भोजपुरी गर्ल्स बीएफ

छवि स्रोत,नंगी चुदाई वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी कोलकाता का: भोजपुरी गर्ल्स बीएफ, मेरे मुंह से गालियां सुनकर वो जोर से हँसी और मेरा साथ देते हुए बोली- और बुलाओ … मुझे ऐसे ही और बुलाओ … बहुत मजा आ रहा है.

સેક્સ ફુલ

हाउस मेड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी कमसिन कामवाली को अपने बातों और तोहफों के जाल में फंसा लिया था. সেক্সি নাঙ্গী চুদাইमगर इस तरह किसी सो रही लड़की के कपड़े हटाने के लिए बड़ी हिम्मत भी चाहिए।मैंने काफी सोचा और फिर सोचते सोचते अपने आप हिम्मत भी आने लगी.

अंकिता भाभी ने धीरे से मुकेश को वापस जाते हुए गड्डे आदि में गाड़ी चलाकर छिंदवाड़ा जाने को कहा और बोलीं कि मैं तब तक अजय के साथ कल के लिए पूजा का सामान लेकर कुछ देर से आती हूं. देहाती सेक्सी एक्स एक्स एक्समैंने पूछा- तुम्हारे पति के साथ तुम्हारा आखिरी बार सेक्स कब हुआ था?वो सुनकर थोड़ी उदास हो गयी.

जिंदगी में पहली बार मैंने किसी लड़की को इतना करीब से और बिना कपड़ों के देखा था.भोजपुरी गर्ल्स बीएफ: मुझे भी भाभी जी को देख कर लग रहा था कि बस अभी पटक कर उनके ऊपर चढ़ जाऊं और भाभी जी की चुदाई कर दूं.

अब मैं उसका हाथ पकड़ लेता था और उसके कंधे भी सहला दिया करता था और वो कुछ नहीं बोलती थी.ऐसे सोचने से मेरा लंड और फूल के और कुप्पा हो गया पर शॉर्ट्स में कैद होने के कारण हल्का दर्द तेज सा भी होने लगा.

पोर्न वीडियो बताइए - भोजपुरी गर्ल्स बीएफ

मैंने उसको अच्छी तरह करने के लिए एक थपकी दी और उसने जीन्स को मेरे टखनों से खींच कर अलग कर लिया.मैंने पूछा- बिकिनी वैक्स क्या होता है?तो भाभी ने कहा कि ब्यूटीशियन सारे शरीर पर से सारे रोवें खत्म कर देती है.

मैं अपने आप को खुशकिस्मत समझ रहा था कि इतनी सुंदर और पढ़ी लिखी लेडी की चूत में मेरा लण्ड जाने वाला है. भोजपुरी गर्ल्स बीएफ हम सब पूरी तरह नंग धड़ंग होकर पीछे वाले कमरे में बैठे शराब और कवाब के मज़े ले रहे थे.

दिमाग में अब सिर्फ निष्ठा ही निष्ठा और उसका भरपूर जवान जिस्म ही था कि वो कैसे चुदासी होकर मुझसे लिपट गयी थी और बिना चुदे ही झड़ने लगी थी.

भोजपुरी गर्ल्स बीएफ?

फ्रेंड वाइफ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने दोस्त के कहने पर उसकी बीवी की चुदाई करता था. चाचा का लण्ड चूसते हुए हम उसकी खाल आगे पीछे कर रहे थे और चाचा हमारी चूत पर हाथ फेर रहे थे. मैं भी झट से चेंज करके नीचे आ गया और फिर हमने साथ में चाय पी और ढेर सारी मीठी मीठी बातें कीं.

आंटी ने अपनी जीभ भी मेरे मुँह में डाल दी थी … मैं तो एकदम से पागल ही हो गया था. उसकी हरकतों से ऐसा लग रहा था, जैसे किसी ने मशीन का बटन चालू कर दिया हो. दोस्त के मोबाइल पर ही मैंने देसी सेक्स चैट साइट में लॉग इन किया और फिर अपनी प्रोफाइल बनायी.

तभी बेबी जाग गया, भाभी उसको सुलाने के लिए बेडरूम में चली गईं और मैं बाहर देखने आ गया. शायद प्रिंसीपल सर को भी पता लग गया था कि मैं भी चुदासी हूँ और इसीलिए बिना पैंटी के आई हूँ. मैंने उसके बूब्स मसलना शुरू किया साथ ही मेरा घुटना जो उसकी जांघों के बीच में दबा हुआ चूत पर दस्तक दे रहा था, उससे चूत को रगड़ने लगा.

अब मैं उसका हाथ पकड़ लेता था और उसके कंधे भी सहला दिया करता था और वो कुछ नहीं बोलती थी. फिर उन्होंने अपने बारे में बताया- मैं अकेली रहती हूँ, तो टहलने आ जाती हूँ.

मैंने सर उठा कर पूछा- जान क्या लगाया है?उसने नशीली आंखों से मेरी तरफ देखा और बोली- अच्छा लगा?मैंने कहा- हां बड़ा मस्त स्वाद है … क्या लगाया है?उसने कहा- ये अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली है, जो मैंने अपनी बड़ी बहन से ली थी.

शीला पलट गयी और उसने राजेश को अपने को पूर्णतः समर्पित करते हुए अपने को उसमें समाने के लिए जिस्मों के हर फासले को ख़त्म कर दिया.

मैंने उसकी गांड के छेद को मसाज किया और धीरे से उसमें उंगली करने लगी. ”बस थोड़ी देर चुनमुनाहट सी होगी उसके बाद तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा. यह बात सुनते ही जैसे उसका चेहरा खिल गया और उसने बोला- ठीक है मेम साहब, मैं सिखा दूँगा।मालकिन ने मुझे बोला- सारा काम खत्म कर के दोपहर में इससे सीख लेना।कुछ देर बाद वो अपने अस्पताल चली गयी.

अभी तक मैं ऐसा करने से बच रहा था लेकिन अस्मि की चूचियों को देख कर मैं मजबूर हो गया. मैंने अपनी चूत को उसके लंड पर पूरा धकेला हुआ था और उसका लंड मेरी चूत में पूरा अंदर तक घुसा हुआ था और मैंने अपनी चूत को भींचा हुआ था. अब जब से मैं सुबह की वंदना में हारमोनियम बजाने लगी थी, तब से मेरे प्रिंसीपल और बाकी स्टाफ की भी नज़रें मुझ पर टिक गई थीं.

जिन दो मर्दों से मैं चुदती हूं आजकल वो दोनों बहुत ज्यादा वहशी हो गये हैं.

मैंने प्रतिभा के हाथों की हरकत रोक दी … उसने भी मेरा इशारा जान कर खुद को रोक लिया. उनमें हर तरह की मॉडल्स थीं जैसे सेक्सी जवान लड़की, मेच्यौर आंटी, मैरिड लेडीज, औरतें, आंटियां और सेक्सी भाभियां. फिर नेहा ने एक ब्रांडेड फोम को पानी में भिगोया और मेरी पीठ की रगड़म रगड़ाई करने लगी.

राजेश ने बड़ी आहिस्ता से मोबाईल की टोर्च से उसकी टांगों के अंदर झाँकने की कोशिश की पर कुछ नजर नहीं आया. जैसे ही उसका हाथ मेरी पैंटी पर लगा उसने मेरी पैंटी को पूरी की पूरी अपने हथेली से कवर करते हुए मेरी चूत को पकड़ कर अपने हाथ में भींच दिया. पर खुशी का मैसेज शादी के बीस दिन पहले ही आया।खुशी ने पहले हेलो कहा.

और बहुत तेज़ तेज़, बहुत जल्दी जल्दी एक बार फिर सेक्स किया लगातार झड़ने तक।फिर बस खुद को साफ किया और कपड़े पहने।सुनील ने सुनिश्चित किया कि रास्ता साफ है.

मैंने कहा- ये सब तो एक हफ्ते में सही हो जाएंगे … तुम बताओ, तुम्हें मजा आया या नहीं?वो खुश होकर हां बोलते हुए वहां से चला गया. कैसे प्रिंसीपल टीचर ने चोदा मुझे! और इसके अलावा मेरी चुत चुदाई का मजा किस किस ने लिया, ये सब मैं आपको अगले भाग में लिख कर बताऊंगी.

भोजपुरी गर्ल्स बीएफ उन दोनों मर्दों ने बेरहमी से चोदा है मेरी चूत को, ओह्ह डियर आराम से … आह्ह।उसकी उछलती मोटी गांड को देख कर मैंने अपने लंड को जोर से मुठ मारना शुरू कर दिया. मैंने भी संकोच छोड़ कर डांस करना शुरू कर दिया … क्योंकि शादी में नाचने का मैं अभ्यस्त था.

भोजपुरी गर्ल्स बीएफ रमेश भी रिया का सर अपने लंड पर दबा कर अपनी कमर आगे-पीछे करते हुए अपने लंड को रिया के गले तक उतार रहा था. वो मेरी चूचियां देखते हुए आगे बोला- एक बार तुम मेरे सामने पूरी नंगी हो जाओ … बस मैं अपना लंड हिला लूं.

तो दोस्तो कैसी रही Xxx हॉस्टल लड़कियों की चुदाई कहानी?लिखियेगा मुझे[emailprotected]पर.

न्यू सुहागरात सेक्सी

हमारी ब्रा ऊपर खिसकाकर चाचा ने हमारी चूचियां निकाल लीं और चूसने लगे, हमें भी अच्छा लगने लगा था. कर ली न अपनी मनमानी? देख लो मुझे और मेरे सारे कपड़े गंदे कर दिए आपने!” साली जी ने मुझे मेरे वीर्य से सनी अपनी सलवार दिखाई. बस तभी मेरा लंड जवाब दे गया और लंड से वीर्य की पिचकारियां छूटने लगीं.

मैं भाभी को रसोई में ले जाता और उनके गर्म कामुक बदन के ऊपर ऊपर के मजे ले लेता. करीब 10 मिनट तक उसका लंड चूसने के बाद उसने मेरे मुँह में ही अपना सारा माल छोड़ दिया और मैंने सब पी लिया. उसके बाद वो बोले- बेबी मजा आ गया … तुम तो बहुत गर्म माल हो यार … मैं तो एकदम से फ्रेश हो गया तेरी चूत मार कर। तुमसे मिल कर सारी प्यास मिट गयी.

काफी सोच विचार के बाद शाही सर ने मुझसे पूछा कि क्या मैं ये काम कर सकती हूँ.

कविता को मालूम था कि अगर वो नहीं गयी तो रवीना पानी का मग लाकर उसके ऊपर डाल देगी. भाभी अपनी चूत में उंगली कर रही थीं … और ननद के चुचों को मैं अपने हाथों से मसल रहा था. हम सभी आपस में खुले हुए हैं और मौका मिलने पर एक दूसरे के साथ सेक्स करते रहते हैं.

फिर कमल ने मेरी टांगों को ऊपर उठाकर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मुझे चोदने लगा. मुस्कराते हुए मैंने भी कहा- जी बिल्कुल, हम अपने मेहमानों का खास ख्याल रखते हैं और जब मेहमान ही ख़ास हो तो फिर जिम्मेदारी और बढ़ जाती है. बहाने क्या कर रहे हो।सुनील हंस के कहने लगा- सुहानी चौधरी, मेरा लंड चूसो ना प्लीज।वो मेरे सामने खड़ा था.

मेरी यही नाकामी मुझे बार बार कचोटती थी और फिर से मनजीत का दरवाजा खटखटाने के लिए उकसाती थी. मैं- इसे कुछ देर वहीं रहने दो जान … देखो तुम्हारी गांड गीली हो गयी है.

और कहाँ अब मैं लंड चुसवाने के मज़े ले रहा था।साली ने बड़े मज़े मज़े ले ले कर लंड चूसा, ऐसा लग रहा था जैसे उसे खुद को लंड चूसने का शौक हो।जब वो चूस कर ऊपर को आई, मैंने पूछा- बहुत पसंद है लंड चूसना?वो बोली- अरे इसको चूसे बिना तो लगता ही नहीं कि सेक्स किया है।मैंने उसे नीचे लेटाकर खुद उसके ऊपर चढ़ गया. फिर थोड़ी देर बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत मारने लगा. इस बात का पता मुझे तब चला जब एक दिन मैंने उनको उनकी बालों भरी चूत में दो उंगलियां घुसाकर मजा लेते हुए देखा.

उसकी बातें सुनकर मुझे जोश आ गया और मैंने उठ कर उसको अपनी बांहों में ले लिया.

यदि आपको अपने ऐसे ही अनुभव मेरे साथ शेयर करने हैं तो मुझे कमेंट्स में बतायें. उन्होंने सलीम को आवाज दी- सलीम … जा भैया के साथ चला जा … पन्द्रह पच्चीस मिनट साईकिल इनके साथ चला कर देख ले … कोई शिकायत आए, तो बताना. सरोज ने गप्प से मेरा सुपारा अपने मुंह में ले लिया और प्यार से उसके ऊपर जीभ फिरा फिरा कर चूसने लगी.

डांस में जिसकी जितनी हिम्मत होती वो उतने कम कपड़ों में डांस कर लेती. घर पर रहते हुए अन्तर्वासना की कहानियों का आनंद लें और मुझे ईमेल करके जरूर बताना कि कहानी कैसी लगी।मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज करें अथवा कमेंट बॉक्स में कमेंट डालें.

चढ़ते वक्त आंटी की साड़ी उनकी गोरी और सुडौल पिण्डलियों के ऊपर उठ रही थी और आंटी अपनी गांड को मटका मटका कर चल रही थी. नैना बोले जा रही थी- हां राज चाटो और चाटो … खा जाओ मुझे … मैं आज से तुम्हारी हूं, जो मन करे … करो मेरे साथ आ आह … आह मज़ा आ रहा है आह … करते रहो, खा जाओ मुझे … मेरी प्यास बुझा दो … आह. कई बार उसको बाहर के गंदे भैंसा मिल जाते हैं जिन्हें कोई बीमारी होती है, इसलिए पशुशाला में ही भैंसा रख लिया जाता है.

सेक्सी एचडी सेक्सी सेक्सी एचडी

मैं जोर जोर से उसके होंठों को चूसने लगा … साथ ही उसके गोल मटोल कसे हुए बोबों को मसलने लगा.

मेरी साली धीरे धीरे मस्त हो रही थी।अचानक मैंने एक उंगली उसकी चूत में दे दी और अंदर घुसेड़ दी. मैं लड़कियों को बोल दूंगी कि इसे अब मत जगाओ, यहीं सोने दो, जब उठेगा तो अपने आप ऊपर जाना चाहेगा तो चला जाएगा और फिर हम अंदर से बंद कर लेंगे. कुछ देर रुको, नहा धो के तैयार होती हूं फिर जैसे आप चाहो वैसे कर लेना!” निष्ठा बोली और बिस्तर छोड़ के निकल ली.

नेहा की बॉडी फिगर मॉडलों जैसा था, मैंने उसके बॉडी शेप को देखकर 36-24-36 साइज का अनुमान लगाया. मैंने उसे प्यार से अपनी गोद में उठाया और किस करते हुए बेडरूम में लेकर चला आया. ब्लू फिल्म देखने के लिएरिंकी ने मुझे एक सेक्स डॉल दिखाई जिसके अंदर कुछ ऐसा मेटीरियल भरा गया था कि वो अन्य सेक्स डॉल के मुकाबले ज्यादा अच्छी लग रही थी.

बाथरूम में नेहा की नग्न अवस्था में मौजूदगी और बाथटब पर उसका साथ होना ही मेरे लिए रोमांचक अहसास था, पर मैंने अपने बेकाबू मन को संभाले रखा और नेहा के अगले उपक्रम की प्रतीक्षा करने लगा. वो बहुत ज्यादा गर्म हो गयी और ऐसे तड़पने लगी जैसे मछली को पानी से बाहर फेंक दिया गया हो.

तभी बरसात की तेज फुहारें गरज के साथ बेडरूम की खिड़कियों से टकराई और बिजली तड़तड़ा कर कड़क उठी. थोड़ी देर के बाद मैंने उसके माथे की चुम्मी ली और कहा- रीना आई लव यू बेबी … तुमने मुझे बेहद सुकून दिया है. भाभी ने ऐसी सेटिंग की कि वो मन भर कर मुझसे चुदी और प्रेग्नंट हो गयी.

कई बार उसको किसी भी काम के बहाने से अपने केबिन में बुला लिया करता था. फिर इस जबरदस्त चुदाई का अंत हुआ … लंड ने पिचकारी मारी और लंड ने सारा माल उसकी चुत में फेंक दिया. थूक चूत से बाहर निकल कर नीचे बहने लगा, तो राजेश ने अपनी उंगली भी चूत में घुसा दी.

चूचियों के पास तो कई बहुत बड़े लाल लाल निशान थे, जो सूख कर भूरे रंग के हो गए थे.

मैंने कहा- फिर तो तीन दिन के लिए तुम्हारी छुट्टी?बिन्दू- मुझे तो चार पांच दिन लगते हैं ठीक होने में. जीजा साली का प्यार कहानी में पढ़ें कि जब मेरी बीवी की डिलीवरी हुई तो मेरी साली मदद के लिए आ गयी थी.

आंटी की गीली चूत को देखते हुए मैं जोर से मुठ मार रहा था और आनंद में डूबा जा रहा था. मुझे पार्टी करने का बहुत शौक है और मैं अपने वीकेंड पर शहर में पार्टियों में ही घूमती रहती हूं. वो मुस्कुरा कर बोली- थैंक्यू वेरी मच रणदीप … जानती हूँ आप व्यस्त होंगे, पर अगर सम्भव हो, तो चार बजे मेरी स्पीच है … आप जरूर आइएगा.

मैंने देखा भाभी फिर से झड़ने वाली है तो मैंने भी अपना पूरा ध्यान चुदाई पर केंद्रित करके धक्के मारने शुरू किए. थोड़ी देर बाद रिया नंगी ही बाथरूम से निकली और आइने के सामने बैठ कर बाल संवारने लगी। उसकी गोरी और गुदाज गांड स्टूल से काफी बाहर निकली हुई थी. मैंने अखबार में विज्ञापन देकर साली जी के लिए सरकारी नौकरी वाला, अच्छा सजातीय योग्य वर तलाश लिया और निष्ठा का विवाह धूमधाम से कर दिया.

भोजपुरी गर्ल्स बीएफ मगर काफी देर से मुझे समझ ही नहीं आ रहा है कि आप दोनों में किससे परेशानी को हल करवाया जाए. राजेश टॉवल से अपने लंड को पौंछते हुए बाथरूम में चला गया और दोनों ने अपनी अपनी सफाई की और बाहर आकर कपड़े पहने.

कार्टून सेक्सी ब्लू पिक्चर

उसने मुझे बताया कि वो अभी तक कुंवारी है और अपनी चूत पे उंगली के अलावा कुछ नहीं डाला।वह अपने 19वें जन्मदिन पर वो सील तुड़वा कर इसको यादगार बनाना चाहती है. रति को भी अपनी गाँड चटवाने में मजा आने लगा था और वो गर्म गर्म आवाजें करने लगी थी. इसलिए मैं रंजु की ओर सरक हो गया जो दीपक के नीचे मुंह के बल लेटी कराह रही थी.

उसके घूमते ही उसकी नज़र सीधे मेरे मम्मों पर पड़ी … चूंकि चोली मोटे कपड़े की होने की वजह से मुझे ब्रा पहनने का मन नहीं था. मैं उसकी बड़ी चूचियों के कड़क निप्पलों को अपने हाथ की उंगलियों से महसूस कर रहा था. मरठी सेक्समैंने उसकी कमर में हाथ फंसा कर पीछे से धीरे धीरे उसकी चूत में झटके देने शुरू किए.

रवि भी रिया के सिर को पकड़ कर प्रेशर के साथ उसके मुंह में अपना लंड घुसाए हुए था.

मैं बड़ी जोर से चिहुंक कर बोली- साले भैनचोद … अब मत तड़पा … मैं मर जाऊँगी कुत्ते … जल्दी से मेरी चूत में लंड पेल कर इसको फाड़ दो. फिर आखिरकार वो दिन आ ही गया जब वो हुस्न-परी खुद चल कर मेरे पास आ रही थी.

मैं- इतनी जल्दी क्या है?जिया- अभी मन नहीं भरा साले … तुम कहो तो गांड भी तुम्हारे लिए खोल देती हूँ. शीला ने उसे पानी दिया और बोली कि जनरल स्टोर वाले के पास जा रही हूँ सामान लेने. हम शाम के 5 बजे थार के रेगिस्तान में पहुंच गए जहां पहले से ही बहुत सारे देसी और विदेशी पर्यटक घूमने आये हुए थे.

तो मैंने कहा- भाभी आपको सोना है क्या!भाभी बोली- मुझे फेरे देखने हैं और ये साड़ी भी बदलनी है.

” मैंने हंसते हुए कहा।सानिया मोबाइल को गौर से देखे जा रही थी।वह बोली- ऐसा मोबाइल तो तोते दीदी के पास भी था?हाँ उसे दूसरा दिलवा दिया तुम इसे काम में ले लो. दरवाजा खोलकर दोनों ने ही पहले मुझे बैठने को कहा- मतलब मैं चाहे जिधर से भी बैठूं, बैठना तो मुझे बीच में ही था. वहाँ पर दारू भी चल रही थी तो मैंने भी ४ पॅग पी लिए और मैं पूरी टल्ली हो गयी.

एक्स एक्स कॉमपर हमारी शानदार जानदार चुदाई को नेहा की प्यासी जवानी ज्यादा देर तक बर्दाश्त नहीं कर सकी. फिर बोला- मेरी तो कई बार थूक से ही निपटा दी … गांड तीन दिन दर्द करती रही थी.

सेक्सी वीडियो लंड पति

कुछ देर बाद मैंने लौड़ा चूस कर फिर से सर का मूड बनाया और चुदाई का खेल शुरू हो गया. साली जी ने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत की दरार की लम्बाई में चार पांच बार ऊपर नीचे रगड़ा फिर उसे चूत के छेद से सटा कर अपनी कमर जोर के झटके से उठा दी जिससे पूरा लंड फच्च से उसकी चूत में सरक गया. भाभी मेरे लंड के लिए तड़प रही थीं, ये देख कर मुझे बहुत मजा आ रहा था.

जैसे ही मैं चूत में लण्ड घुसाता वह भी अपने चूतड़ों को झटका दे कर चूत को लण्ड पर पटकती. रमेश- होह … उफ्फ … थका दिया तुमने।रति- अच्छा? सब कुछ शुरू किया तुमने और इल्ज़ाम मुझ पर लगा रहे हो?रमेश- अरे जिसकी तुम्हारी जैसी बीवी हो, वह भला खुद को रोके भी तो कैसे?रति- अच्छा, इस उम्र में भी इतनी रोमांटिक बातें।वो बोला- भाई अभी हमारी उम्र ही कहाँ हुई है, हम तो आज भी जवान हैं, कहो तो एक राउंड और हो जाए?रति- अच्छा?दोनों ठहाका लगा कर हंसने लगे. जब वो तेल लगाते हुए मेरे ऊपर झुकती तो लगता कि उसके भारी स्तनों ने मेरे सीने को अब छुआ कि तब छुआ और कई बार उसकी चेन उन गहरी घाटियों से फिसल बाहर आ जाती जिसे निष्ठा जतन से अपने उरोजों के बीच घुसेड़ लेती; यह सब देख देख कर मेरे लंड में हलचल मचने लगी थी और उसमें तनाव आने लगा था.

उसके मुँह से इतना सुनकर मैं उसकी चुचियों को ब्रा के बाहर से चूमने और चूसने लगा. नैन्सी ने आकाश को धक्का देकर हटाया और कहा- आकाश तुम जाओ, ये गलत है. तभी भाभी बोली- चल तू अब मेरे ऊपर आ जा और अपनी चूत को मेरी चूत से रगड़.

मेरा लंड खड़ा तो पहले ही हो चुका था अब उसमें और कठोरता आने से मुझे बेचैनी महसूस होने लगी थी. और एक ड्राइवर था उस घर में और अब मैं भी थी उस घर में।मालकिन ने मुझे अपने बहुत सारे पुराने कपड़े भी पहनने के लिए दिए थे.

बिन्दू ने नीचे देखा तो कहने लगी- आप चलो, मैं बीच वाले पोर्शन में जाकर इसे प्रेस से सुखा कर आती हूँ.

अपनी रंडी की चूत को नोंचकर खा जा!मैंने उसकी मालपुआ जैसे चूत से लेकर नाभि, निप्पल, कानों को चाट चाट कर गीला कर दिया. इंडियन ट्रिपल एक्स बीपीवहां हो रहे कालबेलिया डांस और फोक संगीत को देख कर वह बहुत खुश हुई और मुझे ‘थैंक यू’ बोला. सेक्सी बीपी नंगी पिक्चरआपके मेल मुझे निरंतर मिल रहे हैं और मैं कोशिश भी कर रहा हूँ कि सभी को उत्तर लिख सकूं. वो …” कहते हुए सानिया रुक गई।प्लीज यार … अब बता भी दो?”वो मुझे रात को नींद नहीं आई.

अब नेहा मेरे लौड़े पर अपनी जीभ से लार टपका टपका कर उसकी चुसाई कर रही थी जिससे मेरा लंड स्खलित होने के करीब पहुंच चुका था.

उसने अपनी गीली चूत को पूरी तरह से खोल लिया जिससे उसकी गुलाबी दीवारें अंदर से दिखने लगीं. चुदने के बाद वो बोली- बहुत दमदार मर्द हो यार तुम तो, रात को भी कितना चोदा, अभी भी मन नहीं भर रहा है. सरोज ने अपना एक हाथ मेरे गले में डाल लिया और दूसरे से मुझे अपनी और खींचती रही.

जब लण्ड अन्दर जाता और मनजीत की बच्चेदानी से छूता तो आंखें बंद किये हुए मनजीत कहती- विजय, मेरे राजा, मेरी जान. मेरी छाती उससे चिपकने की वजह से चॉकलेट का सिरप मेरे सीने से चिपक गई थी. साथ ही मैंने अपनी 2 उंगलियों को भी उसकी चूत में घुसेड़ दिया जिससे वो चिल्ला उठी- आआआहह … ऊऊ … यसस्स अजय … कमॉन ओह्ह … यू आर सो अमेजिंग … कितना मजा दे रहे हो तुम … आह्हह … ऐसे ही करते रहो.

वीडियो सेक्सी फिल्म गाने वाली

उसके बाद वो बोले- बेबी मजा आ गया … तुम तो बहुत गर्म माल हो यार … मैं तो एकदम से फ्रेश हो गया तेरी चूत मार कर। तुमसे मिल कर सारी प्यास मिट गयी. कुछ पल बाद मैंने लंड बाहर खींचा, तो वो जैसे ही वीर्य थूकने जा रही थी, मैंने उसको पकड़ लिया. वो इतनी जोर से मेरी चूत चाट रहा था कि मैं उसके मुंह पर ही झड़ने वाली थी.

अंधेरे के कारण किसी को कुछ दिखाई तो नहीं दे रहा था, मगर सुनाई सब दे रहा था.

अपने होंठों से स्वरा के होंठ चूसते हुए मैंने लण्ड को स्वरा की बुर में धकेला.

और सचिन जिस व्यक्ति के बारे में बता रहा था, मैं उसे ही आजमाना चाहती थी।मैंने तुरंत ही सचिन को फोन लगाया. आपने तो सारा शो रूम ही निकलवा दिया।मैंने उसकी बात सुन ली मैंने कहा- यार, कुछ भी ले लो ना! सब चलता है. bangli গুড চাটাচাটি ভিডিও এক্সক্সरुमित ने मुझे अपने हाथों से पकड़ा और मेरे सामने देखने लगा … उसकी मादक निगाहों को देख कर मैं सच में इतनी शर्मा गयी थी कि मैं कार की सीट पर उल्टा हो गयी.

उसने मुझे अंदर बुलाया, मैंने उसे खाना दिया और वो मेरे लिए पानी का ग्लास लाई।जरीना- आज रात को तैयार रहना, आज हमारी सुहागरात होगी। आज घर पर कोई नहीं है. और फिर मैं दोनों रानियों को गलियारे की एक सिरे पर सीढ़ियों की ओर ले चला. भाभी कहने लगी- राज, बताओ कमरा पसन्द आया?मैंने कहा- भाभी कमरा तो एकदम आलीशान है लेकिन इसका किराया कितना है?भाभी बोली- जो तुम देना चाहो दे देना.

तभी पायल पास आई और उसने मेरा हाथ पकड़ कर खींचते हुए एक ओर ले जाते हुए बोली- चलिए, वैभव जीजू कबसे आपका इंतजार कर रहे हैं. पंद्रह बीस मिनट के बाद जब साँसें काबू में आ गयी तो बेबी रानी की चुदने की बारी थी.

अब नेहा मेरे लौड़े पर अपनी जीभ से लार टपका टपका कर उसकी चुसाई कर रही थी जिससे मेरा लंड स्खलित होने के करीब पहुंच चुका था.

जब मैंने अंतर्वासना पर अपनी पहली कहानी लिखी थी तो मुझे बहुत सारे ईमेल आए थे. राजेश ने उंगली निकाल कर अब शीला की टांगों को चौड़ाया और अपना मूसल पेल दिया. अब अनीता ने मुझसे कहा- क्यों सर जी, किस किस ने चुंबन किया … पहचान की नहीं! किसका चुंबन सबसे खास था, जरा बताओ तो?मैंने अब रूमाल आंख से हटा दिया.

बंगालीसेक्स रमेश- रति… रति क्या हुआ? तुम ग़ुस्सा क्यों हो?रति- जाओ, जाकर अपना बिजनेस देखो. और तुम्हारे अन्दर जो लेखन की प्रतिभा है, उससे प्रतिभा का आकर्षित हो जाना स्वाभाविक है.

मुझे होटल वाली सुंदरी अपने पीछे वहीं ले गई।आगे बढ़ने पर पता चला कि वो बड़ा हॉल था जहाँ कार्यक्रम होते होंगे. मेरा जवाब उन दोनों को अच्छा लगा और दोनों ही मुझसे चिपक कर चूमने लगीं. अब मैंने उसके दोनों गाल बारी बारी से कई कई बार चूम डाले और उसके होंठ चूमते हुए निचला होंठ चूसने लगा साथ ही उसका बायां स्तन कुर्ते के ऊपर से ही धीरे धीरे सहलाने लगा.

फोन सेक्सी व्हिडीओ

जब तक मैं भी तैयार हो लेता हूँ।जब मैंने उसको पहना तो उसका पीछे से बिल्कुल ओपन था और नीचे से बस मेरी जाँघ तक थी. अभी मैं सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहा हूँ।गोपनीयता के चलते मैं शहर का नाम नहीं लिखूंगा. मैं- तुमने क्या सोच कर हमारी बैंक के उन आदमियों के साथ सेक्स किया? साली रंडी! उस कार में बैठने से पहले तुम बहुत उत्साहित दिख रही थी.

मैंने सोचा कि दुकान पर जाने में बहुत समय लग जायेगा इसलिए नीचे वाली भाभी से ही ले लेता हूं. भाभी ने मुझे गाल पर किस किया और नीचे उतर गई और बोली- कितना मज़ा आया?मैंने कहा- स्वर्ग दिखाई दिया भाभी.

अपनी चिकनी और फिसलन भरी चूत में मैं उसकी जीभ को इंच इंच महसूस कर सकती थी.

टॉप को फाड़कर, बाहर झांकते दोनों बड़े बड़े मम्मे, गोल सुडौल गोरे बाजू, सुंदर हाथ और उनकी सुंदर पतली, मुलायम, नेल पॉलिश लगी हाथ पांव की गुदाज़ उँगलियाँ गज़ब ढाह रहे थे. जिया मेडिकल की पढ़ाई कर रही है … और जिया, यह राज मेरा एक्स-बॉयफ्रेंड है, जो फिलहाल कॉलेज के आखिरी साल में है और मुंबई में रहता है. अभी वो दोनों बहुत सेक्सी लग रही थीं और मेरा मन फिर से चुदाई के लिए डोलने लगा था.

उसने मुँह खोला, तो मैंने देखा कि उसका पूरा मुँह मेरे लंड के वीर्य से भर चुका था. मेरे प्यारे दोस्तो, कहानी तो बहुत हैं सुनाने के लिए मगर आज मैं अपनी नहीं अपने एक दोस्त की कहानी सुनाना चाहता हूँ. प्रतिभा ने मोबाइल निकाल कर कॉल अटैंड करते हुए कहा- हां वैभव, हम पहुंच गए.

एक पल बाद मैंने ड्रावर से कंडोम का पैकेट निकाला और पैकेट फाड़ कर कंडोम अपने लंड पर पहन लिया.

भोजपुरी गर्ल्स बीएफ: मैंने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया और उसकी चूत में लंड पेलते हुए उसकी चुदाई शुरू कर दी. मैंने पूछा- बिकिनी वैक्स क्या होता है?तो भाभी ने कहा कि ब्यूटीशियन सारे शरीर पर से सारे रोवें खत्म कर देती है.

इस मस्ती में ही मेरा दूसरा हाथ बाजूवाली औरत की चुत के पास हिल रहा था. चूत के ऊपर दो छोटी छोटी है पिंक कलर की पत्तियां थी, भाभी का पेट बिल्कुल नर्म गुदाज़ और साफ था. रेगिस्तान में किसी प्यासे को एक बूंद भी पानी मिलना मुश्किल होता है लेकिन मेरे सामने तो आज दरिया बहने लगा.

हालांकि मेरा दिल भी कई बार किया कि चलो एक बार और निष्ठा को चोद लेते हैं पर मैंने हर बार यह सोच कर खुद पर काबू पाया कि अगर किसी को हमारे संबंधों की भनक भी लग गयी और और कोई ऊँच नीच हुई तो निष्ठा का हँसता खेलता जीवन नरक बन जाएगा और कालिख तो मुझे भी लगेगी ही.

मैं पागलों की तरह चिल्लाने लगी- और तेज़ … आहह … सुनील और तेज़ और तेज़. उसकी उभरती जवानी और विकसित होती हुई चूचियां किसी को भी उसकी चुदाई के लिए तड़पा दें. पर मैं तो खूबसूरती निहारने के लिए स्वतंत्र था, सो मेरी आंखों ने प्रतिभा को चोदना शुरू कर दिया था.