज कमरे में सुनी जा सकती थी जो पच … पच … की ध्वनि के साथ निकल रही थी.

बीएफ सेक्स देखना है: भाभी बोली- अगर वो तैयार भी हो गये तो कितनी देर टिकेंगे, उनके साथ करने का फायदा ही क्या है?इस पर मैंने पूछा- उनकी दवाईयां अभी भी चल रही हैं क्या?भाभी बोली- हां, चल रही हैं, क्यूं क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, बस पांच मिनट रुको, मैं अभी आया. तभी पीछे से आंटी बोली- हां तो इसमें शर्माने की क्या बात है, खुलकर बोल देना चाहिए.

मैंने बियर में डूबे उसके लंड को मस्ती में चूसा और राजेश को भी पूरा मजा मिला. उसकी टाइट स्कर्ट में थिरकते हुए उसके गोल गोल फुटबाल जैसे चूतड़ मेरे लंड पर समझो बिजली ही गिरा देते थे. इस तरह वो बाद में फिर मुझे चिढ़ाने लगीं कि मैं कितनी पतली हूं जबकि मैं चेहरे से काफी सुंदर थी.

देसी आंटी के मुंह से निकला- आआ … आराम से!फिर मैं उतने ही लंड को आगे पीछे करने लगा.

फिर मेरा एक दूध उन्होंने सर के मुंह में दे दिया और दूसरे को खुद पीने लगे. करीब 5 मिनट धुंआधार लंड हिलाने के बाद मैंने सारा माल उसकी गांड में डाल दिया. अब मैं दोबारा से नीचे आया और उसकी चूत में जीभ देकर अंदर तक घुमाने लगा.