सेक्सी देहाती बीएफ एचडी

छवि स्रोत,चुदाई विडीयो

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीपी सेक्सी बीएफ: सेक्सी देहाती बीएफ एचडी, पूजा- एयाया एयाया मर गई आह… मामू उफ्फ अब्ब… बहुत दर्द हो रहा है आह…संजय- यार पूजा, बस एक झटका और झेल ले… तेरी गांड बहुत टाइट है वैसे तो लंड अन्दर जाएगा भी नहीं… बस थोड़ा सा और बर्दाश्त कर ले तू, फिर दर्द नहीं होगा.

हॉट एक्स एक्स वीडियो

तो मैंने देखा भाभी नंगी सोई हुई थी और ये चीखना सिर्फ़ मुझे धोखे से कमरे के अन्दर बुलाने की एक चाल थी. लैंड की चुदाईशायद वो होटल का हनीमून सूईट था… जो चाचाजी ने आते ही बुक करवा लिया था.

मैं समझ गया कि सुमन भाभी को सेक्स की जरूरत है और रमेश भैया काम की थकान से उनको सेक्स का मजा नहीं दे पाते. सुहागरात की नंगी फिल्मजीजू जब भी आते थे तो मुझसे गले लगते थे और मेरी चूची को दबा देते थे.

उसने 2 धक्के और लगाए तब कहीं जा कर उसका लंड मेरी चुत में पूरा घुस पाया.सेक्सी देहाती बीएफ एचडी: अब तक इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि गुलशन जी और सुमन ने नंगे होकर बाथरूम में एक-दूसरे के लंड चुत की झांटें साफ़ की थीं और रात को होने वाली सील तोड़ प्रोग्राम के लिए ये दोनों तैयार हो गए थे.

मैं और कनिका रात में काफ़ी देर तक बातें करते रहते थे। जिस के कारण कभी कभी मैं रात को उसी के कमरे में सो जाता था.तो वो बोलीं- देवर जी भी नहीं हैं, मैं किसके साथ जाऊं?पापा ने कहा- तुम धर्म को लेकर चली जाओ.

फुल एचडी पोर्न - सेक्सी देहाती बीएफ एचडी

क्या आप लोग मेरी इस बात से सहमत हैं?इस टॉपिक पे और भी बहुत कुछ लिखने का मन है, लेकिन में चाहता हूँ कि हर बार की तरह इस बार भी अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाएं इस विषय पर अपने विचार और सच्चे अनुभव मुझे मेल करें.माया के शरीर में करंट सा दौड़ गया और उसके मुँह से एक आअह्ह्ह निकल गई.

थोड़ी देर चोदने के बाद मैंने अंजलि को सेल्फ़ से नीचे उतारा और सेल्फ़ पर झुका कर खड़ी करके पीछे से लंड उसकी फुद्दी में घुसा दिया. सेक्सी देहाती बीएफ एचडी जब पीछे से मेरी चूत में लंड डाल कर जीजू मुझे चोदने लगे तो मैं एकदम से गनगना गई और अपनेजीजू का लंडअपनी चूत में लेकर चुदवाने लगी.

फिर सुमन ने झूठा नाटक किया कि वो रात से कितनी परेशान थी, गिर गई वगैरह वगैरह.

सेक्सी देहाती बीएफ एचडी?

अपनी अपनी बीयर की बोतलें गटक कर तीनों यार देश दुनिया से बेखबर एक साथ मामी पर टूट पड़े. मैंने आधी बाजू के ब्लाउज के साथ लाल रंग की साड़ी पहनी, मेरी साड़ी नेट की थी, कुछ पारदर्शी थी, मेरा नंगा पेट और कमर दिख रहे थे. नीता को और कस कर पकड़ कर एक हाथ मम्मों पे रख के दूसरे हाथ से नीता का नंगा पेट मसलते हुए पप्पू बोला- हा हा… अरे तेरी जैसी मस्त लड़की को छेड़ने के लिए ही एडमिशन लिया होगा उन्होंने.

लेकिन चूँकि मैं लौंडियों की गांड का शौकीन आदमी हूँ, लिहाजा मैंने विनीता की गांड का मुआयना किया. मैंने रोते हुए अल्का से कहा- मुझे भी लंड अन्दर तक चाहिये पर मेरी चूत बहुत छोटी है, दर्द कर रही है. भाभी के पीछे मेरा 7 इंच का लंड भी अपने पूरे ताव में था और पीछे सुमन भाभी की गांड से भिड़ा हुआ था.

पहली बार उसका लंड किसी लडकी के मुँह में गया था और वो भी उसकी सगी बहन के मुँह में. लेकिन एक बार जय से चुदवाने के बाद मैं अपने आप को रोक नहीं पाई क्योंकि इसने मुझे बहुत ही अच्छी तरह से चोदा था. अब तक आपने पढ़ा कि मॉंटी बस सुमन की चुत में लंड डालने ही वाला था कि बाहर से जोर की आवाज़ आई.

वो साला इतना बड़ा वेवड़ा था कि एक बोतल के लिए कुछ भी करने को तैयार रहता था. मनोज ने अब तक सोनिया की चूत में लंड डाल दिया था और सोनिया भी चुदवा रही थी, दोनों लड़कियां की चूतें हम दोनों मर्द चोद रहे थे.

उसकी चूत तो इतनी टाइट लग रही थी कि देख कर कोई भी बता देगा कि इससे पहले वो चुदी ही नहीं थी.

बिल देते टाइम सेल्स गर्ल मोनिका को बोली- आपके पति बहुत अच्छे हैं!मोनिका बोली- हां!ये सुन कर मोनिका बहुत खुश हुई और मैं भी, पर ये मैंने मोनिका को जाहिर नहीं होने दिया.

रेणु छटपटाई पर मामी कहने लगीं कि कौन सा मैं लड़का हूँ जो तुम इतना भाव खा रही हो. पप्पू के हाथ को बिना रोके नीता बोली- ना अंकल मैं… वो लोग जो बोलते हैं वैसा कभी बोल ही नहीं सकती. तभी चाचाजी ने अपनी जीभ मेरी चुत में डाल दी, जिससे मेरी चुत का मजा और बढ़ गया.

फिर हम लोग ‘टुंडे कवाबी’ के यहाँ गए और मैंने दो कवाब रोल ले लिए और हम लोग रोल खाते हुए मेरी बाईक की तरफ चलने लगे. यह कहकर अल्का दिनेश के पास जाकर बैठ गई और विजय को बोली कि मेरे पास जाकर बैठे. चुत में लंड जाते ही शिशिर लंड को धक्का देने लगा और मैं चुत को उसके मोटे लंड से चिपकने की कोशिश करने लगी.

तो भाभी बोलीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने कहा- नहीं भाभी.

लेकिन तभी जब मैंने अपना हाथ उसकी फुद्दी पर फेरा तो पाया कि वो पहले से ही झड़ चुकी थी. मैं कई भाषाओं का ज्ञान रखने के कारण अपने स्कूल और कॉलेज में काफी मशहूर रहा हूँ. यह सुन कर सुमन भाभी ने कहा- कोई लड़की देख रखी है क्या?मैंने कहा- लड़की नहीं, एक भाभी देख रखी है.

उस की सांसें फूलने लगी और उसने अपना सिर इधर उधर मारना शुरू कर दिया, यहाँ तक कि वह हर धक्के पर अपनी गांड को मेरे लंड पर दे दे कर मार रही थी. मैंने फिर से बूब पकड़ कर बेबी के मुँह में लगा दिया, लेकिन इस बार मैंने बूब नहीं छोड़ा और बेबी को आंटी के बूब पकड़ के दूध पिलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने एकदम से मेरी पूरी ताक़त लगाई और ज़ोर का एक झटका दे मारा, मेरा लंड पूरा का पूरा दीदी की गांड के अन्दर हो गया.

उन को चाटा और उन को किस करते हुए और उस की ड्रेस से उस के बदन को किस करते हुए उस की छाती पर आ गया और किस करने लगा। फिर.

अब लगातार दो लड़कियों की चूत और गांड चोदते हुए हमारे लौड़े भी अपने उफान पर थे और अपना रस छोड़ने को तैयार थे तो मैंने सोनिया को कहा- उफ़. उसने सोचा कि यह साली अपनी माँ पर गई है, गर्म माल है, कांटे पर आई है, थोड़ा और गर्म करो, इसकी शर्म हटाओ तो चुदवाने को तैयार होगी.

सेक्सी देहाती बीएफ एचडी मगर आप दोनों यहाँ कैसे आ गए?अतुल- मेरे पापा बहुत बड़े बिजनेसमैन हैं. आज मैं आपको जो हिंदी सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ वो बिल्कुल सच है.

सेक्सी देहाती बीएफ एचडी उन दोनों पतियों ने फटाफट खाना खाया और अपने बैग और हेलमेट उठा कर, अपनी चांदी जैसी गोरी और सुन्दर दो बीवियों को चोदने के लिए मेरे हवाले छोड़ कर चले गए. आज मैं आपको अपनी तमाम सेक्स कहानियों में से एक और कहानी सुनाने जा रहा हूँ जो कि जयपुर में रहने वाली एक मस्त माल विनीता की है.

मेरे लंड के मुँह से चिकना चिकना लेसदार पानी निकाल कर रेखा के पेट पर लग रहा था.

बीएफ वीडियो ब्लू वीडियो

बस ऐसे ही तू ऐसा मत सोच, यार तेरी ख़ुशी में ही मैं खुश हूँ, सो भूल जा वो सब. जब मैं लगातार देख रहा था तो कुछ समझ में आने लगा कि चाचा मम्मी को दीवार के सहारे खड़ा करके अपनी कमर आगे पीछे कर रहे हैं और मम्मी ‘सीइइ. मैं आंटी को काफ़ी देर तक चोदता रहा और फिर झड़ गया, मैंने लौड़े को बाहर निकाल कर सारा माल आंटी की गांड पर छोड़ दिया और हाँफने लगा.

लेकिन उन्होंने मुझे लात से मारना शुरू कर दिया।उन्होंने बोला- बता सब कुछ सही सही. अरे तेरा ऐसा मूसल जैसा लंड मैं छोड़ने वाली नहीं हूँ, आज तुझसे तू जैसे चाहेगा वैसे चुदवा लूँगी. उस सेक्स स्टोरी में एक पाकिस्तानी लड़की के भाई के दोस्त भी लड़की को भाई के साथ मिलकर चोदते हैं.

मुझे लग रहा था कि किसी ने गरम लोहे को भाला मेरी चुत में घुसेड़ दिया हो.

फिर मैंने उसके गले के ऊपर आ गया, वो भी बहुत गरम होने लगी थी और ‘उम्म्म… अम्म्ह उउम्म हाह…’ करने लगी. कुछ समय बाद जब वो सामान्य हुई तो मैंने लिंग को आगे-पीछे करना शुरू किया. बुआ की दोनों लड़कियां घर में ही रहती थीं, उनकी पढ़ाई वगैरह सब कुछ खत्म हो चुकी थी.

ये तो मैं जान गया था कि स्टार मूवी की ए श्रेणी की फिल्म देखने वाली साली अब हल्ला नहीं करेगी, पर अपनी गांड फटी हुई थी. मैं एक सच्ची कहानी लिख रही हूँ जो मेरे खुद की है, अच्छी लगे तो जरूर एक मेल करना और अच्छी ना लगे तो आपकी प्यारी माया को दिल से माफ़ कर देना. कभी कभी रीना को उसकी पहले दिन की चुदाई की वीडियो दिखा कर मैं आज भी उसे चिढ़ाता हूँ.

उसके पीछे किसी ने अपना लंड दे रखा था, रिया के मुँह में एक लंड तबाही मचा रहा था और हाथ में दो लंड लेकर वो उन्हें ऊपर नीचे कर रही थी. फ़िर मैंने कहा- आपको आज मैं ऐसे तरीके से चोदूँगा, जिससे आपको भी बहुत मजा आएगा.

मैं एक निप्पल को मुँह में भर के जोर-जोर से चूसने लगा और एक हाथ से दूसरे चुचे को दबाने लगा. तेरी माँ पे रहम खा कर हमने उसे जाने दिया पर उसके बाद शादी होने तक तेरी माँ को हम बुलाते थे तो वो आती थी और हम तेरी माँ को खूब मसलते थे. जब मैंने देखा तो मुझे 440 बोल्ट का झटका लग गया, मौसी नीचे कुछ भी नहीं पहने हुए थीं.

बस कुछ पल के लिए रुक कर दीदी की चुत के गर्म रस का मजा अपने लंड को दिलाता रहा.

वो अपने दांतों से भी मेरी चूत को खुजा रहे थे और चूत के दाने को उनके बीच में दबा रहे थे. हालाँकि मैं जानता था कि मुझे जाना नहीं हैं और आज की रात विनीता के साथ ही बिस्तर गर्म करना है. मैंने ओके कर दिया और स्टाफ से बोल कर रागिनी को मेरे रूम के बगल वाले वार्ड में शिफ्ट करा दिया.

ये याद आते ही मैं थोड़ी आगे खिसक गई और मैं फिर से गुस्से से उसकी तरफ देखने लगी. दो दिन बाद मम्मी मेरी होने वाली ससुराल गईं और मेरे ससुर से बोलीं- आपको किस तरह की दुल्हन चाहिए?तो ससुर बोले- आपकी जैसी.

थोड़ी देर में मामी काम निपटा कर आईं, उनसे औपचारिक बातें हुईं, पर थकावट के कारण मुझे कुछ जबाब नहीं सूझ रहा था तो आँखें मूंद लीं. तभी अंकल बोले- आरती, तुम बीच वाली सीट में लेट जाओ, बस पांच मिनट में जो करें करने देना, उसके बाद फिर अगर तुम कहोगी तो बिल्कुल छोड़ देंगे।मैंने हां में सर हिलाया तभी अंकल लोग मेरे सारे कपड़े एक एक करके उतारने लगे. मेरे देखते देखते आंटी ने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और पूरी नंगी हो गई.

बीएफ वीडियो एचडी डाउनलोड

तुम्हें देखना है?मैंने झट से अपनी पेन्ट उतारी दी और मेरी पेन्टी भी.

मैंने झट से उनके बदन से उनकी टी-शर्ट को अलग कर दिया और अपनी टी-शर्ट को भी उतार दिया. लुंगी के ऊपर से पप्पू का लंड पकड़ कर रूपा ने कहा- पप्पू, आज तुझे मैं अपनी नीता दे रही हूँ. कुछ देर ऊपर ऊपर चूमने के बाद मैंने विनीता के होठों को अपने होठों में ले लिया और पके आम की तरह चूसने लगा.

फिर वो झुक कर मेरी गांड के छेद के ऊपर जीभ फेरने लगा और कहा- बेबी, यहाँ पर दर्द हो रहा है. मैंने जैसे तैसे करके चाचाजी को अपने आप से अलग किया और धीरे से कान में कहा- मेरी जान सब्र करो. वाय टू मेट डाउनलोडमैंने अपनी बीवी को कान में कहा- ऐसे ही रहना, मैं उस के पास हो कर आता हूँ.

ये कहते हुए मौसी वहीं बैठ गईं और बोलीं- अच्छा तू सो जा, मैं अभी यहीं बैठी हूँ. उसने जल्दी से लंड को छोड़ा और दूसरी तरफ़ देखने लगी जैसे गुलशन जी उसको अब डांटेंगे.

वो फोन बकायदा मैंने उसको गिफ्ट पैक में पैक करवा कर दिया…और कहा- अभी मेरे पास इतने ही पैसे थे भाई… इसी से काम चला ले. ”अन्दर पांच हज़ार गिनकर रखे हैं हज़ार से एक पैसा ज्यादा लिया तो टांगें तोड़ दूंगी. मेरी औरत को संतुष्ट करोगे ना?जी क्या कहा?”मैंने पूछा मेरी बीवी को संतुष्ट कर सकते हो ना?”आप शीला से ही पूछ लीजिये ना?”हाँ ये इतने दमदार हैं.

”मुझे तो डर के मारे ‘सूसू’ आने लगी, मैं उनके पैरों पर गिर गया और माफ़ी मांगने लगा. मेरा लंड तो पहले से ही खड़ा था, क्योंकि रास्ते भर तो वो लंड को मसलती रही थी और उसके मुँह में जाते ही वो और अकड़ गया. अब ये आगे क्या गुल खिलाएगी ये तो आपको आगे आने वाले पार्ट में पता लगेगा.

तो वो बोला- ना साले… जब लंड नै देखै था जब ना सोच्ची तन्नै अक गैंड भी मारी जावगी…(जब लंड की तरफ देख रहा था तब नहीं सोचा तूने कि गांड भी मारी जाएगी)यह कह कर उसने दूसरी उंगली भी गांड में डाल दी.

ये लो अदिति बेटा!” मैंने कहा और लंड को धकेल दिया उसकी चूत में… लंड उसकी चूत में फंसता हुआ कोई दो तीन अंगुल तक घुस के ठहर सा गया. क्या गरम मुँह है साली का आह्ह्ह… इसके मुँह में तो में पूरे दिन अपना लंड ठूंस के रख सकता हूँ.

कुछ ही देर में मेरे लौड़े में जान आने लगी थी, तो मैंने खड़े होकर अपना लंड फिर से नेहा के मुंह में डाल दिया. मेरी तो जैसे पूरी थकान गायब हो गई और उसे देख कर मैं बहुत खुश हो गया. रीना के हाथ कभी रंजु की चुत, तो कभी मेरी कमर एवं आंड को सहला रहे थे.

मैंने मुड़ कर जीजू की तरफ देखा तो जीजू सिर्फ अंडरवीयर में थे, वे अपने कपड़े उतार चुके थे, जीजू मेरी तरफ आये और उन्होंने मुझे खींच कर अपनी बांहों में ले लिया. फिर मैंने अपनी बेटी रेखा को अपने आगे कर दिया और खुद उसके पीछे खड़ा हो गया. मैंने मोनिका के होंठों पर किस किये, उसने मेरा साथ दिया और हम किस करने लगे.

सेक्सी देहाती बीएफ एचडी वो धीरे से मुझे चुम्बन करने लगी और अपने होंठों को मेरे होंठों के साथ सटा कर उसने एक लम्बा चुम्बन किया. मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि ऐसे बांके जवान का प्यार भरा साथ मुझे नसीब होने वाला है.

पंजाब के सेक्सी वीडियो बीएफ

”करीब दस मिनट की जीभ चुदाई के बाद मैंने कन्ट्रोल खो दिया और चाचाजी के मुँह पे ही ढेर सारा वीर्य छोड़ दिया. इतने में मामी बोलीं कि यह तो गलत बात है कि एक सहेली मालपुआ खाए और सब देखते रहें. सुमन- ठीक है पापा जी, लाओ आप खड़े हो जाओ… मैं आराम से इसको चूस कर गीला करती हूँ, फिर आप भी मेरी चुत को चाट कर गीला कर देना ताकि ये मूसल आराम से अन्दर घुस जाए और मुझे तकलीफ़ ना दे.

दीपक और राम पूरे मस्त होकर मामी की सैंडविच चुदाई कर रहे थे और मामी भी उनका भरपूर मजा ले रही थीं. क्या इस जमाने में इस तरह की लड़की हो सकती है, जो तीन घंटे किसी मर्द को झेल सके?उदहारण मेरे सामने था. राजस्थानी सेक्सी पिक्चर एक्स एक्स एक्सवह मेरे पास आकर घुटने के बल बैठ कर मेरी चुचियों को मुँह में लेकर चूस रहा था और दूसरे हाथ से दूसरी चुची को दबाने लगा था.

थोड़ी देर मैं सुसू करने के बहाने उठा और सबको सोता देख मौसी से आकर बोला- मौसी सब सो गए… अब तो बताओ.

खंडहर स्कूल वाली घटना हुई, तब से पापा ने मुझ से कभी बात तक नहीं की. मैंने पलट कर देखा और कहा- क्या था?अचानक मेरी मॉम की नज़र मेरे खड़े लंड पर पड़ी.

वो बोले- रानी मैं कंडोम खरीद कर लाया हूँ… तुम्हारी दीदी को भी कंडोम लगाकर ही चोदता हूँ. पहली बार में दूसरी ओर फिसल गया, मौसी से रहा नहीं जा रहा था सो उन्होंने फिर से मेरे लंड को चुत के द्वार पर रखा और खुद ही चुत की फांकों को खोल कर मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में हल्के से अन्दर कर लिया और फिर अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों चूतड़ों के गोले पकड़ कर अपनी ओर खींचा. प्रेशर से पानी चूत में भर गया और उंगली से साफ की, फिर नलका पर लगी सब मलाई बाहर निकाल दी.

30 बजे ऑफिस आ गया।रूपिका जब ऑफिस से बाहर निकली तो उसे शिफऑन की साड़ी में देखकर मेहश चकित सा रह गया, इतनी सेक्सी वो आज तक न लगी थी। साड़ी में जो मादकता है वो दुनिया की किसी दूसरी पोशाक में नहीं।रूपिका ने महेश को कार की चाबी दी और सुखना लेक चलने को कहा.

और वो मेरे सीने का दाना ऐसे क्यों मसल रहे हो आप? लेकिन अंकल आपने बताया नहीं कि आप मम्मी को कैसे छेड़ते थे?नीता के हाथ हटा कर उसका सीना पूरा नंगा देख कर पप्पू झुक कर बारी बारी उसके निप्पल खूब अच्छे से चूसते हुए बोला- अरे वाह, यह अच्छा किया जो तूने कम से कम मुझे तो अपनी ब्रा और कप का साइज़ बता दिया नीता. चुदने चुदाने का जो मंजर वहां पैदा हुआ, वह किसी ब्लू फिल्म से कम नहीं था. हम दोनों एक दूसरे को किस कर रहे थे दोनों आवाजें निकाल कर मजा ले रहे थे.

হিন্দি সেক্স ভিডিওशादी के बाद राज ने मुझसे नौकरी छोड़ देने को कहा तो मैंने नौकरी छोड़ दी. इसी तरह मैंने और चाचाजी ने 7 दिन की टूर में 2 रात चुदाई करते हुए साथ बिताए और घर आकर भी हम दो महीने से जब भी मौका मिलता है.

फुल मराठी बीएफ

मेरी चुत ने अभी भी उसके लंड को बुरी तरह से जकड़ रखा था, इस वजह से जय का लंड आसानी से मेरी चुत में अन्दर बाहर नहीं हो पा रहा था. पहली चुदाई… जिसमें हम दोनों मस्त मज़ा आया।तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली चुदाई की कामुक कहानी… मुझे विश्वास है कि आपने एंजाय किया होगा। मुझे ईमेल करके अपने विचार मुझे भेज सकते हैं।[emailprotected]. बात में दम था क्योंकि मैं नानी के घर काफी दिनों से नहीं गया था और अगर मैं कुछ दिनों बाद जाने का प्लान बनाता भी तो किसी को कोई आपत्ति भी नहीं होती.

मैं इसी तरह अपनी बेटी को गोद में उठाए हुए ड्रेसिंग रूम के फुल साइज़ मिरर के सामने ले गया- जानू, देखो मिरर में. मैंने अपने स्टाफ से बोल भी दिया था कि तुम को ऊपर आने की कोई जरूरत नहीं है, मैं इस मरीज को देख लूँगा. जल्दी से मैंने अपनी शॉर्ट्स और पेंटी निकाल दी और मोबाइल पे वीडियो देखने लगी.

उसने थाली चारपाई पर रखी और हुक्के को हटाकर साइड में रखा स्टूल उठाकर दोनों चारपाई के बीच में रख दिया. लेकिन एक बार जय से चुदवाने के बाद मैं अपने आप को रोक नहीं पाई क्योंकि इसने मुझे बहुत ही अच्छी तरह से चोदा था. आपका बेटा तो ऐसे संभल संभल कर करता है कि कहीं चूत को चोट न लग जाए, उसे पता ही नहीं कि चूत को जितना बेरहमी से ‘मारो’ वो उतनी ही खुश होती है.

मैंने पैर उठाए, वजन कम किया तो उसका लंड पूरे का पूरा मेरी गांड में घुस गया. माया की टाइट गांड और भी टाइट हो गई थी और उस्मान के लौड़े पे जबरदस्त दबाव बना रही थी.

पूरा हुस्न देख कर पप्पू बोला- क्या हुआ नीता? तुम क्यों इतनी ज़ोर से चिल्ला कर अपनी माँ को बुला रही हो?पप्पू को अपना भीगा जिस्म देखते देख कर नीता ज़रा शरमा कर कमरे में जा कर बोली- अंकल मम्मी कहाँ है? उसको कहो ना मेरे रूम में आएं.

मैंने वंदिता को गले से लगाने की कोशिश की तो वंदिता ने मुझे मना कर दिया कि कोई देख लेगा और रात में मिलने का प्रोग्राम बनाने लगी. एक्स एक्स एन एक्स देसीपर पता नहीं क्यूँ, अब वो उन दोनों को डराना नहीं चाहता था, विशेष रूप से काजल को. सेक्सी पिक्चर नंगी ब्लूफिर मामी ने लंड डालने का संकेत किया, मैंने बहुत सावधानी से उनकी टांगें ऊपर कर चुत पर टोपा टिका कर दबाव बनाया और लंड आराम से अपने मांद में समा गया. मुझे खुद भी आश्चर्य होता था कि न मालूम मुझे कैसे भी करके चूत मिल भी जाया करती थी.

वो चिल्ला चिल्ला कर अपने चूतड़ उछाल उछाल कर मेरे लंड पर कूद रही थी.

उसे देखकर मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसके बारे में जानने के लिए बुआ के पास जा पहुँचा. इससे तो अच्छा होता कि मैं रिक्शा ले लेती तो इस भीड़ से तो नहीं जाना पड़ता. शिवानी ने अपनी टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और मेरा लंड पकड़ कर खड़े खड़े अपनी चूत पर टिका लिया.

फिर चाचा जी ने मुझे अपनी गोद में उठाया और बेड पर डाल कर मेरे ऊपर आ गए. लंड की मिट्टी चूचों की रगड़ से साफ़ हो चुकी थी तो मैंने तुरंत अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में पेल दिया और वो अपने हाथ से उसे तेज हिलाने लगी. सलमा ने कहा कि उसका एक क्लासमेट शिशिर भी दिल्ली में एडमिशन के लिए दिल्ली जाने वाला है.

इंग्लिश पिक्चर बीएफ बीपी

मेरा लंड रेखा के रानों के बीच में से बाहर को निकल कर उसके पेट से टच कर रहा था. पिंकी शरमाते हुए बोली- मामा जी, आप बाहर जाइए ना मुझे टॉयलेट करना है. मैं उनके मम्मों को दबाने लगा और अपने मुँह में भर कर उनके रसीले चूचों को पीने लगा.

आअहह और तेज करो उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं भी पूरे जोश में उसकी चुत को चाटे जा रहा था और उसके मुँह को अपने लंड से चोद रहा था.

दोस्तो, आप लोगों को मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, जरूर बताइएगा, मुझे आपके जवाब का इन्तजार रहेगा.

मैंने अपने पति के अलावा कभी भी किसी के साथ कोई रिश्ता नहीं रखा था, सोचा था कि प्यार करने वाला पति होगा, परिवार होगा. हरामी मज़े पूरे ले रहा था बस नाटक ऐसे कर रहा था, जैसे मैं कुछ समझ नहीं रही थी. ब्लू फिल्म वीडियो पंजाबीलम्बी चुदाई के बाद जब जय मेरी चुत में झड़ गया तो मैं भी उसके साथ ही साथ चौथी बार झड़ गई.

मैं बोला- ठीक है लेकिन हम लोग ऐसे ही नंगे रह कर खाना खाएंगे और तू मेरी गोद में बैठकर खाना खाएगी. उसने तुम्हें अपनी बेटी नहीं माना ना… अब उसकी सग़ी बेटी के साथ ऐसा करूँगा कि वो समझ जाएगा कि बेटी का दर्द क्या होता है. मैंने उस की पेंटी उतार कर उसको पूरी नंगी किया तो उसका बदन देख कर मेरे तो होश उड़ गए.

उसने मुझसे भी फ्रेश होने को कहा और मैं भी बाथरूम से फ्रेश हो कर बैठ गया. मैंने अभी तक राज के लंड के जूस का स्वाद नहीं लिया था, इसलिए मुझे उसके लंड के जूस का स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था.

मैं बोली- भाई आपक़े सूसू के ऊपर में दवा लगा दूँ, फिर मुझे आप लगा देंगे ना.

फिर हम लोग तैयार हुए, हमने अपने नंबर एक्सचेंज किए और बाईक से उसके घर के लिए निकल पड़े. पर लंड गया ही नहीं, शायद कभी गांड मरवाई ही नहीं इसलिए छेद बहुत छोटा था. दीदी ने कहा- तुम अपना लंड निकालो नहीं तो वो तुम्हारी अंडरवियर फाड़ देगा.

नुदे सेक्स अब पप्पू ज़रा बिंदास होकर उस औरत के पीछे चिपक के गर्म साँसें उसकी गर्दन पे छोड़ने लगा. उसने पूजा के होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिए और एक लंबा किस शुरू हो गया.

तो चारपाई के नीचे पहले से छुप जाता था, मैं दीदी की चूत को देखना चाहता था. खंडहर स्कूल वाली घटना हुई, तब से पापा ने मुझ से कभी बात तक नहीं की. बाद में रीना ने मुझे बताया था कि उस पल उसके जिस्म में करंट सा लगा था, क्योंकि पहली बार किसी ने उसके होंठों को चूमा था.

बीकानेर सेक्सी बीएफ

मैंने अपने लंड निकाल कर उसके मुँह में दे दिया और मुँह में लंड के धक्के लगाने लगा. दीदी संग चुदाई के बारे में सोचते ही मेरा लंड मेरी शेरवानी की पजामी में ही तम्बू बन गया था. लेकिन बहूरानी को जगाने का दिल नहीं किया सो चुपके से बहूरानी के आगोश से निकलने लगा.

वो धीरे धीरे सिसकारियां लेने लगा और काजल का सर पकड़ कर अपने लंड पर दबाने लगा. मैंने देखा कि मेरे सामने एक पचास साल का स्वस्थ आदमी डेस्कटॉप या लैपटॉप कम्प्यूटर के सामने एक कुर्सी पर बैठा था और उसके पीछे एक बेबीडॉल फ्रॉक में एक तीसेक साल की मस्त भरी हुई भाभी खड़ी थीं.

यह मेरी दूसरी रुय्ल सेक्स कहानी थी दोस्तो, उम्मीद करता हूँ आप सबको पसंद आयी होगी। आप सब मेल भेज कर मेरी इस कहानी के बारे में अपने विचार दें।मेरी मेल आईडी[emailprotected]है।धन्यवाद.

मामी ने आश्चर्य चकित होते हुए पूछा- ऐसे कैसे? तूने क्या अभी तक किसी से मजे भी नहीं लिए क्या?मैं शुभ काम में देर नहीं करता दोस्तो, इसलिए उनकी बात को पकड़ कर सीधा बोला- कहाँ मामी, साली कोई भाव ही नहीं देती. तीन चार बार आगे पीछे होने के बाद मेरे लंड ने चूत के छेद को ढूंढ लिया और उसमें घुस गया. शिवानी ने अपनी टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और मेरा लंड पकड़ कर खड़े खड़े अपनी चूत पर टिका लिया.

ह्हहँ… उऊँऊँ ह्हहँ… उऊऊ… गुऊंन्न… गुण… उऊऊँ ह्हह… उऊँऊँ ह्हहँ…”फिर तभी ममता दीदी ने मुझे जोर से भींच लिया और शांत पड़ गई… उनकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया जो ममता ‌की जांघों के साथ साथ मेरे लंड व मेरी जांघों पर भी फ़ैल गया।ममता जी अब थोड़ी सी निढाल हो गई थी इसलिए उनकी पकड़ कुछ ढीली हो गयी मगर मैं अब भी अपनी उसी गति से उन्हें धक्के लगा रहा था. मैंने लंड की खाल को पीछे कर लिया, जिससे लंड का गुलाबी सुपाड़ा पूरा खुल गया था. अंजलि की चूची बहुत ही टाइट थीं, मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि 2 बच्चों के बावजूद भी उसकी चूचियां इतनी टाईट थीं.

तभी मोहन ने मम्मी की साड़ी खोल डाली और पेटीकोट जांघों तक ऊपर सरका कर हाथ फिराते हुए बोला- वाह भोले, तेरी आज तो हमारी किस्मत चमक गई, वैसे भी मुझे इस साली की चूत मारे कई महीने हो गए हैं.

सेक्सी देहाती बीएफ एचडी: फिर उसके कुछ मान-मनव्वल के बाद मैं लेस्बो के लिए मान गई और हम दोनों मेरे बेडरूम में आ गए. आज इसकी कुँवारी और कमसिन गांड की तो मैं आज बैंड बजा कर ही दम लूँगा.

मैंने लिखा- नहीं … ये एक ही बात नहीं है … मैं तो जब भी चाहूँ, अपना कौमार्य किसी बाजारू महिला के साथ खत्म कर सकता हूँ. फिर मैं उसे किस करने लगा और धीरे से दूसरा झटका मारा, मेरा पूरा लंड अब उसकी चूत में था. निवाला जब वो मुंह में ले जाता तो उसके मजबूत भारी डोले फूलकर टी-शर्ट में फंस जाते थे। जब वो घी लगी उंगलियां चाटता तो मन करता उसकी उंगलियों को मैं ही चाट लूं.

वो रोजाना रात को मम्मी-पापा के सोने के बाद मेरे रूम में आ जाती और चुद कर चली जाती.

उसकी जीभ मेरे लंड पर बराबर चल रही थी और मेरी उंगली उसकी गांड में काम में लगी थी. आपने पिछले भाग में पढ़ा कि मेरे मामा ने कैसे मेरी चुदाई किचन में की, खड़े खड़े चुदाई के बाद हम दोनों इतने थक चुके थे कि चुदाई पूरी होते ही एक दूसरे के बाहों में गिर गये, 5 मिनट यों ही हम दोनों एक दूसरे से लिपटे रहे, फिर हम दोनों ने एक दूसरे के कानों में अपनी अपनी ख्वाहिश बताई. कुछ ही देर में मेरे अन्दर एक नया जोश आ गया और मैं भी अपनी गांड उछाल उछाल कर राज से चुदवाने लगी.