ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू

छवि स्रोत,बुर चोदने की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली सेक्सी मूवी दिखाओ: ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू, ऑफिस का काम करते करते थक गया, तो छत पर फ्रेश हवा लेने जैसी ही बाहर निकला.

हिंदी सेक्सी देहाती बफ

रानी ने इतना कह कर सब घुंघरू खोल के रख दिए- अब खुश? अब छम छम नहीं होगी. सेक्सी व्हिडीओ तामिळनाडूमैंने कोमल की गांड पर चपत लगाकर लंड अन्दर ठेला और कहा- चुप रह साली … वरना तेरी गांड फाड़ दूंगा … आज तो तुम पूरी तरह से रांड लग रही हो.

पूरी तरह से डिस्चार्ज होने के बाद मैं निढाल होकर रुकैय्या पर लेट गया, मेरे बालों को सहलाते हुए रुकैय्या ने पूछा- एक बार और करेगा?मेरे हां कहने पर रुकैय्या ने मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे लण्ड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. க்ஸ்க்ஸ்க்ஸ் வீடியோ தமிழ்”मैं बिस्तर पे चढ़ के रानी की बगल में लेट गया और बड़े प्यार से उसके नाज़ुक बदन पर हाथ फेरने लगा.

फिर मैंने उसके कंधों के नीचे से बांहें निकाल कर उसके सीने को जोर से कस लिया और जोर का धक्का दिया.ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू: फिर नीतू बोली- सर अब और मत तड़पाओ … प्लीज अब अपने लंड का कमाल दिखाओ … बहुत दिनों से मेरी चूत में लंड नहीं गया.

मैंने छी कहा और बोली- ये पूजा इसका लन्ड क्यों हिला रही है?तो सोनल ने मुझे चुप रहने का इशारा किया तो मैं चुप हो गयी।उधर मोहित और पूजा अपने काम में लगे हुए थे.वो आया और उसने अपनी पेंट उतार कर पीछे से अपना लंड मेरी चुत में डाल दिया और धक्के लगाने लगा.

ఇండియన్ లేడీస్ సెక్స్ వీడియోస్ - ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू

मेरी पत्नी और गिन्नी की मम्मी के लौटने से पहले हम लोग फ्रेश हो चुके थे.जब तक ऐसा नहीं हो, सेक्स का मजा नहीं आता।मैं कुछ नहीं बोला।अब मेरा लिंग छोटा हो गया.

घर में मौसी के अकेले रहने के कारण मौसा जी ने मुझे अपने पास बुला लिया था. ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू मुझे ज़रा सा भी अंदाजा नहीं था कि वे लड़कियां इतनी हरामी हो सकती हैं.

ये सुनते ही उसने मुझे ज़ोर से सीट पर लेटा दिया … और अपना निक्कर पूरा निकाल दिया.

ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू?

दोनों खलासियों ने मेरे दोनों हाथों को खींच कर अलग किया, मैंने ताकत लगाई, तो एक बोला- पैसे पूरे दे रहे हैं, मजा भी पूरा लेंगे. उधर रोहिताश सामने कुर्सी पर बैठ कर अपना लंड हिलाते हुए सीमांशी को देखने लगा. कुछ ही सेकंड में मेरे पति मेरी चूत की गहराई में अपने पूरे लण्ड को उतार दिया।रवि का लण्ड चूत में जाते ही मैं कराह उठी- आआ आहहह हह … रवि … ऊउफ़्फ़!अभी बस लण्ड घुसा ही था; चुदाई तो शुरू भी नहीं हुई थी और मैं बिल्कुल पागल सी सिसकार रही थी.

जेठजी ने मुझे थोड़ा ऊपर नीचे करके एडजस्ट किया ताकि मेरी चूत का छेद उनके लंड के ठीक सामने आ जाए. मैं अलीना की बात से में विचार में पड़ गया क्योंकि अलीना मुझे दीदी के साथ देखा है. वो गीले कपड़े सूखने डालने के लिये साथ ले गईं और अपने घर से पिंकी की दूसरी ड्रेस ले आयी.

फिर एक दिन बाबू एक ऑफर लेकर आए कि एक बूढ़े दंपति को दिन भर के लिए केयर टेकर चाहिए. फिर मैंने बाथरूम से तेल की शीशी का ढक्कन खोला और कमरे में आकर नताशा को घोड़ी बना दिया. लेकिन वो फिर झुककर काम में लग गई।लेकिन मैं तो जैसे पीछे ही पड़ गया था.

शाम को हम लोग घर लौटे, खाना खाया और सोने के लिए मैं कमरे में आ गया. अब आगे:चाची ने पलंग पर दो रजाइयां रखीं और मुझे रजाई में लेटने का कह कर लेट गईं.

मैंने फोन कटते ही भाभी को चूम लिया और कहा- वाह भाभी, तुम तो कमाल की चीज हो.

पहले जेठजी अपना हाथ सिर्फ मेरे कंधे और पीठ पर ही सहला रहे थे, पर अब उनका हाथ मेरी पीठ से होकर मेरी कमर और कूल्हों तक आने लगा था.

रूम बुक किया। रविवार से लेकर बुधवार तक हम दोनों को वहीं रहना था।आप सोच रहे होंगे कि इतने दिन तक के लिए क्यों।तो वो इसलिए क्योंकि मैं उसको पूरी तरह से संतुष्ट करना चाहता था. कोई कोई सज्जन तो नेता-अभिनेता, अध्यापक/प्रोफ़ेसर या कोई और धर्म-प्रचारक भी होंगे. मुझे लगा कि बस बहुत हुआ, अभी ही आंटी का कुर्ता फाड़ कर और कर ब्रा खोल कर फेंक देता हूं … और इनकी चुत चोद देता हूं.

उसकी और मेरी आहह और उसके बॉल्स की थपकी की आवाज़ से पूरा कमर भर गया था. दीपिका ने अपना फोन उठाया तो मैंने पूछा- फोन से कैसे नापोगी?वो बोली- नापने का ऐप है इसमें. मैंने मार्केट से उपकरण लाकर दिया तो पता चला कि भाभी के पेट में बच्चा है.

मैं बोली- मैं यहां से तेरी मॉम को तेरे लिए पटाती हूँ … वहां तू भी थोड़ा उनको इंप्रेस कर और तुझसे जैसा मैं बोलूं, वैसा किया कर.

हमने जल्दी जल्दी एक दूसरे को संभाला और अपने अपने कपड़े ठीक करके बैठ गए. अब तुमको देखना है कि रात में कहां चलना है ओके!मैंने पूछा- क्या वाकयी आपके किसी फ्रेंड की शादी है?भाभी- हां यार … पहले तो मैं अपनी फ्रेंड की शादी में ही जाऊंगी, फिर वहां से तुम मुझे लेने आ जाना ओके. मुझे अभी भी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मुझे क्या करना है और क्या नहीं.

कुछ देर यूं ही चूमने चाटने के बाद मैंने उसे चित कर दिया और उससे लिपट कर होंठ चूसने लगा. चाची की चुत से मूत्र और प्रीकम की मिली-जुली सुगंध आ रही थी, जो मुझे मदहोश कर रही थी. थोड़ी देर में वो मुझे स्तनों से खींचते हुए एक केबिन की तरफ ले जाने लगा.

मौसी फिर से वही राग अलापने लगीं- आह विशाल ये ठीक नहीं है … मुझे छोड़ दो.

रात को सोते वक्त मैं नाईट सूट और अंदर सिर्फ पैंटी पहनती थी, ब्रा पहनना मुझे शुरू से पसंद नहीं था. वहां पहले ही मैंने एक होटल में तीन रूम बुक कर लिए थे। शाम को हम सभी थोड़ा घूमने निकले और कुछ क्षेत्रों में बर्फ़बारी को होते हुए देखा.

ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू जब मुझे अहसास हुआ कि कोमल को बहुत दर्द हो रहा है और वो मुझसे बार-बार निकालने को रिक्वेस्ट कर रही है, तो मैं रुक गया. मैंने उससे पूछा कि तुम्हें कैसे पता?तो वो हंस कर बोली- आज सुबह मुझे आशा ने सब कुछ बता दिया, लेकिन आप फिक्र मत करो … मैं किसी को कुछ नहीं बताऊँगी.

ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू अब आगे की साली के साथ सेक्स कहानी:मेरी मुस्कान को देखकर जीजू बोले- क्यों हंस रही हो मेरी रानी?अब मैं ये तो बोल नहीं सकती थी कि आपका लंड बहुत अच्छा है इसलिए मैंने बात घुमा दी. फिर मैंने मुस्कान की कमीज़ के अंदर हाथ डाल कर उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबा दिया.

मेरा एक पैर कार की सीट के नीचे और एक सीट के ऊपर था … और मेरे दोनों हाथ पीछे दरवाजे को पकड़े हुए थे.

बीएफ का कार्टून

अपनी एक टांग उठाकर मेरी जांघों पर रखकर अपनी चूत को मेरे लण्ड के करीब ले जाकर रुकैय्या ने मेरे गालों पर हाथ फेरते हुए मुझे जगाने की कोशिश करते हुए कहा- उठ मुन्ना, मेरे भाई उठ जा. मुझे उम्मीद है कि अन्तर्वासना के प्रिय पाठकों को मेरी ये सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी. दूर होने की वजह से चेहरा तो साफ नहीं समझ में आया … हां मगर वो गोरी थी और चुचे बड़े बड़े थे.

दोनों लड़के उठ कर बैठ गए और एक दूसरे के सामने घुटनों के बल खड़े होकर एक दूसरे की मुट्ठी मारने लगे. रिंकी हँसते हुए आई और सुनील के सर को दोनों हाथों से अपनी ओर खींचते हुए जोरदार फ्रेंच किस उसको दिया. फिर मैंने उसकी पैंटी को धीरे धीरे नीचे करते हुए उतारना शुरू किया और बहुत ही धीरे धीरे उसकी चूत को नंगी कर दिया.

वो खामोशी तोड़ते हुए बोली- क्या सोच रहे हो … मुझे प्यार करो, बस प्यार करो.

एकदम दूध सी गोरी … छोटी सी उभरी हुई चुत, जो इस बात की तरफ इशारा कर रही थी कि ज़ेबा की चुत से मासिक चक्र शुरू हो चुका था. वो कहने लगी- आपकी तो गोलियाँ भी बहुत सख्त और टाइट हैं, मेरे हस्बैंड की तो लण्ड से भी नीचे लटकती हैं, मुझे उनका बिल्कुल अच्छा नहीं लगता. बात घुमाते हुए मैं बोली- मैं सोच रही थी कि आप मेरे साथ ये सब कर रहे हो … और कहीं दीदी वहां अमित के साथ यही सब ना कर रही हों.

फिर मैंने एक तरकीब लगायी कि भाभी से खुल कर बात करने लगी सेक्स के बारे में!हम दोनों हमउम्र थी और हमारी कदकाठी भी लगभग एक समान थी. वो बोले- अच्छा जी, इतना पसंद करने लगी हैं क्या आप हमें?ज्ञान जी की पैंट में आकार ले चुके लंड पर मैंने हाथ से सहलाते हुए कहा- आप ही बेरुखे से हो रहे थे, मैं तो पहले दिन ही चुदने के लिए तैयार थी. मेरी इस सेक्स कहानी में मैंने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी को लिखा है.

औरत को इस पोजीशन में हमेशा बहुत ज्यादा मजा आता है और वह बहुत जल्दी झड़ जाती है. अब जब तक मेरा पानी नहीं छूटेगा, तब तक तुम्हें आज कोई नहीं बचा सकता.

और फिर वो तेजी बढ़ाते हुए अपना लण्ड जल्दी जल्दी चलाने लगा।मैं समझ चुकी थी कि अब रोहित का स्खलन होने वाला है. सुनील ने रिंकी को बाँहों में लेकर अपना पेग उसके होंठों से लगाया तो प्रिया के होंठों से विशाल ने पेग लगाया. गर्म गर्म वीर्य चूत में लगते ही, चूत एक बार फिर से झड़ी और इस दफा रस की बौछार बहुत तेज़ थी.

उधर मेंहदी लगाने में व्यस्त हीना से भी नजरें मिल रही थीं, जिससे मिलने की घटना मैंने पहले बताया था.

मैं उसके लंड का धागा अपनी चुत में फंसा कर ही तुड़वाने का मन बनाने लगी थी. मैं कुछ मिनट बाद उसके पास कपड़े चेंज करके आया और बेबी के साथ खेलने लगा. इस पर उसने मुस्कुरा के कहा- ऐसी कोई बात नहीं है सर!फिर मैंने उसे उसकी पढ़ाई पूछी तो उसने मैंनेजमेंट कोर्स करना बताया.

मैंने कहा- बाबू, वो जगह कोमल होती है … कुछ तो रहम करो … नहीं तो तुम्हीं को कल डॉक्टर के पास ले जाना पड़ेगा और कल से लंड हाथ में थाम घूमते रहना. मैंने अपने कपड़े उतार दिये और पूरी तरह से नंगा होकर बेड पर पहुंच गया.

उनके सामने बैठते हुए अपने लंड को चूत पर सैट करते हुए हुम्म किया और बाबू का लंड अन्दर घुस गया. हम तीनों ने मिल कर साथ में खाना खाया और फिर मेरी बीवी ने टीवी पर ब्लू फिल्म चला दी. मैं बाहर आ गया और देखा कि सभी सिस्टर्स अपनी कुर्सी पर बैठकर सो रही थीं.

भक्ति बीएफ वीडियो

”ह्म्म्म!”तो आज मैं कर लूँसच में?”सर मैं तो आपकी स्टूडेंट हूँ … जो चाहे कर लो!”ओकेउम्म म्म म्मम! बहुत स्वीट!”मुझे शर्म आ रही है!”अच्छा बाबा … अब नहीं करूंगा.

तो पूजा बोली- आज स्कूल के बाद तुम लोग घर मत जाना, तुम्हें आज कुछ दिखाऊंगी. लगातार दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने चाची की चुत से लंड निकाल कर उनको घोड़ी बनाया और ढेर सारा थूक उनकी चुत पर और मेरे लंड पर लगा दिया. उसकी चूत में रखे लंड, सहित उठा कर मैं अपने कमरे में बने अन्डर ग्राउण्ड कमरे में ले गया.

एक साथ सेक्स करने में मज़ा आएगा, अगर आपको ठीक लगे तो बताओ?प्रियंका बोली- दिल तो करता है ऐसा करने को, बस कोई प्रॉब्लम न हो कल को कोई?मैंने कहा- इस बात की मेरी गारंटी रही. रोहित इसके लिए तैयार नहीं था; उसने अपने मुंह से लण्ड को निकालते हुए जोर जोर से खाँसना शुरू कर दिया और रोहन से कहा- क्या कर रहे हो ये … जितना जाएगा उतना ही तो मुँह में ले पाऊँगा!रोहन ने कहा- सॉरी यार, मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ।रोहित ने कहा- ठीक है … हम दोनों ये काफी समय से करते आ रहे हैं … पर तूने आज तक मेरा लण्ड नहीं चूसा … और मैं तेरा लण्ड इसीलिए चूस लेता हूं कि मुझे तेरा लण्ड बहुत सेक्सी लगता है. अनुष्का शेट्टी नंगीमैंने उसके नर्म नर्म चूतड़ों पर हाथ से दबाते हुए उसकी गांड के छेद को सहलाना शुरू किया तो वो ‘न.

मैं ख्यालों में अक्सर अपनी बीवी को किसी गैर मर्द से चुदते हुए देखने लगा था. और इतना बोलकर वो मेरी गर्दन पर आ रहे पसीने को चाटने लगा और मेरी गर्दन को चूमने लगा।मैंने कहा- ये क्या कर रहे हो? पसीना भी कोई चाटता है भला … और हां … खिड़की से बाहर नज़र लगाए रखना.

दस मिनट तक मेरी गांड को बुरी तरह से रगड़ने के बाद उस्ताद मेरी गांड में ही झड़ गये. सिस्टर कमरे में आ गयी और चैक करके बोली कि सब ठीक है, कोई फीवर नहीं है … अब आप सो जाओ. अभी उसने अन्दर काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी, जिसके अन्दर के उसे फंसे हुए मम्मों को देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया.

वो मुस्कुराया और ऊपर इशारा किया, ऊपर से दरवाजा खुला और दो हाथ बाहर आए. अंदर जाकर उसने मयंक के द्वारा भेजी गयी ब्रा और पैंटी पहनी और फिर खाना लगाने के लिए किचन में चली गयी. इस मौसी की चूत की चुदाई कहानी के अगले भाग में मौसी के साथ एक मस्त चुदाई का सफ़र लिखना जारी रखूंगा.

हालांकि कविता ने खुद के बेटे के साथ सेक्स करने के पीछे कई कारण भी बताए थे, जो कि कहीं न कहीं सही थे.

मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा कोई हम बिस्तर मुझे चुदाई की जन्नत में सैर करा रहा हो. आप लोगों के पॉजिटिव रेस्पोन्स पर मैं जल्दी ही आगे की कहानियों पर काम करना शुरू कर दूंगा.

अगर तुमको बुरा न लगे तो तुमसे एक बात कहूँ?” मैं बहुत डरते डरते कहा. मैं मनीषा भाभी के होंठों को मुँह में लेकर चूसने लगा और वो भी मेरे मुँह में जीभ डालकर जीभ को घुमाने लगीं. जिया- राज … भाभी बता रही थीं कि तुम रिया से डरते हो?मैं कोमल की तरफ देखकर बोला- मैं क्यों डरने लगा?कोमल- इधर तो हमारी चुत की बैंड बजा रहे हो … तो अब तक उसकी क्यों नहीं मारी?जिया- भाभी इसलिए … वरना राज को वो छोड़ कर चली जाएगी, इसी डर से कभी पहल ही नहीं की है.

रोहित के लंड को अपने हाथों से छूते हुए संजू बोली- बाप रे … इतना टाई. तू बहुत बोल्ड लड़की है, मुझे ऐसी लड़कियां चोदने में बहुत मज़ा आता है।फिर उसने मुझे एक कार्ड दिया और बोला- इससे होटल में आज रात को आ जाना. चोदने के साथ वो मेरे बूब्स भी दबा रहा था और निप्पलों को मसल रहा था.

ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू उसकी चूचियों पर हाथ लगा तो मैंने पाया कि उसने नीचे ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी. फिर उसने नीचे ही नीचे से हाथ ले जाकर मेरी शर्ट के बटनों को भी एक एक करके खोलना शुरू कर दिया.

गावठी बीएफ सेक्सी

इतने में स्नेहा भाभी मेरे करीब आईं और बोलीं- चलो … क्या देख रहे हो?मैं तो बस उनको ऊपर से नीचे तक देखने में ही लगा हुआ था. खैर मैंने बेडरूम की तरफ खिड़की के पास जाकर अन्दर झांका तो पाया कि अभी भी संजू रोहित की गोदी में ही थी. अब कुत्ते ये बता, इतना बड़ा लंड तेरा है, तो तेरे लड़कों के छोटे लंड क्यों हैं.

इस बार हम एक दूसरे की जीभ चुभलाने लगे।जब यह दौर भी खत्म हुआ तब तक हीना की जवानी और भी बेकाबू हो चुकी थी. मैंने सोनम की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. हिंदी सेक्सी वीडियो फुल सॉन्गउसने मुझे बताया कि उसने काफी समय से सेक्स नहीं किया है तो उसकी चूत चुदाई के लिए तड़प रही है, लंड की प्यासी है.

मैं- नहीं अमन, ऐसी बातें मत करो प्लीज़!अमन- क्यों जान तुम्हें मजा नहीं आता सुनकर?मैं- नहीं … नहीं आता मज़ा!अमन- खाओ मेरी कसम.

उनकी चुत चाटते हुए मैं कभी कभी अपनी जीभ की नोक से उनके दाने को रगड़ देता था तो वो और भी तड़प जाती थीं. मैंने उसे फील करने के लिए कहा- सोचो ये लन्ड तुम्हारी चूत में जा रहा है.

धीरज हल्के हल्के बोला- आह आह यस बेबी … और चूसो हम्म!इधर विक्रम भी अपना लंड धीरे धीरे हिलाने लगा, उसे भी जोश चढ़ रहा था. रात को जब हम दोनों सहेलियां साथ में लेटी हुई थीं तो मैंने अपनी सहेली की चूचियों को मसलना शुरू कर दिया. मैंने मौके का फायदा उठाया और अपनी नाक मौसी की गर्दन के पास ले जाकर उनके बदन की खुशबू ली.

नीरा ने जवाब दिया- मैं मानती हूँ कि यह गलत हुआ लेकिन इससे किसी का घर बसता हो तो बुरा भी नहीं है.

आठ लोगों से नौ बार चुदने के बाद मुझे चलने में काफी दिक्कत हो रही थी. वैसे आप सबको बता दूं कि मेरे पति का लंड साढ़े सात इंच लंबा और तीन इंच मोटा है. वो मेरी दुविधा समझते हुए बोली- मैं पहले ही बोली थी कि अभी तक उंगली करके संतुष्ट हो रही थी.

सेक्स बॉईजआह … ये क्या हुआ … आज वजन भी कम लगा … पकड़ने में भी उतनी मोटी नहीं लग रही थी. अब तक की मेरी इस मस्त ग्रुप सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि कल रात जीजा ने अपनी बहन आलिया की गांड मारी, तो आकाश ने मेरी बहन चित्रा की गांड बजाई.

बीएफ वीडियो सेक्स सेक्स वीडियो

तू घबरा मत, आराम से मस्त होकर चुदवा, अरविन्द सांड की तरह चोदेगा तुझे और तेरे बाद में रात भर मुझे. जिस तरह उन्होंने मेरी मालिश की थी, उसी तरह मैं भी उनकी मालिश करता रहा. जिस तरह से भाभी मेरा लंड चूस और चाट रही थीं, उससे पता लग रहा था कि भाभी लंड चूसने में काफी अच्छी खिलाड़ी हैं.

मुझे मेरी पिछली कहानीभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल कियाके बाद काफी मेल आए. अब आगे:ज़ब मैं उठी, तो शाम के 6 बज चुके थे हम लोगों ने 12 घंटे के नींद ले ली थी. गोल गोल पुष्ट नितम्ब और फिर नीचे गुलाबी गुदाज जांघें और नीचे सुतवां पिंडलियां और फिर फूल से कोमल पैर.

इस गाने में धुन ताल थोड़ी तेज़ है और पम्म पम्म पम्म, धम्म धम्म धम्म, छम्म छम्म छम्म की ज़ोर दार आवाज़ें हर तीन लाइन के बाद आती हैं तो चोदने वाले को उतनी हो ज़ोर से तीन धक्के ठोकने के लिए उकसाती हैं. साथ ही मैं थोड़ी सी एक्टिंग करते हुए चिल्लाने लगी- उन्नह … छोड़ दो जीजू … ये गलत है. तुम मेरे बारे में क्या सोचते हो?मैंने भी बोल दिया- यार, मैं भी तुमको पसंद करता हूँ.

पहले तो मैंने कुछ ही पलों में खुशी के सौम्य सौंदर्य, रूप लावण्य को नजरों में कैद करना चाहा. अब रोहन उठा और उसने रोहित को अपने नीचे लेटाकर उसके शरीर से खेलना शुरू कर दिया.

एक दिन वो दोनों इसी तरह से साथ में एक ही बेड पर लेटे हुए बातें कर रहे थे.

कुछ देर तक मेरी बहन के चूचे चूसने के बाद फिर उसने खुद को अलग किया और उसके तुरंत बाद पल्लवी ने अविनाश को लेटा कर उसके बदन को चूमना शुरू किया और आखिर में उसके सोये हुए लंड को जीभ से चाटने लगी. బ్లూ ఫిలిం బిఎఫ్फिर लगभग 11:00 बजे के करीब मेरी अचानक आंख खुली तो मैंने सोचा कि मेरी मम्मी की चुदाई तो शुरू हो गई होगी. अहमदाबाद से सेक्सीकि जब आप मिलोगी तो आपकी चूत को अपने वीर्य से भर दूंगा पर आपने तो मेरी मेहनत ही बेकार कर दी।मैंने हँसते हुए कहा- कोई बात नहीं राजा … तेरी मेहनत अभी बेकार नहीं गयी है. मैं न जाने कब से तुम्हारे साथ ये सब करना चाहता था, लेकिन तुम लाइन ही नहीं देती थी.

कभी जेठजी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल देते, तो कभी मैं उनके मुँह में अपनी जीभ घुसेड़ देती.

मेरा पानी भी कई बार निकल गया था लेकिन जीजाजी को कोई फर्क नहीं पड़ रहा था, वो तो बस दबादब अपनी साली की चुदाई करने में लगे थे।आज कोई एक घंटे तक जीजू ने मुझे मचक कर चोदा और फिर वो झड़े तब मुझे सांस आयी।दूसरे दिन जीजाजी मुझे वादा करवा कर गए कि अपनी सहेली नज़मा का काम सेट करू मैं!तो मैंने कहा- उसको पूछ कर बताऊंगी. हां डार्लिंग हां और घुसाओ अपना लौड़ा … उफ़ … पूरा घुसा दो … इसीलिए तो मैं तुम्हारे बच्चे की मां बनना चाहती हूं मेरे राजा. मैंने अपनी अंडरवियर निकाल कर फेंक दी और पीछे से अपना नंगा लंड आंटी की गांड में लगा दिया.

तभी आंचल ने कहा- पायल मैं तुझे अच्छी तरह जानती हूँ, तू शैतानी मत कर … वो हमारे मेहमान हैं. इसलिए हम चारों जैन्टस हॉल में सो गए और वो चारों कमरे में सो गई थीं. लेकिन वो फिर झुककर काम में लग गई।लेकिन मैं तो जैसे पीछे ही पड़ गया था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर चलाना

मैंने उसे अपने लंड से हटाया, वो चिल्लाने लगी- लंड क्यों निकाला … अन्दर डालो ना … अन्दर अच्छा लग रहा था. जेठजी पर कामवासना सवार हो चुकी थी और उन्होंने मुझे और कसकर अपने से चिपका लिया. सीमांशी की सिसकारियों को सुन रोहिताश और मैं दोनों उत्तेजित हो रहे थे.

थोड़ी देर बाद पीछे से नीतू आई और मेरे कंधों पर झुक कर मेरे कान के पीछे अपनी जीभ रगड़ने लगी.

इस कहानी में मैं आपको हमारी चुदाई की शुरूआत के बारे में ही बताने वाला हूं.

मैं भाभी की पहली बार गांड चोद रहा था तो मुझे मजा आ रहा था।कुछ देर भाभी की गांड चोदने के बाद मैंने अपना पूरा पानी भाभी की गांड में छोड़ दिया और भाभी के ऊपर लेट गया. चूंकि बसंती भाभी एक जवान मर्द से चुदवाने की सोच रही थी, उसका पति बूढ़ा था और उसकी चूत प्यासी थी और उसका जिस्म एक मर्द के स्पर्श के लिए तड़प रहा था. देहाती हिंदी सेक्सी वीडियोसकहानी के पहले भागछोटे लंड वाले की बीवी-1में मैंने आपको बताया था कि अपनी बीवी की चूत चुदाई करते समय मेरा जल्दी छूट जाता था.

पीछे से उसकी चूत में अपना लौड़ा घुसा दिया और शीना के मुँह को खींचकर उसको, हम दोनों के चूत और गांड की जगह पर लेकर आ गया. 20 मिनट तक चुदाई हुई, उसके बाद मैंने अपना माल भाभी की चूत के अंदर ही निकाल दिया. आलिया ने जीजा जी के हाथ से स्कॉच का बैग ले लिया और रसोई में चली गई.

मैंने एक जोर का धक्का दिया जिससे मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया और मेरी गर्लफ्रेंड की आंखों में आंसू आ गए।क्रिया- प्लीज़ निकालो इसे … मुझे नहीं करवाना, मैं मर जाऊंगी! मुझे दर्द हो रहा है।मैं पांच मिनट तक रुका रहा, फिर मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए. मेरी पत्नी और सलहज के जाते ही मैंने पिज्जा ऑर्डर कर दिया और कोकाकोला की बॉटल व दो गिलास लेकर गिन्नी के बगल में बैठ गया.

इतने में जेठजी ने मुझे घुमा कर अपनी तरफ सीधा कर लिया और मुझसे चिपक गए.

मैंने उससे उसका पता व फोन नम्बर देने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया. पहले मैंने मोबाइल में गाना डाउनलोड किया, फिर पायल ने उसे सिस्टम में लगाकर बजवाया और एक कोरियोग्राफर के साथ डांस सिखाने आई. मैं- ईंट का भट्टा … मतलब वो जो हाइवे पर एक्सप्रेस ढाबा है, उसके बगल वाले रास्ते से?वो- हां हां वहीं से.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी सुहागरात मैं उठकर अंकल के कमरे में गया मम्मी को उठाने के लिए … तो जैसे ही मैंने कमरा खोला, तो मैंने देखा कि अंकल कमरे में नहीं थे, मेरी मम्मी नंगी पड़ी हुई थी और वह अभी भी सोई हुई थी. मैं सिमरन, अन्तर्वासना लेखक ज्ञान ठाकुर जी की मदद से अपनी दबी हुई अतृप्त वासना की पूर्ति करने में कामयाब हुई.

तभी उन्होंने आवाज देते हुए कहा- समीर रसोई में आ जाओ … गैस पर अपने हाथ सेंक लो … बाइक चलाते चलाते तुम्हारे हाथ काफ़ी ठंडे हो गए होंगे. उसने मेरा लंड हाथ में ले लिया और लंड को मुँह में ले कर स्वाद लेने लगी फिर धीमे से लंड को चूसने लगी. एक पल के लिए चुम्बन का सिलसिला रुका और हम दोनों एक दूसरे की ओर देखने लगे.

जानवर की बीएफ हिंदी

अब स्थिति ये थी कि विरोध तो मौसी नहीं कर रही थीं … लेकिन साथ भी नहीं दे रही थीं. जब उससे रहा न गया तो वो बोली- यार सपना … मुझे अब किसी का लंड दिलवा दे, मेरी चूत लंड का मजा लेना चाहती है. धीरे धीरे मुझे वे बहुत अच्छा लगने लगे क्योंकि उसकी बातें मुझे लुभाती थी।एक बार ऐसा हुआ कि बिजनेस के सिलसिले से मेरे पति को 1 हफ्ते के लिए बाहर जाना पड़ा.

करीब बीस मिनट तक घमासान चुदाई के बाद मैं हांफते हुए उसकी गांड के ऊपर झड़ गया … और दो-तीन धक्कों के बाद अपना लंड निकाल लिया. बेबी रानी ने भर्राई हुई आवाज़ में कहा- राजे, बहन के लौड़े … क्यों तंग कर रहा है … बदन चूर चूर हुआ पड़ा है थोड़ा आराम करने दे न कमीने.

मयंक ने सोनम की चूचियों को थाम लिया और पूरी ताकत लगा कर उसकी चूत में धक्के लगाने लगा.

धीरे धीरे आंखें अंधेरे की अभ्यस्त होने लगीं तो हल्का हल्का दिखाई पड़ने लगा था. ”वसुंधरा जी! ये क्या बात हुई? क्या वचन दिया था आपने?”वो ठीक है लेकिन एक बार … आखिरी बार आप से मिलना चाहती हूँ. मौसी ने इस स्थिति में मुझे उन्हें छोड़ने को कहा लेकिन वो लगातार कामोन्माद में कामुक आवाजें भी निकाल रही थीं- अहहह ऊमम्म हहह विशाल ह्म्म्म अहह प्लीज छोड़ दे … अहहह हम्म इसस.

सुधा बहुत तेज सिसकारियां लेने लगी थी और वो बस एक ही बात बोल रही थी- आंह बस करो … मत तड़पाओ … लंड पेल दो. बात हनी की सन्तान की छिड़ी तो मेरी सास ने कहा- समझ नहीं आ रहा कि क्या करें, इतनी जगह तो दिखा चुके हैं. मोमबत्ती और उंगलियों से रगड़ रगड़ के चूत छिल जाती थी और ऐसी भरी उफनती जवानी में हमारी खूबसूरती तो देखते ही बनती थी.

तीसरे दिन रात को फिर वो ही घटनाक्रम … बाबूजी ने दरवाजा भेड़ा, मैं उठी और दोनों ने पहले बिना कुछ बोले काम क्रीड़ा की और भाभी उनके बिना कहे बिस्तर पर मुंधी(उलटी) हुई और फिर उनके पीछे बाबूजी खड़े हो गए फर्श पर और फिर कैसे 12 मिनट बीते, ये पता ही नहीं चला.

ब्लू फिल्म सेक्सी बीएफ ब्लू: तभी मम्मी ने पूछा- अब तक मनोज नहीं आए?आंटी ने कहा- वो कल होली के दिन सुबह आ जाएंगे. हर धक्के के साथ उसके नाखून मेरी पीठ पर गड़ते चले गए, जो मुझे दर्द नहीं … उसके प्यार की निशानी दे रहे थे.

मेरी दीदी बोलीं- तुम जो चाहो वो सज़ा दे दो … पर भैया हमारी लाज आपके हाथ में है. मैंने दीपिका को तड़पाने के लिए उसकी चूत और जाँघों के भाग को छोड़ दिया और उसके पांव की उंगलियों और अंगूठे को अपने मुँह में ले कर चूस लिया. दोस्तो कैसे हो आप सब? कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी से प्यार और फिर चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मेरी पड़ोसन भाभी पर मेरा दिल आ गया था.

मैंने अपनी आंखें बंद कर ली और वह अंदर तक जीभ डाल डाल कर मेरी चूत चाटने लगा.

रुमित ने कहा- डार्लिंग … तुम तैयार हो न … मेरा लंड अपनी चुत में लेने के लिए?मैंने कहा- हम्म … सच कहूँ रुमित तो मुझे बहुत डर लग रहा है. उन दिनों एक बड़ी ताज्जुब की बात ये हुई कि भाई ने इस पूरे समय तक मुझे तंग नहीं किया और कुछ नहीं कहा. मैंने कान में फुसफुसा कर कहा- बाबू सीधे गोल कर दो, बहुत देर से तड़प रही हूँ.