एक घंटा के बीएफ

छवि स्रोत,ओपन सेक्सी बीएफ हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी घरेलू: एक घंटा के बीएफ, मैंने देखा उसने उस दिन गुलाबी रंग का सूट पहना हुआ था, वो बहुत कामुक लग रही थी.

বৌদি কি চুদাই

शायद अंकल मेरी तकलीफ को समझ रहे थे क्योंकि मैं अब दर्द और छटपटा रही थी. बिहारी रंडी सेक्स वीडियोसंगीता की चूत के लब खोलकर मैं अपना लण्ड वहां रगड़ने लगा, संगीता मदहोश और बेताब हो रही थी.

मेरी आँखें खुली रह गई उसका ये कमनीय यौवन देख कर … मेरा हलक पूरा सूख सा गया, आंखें फटी रह गई. सेक्सी बीएफ बीपी पिक्चरफिर मैंने उनकी लवली चुत पर बड़े ही प्यार से किस किया और चूसने चाटने लगा.

खैर, वो इश्क ही क्या जिसको मंजिल मिल जाये!समाज के एक तबके को लगता है कि गांडू केवल गांड मरवाने के शौकीन होते हैं.एक घंटा के बीएफ: मैं बोला- चलो मान लिया, उसने तुम्हारे साथ कुछ नहीं किया लेकिन तुम्हारी बुर बताती है कि इसकी चुदाई हुई है.

फिर असलम अंकल मेरी चूत को चाटने लगे भानुप्रताप अंकल मेरे दोनों बूब्स को दबाने लगे.बैडरूम से अटैच वाशरूम में जाकर मैंने सब से पहले तो अपना ब्लैडर खाली किया और गीज़र ऑन कर दिया.

ब्लू सेक्सी फिल्म हिंदी मूवी - एक घंटा के बीएफ

जवान बदन की खुशबू से मेरा लंड पूरी जोश में आ चुका था और मुझे पूरी उम्मीद थी कि मीना ने भी मेरा लंड अपनी जांधों के बीच में जरूर महसूस किया होगा.मगर अभी मेरे दिमाग में एक ही भूत सवार था कि मैं किसी तरह उसको इतनी गर्म कर दूं कि वो अपनी चूत को चुदवाने के लिए तड़प उठे.

मैंने उछल कर उसके बालों को पकड़ लिया और उसका सर जोर से अपनी चूत में दबा दिया. एक घंटा के बीएफ मेरे बेड पर बैठते हुए बोली- चाचा जी, आज सुबह से ही चूत कुलबुला रही है, लण्ड मांग रही है, इसकी कुलबुलाहट शांत कर दो.

आपको मेरी होटल में चुदाई की कहानी कैसी लगी? कृपया मुझे यह मेल कर के जरूर बताएं.

एक घंटा के बीएफ?

जब मैं पूरी तरह झड़ गयी, तब उसने खूब सारा थूक मेरी गांड की छेद पर लगा दिया. अब मुझे सिर्फ़ सामने से भाभी को चोदने के ख्याल आ रहे थे … और आते भी क्यों नहीं … पहली बार सामने से चुत चोदने का आमंत्रण मिला था. वो भला फ्री में किसी को सोने की अंगूठी देकर क्यों जायेंगे?वो कहने लगी- तेरे बारे में सारे मौहल्ले में खबर फैली हुई है.

दोनों में यह तय हुआ कि राजन उसे ममता और ममता राजन को मेनेजर साहब कहेगी. जब उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो बोली- बस जानू, अब कर दो कुछ, नहीं तो मैं मर जाऊंगी. अगले ही पल दीदी ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मुझे प्यार करने लगी.

ऊपर से सारी सहेलियां रोज चुत लंड के नए नए किस्से सुना कर जोश में ला देती हैं. अब मामी का दर्द कम हो गया और वो नीचे से गांड उठा कर सहयोग देने लगीं. करीब 5 मिनट बाद वो मुझे पलंग से नीचे ले गए और मेरे पीछे आ गए और मेरी कमर पकड़ के पूरा लंड उतार दिया मेरी प्यासी फुद्दी में! और मेरी गोरी गोरी पीठ को चूमते हुए मेरी चुदाई करने लगे.

मुझे देख कर वो बोली- सर आप यहां?तो मैंने कहा- मैं यहां वन्दना से मिलने आया हूँ. मैंने मनु को दस बजे कॉलेज के बाहर मिलने को कहा था, पर कमीनी अभी तक नहीं आई थी.

तो मैं घर आ गई।रात को सोचती रही कि क्या मस्त लंड है संजय का! मेरे मन में सेक्स की भावना आने लगी तो मैं उठी और अपने पति के पास गई क्योंकि मेरे पति अलग कमरे में सोते हैं.

पति का बिजनेस दूसरे सिटी में है, इसलिए वो अधिकतर घर से बाहर ही रहते हैं.

मेरी छवि दबंग और मददगार व्यक्ति की है और सेवक राम एक बार मेरी मदद से एक बड़ी समस्या से बच चुका है. कुछ देर तक मैं उनके होंठों को … या यूं कह लीजिए कि हम एक दूसरे के होंठों को चूमते और चूसते रहे. हमारे पास दो कारें थीं, जिसमें एक कार में हम जेन्टस थे और दूसरे कार में सभी लेडीज थीं.

ऐसे करते-करते मैं उसकी नाभि पर अपनी जीभ चलाता जा रहा था और उसकी पनिया चुकी चूत को हाथ से मसले जा रहा था. उसने पूछा- एक बात बताओ? मेरी प्रोफाइल पिक कैसी है?मैं बोला- मस्त है. ज़ेबा के लगातार विरोध करने और ये कहने कि ‘भाई प्लीज़ … ऐसा नहीं करो.

मैंने अपना लोअर उतारा, फिर अपना अंडरवीयर उतारा और चढ़ गया अपने साले की बेटी की बुआ पर … यानि अपनी बीवी पर और अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया.

मैं उसे चोदने लगा, वो बोल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्महह आह आह आह … ज़ोर से चोद … और जोर से!कमरे में फच फच फच की आवाज आ रही थी. कली से फूल बनने का सफ़र एक कुंवारी लड़की के लिए कष्टदायक तो होती ही है. जब दरवाजा नहीं खुला तो रेखा पीछे के आंगन वाले दरवाजे की ओर बढ़ी, रास्ते में ड्राइंग रूम की खिड़की पड़ती थी जो इत्तेफाक से खुली हुई थी.

मेरे मुंह से जोर जोर से सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह जीजा जी … आई लव यू … फक मी जीजा जी … चोदो मुझे आह्ह … बहुत मजा आ रहा है. मेरी चूत पर बहुत छोटे रोंये थे … अर्थात चिकनी चूत कहा जाए, तो चल जाएगा. अब हम दोनों लगभग नंगे थे क्यूंकि मैं अंडरवियर और वो ब्रा और पेंटी में थी।अब मैं फिर से उसके हाथ, गाल, गला, कान के पास किस करने लगा.

अब मेरा वीर्य निकलने के कगार पर आ पहुंचा और उस असीम आनंद को भोगने के लिए मेरी आंखें भी बंद हो गईं.

जिस जबरदस्त जिस्म को मैं देखना चाहता था, आज वो न केवल मेरे सामने नंगा था … बल्कि मेरे लंड से चुद भी रहा था. मीना नहाकर आई, उसने गुलाबी रंग का झीना सा गाउन पहना था जिसमें से उसके निप्पल्स झलक रहे थे.

एक घंटा के बीएफ मैंने ज्योति से पूछा- इतना ही हुआ या इससे अधिक कुछ हुआ है, मुझे सच सच बताओ? तभी मैं राकेश का सही इलाज कर पाऊंगा. फिर वो मूत कर आई और पैंटी डालते हुए बोली- घर कितने बजे जाना है?उसने अभी निक्कर नहीं डाली थी.

एक घंटा के बीएफ इसके बाद मैंने बाथरूम में जाकर अपने सारे कपड़े उतारे और ब्रा-पेंटी और ब्लाउज पेटीकोट पहन लिया. इसके बाद मालकिन पलंग पर आराम से पेट के बल होकर लेट गई और उन्होंने अपने दोनों हाथों से अपना पेटीकोट ऊपर करके खींच लिया.

उसका लंड कभी मेरी जांघों पर लग रहा था तो कभी मेरी पैंटी के ऊपर से टच हो रहा था.

मराठी बीएफ चुदाई वाला

तो वो बोली- अगर मेरी चूत में आग ना लगी होती … तो मैं आपको अभी छोड़ कर चली जाती. मुझे थोड़ा दर्द भी हुआ तो मैं थोड़ा चिल्लाई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तो सामने वाला बोला- चुप रंडी … आवाज़ मत कर!अब वो मेरे नीचे बेच पर लेट गया अपनी पैंट उतार कर और अपना 8 इंच का पूरा लंड मेरे मुंह में डाल दिया. लगभग 15 मिनट बाद मेरा निकलने को हुआ, तो मामी से मैंने पूछा- कहां निकाल दूँ?मामी बोलीं- अन्दर ही कर दो … कल से पीरियड आना है.

फिर धीरे धीरे मैंने उसके टीशर्ट को ऊपर किया और उसकी चूची को ब्रा में से निकाल कर चूसने लगा और वह शस्सश शहहह करने लगी. उसने फिर से मुझे किस करना शुरू किया और धीरे धीरे मेरी शर्ट के बटन भी खोल दिए. शर्मा अंकल भी मेरी मॉम के मुंह में जीभ डाल कर उनकी जीभ से खेलने लगे.

जैसा कि मैंने बताया था कि मोनिका की शादी के बाद हम दोनों फिर से दोबारा होटल में मिले थे और वहां हमने दबा के सेक्स किया था.

मैंने अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर झटका मारा … तो पूरा लंड अन्दर चला गया. वैसे तो संदीप का लंड हमारे डिल्डो से बड़ा था, इसलिए भेद खुलने का चांस कम ही था, फिर भी मैं संदीप के मन में किसी तरह की शंका को जन्म नहीं देना चाहती थी. ममता खाना बहुत स्वादिष्ट बनाती थी पर राजन ने देखा कि प्रकाश ने बहुत कम खाना खाया और चुप ही रहा.

… पूरा यकीन है, पर फिर भी मुझे डर लगता है … लेकिन हमारे बीच जो भी है, वो हम तीनों के सिवा किसी को पता ना चले … नहीं तो हमारे साथ जो कुछ भी होगा, वो बहुत बुरा होगा … आई लव यू. वो चैट में इससे लंड चुसवाता था, इससे ब्रा पैंटी में इसकी पिक्स मांगता था. … तुम तो ये बताओ कि तुम उनके लैटर का जवाब कब दोगी?दीदी- मुझे सोचने का समय दो.

फिर मैं अपने रूम में आई और अपने कपड़े उतार कर मैंने वही गोवा वाली नाइटी पहन ली. मुझे उसकी बात बहुत पसंद आई और मैंने डिल्डो को अपनी जिंदगी का अहम हिस्सा बना लिया.

ये हमारे लिए कुछ अलग था क्योंकि आजकल तो सब नमस्ते से काम चला लेते हैं. उसकी मादक सिसकारियों से मुझे भी जोश चढ़ने लगा और जोर जोर से उसकी चुत की जबरदस्त चुसाई में जुट गया. मैंने चाची को बताया कि चाची मेरा होने वाला है … जल्दी बताओ … रस कहां निकालूं.

बड़े भैय्या वाले हिस्से में उनकी बहू रेखा, पोता हैप्पी और पोती शैली रहते थे.

मगर वह बोला- क्या धीरे धीरे कर रही है? मैं तुझे तेजी से करने को बोल रहा हूं. मेरी बातों पर दीदी ने मुस्कुरा कर कहा कि परमीत को मैंने अपना पुराना डिल्डो दिया है, उसे मैंने शुरूआत में लिया था. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मैं एक मसाज बॉय हूं, मैं लुधियाना के एक स्पा सेंटर में काम करता हूँ। मैं पिछले 9 साल से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं.

आधे घंटे तक चली इस चुदाई के बाद मैं अपनी बहन की चूत में ही झड़ गया. इस सबको मैं पूरे विस्तार से लिखता रहूँगा … ये सेक्स कहानी कई भागों में आपको पढ़ने को मिलेगी … मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी.

इधर एक बात समझने वाली थी कि चाची मुझसे छूटने का प्रयास जरूर कर रही थीं, लेकिन वो चिल्ला नहीं रही थीं. अब मेरा वीर्य निकलने के कगार पर आ पहुंचा और उस असीम आनंद को भोगने के लिए मेरी आंखें भी बंद हो गईं. मैंने जल्दी से प्रिया भाभी के बदन से सारे कपड़े एक एक करके उतार दिये.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्सी वीडियो

मैंने झटके मारने शुरू किए, तो वो बहुत ही मजे से मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी.

फिर हमने कुछ देर तक बैठ कर बातें की और फिर उसके साथ मैंने कुछ बातें शेयर कीं. मैंने भी उसकी कमर को थाम लिया और उसको लंड पर उछलने में मदद करने लगा. उधर अभय ने पीछे मेरी कमर को अपनी तरफ खींचा तो उसका लंड मेरी गांड में टकराने लगा.

दीदी- तुम दोनों एकदम पागल इंसान हो क्या?मैं हंसते हुए दीदी के मम्मों को सहलाने लगा. स्सस … हाय… अगर इसके लंड के दर्शन भर भी हो जायें तो मैं 51 रुपये का प्रसाद बांट दूं मंगलवार के दिन. ब्लू फिल्म पाठवामैंने नार्मल से थोड़ी ऊंची सैंडल पहनी, कानों पर बड़ी सी बाली, आंखों में काजल और होंठों पर सुर्ख लाल रंग की लिपिस्टिक का शृंगार कर लिया था.

उधर लंड हाथ से हिलाते हुए मेरे मुँह से मेरी गर्लफ्रेंड जिया के बारे में निकल गया था. शैली से मैंने कहा कि बेटा जब यह पहली बार अन्दर जायेगा तो थोड़ी दर्द होगा, हिम्मत रखना, फिर थोड़ी देर में दर्द गायब हो जायेगा.

सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार, मैं निक (बदला हुआ नाम) अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ। मैंने यहां बहुत सी सेक्स कहानियां पढ़ीं, जिनको पढ़कर मेरा भी मन किया कि मैं मेरे साथ हुई घटना को आपके साथ साझा करूं. भाभी- हाय आप कैसे हो? कहां से हो? क्या करते हो?मैंने उत्तर दिया- मैं बहुत अच्छा हूँ. मैंने उसको अनसुना करते हुए, अपना ध्यान उसके खूबसूरत पाँवों को चूमने में लगाया.

ऐसे में मुझे भी बहुत मजा आ रहा था क्योंकि एक तो लंड चूत में था और दूसरा वह मेरे बूब्स नीचे से चूस रहा था।पूरे कमरे में हम दोनों की ही मादक सिसकारियां गूंज रही थी. मुझे कई कई दिन तक प्रीत का लंड नहीं मिलता था, इसलिए अब मेरी चुत में आग लगने लगी थी. कली से फूल बनने का सफ़र एक कुंवारी लड़की के लिए कष्टदायक तो होती ही है.

मेरी अकड़न तेज होते देख कर दीदी झटपट उठ बैठीं … और नीचे जाकर मेरे दोनों पैरों को मोड़ कर मेरे सर की ओर उठा दिया, जिससे मेरी चूत उनके सम्मुख और स्पष्ट बाधा रहित पहुंच गई.

अपनी ननद आलिया की चुत को दीदी ने टिश्यू पेपर से साफ किया और उसको चूम लिया. वह मेरी बात काटते हुए बोलीं- वैसे भी अभी कल की ही बात है कि …वो इतना कह कर चुप हो गईं.

हम दोनों के लंड चुत के नसीब से अगले दिन मेरे मम्मी पापा को एक घंटे बाद नानी के यहां जाना था. ”विशाल घुटनों के बल मेरे सामने बैठ गया। मेरा हाथ पकड़ कर बोला- क्या हुआ है दीदी? प्लीज बताओ, मैं प्रोमिस करता हूं मैं आपकी हेल्प करूँगा. मेरे दोनों हाथ घूम कर वसुंधरा के दोनों कूल्हों पर जमे थे और अपनी उँगलियों और हथेलियों के नीचे मैं स्पष्टतः वसुंधरा की पैंटी का इलास्टिक महसूस कर रहा था.

उसमें लिखा हुआ था- हाँ बोलो?मैंने बोला- आपने मेरी बात का जवाब नहीं दिया?उसने बोला कि उसके हसबेंड आ गए थे तो नेट ऑफ कर दी थी, अभी नहीं हैं तो मेसेज किया. मैंने सर की गांड पे और अपने लण्ड पे क्रीम लगा ली और मैं धीरे धीरे सर की गांड में लंड डालने लगा. अब जब वो सो रही थी तो मैं ध्यान से उसके पूरे जिस्म को निहार रहा था.

एक घंटा के बीएफ इसका अनुभव तो मेरे बहुत सारे पाठकगणों ने भी किया होगा, जिन्होंने आराम से, बिना किसी डर के, बहुत प्यार से अपने साथी को कभी प्यार किया है. यह मेरा आजतक का सर्वश्रेष्ठ मुखमैथुन का अवसर था जिसकी लज्जत को मेरा रोम रोम महसूस कर रहा था.

बीएफ एचडी वाला सेक्सी बीएफ

भाभी के मुंह में लंड को देकर इतना मजा आ रहा था कि मैं दो-तीन मिनट की लंड चुसाई के बाद ही अपना संयम खो बैठा और मैंने भाभी के मुंह में ही वीर्य निकाल दिया. उसके आगोश में आते ही मुझे दुनिया भर की खुशियां एक साथ नसीब हो गई थीं. उनकी इस हालत को देख कर लगता था जैसे उसने अपनी जिंदगी में सेक्स के ज्यादा मजे नहीं लिए हैं.

अविनाश- मैं तुम्हारी दीदी की बैंड बजाऊंगा और तुम मेरी बहन की बजाना. तभी विक्की ने मुझे सीधा करके मेरे गले पर किस करना चालू कर दिया और वो एक हाथ से मेरे मम्मों दबाने लगा. এক্স ভিডিও ফুল এইচডিताकि जिस रात वो घर आए, तो मैं मम्मी डैडी और भाई के खाने में गोली डाल दूं.

फिर छुट्टियों में किसी रिश्तेदार के जन्मदिन पार्टी थी एक बड़े होटल में … तो वहां मुझे भी बुलाया गया था.

वो शायद किसी और लड़की के साथ भी काफी बार सेक्स कर चुका था, इसलिए साफ़ मालूम चल रहा था. मेरे जोर देने पर अपने मुँह में लिया और थोड़ा सा चाट कर बस कहने लगी.

साथ ही इस बात की खुशी भी थी कि उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हो रहा था. मैंने भी उसकी कमर को थाम लिया और उसको लंड पर उछलने में मदद करने लगा. मेरा लण्ड पूरे जोश में आ गया तो मैंने संगीता का टॉप उतारा और नीचे के कपड़े भी उतार दिये तो संगीता बोली- क्या कर रहे हो विजय ? दरवाजा खुला है और भाभी आ गई तो?नहीं आयेगी, अब नहीं आयेगी.

मैंने देखा कि संजू ने अपनी चूत के बालों को पूरी तरह से क्लीन शेव कर लिया था.

वो घुटनों के बल ज़मीन पर बैठ कर मेरी ओर देखा और कहा- अब अपनी इस सजा के लिए तैयार हो जाओ. हफ्ते भर जब तक हम वहां रहे हम तीनों ने चोरी छिपे चुदाई के मजे लिये. जब मैं चूत की दरार में जीभ को ले जाने लगा तो वो मेरे सर को पकड़ कर इतना जोर से दाब रही थी कि उसका बस चले तो मेरे पूरे सर को अपनी चूत में घुसा ही लेगी.

सेक्सी नंगा ब्लू पिक्चरएक बार को तो मैं झटका खा गया, पर जब वो मुस्कुरा कर मेरे लंड को एक नजर देख कर पलट कर चली गयी. और आप की …??” अपने सिहरते हुए जिस्म को मेरे जिस्म के साथ रगड़ते हुए खनकती हुई आवाज़ में वसुंधरा ने पलटवार किया.

सनी लियोन सेक्सी बीएफ सनी लियोन सेक्सी

कुछ देर बाद मेघा ने बोला- अब मुझसे रहा नहीं जाता, अपने इसको मेरे अन्दर डाल दो. अच्छा बताओ, खाना क्या ऑर्डर करूं … क्योंकि बनाने की हिम्मत नहीं बची है. वो जब आयी थी, तो उसने सबसे हाथ मिलाया था … और मेरी तरफ हाथ बढ़ाए खड़ी थी.

उधर दीदी जीजा जी की गोद में जा कर बैठ गईं … और जीजा जी के हाथ से सिगरेट लेकर धुंआ उड़ाने लगीं. मैंने उससे कहा- अगर दबाने से बड़े हो जाते हैं, तो तुम खुद ही अपने हाथों से क्यों नहीं कर लेती हो?मेरी इस बात से वो चुप तो हो गई, मगर उसकी आंखों में मेरे लिए निवेदन ही था. अगर कामकाजी होता तो नौकरी कर रहा होता या फिर पूरी फैमली होती तो फिर अपने में कंट्रोल करता.

वो बोलीं- यह क्या कर रहे हो?मैं कुछ नहीं बोल पाया और चुपचाप अपनी जगह पर लेट गया. थोड़ी देर बाद डोली का दर्द गायब हो गया और वो भी नीचे से अपनी चुत को ऊपर उठाने लगी और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ सिसकारियाँ भरने लगी. हाँ यह जरूर था कि अक्सर राजन अपना टिफ़िन ममता के साथ ही डिनर पर खोल लेता और शेयर कर लेते.

अब अंकल ने दीदी से पूछा- कैसा लग रहा है?दीदी ने आंखें बंद करके मुस्कुराते हुए अपनी गरदन को हिला कर ‘हां … अच्छा लग रहा है. मैंने जैसे ही अपनी कार स्टेशन के गेट पर लगाई, तो देखा कि वो दोनों मेरा ही इंतजार कर रहे थे.

जब मैंने वो कमरा देखा तो मुझे पसंद आ गया और मैंने वहां रहना शुरू कर दिया.

नीचे से दीदी भी अपनी गांड उछाल कर चुदाई का मजा ले रही थीं और साथ में कामुक आवाजें कर रही थीं. बीएफ हिंदी फुल एचडी बीएफपर अब संदीप बेरहम हो चुका था, उसने अपने विशाल लंड को वापस खींचा और फिर जोरों से जड़ तक पेल दिया. भाभी का सेक्सी बीएफ हिंदी मेंपति का लंड चूसने के बाद भी उनको मुझे चोदने की इच्छा नहीं हो रही थी. राजन शाम को पांच बजे तक आ गया और नहा धोकर जींस और टी शर्ट पहन कर तैयार हो गया.

इस पर मैंने और मनु ने कहा- नहीं दीदी, अब जो भी करेंगे, एक साथ करेंगे.

उसका कसरती बदन, मस्त डोले, चौड़ी छाती, सिक्स पैक ऐब्स, उसके मस्त कट्स देख कर मैं उसको देखती ही रह गयी. मैं भी लंड को अन्दर बाहर करने लगा और भाभी की चुदाई जोर जोर से करने लगा. फिर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और चूसने लगा, साथ ही अब अपनी उंगली को उसकी कसी चूत के अंदर बाहर करने लगा।अब उसकी सिसकारियाँ दर्द वाली न होकर आनन्द वाली निकलने लगी।कुछ देर बाद मैंने अपनी दो उंगली उसकी चूत के अन्दर डाल दी और अंदर बाहर करने लगा.

मैंने अपने हाथ से लंड को 4-5 झटके मारे, तो मेरे माल की लंबी व गाढ़ी पिचकारी नीतू के चेहरे पर गिरी. सायरा को ज्यादा न तड़पाते हुए मैंने लंड को पकड़कर उसकी चूत के मुहाने पर रगड़ते हुए सेट करके उसे आराम-आराम से लंड पर दवाब बनाने के लिये बोला. हम लोग वापस में बात करते हुए घर आ गए और साथ में श्वेता दीदी भी आ गई … घर आने के बाद श्वेता दीदी मम्मी से बात करने लगी … और दीदी अपने कमरे की तरफ चली गई … मैं भी उनके पीछे पीछे कमरे में चला गया … दीदी ने अपने किताब से उस लैटर को निकाला और कॉपी में डाल कर श्वेता दीदी को देने चली गई.

सेक्सी बीएफ हिंदी डाउनलोडिंग

मैंने बाहर से उनके कमरे की कुंडी लगा दी और अपने कमरे में आकर संजय के गले लग गई।संजय ने मेरा मुंह ऊपर उठाया और मेरे होंठों को चूमने लगा. ये बोलकर उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरे होंठों को चूम कर मेरी छाती पर हाथ फेरते हुए मेरा शॉर्ट्स उतारने लगी. गांड और चूचियां देख कर किसी का भी लंड उसको चोदने के लिए तड़प सकता था.

काले बालों और काले नाईट-सूट में वसुंधरा का गोरा बेदाग़ चेहरा चाँद सा चमक रहा था.

यदि इस प्रयास में अगर कहीं पर कोई त्रुटि रह गई हो तो उसको नजरअंदाज करें.

इस तरह ज़ेबा को मैंने 2 बार झाड़ दिया और तीसरी बार मैंने तोप की नाल की तरह खड़े लंड को चुत की दरार के बीच सैट करके रख दिया. वो मेरे इस हमले हड़बड़ा गईं और जोर जोर से ‘आहह … ओह्ह!’ की आवाज़ें करने लगीं. बीएफ बढ़िया-बढ़ियामैं किसी भी तरह से छूटना चाह रही थी मगर उसने मुझे दबा रखा था और दनादन मुझे चोदते जा रहा था.

‘चल अब ज्यादा भाव मत खा … इसके बारे में पूरा बता, तुझे ये कैसे मिला, तूने इससे क्या किया, सब कुछ जल्दी बक दे. उसके चेहरे पर थोड़ी भरी शिकन आयी, पर जिस रफ्तार से आयी, उसी रफ्तार से चली भी गई. मैं- ठीक है … तो तुम रुको यहां, अब मैं उससे चुद लेती हूं … फिर घर चलते हैं.

मेरी दीदी और मेरे रूम के बीच के दीवार के सबसे ऊपर एक बड़ा सा तक्का (छिद्र) था. थोड़ी देर बाद मैंने नीतू को सीधा किया और उसे शेल्फ पर बिठा दिया और उसकी थोंग उतारने लगा.

मैंने आदी को खाना खिला कर उसे सोने को बोला, तो वो डैडी के कमरे में चला गया.

मगर मुझे तो चाची की चुत चाटने का मन कर रहा था और मैंने उनको खींचकर चित्त की पोजीशन में लिटा दिया. उन्होंने मेरे दूध को अपने सीने से दबाया और लंड आधा बाहर निकाल के तुरंत एक और धक्का लगा दिया. आंटी के बाल अभी भी थोड़े गीले थे … जिससे उनकी गर्दन भी थोड़ी गीली थी.

भोजपुरी सेक्सी नंगी फोटो राजन की आँख रात दो बजे खुली, उसने धीरे से शोभा को उठाया और ड्राइंग रूम में ले जाकर सोफे पर शुरू हो गए. कुछ देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वो मजे से चीख पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…अब मैं उठा और मैंने अपना अंडरवियर निकाल दिया.

एक सप्ताह वहां रुकने के बाद हम लोग वापस लौट आये लेकिन रीना और मीना ने मुझ पर जादू कर दिया था. इस मदमस्त रंगीन कहानी में सेक्स का इतना धीमा मजा है कि लंड और चुत पल पल गीले होते रहेंगे. फिर उनका लंड खड़ा हो गया और उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और खाने वाली मेज पर ही हमने दिल खोल कर सेक्स किया.

फिल्म फुल एचडी बीएफ

उसकी आंखों में सेक्स का ऐसा नशा मैंने देखा कि अगर अब मैं उससे किसी भी गैर मर्द का लंड उसकी चूत में डलवाने के लिए कहती तो वो बिना सोचे ही अपनी चूत को चुदवाने के लिए तैयार हो जाती. उसने 9 बजे के बाद मिलने का टाइम कहा था क्योंकि उसको बदनामी का भी डर था. मैं जिस भाभी की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ, आपको पहले उनके बारे में कुछ बता दूँ ताकि आपका लंड भी खड़ा हो जाए.

मैं- क्यों?आलिया- समझो यार … अगर हमारे पेरेन्टस को पता चल गया, तो ठीक नहीं होगा … फिर मैं तुमसे पांच साल बड़ी भी हूँ. एक दिन की बात है कि उनके रूम का दरवाजा बंद होते ही मैं उनके कमरे के पास आ गयी.

मैंने ज्योति को गोद में उठा लिया और बेडरूम में ले आया, पलक झपकते ही उसको नंगी कर दिया.

श्योर मैं हेल्प कर दूंगा।”इसे आपके ऑफिस में भेजूं या आप यहीं इसे गाइड कर देंगे?” संजया ने पूछा. अभी तो हम दोनों देर होने की आशंका के चलते हड़बड़ी में संदीप के घर पहुंचे. वो मुझसे बड़े गुस्से में बोली- जब से देख रही हूँ, तुम कुछ बोल ही नहीं रहे हो.

पूनम ने चुपचाप वो पैसे यूं के यूं मोड़ कर अपनी हथेली में दबा लिये और वो अपनी चुन्नी को सिर पर ढकते हुए उदास से चेहरे के साथ वापस बाहर के दरवाजे की तरफ मुड़ गयी और बाहर चली गयी. पर स्नेहा का मुँह अभी भी दरवाजे की तरफ ओर था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:नई-नवेली भाभी की चुदाई देवर से-2.

मैंने कहा- उनकी चूचियों के निप्पलों को छेड़ते हुए मैंने उनसे कहा- परेशान तो आपके इस कयामती जिस्म ने मुझे कर रखा है भाभी.

एक घंटा के बीएफ: मैं परमीत और मनु हम तीनों मजे करते हुए जब एक दूसरी के साथ लेस्बीयन सेक्स चुदाई कर रही थी तो परमीत ने कहने लगी- यार, तुम लोगों से चुदाई करके जीवन का आनन्द ही आ जाता है. वो बोली- लो आवाज लगाओ मेरे को … ऐसे बुलाओ मेरे को, जैसे मैं घर में ही हूँ.

कल जो कुछ हुआ था, वो मेरे और मनु के लिए सिर्फ एक सबक ही था, लेकिन परमीत के लिए जैसे एक घटना थी. एक दिन जब मैं ऑफिस से आया, तो खाला ने ज़ेबा के पेट से होने की खुशखबरी सुनाई. स्नेहा भाभी पूरे जोश में चीखते चिल्लाते हुए लंड पर ऊपर नीचे हो रही थीं.

प्रीति का हाथ मैंने अपने लंड पे जैसे ही रखा, प्रीति ने अपना हाथ हटा लिया और कहने लगी- बहुत मोटा है तुम्हारा!लेकिन मैं माना नहीं, प्रीति का हाथ फिर से अपने लंड पे ले गया और बोला- इसे अब तुमको ही संभालना है, अब ये तुम्हारा है.

उन्होंने मेरी ओर कातिल मुस्कान से देखा और फिर दोबारा से अपनी आंखें बंद करके सोने का नाटक करने लगी. परमीत बिंदास लड़की थी, पर उसका इतना खुलापन हमारी समझ में नहीं आ रहा था. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, क्योंकि ऐसा मेरे साथ पहली बार हो रहा था.