भाभी देवर के हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ रंडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी भाभी का दूध: भाभी देवर के हिंदी बीएफ, क्या करूं बेटी … तुम्हारे जिस्म को देखकर यह कम्बख्त फिर से खड़ा हो गया है.

सेकसी म्युजिक 2020

उसके होंठों को चूसते हुए उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ने लगा. अमेरिकन बीएफ सेक्स वीडियोमैंने उठ कर धीरे से पोजीशन बनाई और अपने खड़े लंड को उसकी चूत की फांकों पर घिसने लगा.

इस पर वो तड़प कर रह गये और पास आकर गिड़गिड़ाते हुए बोले- जान, ऐसा मत कर! बहुत दिनों का प्यासा हूँ. बीएफ फुल चुदाई वीडियोहैलो फ्रेंड्स, मैं जैस्मिन आज मैं आप सभी के साथ अपनी प्यासी जवानी की सच्ची कहानी साझा करने जा रही हूँ.

मैंने उसकी चुत से मुँह हटा लिया और अपनी चड्डी उतार कर उसके पीछे आ गया.भाभी देवर के हिंदी बीएफ: कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरा (राजवीर का) साला श्लोक मेरे साथ गोवा जा रहा था.

उन्होंने बोला- फिर अब सेक्स कैसे करती हो? अब तो रेगुलर सेक्स भी नहीं मिल पता होगा?उनके मुंह से ये बात सुनकर मुझे झटका लगा तो मैंने अपनी गर्दन शर्म से झुका ली और अंदर चली गयी.पंजाबी गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे बॉयफ्रेंड के बॉस ने दूसरी बार के सेक्स में मेरी चूत चाट कर, मेरी गांड में उंगली घुसा कर लंड चुसवा कर जोरदार फोरप्ले किया.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वीडियो में - भाभी देवर के हिंदी बीएफ

उसके मुँह से बड़े लंड की सुनकर मेरी गांड कुलबुलाई- यार, मुझे भी मिलवाओ उससे.मीरा के जाने के बाद मैंने अपने लण्ड पर हाथ फेरा और उसे तैयार करने लगा.

मैंने कहा- दीदी आपको दर्द हुआ तो?वो बोली- पहली बार में तो होता ही है. भाभी देवर के हिंदी बीएफ संजू की चूत से लंड का बहुत सारा वीर्य निकल रहा था, जो काफी ज्यादा मात्रा में था और बहुत गाढ़ा था.

हमें पता भी नहीं चला कि कब रजाई हमारे जिस्मों से सरक कर नीचे गिर गई.

भाभी देवर के हिंदी बीएफ?

फिर लंड फुदी पर रखकर थोड़ा अंदर डाला और फिर एक जोर का धक्का मारा और लंड फुदी के अंदर था।मैं थोड़ा पीछे हटता फिर जोर का झटका देता और लंड फुदी में पेल देता।जब मैं लंड फुदी से निकालता, यास्मीन की फुदी मेरे लंड से चिपक कर थोड़ा बाहर आती।टाइट फुदी मारने का अलग मजा है. फिर पहले हमने साथ में बैठकर चाय वगैरह पी और बाद में मैं उससे बातें करने लगी. मुझे देखते ही दादी ने मालू से कहा- तुम दोनों बेडरूम में चलो, मैं चाय बना कर लाती हूँ.

उनके मुँह से ये सुनकर मुझे बड़ी ख़ुशी मिली कि काफी दिनों बाद कोई अपनी भाषा में बात करने वाला मिला. मेरी कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी भाभी के भी के घर आ गयी थी. मैं अहमदाबाद में रहता हूं, लेकिन पिछले दो साल से मुंबई में जॉब कर रहा हूं.

इस पर मनोज ने कहा- आप क्या बात करती हैं … थैंक्स तो मुझे उसका करना चाहिए, वरना मैं अभी तक किसी होटल में ही पड़ा रहता. चलो उसकी सोच खराब थी, पर जितना प्यार रवि ने उसे दिया और उसके हर शौक पूरे किये, उसके बदले उसे क्या मिला. अब आगे:घर आने से पहले दीदी मुझसे बोली- अर्णव, मम्मी को मत बताना कि हम लोग साकेत भैया के साथ होटल गए थे.

हम दोनों की शादी को तीन साल होने वाले थे … लेकिन आज तक कभी भी इस तरह से मैंने शिल्पा को नहीं चोदा था. तेरे दिए हुए 70000 से कर्ज़ा उतरा है, तब जाकर कुछ राशन पानी मिला है.

मैंने उसे एक नज़र देखा, नमस्ते की और उसने भी नमस्ते का जवाब मुस्कुरा कर दिया.

मैंने उसको नीचे उतारा और उसको कुतिया बनाकर उसकी गांड के छेद को चाटने लगा.

फिर महीने भर के बाद एक दिन शिवम मेरे पास आया और विवेक और मेरे बारे में उल्टी सीधी बात करने लगा. इससे आरिषा भाभी और भी पागल हो रही थीं और रामू को बोल रही थीं- आह … खा जाओ इन्हें!रामू ने कुछ देर भाभी के दोनों मम्मों के मस्ती से चूसा और मसला जिससे भाभी मदमस्त हो गईं. इस पर उन्होंने कुछ जवाब नहीं दिया और मेरे पास में बैठ कर मेरा सर अपने सीने से लगाकर मुझे बाहर जाने को कहा.

उन शॉर्ट्स में उसकी गोरी गोरी टाँगें दिख रही थीं और उसने चूतड़ भी बड़े मस्त तरीके से दिखाए हुए थे।पहले तो हमने नार्मल बातें कीं, फिर बाद में बात करते करते पता चला कि वो मेरे घर से बस 1 किलोमीटर की दूरी पर रहती है।यह बात जानकर मैं और खुश हो गया और ज्यादा रूचि लेकर उससे बात करने लगा. मेरे लण्ड पर तेल लगाने के बाद मीरा किचन स्लैब पर कुहनियां टिकाकर घोड़ी बन गई. उसके बाद वो उठी और मैंने देखा कि उसकी गांड देखने में और भी ज्यादा मस्त थी.

मैंने उसके एक स्तन को चूसने की कोशिश की, तो उसने मुझे धक्का दे दिया और मुझे नीचे लिटा दिया.

मैं थोड़ा हिचकिचाया, परन्तु मैंने उसे बांहों में भर लिया और होंठों पर हल्का सा चुंबन ले लिया. मुझे विश्वास है कि हर बार की तरह आपको वो मस्त सेक्स कहानी भी खूब पसन्द आएगी. 30 बज रहे हैं और मैं अपने आफिस के स्टूडियो में दो नई मॉडल्स का फोटो शूट कर रहा हूँ, तभी मेरे फ़ोन पर नीरू की कॉल आती है।नीरू मेरी माशूक है, वो शादीशुदा है और तीन बच्चों की माँ है.

पूरी तरह से डिस्चार्ज होने के काफी देर बाद तक मैंने अपना लण्ड उसकी गांड से निकाला नहीं और प्यार से उसके चूतड़ व पीठ सहलाकर उसे दिलासा देता रहा. उसके बाद सैम मुझे चोदने नहीं आया तो एक दिन मैंने उसे फोन किया, तो मालूम हुआ कि वो कहीं बाहर गया था. पत्नी के देहांत के बाद चार साल से चूत के दर्शन तो छोड़िये, इस बारे में कभी सोचा भी नहीं था लेकिन आज ऊपर वाले ने छप्पर फाड़ दिया था.

चुदाई तो सिर्फ मैंने और सपना ने ही करनी थी क्योंकि अंजू और अंशिका अभी कुंवारी थीं.

मैं कुर्सी पर बैठा तो उसने एक निवाला मेरी तरफ बढ़ाया!ज़ारा- लो खाओ!मैं- थोड़ा प्यार से खिला दो यार!ज़ारा- प्यार से ही खिला रही हूं जान!मैं- इतना प्यार?ज़ारा- कम है? थोड़ा बेलन मिला दूं?मैं- नहीं! मेरे लिये काफी है!मैंने वो निवाला खाया और एक उसे खिलाकर खाना शुरु कर दिया. मेरे दिमाग में उनके चूचे इस कदर घुस चुके थे कि उनको सोच सोच कर मैंने कई बार मुठ मार चुका था.

भाभी देवर के हिंदी बीएफ वह सुबह ही मेरे पास आ गया- सर जी चलें?हम ऑटो से गए, वह एक कॉलेज की बिल्डिंग थी. ” महेश ने अपनी नाक को ठीक अपनी बेटी की चूत के क़रीब करते हुए कहा।आहहह पिता जी, आप यह क्या कर रहे हैं …” ज्योति भी अपने पिता के मुंह से निकलती हुई गर्म साँसों को अपनी चूत पर महसूस करके आराम सा पाने लगी।कुछ नहीं बेटी, मैं तुम्हारी चूत को अपनी जीभ से चाट कर साफ़ कर देता हूँ ताकि अगर कोई ज़ख़्म वगैरह हो तो वह ज्यादा न बढ़े.

भाभी देवर के हिंदी बीएफ फिर पांच-सात मिनट के बाद जब उससे बर्दाश्त न हुआ तो उसने लंड को मुंह से निकाल कर कहा- जीजाजी, आपके साढ़ू ने चुदाई से दस साल पहले ही रिटायरमेंट ले लिया था. एक दिन उसने अपनी नाइटी के ऊपर से अपनी आधी चूचियों की फोटो मुझे भेज दी.

मैंने अपने होंठ सीधा उसकी गीली पैंटी पर रख दिए और उसके रस का स्वाद चखने लगा.

लड़कियों के सेक्सी बीएफ वीडियो

शादी के पहले और बाद मैंने कभी किसी पराए मर्द की तरफ उस नजर से नहीं देखा था. कुछ देर में ही भाभी कहने लगी- मैं आ रही हूँ … आह्ह … उफ़्फ़्फ़ … और जोर से … आआअ रही हूँ … मैं झड़ने वाली हूँ. मैंने उसकी नाइटी उतार फेंकी और ब्रा के ऊपर से ही भाभी के मम्मों को दबाने लगा.

मैं बोला- अभी जब तुम अपनी चूत में उंगली कर रही थी तो क्या तब शर्म नहीं आ रही थी?तो वो बोली- साहब जी, मेरी शादी को आठ साल हो गए और शादी के दो साल बाद मैं यहां आ गयी. फिर मैंने एकदम से उसकी पैंटी के अंदर हाथ डाला और उसकी चूत में उंगली डाल दी. इस सबसे ज्यादा बुरा यह हुआ कि रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण गोपाल का कमर से नीचे का शरीर निष्क्रिय हो गया.

मन तो कर रहा था कि मैं ऐसे ही इस रंडी के मुंह में लंड दिये रहूं और ये दिन रात ऐसे ही मेरे लंड को चूसती रही.

मैंने मम्मी से ज्यादा बात नहीं की और उनकी ब्रा में मुट्ठी मारकर सो गया. ऐसी मजबूरी में शुरू हुई थी सिस्टर की चुदाई … जो लड़की को बार बार चुदाई करवाने की चाहत में बदल गया था. सुगंधा भाभी- हम्म … देवर जी आप एक शादीशुदा औरत को फ़्लर्ट कर रहे हो.

कम से कम सात लड़कियों की तो मैंने सील तोड़ी है और आंटियों की तो कोई गिनती ही नहीं है. उफ्फ … क्या महक थी उसकी चूत की!मैंने सोचा भी ना था कि आशा इतनी सफाई रखती होगी अपनी चूत की!मैंने आशा को बोला- वाह आशा, तुम तो बहुत सफाई रखती हो अपनी चूत की! एकदम चिकनी भी कर रखी है. उसका एक हाथ मेरे चूची पर, दूसरा मेरी चूत पर!ब्रा पैंटी टाइट होने से वह अपना हाथ अंदर नहीं डाल पा रहा था।हमारा किस बंद हुआ, मैं फर्श पे खड़ी हो गई.

मैंने चाची को डॉगी पोजीशन में बैठाया और मैं पीछे से लंड को गांड के निशाने पर रख कर धक्का मारा. अब उससे मूतने के लिए बैठा भी नहीं जा रहा था तो मैंने उसे खड़े खड़े ही मूतने को बोला.

इसका मतलब ये हुआ कि जिस दिन मैं उसकी चुदाई कर लेता हूँ, उसके बाद राहुल का नंबर आता है ताकि मुझे कुछ पता ना चले. हालांकि खड़ा लंड देख कर भाभी कुछ बोली नहीं क्योंकि उनको पता था कि इसी लंड से उनकी चुत चुदने वाली थी. हम दोनों की नजर एक दूसरे पर पड़ी और दोनों एक दूसरे को निहारते रह गये.

वो भी अपने सबसे अच्छे दोस्त के साथ … ना की बॉयफ्रेंड या पति या कोई और!मेरा सचिन से कोई भी प्रेम या रोमांस वाला लगाव नहीं था और हमेशा से ही उसे अपना अच्छा दोस्त ही समझती थी।अगले 2-3 दिन मैं अपने-आप में ही कन्फ्यूज रही और सचिन से भी बहुत कम बात की। सचिन को ये लगने लगा कि मैं उस दिन की बात का बुरा मान गयी हूँ।उधर आरुषि और आकाश की चुदाई का किस्सा पूरी क्लास में फैल गया था।कहानी जारी रहेगी.

इसके अलावा आप अपने साथ घटी हुई रोचक घटना भी मेरे साथ साझा कर सकते हैं. वैसे इसके लिए मैंने अपनी भाभी को फोन करके बताया भी … मगर भैया के बिना वो भी कुछ नहीं कर सकती थीं. गोली हम दोनों पर असर कर रही थी।जैसे ही बियर खत्म हुई हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े और बुरी तरह एक दूसरे को चूमने लगे।मैं चाहता था कि मीना खुद ही मेरा लन्ड अपनी चूत में डाले, यही सोच कर मैंने उसको गर्म करना शुरू कर दिया.

5 इंच का लंड ही लिया था और वो भी पिछले 2 महीने से उसकी चुत के दर्शन नहीं कर पा रही थीं. ये सब तैयारी करके मैंने अपने लंड को सहलाया तो उसकी हालत खराब हुई पड़ी थी.

तब अंकल बोले- बेटा, ऐसे उदास नहीं होते! मैं हूँ ना!इस बात पर मैंने उन्हें घूर कर देखा. ऐसे ही हम कई बार मिले मगर हर बार बस किस करना और मम्में दबाना ही हुआ. अब तुम अपने हाथों कर करतब दिखाओ ताकि यह इंजिन की भाँति मेरी चुत में चले.

हिंदी के बीएफ हिंदी बीएफ

इस जंगल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने मेरी बड़ी चाची को जंगल में चोदा.

पेशे से मैं फिजियोथेरेपिस्ट हूँ और पिछले 5 वर्ष से सिर्फ महिलाओं के शरीर की मसाज करके उनको खुश करता हूँ. मेरी सास का कमरा गेस्ट रूम के ठीक सामने था, जिसकी खिड़की हमेशा खुली रहती थी. वो लपक कर मेरे करीब आया और उसने मुझे मेरी कमर में हाथ डाल कर उठाया.

ये सोचकर मैंने काफ़ी गर्व का अनुभव करते हुए पंकज के लंड को पकड़ लिया. मैं- इतनी शानदार चुदाई के बाद भी आप मूड में आ गईं चाची … कैसे?चाची- तुमने तो गांड मारी है … चुत कैसे ठंडी होगी … आग लगी है अन्दर. बीएफ सेक्सी वीडियो इंग्लिश मेंमैं बोलने लगी- आह … बेटा … क्यों अपनी माँ को तड़पा रहा है … साले जल्दी से मादरचोद बन जा.

अपनी मदमस्त चुत पर एक गैर मर्द के होंठों का अहसास पाते हुए ही अपनी मुठ्ठियों में चादर को भींच लिया. मेरे जानकार ने एक बोतल अलग से लेकर मुझे दे दी और बोला कि यह आप लोगों का कल तक का काम चला देगी.

उसको भी मैंने अपने जाल में फंसाया और उसे भी अपनी चुत चाटने वाला बना लिया. उसने जल्दी से मेरे सारे कपड़े उतार कर फेंक दिए और कहने लगा- मौसी, आराम से करने का समय नहीं है. ”वाह … जिओ मेरे राजा भैया … साली को बिना तेल लगाए ही पेल दे बड़े नखरे दिखा रही है.

अब ज्यादा देखने का कोई फायदा नहीं था तो मैंने लैपटॉप बंद कर दिया और बेड पर लेट गया. शायरा के कहने से मैं अब एक बार तो बाहर गया … मगर शायरा के दरवाजा बन्द करते ही मैंने उसे फिर से खटखटा दिया. उसी समय मेरे जन्मदिन का समय शुरू हुआ और ठीक 12 बजे उसने मुझे बर्थडे विश किया.

शायरा की चुत मेरे लंड के वार को अब ज़्यादा देर तक सहन नहीं कर सकी और कुछ देर बाद ही उसका बदन अकड़ गया.

फिर यूं ही दिन निकलने लगे, अब मेरी निगाहें चाची के जिस्म को टटोलने लगी थीं. ऐसी मजबूरी में शुरू हुई थी सिस्टर की चुदाई … जो लड़की को बार बार चुदाई करवाने की चाहत में बदल गया था.

शायरा की इस उत्तेजना को और अधिक बढ़ाने के लिए मैंने अब अपनी जीभ को सीधा चुत की गहराई में उतार दिया. पायल- आह आप पहले क्यों नहीं मिले … आआहह कितना मजा आता है रे चुदाई में … आह आज पता लगा. यह जंगल सेक्स कहानी मेरी और मेरी ब्लैक ब्यूटी बड़ी चाची के साथ सेक्स संबंध की कहानी है।मेरी उम्र अभी 26 है, कद 5 फ़ीट 10 इंच, लंड का आकार 8 इंच लंबा व 3 इंच मोटा है.

मुझे उसकी उम्र चालीस के आस पास की मालूम थी, लेकिन अभी वो दिखने में तीस की लग रही थी. वो दर्द और मजे के मारे अपने मुख से कामुक आवाज़ निकालने लगी और ज़ोर ज़ोर से कहने लगी- चोदो मेरे राजा … और ज़ोर से … बुझा दो आज मेरी प्यास!करीब पन्द्रह मिनट तक मैं उसको चोदता रहा … और फिर हम दोनों साथ में झड़ गए … मैंने उसकी चुत में ही अपना सारा पानी छोड़ दिया था. न जाने कैसे उसने मुझे देख लिया और वो एकदम से घबरा कर अपने बदन को ढकने लगी.

भाभी देवर के हिंदी बीएफ वो तकिया पर सर रखकर अपनी चुत में लंड को अन्दर बाहर होते हुए अपनी चुदाई को देखने लगी. घर पहुंच कर हम चारों, मतलब श्वेता दीदी, आंटी, दीदी और मैं जल्दी से मम्मी को हॉस्पिटल लेकर गए.

फॉरेस्ट बीएफ

वो जीन्स टॉप में थी, बाल खुले, गहरे लाल रंग की लिपस्टिक उस पर खूब फब रही थी. मैंने वैसे ही पीछे से उसकी फुद्दी में लंड डाल दिया और उसके मम्मे पकड़ लिए. वैसे तो शायरा दिल्ली की ही रहने वाली थी मगर उसकी शादी जयपुर में हुई थी.

मगर जैसे ही मैंने उन्हें पकड़ा स्वाति भाभी ने तुरन्त अपना एक हाथ मेरे हाथ पर रख दिया. आप मेरे लिए कुछ देर लड़की नहीं बन सकते?मैं अब सच में हैरान था कि ये लड़की क्या बोले जा रही है. सुहाग रात वीडियोलंड पर कंडोम लगा कर मैंने उस पर क्रीम लगाई और उसकी गांड चुदाई की पोज़िशन में आ गया.

अब तक हम दोनों थोड़ा फ्रेश हो चुके थे तो दूसरे राउंड की चुदाई के लिए तैयार थे.

अन्दर मस्त गुलाबी गुलाबी सा मांस दिखा और छोटा सा छेद भी मुझे ललचाने लगा. मेरे लिए इस समय ऐसा अहसास था कि आम के पेड़ के नीचे खड़ी हूं … लेकिन आम नहीं ले पा रही हूं.

मैं उस लड़की के पीछे तो था ही, इसलिए थोड़ा सा उसके और नजदीक होकर उसके कंधे से अपने कंधे की तुलना करके देखने लगा कि सही में ही वो मुझसे लम्बी है या ये मेरा ही वहम‌ है. मैंने एक लाल रंग का टीशर्ट पहन लिया था और उसके नीचे काले रंग की लैगिंग पहन ली थी जो मेरी जांघों और गांड में एकदम से कस गयी थी. उम्म्ह … अह … हयई … याह … मुझे काफी दर्द हुआ, मेरी गांड के अन्दर से खून भी निकल आया था.

अब हम लोग जब भी मिलते और कोई नहीं रहता था, तो एक दूसरे के बदन के साथ खेलने लगते थे.

मेरी नंगी लड़की के जिस्म की कहानी के पिछले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 4में अब तक आपने पढ़ा कि मैंने और प्रियंका ने बाथरूम सेक्स करके अनामिका को भी गर्म कर दिया था. फिर कुछ देर बाद आरिषा भाभी जब रामू का साथ देने लगीं, तो रामू ने अपनी स्पीड बढ़ा दी. मॉम अंकल की जॉकी के ऊपर से उनके लंड को सहलाने लगीं और थोड़ी देर बाद नीचे बैठ कर कच्छे के ऊपर से लंड को अपने मुँह में ले लिया.

बीएफ वीडियो हिंदी साड़ी वालामेरी मॉम ने मुँह खोल कर उस लड़के का लंड मुँह में ले लिया और उसका सारा माल निगल लिया. हैलो साथियो, मेरा नाम रूपा है और मैं आपको सेक्स कहानी में सुना रही थी कि मैंने अपनी चुत की आग कैसे बुझाई.

बीएफ सेक्सी बीएफ देहाती बीएफ

” गौरी जल्दी से बोल पड़ी।पता है उसे देखकर मेरा मन क्या करता है?”त्या?”इसको खूँटी से लटकाकर इसकी टांगें पकड़कर खींच कर लम्बा थोड़ा लम्बा कर दूं?”हा. उस वक्त मेरी उम्र 41 वर्ष की थी और उस हिसाब से वो 30-32 वर्ष की लड़की ही ठीक लग रही थी. वहीं पर एक पुतले को एक बेहद फैंसी टाईप की ब्रा-पैंटी का सैट पहना कर रखा हुआ था, जो कि बिल्कुल ही पारदर्शी और जालीदार था.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ लिया और धीरे से मेरे ऊपर के होंठ को अपने मुँह में भर लिया. जैसे ही लंड घुसा … वो बहुत जोर से चिल्लाने लगी- आह … मेरी फट गई … आहह आआअहह … प्लीज़ इसे बाहर निकालो … मैं मर जाऊंगी … उफ़फ्फ़ आहह आआहह…उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे थे, लेकिन मैं नहीं रुका. ड्राइवर ने भी अपना लंड साफ करके अपना हाथ वापस उसके घाघरे में डाल दिया.

गांड के नीचे दो तकिये रखने की वजह से रेखा की चूत का मुंह आसमान की तरफ हो गया था. मैंने उसकी आंखों पर पट्टी बांध दी और उसकी गर्दन पर फूक मारकर उसके बदन में एक झुरझुरी पैदा कर दी. वो नीचे आकर सीधे मेरी चिकनी कामरस से भीगी चुत को सीधे खाने का प्रयास करने लगा.

उसी समय मैंने अपना लोअर उतार दिया और उसे अपना लंड दिखाते हुए मुठ मारने लगा. एक दिन रात में मुझे नींद नहीं आ रही थी और मेरे बेड पर ही मेरे साथ और भाई लोग भी लेटे थे.

मेरे बॉयफ्रेंड के लंड को मैंने चूत में ले लिया और मुझे मजा आने लगा.

मैंने पहले अपनी जीभ निकाल कर उसके रसीले होंठों को चाटकर देखा, फिर धीरे से उसके नीचे के एक होंठ को अपने मुँह में भर कर हल्का हल्का चूसना शुरू कर दिया. सेक्सी मराठी वीडियो बीएफवो मेरी मॉम को भाभी कहते हैं और कभी कभी हल्का बहुत मजाक भी कर लेते हैं. सोफिया लियोन का बीएफ”गौरी तो अब रोने ही लगी थी।ना … मेरी लाडो … अब तुम उस घटना को भूल जाओ। किसी से कुछ बताने की जरूरत नहीं है और अब मैं तुम्हें किसी भी कीमत पर दुबारा वहाँ नहीं जाने दूँगी. दीपा चुप रही, उसकी सिगरेट की हुड़क उठ गयी थी, पर उसने ये सोच के अपने को काबू किया कि पता नहीं मनोज सुनील को बताना चाहेगा या नहीं.

मेरी पिछली कहानीअनजान जाटनी की चुदाई का मजाप्रकाशित हुई तो मुझे 50 से ज्यादा मेल आए.

आधा घंटे की चुदाई के बाद जब हम निवृत हुए, तो अनीता ने दस मिनट तक तो मुझे अपने से अलग ही नहीं होने दिया. मैं- क्या हुआ भाभी!सुगंधा भाभी- यह तुम्हारी गलफ्रेंड है?मैं- हां क्या आप जानती हैं इसे!सुगंधा भाभी- नहीं … वैसे दिखने में ये मुझसे भी ज्यादा खूबसूरत है. न्यू सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि मकानमालिक की बेटी की चुदाई करते समय उसकी बड़ी बहन ने देख लिया.

मगर इसकी उम्मीद मुझे कम ही लग रही थी क्योंकि लड़की की उम्र उस वक्त 20 वर्ष थी और मैं 41 वर्ष का और एक बच्चे का पिता था. मैंने‌ भी अब एक‌ बार तो उनकी तरफ देखा, फिर चुपचाप अपने हाथ को धुलाई करके पास ही रखे गिलास को उठाकर पानी पीने‌ लग गया. यदि कहानी सफल रही तो पाठकों के आग्रह पर कहानी को आगे भी बढ़ाया जायेगा.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश शॉट

इस पर सुनील ने मुस्कुराते हुए अपना पेग उसकी ओर बढ़ाया तो दीपा ने एक सिप उसमें से ले लिया. तो मैंने उसे हटाया ही नहीं बल्कि उसके बालों को पकड़ कर लंड के जोर जोर से धक्के देने लगा. इतना बोल कर मैं वहां से निकलकर कुछ दूर जाकर अपने दोस्त का इंतजार करने लगा.

दूसरे दिन अकेले में भाबी मुझसे बात करने लगीं- तुम तो बड़े बेसुध होकर सोते हो!मैंने कहा- क्या हुआ भाबी … कोई गलती हो गई थी क्या?भाबी बोलीं- हां गलती हुई थी.

विक्रम का मूसल लंड संजू की चूत को फाड़ते हुए पूरा टाईटली चुत के अन्दर जिस तेजी से जा रहा था … उसी तेजी से बाहर आ रहा था.

फिर मुझे भी इस उम्र में न जाने क्यों गांड मरवाने के सुख की लालसा भी होने लगी थी. उसे अपने ऊपर ले लिया और बोला- अब तुम करो।मुझसे नहीं हो पायेगा।”क्यों नहीं होगा. ब्लू सेक्सी फिल्म मद्रासीमैं बोला- नहीं मेरी रानी, यह तुम्हें पूरे मजे देगा … बस आज थोड़ा दर्द होगा, फिर तो तुम इसे छोड़ोगी नहीं.

क्या कर रहे हो? यार कोई देख लेगा तो बहुत बदनामी होगी।” मैं थोड़ी नाराज होते हुए रोहित से बोली।अरे रुको ना मेरी जान!” रोहित ने मुस्कुराते हुए बोला और उसने मेरे भगांकुर पर अपने अंगूठे को रखकर घुमाना शुरू किया।उई …. वो बोली- आ जाओ यार … अब मुझे चोदो इसी पोजिशन में!बस फिर क्या था … पंकज ने भी उसकी एक टांग अपने हाथों से पकड़ कर उसकी चूत के रस में सने हुए मूसल लंड को घुसा कर सुमन की चुदाई करनी शुरू कर दी. वो मेरा लंड मेरी अंडरवियर में से निकाल कर हिलाने लगीं और कहने लगीं कि वाह आपके लंड का साइज़ तो काफी बड़ा है.

उसने संगीता को 69 की पोजीशन में लिटा दिया और उसके बड़े से भोसड़े पर अपना मुँह लगा कर एक बार फिर से दोनों एक दूसरे के चूत और लंड चाटने चूसने लगे. इस सेक्स कहानी में मेरी मॉम मुख्य भूमिका में हैं उनका नाम कविता है.

मेरी बड़ी चाची भले ही देखने में काली है लेकिन गदरीली मांसल जांघों वाली और मोटी गांड की मालकिन है.

थोड़ी ही देर में वापस आयी वो शादी का जोड़ा और हार लेकर!ज़ारा- ये किसके लिये लाये हो?मैं- तुम्हारे लिये!ज़ारा- मैंने तो नहीं मंगवाया!कहते हुये वो सिसकने लगी. मैं अपने घर पर भी कभी मौका मिलता, तो पड़ोस की भाभी की पैन्टी को अपने लंड पर मसल कर वापस उनकी छत पर रख देता था. आज तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा कमीनी रांड … साली बहुत प्यासी थी तेरी चुत … आह इसकी सारी प्यास मिटा दूंगा … ले चुदक्कड़ आज तेरी मॉम ना चोद दी तो कहना.

हाउस बीएफ मगर मेरे पति मुझे किस करने लगे और प्रीत मेरी कमर पर मुझे किस करने लगा. मैंने अपने हाथ पीछे करके दरवाजे को बंद किया और उसकी तरफ प्यार से देखा.

फिर शुक्रवार की शाम को उसका फ़ोन आया- कल मिल सकते हो?उसकी तरफ से मिलने की सुनकर मेरी तो जैसे मन की मुराद ही पूरी हो गयी हो. फिर भी आप थोड़ा ध्यान रखना क्योंकि आपका लंड मेरे पति के लंड से कहीं ज्यादा मोटा है. मैंने कहा- ओह बहुत दुख हुआ यह सुन कर … और बच्चे?वो बोला- कोई नहीं है … क्योंकि अभी हम लोग मौज मस्ती में ही लगे हुए थे.

बीएफ वीडियो देवी

वो रोज मेरी तरफ ऐसे देखता था जैसे अक्सर लड़की को पटाने वाले लड़के देखते हैं. मैं बोला- मैंने क्या देखा है उनका जो तू मुझसे इतनी उम्मीद के साथ पूछ रही है? मुझे नहीं पता … शायद होता होगा।फिर थोड़ी देर वो चुप हो गई. मैं गया तो उन्होंने मुझसे कुछ कहा तो नहीं मगर उनकी बात सुनकर मेरी गांड फट कर हाथ में आ गयी.

कुछ देर बाद मैंने भाभी की टांगों को जबरदस्ती अपने कंधों पर ले लिया और एक जोरदार प्रहार की चूत की जड़ तक कर दिया. मैं मन मार कर बस में चढ़ गया और कन्डक्टर ने पैसे लेकर मुझे बिठा दिया और खुद बस में पीछे जाकर नीचे ही सो गया.

दो मिनट की मेहनत के बाद ही श्रुति ने मेरे हाथ पर सुसू (कामरस की धार) कर दिया.

अब तक वो अपनी तरफ से सेक्स की बात नहीं करती थी लेकिन धीरे धीरे मैंने उसको खोल दिया. फिर उसने मुझे अपना लंड गीला करने को दे दिया, तो मैंने उसके पूरे लंड को अपने थूक से भर दिया. मैंने होटल की पार्किंग में गाड़ी लगा दी और थोड़ी देर उसके होंठों को चूसा.

मुझे भी बहुत अच्छा लगा और मैं कमरे में आकर आगे के प्लान के बारे में सोचने लगा. अब तक वो भी अब बहुत गर्म हो गई थी और बार-बार बोल रही थी कि अब डाल दो … रहा नहीं जाता. मैंने एक महीने तक तो बिल्कुल बात ही नहीं करी।रोहित मेरी दीदी के फोन पर कालॅ करता और मेरे लिए पूछता या अगर मेरा फोन खुला होता तो मेरे फोन पर काल करता।उसके बाद रोहित ने मुझे चोदने की बहुत कोशिश की बहुत बार मिलने के लिए बुलाता रहा लेकिन मैंने फिर उसे अपनी चूत नहीं दी।मेरी कभी कभी बात हो जाती.

विक्रम फिर से झटके देने लगा और वो संजू की चूत में बेतहाशा वीर्य रस छोड़ने लगा.

भाभी देवर के हिंदी बीएफ: फिर मैंने अपने लन्ड को उसके हाथ में दे दिया।लन्ड की फूली हुईं नसें साफ-साफ दिख रही थीं और सुपारा फूलकर बहुत बड़ा हो गया था. वो फोन लाइन पर ही थी और मेरा लंड उससे बात करते करते खड़ा हो गया था.

हमेशा याद रखें कि औरत झड़ने से पहले और पुरुष झड़ते समय ही सेक्स का आनंद महसूस करता है! इसलिये औरत को ठंडा न पड़ने दें. Email id –[emailprotected]नंगी लड़की के जिस्म की कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 6. मैंने कहा- मैडम दिन में घर के कामों में व्यस्त था, इसलिए रिप्लाई नहीं दे पाया.

मैं अपने ठेकेदार दोस्तों के साथ मिल कर उसको दारू और मुर्गा खिलाउंगा.

उसने उस वक़्त काफी कोशिश की मुझे हटाने की क्योंकि उसे दर्द हो रहा था. अब उसने मेरे लण्ड को अंडरवियर से बाहर निकाला, अपने हाथ में लिया और मेरे लण्ड के सुपारे पर किश करने लगी. अमित ने भी मौके की नजाकत को समझते हुए पूजा की चूत में पूरी जीभ डाल दी और चूसने लगा.