हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स

छवि स्रोत,कोकशास्त्र फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

सिंगार दानी छोटी: हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स, मैंने उसके मम्मों को दबाते हुए ब्रा के ऊपर से ही चूसना शुरू कर दिया.

पियका xxx

वे सुपारे तक लंड को पूरा बाहर निकालते, फिर दम लगाते हुए अन्दर डाल देते. सुहागरात कैसे मनाते हैंमेरा लंड चाची के मुंह में था और ऊपर की तरफ मैंने चाची की गांड को अपने हाथों से फैला कर उनकी चूत को मुंह में भरने की कोशिश शुरू कर दी.

उसने मेरे अंडवियर के कट से मेरे लंड को खींच कर बाहर निकाल लिया और जैसे ही मेरा लंड बाहर आया तो वह मेरे तने हुए 6 इंच के लंड को कई पल तक देखती रही. इनका चोपड़ा का सेक्सी वीडियो”हाय राम … कोई आ गया तो? और इतनी ठंड में मुझे जीन्स और पैंटी नीचे सरकानी पड़ेगी.

मुझे पता है कुछ तो ऐसे सोच रहे होंगे कि काश रश्मि (मेरी बीवी) की चूचियों में वो अपना लंड रगड़ दें और रश्मि की चूत को अपने माल से भर दें.हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स: मुझे तो भाभी के मजे लेने थे, सो रास्ते में ब्रेकर और गड्ढे में जानबूझ कर मैं जोर जोर से ब्रेक लगा देता, जिससे भाभी के नर्म नर्म चूची मेरे कमर में गड़ जाती.

उसके बाद मेरी आँख खुली, तो परवीन के बदन की गर्मी से मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था.उसने अपनी पजामी का नाड़ा फिर से खोल लिया और मैंने उसके सोये हुए लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

अनन्या की नंगी फोटो - हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स

अपने पड़ोसी से चुदने के बाद मुझे अब और ज्यादा सेक्स की आग लग गई थी उसका लंड रोज मेरी चुत के दरबार में हाजिर होने लगा.वहां उन्होंने मेरी नाइटी को निकाल दिया और मेरी चूचियों को ऊपर से दबाने लगे.

मैंने अपना लंड भाबी की चुत पर सैट किया और एक ज़ोरदार झटका दे मारा, जिससे मेरा आधा लंड सीधा भाबी की चुत में घुस गया. हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स उस रात को भी उसने मेरे उभरते हुए नीम्बुओं को खूब दबा दबा कर सहलाया.

साहिल- हम्म … और वो झारखण्ड वाले अंकल का क्या हुआ?हीना- आपको कैसे पता मामा?साहिल- अरमान ने ही बताया था.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स?

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी के साथ मजेदार सेक्स कहानी-2. दीदी बहुत ज़ोर से चिल्ला पड़ी और बोलने लगी- हरामखोर जल्दी बाहर निकाल. भाबी- अच्छा तो इसका मतलब ये हुआ कि तुम सीधा अन्दर आ जाओगे और कल भी तुम आए थे ना?मैं उनके मुँह से ये सुनकर चौंक गया.

साथ साथ उनके दोनों निप्पलों को बारी बारी उंगलियों में दबा कर जोर से मींज भी देता था, जिससे टीना आंटी की चीख निकल जाती थी. उसने कहा- इतना क्या देख रहे हो? वही हूँ पुरानी पूजा!मैंने कहा- मैं पूजा नाम की लड़की को जानता था, आज पूजा भाभी से मिल रहा हूँ।वो थोड़ा शरमा सी गई और बोली- चलो भी अब अंदर … या यहीं करोगे सब?और उसने आंख मार दी।उसने कहा- बैठो, मैं कॉफी बना लूं।कॉफी पीते हुए बातें हो रही थी तो उसने बताया- यार तेरी चुदाई के लिए तरस रही हूँ।मैंने कहा- इतनी तड़फ थी तो गुजरात बुला लेती. मेरी छाती पर बैठ कर फिर खुद आगे की तरफ सरक गयी जिससे उसकी चूत मेरे मुँह पर आ गई। चूत को मेरे मुंह पर लगाने के बाद सुचिता ने जोर-जोर से अपनी चूत को मेरे मुँह पर रगड़ना शुरू कर दिया.

वो दर्द से कराह उठी और उसके मुँह से चीख़ निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’फिर एक मिनट बाद वो ऊपर नीचे होने लगी. तकिया रखे जाने से ऋतु की गांड ऊपर उठ कर आ गई और बिल्कुल सटीक पोजीशन में हो गई. दोस्तो, एक तूफान आकर रुकने के बाद जैसे सन्नाटा छाता है, वैसे ही एक घमासान चुदाई के बाद पूरे हॉल में सन्नाटा छा गया.

वैसे भी मैंने काफी दिनों से चुदाई का आनंद नहीं लिया था इसलिए चुदाई की इच्छा भी तीव्र हो चली थी. वो दर्द से कराह उठी और उसके मुँह से चीख़ निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’फिर एक मिनट बाद वो ऊपर नीचे होने लगी.

वो मेरे सामने से हट गई। उनके आगे होते ही लण्ड फच्च की आवाज के साथ चूत से बाहर निकल गया।मैंने फिर उन्हें अपनी तरफ घुमाया और चूमना शुरू किया। मेरा लण्ड अब भी उनकी चूत पर रगड़ खा रहा था। थोड़ी देर बाद ही वो फिर गर्म हो गयी। मैंने उन्हें अपनी गोदी में उठा लिया और उनकी टांगें अपनी कमर में लपेट ली.

सारी बात मैंने आँटी को बताई तो आँटी ने कहा- अपनी दीदी को जगा कर साथ ही ले जा और जीजा की बाइक से चला जा.

(आह सुमित मेरे चूतड़ों को चाटो और मेरी चुत को चूसो)उसकी इन बातों को सुन कर मुझमें दोगुना जोश भर गया और मैंने उसके चूतड़ों पर कट्टू करना शुरू कर दिया. मैंने अपने आप को संभाला और कहा- फिर मेजबान और मेहमान दोनों तैयार हैं तो शुरू करें पार्टी?उसने कहा- यहाँ नहीं।फिर कहाँ, कहीं और चलना है क्या?” मैंने पूछा. अगले पल उसने मुझे बिस्तर जो कि जमीन पर ही एक गद्दी डाली थी, उसपे लेटा दिया.

राधिका- देख राज … मुझे पता है कि यह गलत है, लेकिन जितना प्यार में तुमसे करती हूं, उतना ही प्यार वो दोनों तुमसे करती हैं. वह मेरे सामने खड़ी ऐसे शर्मा रही थी, जैसे मानो आज ही हमारी सुहागरात हो. मैं बेबी की चूत चोदता रहा, चोदता रहा, वीर्य की आखिरी बूंद निकलने तक चोदा.

उसके काले चमकीले बाल उस टॉप पर उसकी खूबसूरती में चार चांद लगाने के साथ-साथ कितने ही तारे भी साथ में जोड़ रहे थे.

यह बच्चा मामा का ही था, लेकिन ऐसा मैनेज किया गया कि किस अंजान लड़के की जिम्मेदारी आ जाए. नहीं भैया, हमें और कुछ नहीं चाहिए, थैंक्स!” मैंने वेटर से कहा और वो वापस चला गया. फिर मैं धीरे धीरे उसकी यादों से खुद को दूर करने लगा और सोचा कि अब किसी से दिल नहीं लगाऊंगा.

चुदाई करते समय बारिश की ठंडी फुहार और कुछ बूंदें हमारी चुदाईको और भी हसीं बना रही थी. हम दोनों एक दूसरे से अन्जान बनकर चैट कर रहे थे और हमें काफी समय हो गया था. अजय के कुछ कहने से पहले ही उसने उसका लंड अपनी चूत पर लगवा लिया और उसको अपने ऊपर लिटा लिया.

वह मुझे गंदी गालियां दे रही थी।मैं उसकी जांघों को चूमते हुए नीचे आता गया और उसके पैरों की उंगलियां भी चूमीं जिससे ज्योति मचलने लगी और बोल रही थी कि चोदो, चोदो प्लीज़ … तन्मय आज मेरी चूत पूरी रात भर चोदो। अपने लण्ड के पानी से भर दो मेरी चूत.

अगले ही पल भाभी ने मेरी लोअर को खींच दिया और मेरी जांघों को नंगी करते हुए मेरे लंड को अंडरवियर में तना हुआ छोड़ दिया. चुत चाटते टाइम मैंने अपनी एक उंगली उसकी गांड के छेद मैं डाल दी तो वो थोड़ी चिहुँक गई पर मैं उंगली मैडम की गांड में अंदर बाहर करने लगा और जीभ से चुत सहलाने लगा.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स कुछ देर बाद चाची- अरे कोई देख लेगा … किसी को पता चल गया, तो क्या होगा. कुछ देर बाद मैंने उसकी पैन्टी में हाथ डालकर चूत पर उंगलियां चलानी शुरू कर दीं तो उसने अपने चूतड़ उचकाकर पैन्टी नीचे खिसका दी जिसको अपने पैर से फंसाकर मैंने बेबी के शरीर से अलग कर दिया.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स फिर अचानक ही मेरी चूत को उसके लंड से इतना मजा आने लगा कि मुझे समझ नहीं आया कि मेरे साथ क्या हो रहा है. मैं अकेला था और किसी को जानता भी नहीं था तो चुपचाप अकेले किनारे खड़ा था.

पानी देने के बाद वह जब वापस जाने लगी तो चाची की गांड की दरार में उनकी मैक्सी फंस गई और जिससे उनकी गांड उभर कर मुझे साफ-साफ दिखाई देने लगी.

अरे सेक्सी फिल्म हिंदी

फिर वो बेड के कोने पर जा खड़े हुए और मेरे पैर खींच कर मुझे एकदम कोने पर कर दिया और मेरी टांगें उठा कर मुझे पकड़ा दीं. एक दिन में रोज की तरह क्लास में प्रैक्टिस वर्क कर रहा था, तभी वो भी आ गयी. मैंने बहाने से अपने हाथ को नीचे ले जाकर लंड को थोड़ा एडजस्ट करने की कोशिश की तो उसी वक्त काजल की नज़र हल्की सी नीचे की तरफ जाकर मेरी इस हरकत को देख गई.

वो पूछने लगी कि मैं आज दिन में फ्री हूँ क्या?तो मैंने हां बोला, तो वो बोली- यार दो महीने हो गए जयपुर आये हुए … मैंने अभी जयपुर ही नहीं देखा है. थोड़ी देर बाद नौकर बहुत सारे ड्राईफ्रूट्स और दूध लेकर आया। मैं भूखा होने के कारण जल्दी से वो सब चट कर गया और थोड़ी देर इन्तजार करने के बाद जब कोई नहीं आया तो मेरी भी आँख लग गयी।लगभग दोपहर के 2 बजे मैडम आयी और उन्होंने मुझे उठाया. वो देखने में हट्टा कट्टा था और उसको देख कर लगता नहीं था कि वो 40 को पार कर गया है.

नमस्कार दोस्तो, मैं देव कुमार जयपुर से आपके लिएआंटी की प्यासी जवानी मांगे लंड-1से आगे का भाग लेकर आया हूँ.

हालांकि बेजन्ता आंटी शायद मेरे बारे में ऐसा नहीं सोचती थी पर मैं तो रोज उसे सपनों में चोदता था. जोर-जोर से उसकी चूत को चूसने लगा और वो जल्दी ही झड़ गई और फिर शांत हो गई. जैसा कि आप लोगों को बता चुका हूँ कि मेरी बीवी और मैं अपने दांपत्य जीवन में सेक्स के अलावा बाकी सारे सुख भोग रहे हैं.

मैंने सोच लिया था कि अब मैं चाची को आराम से गर्म करने की कोशिश कर सकता हूँ. मैंने गाड़ी को अनलॉक किया और काजल ड्राइवर की बगल वाली सीट पर बैठ गई. कमरे में जाकर देखा तो बेड दो थे लेकिन उसको एक साथ जोड़ कर डबल बेड बना दिया गया था.

वह भाभी की चूत में जाने के लिए जैसे भीख मांगने लगा था मगर भाभी थी कि उस पर जरा भी दया नहीं कर रही थी. अब मैंने अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया, वो चूस रही थी लेकिन मेरी उत्तेजनाओं को काबू में नहीं कर पा रही थी तो मैंने दोनों हाथों से उसका सिर पकड़ लिया और उसके मुंह को चूत समझकर चोदने लगा.

जब उसका वीर्य मेरे मुंह में गिरने लगा तो मैंने लंड को बाहर निकालने की सोची मगर उसने मेरी गर्दन को पकड़ रखा था और दूसरे हाथ से मेरे सिर को भी अपने लंड पर पूरी ताकत के साथ दबा दिया था. मैं अन्तर्वासना शायद तब से पढ़ता आ रहा हूँ, जब से मेरे लंड ने होश संभाला है. मैं ऐसा नहीं करना चाहता था क्योंकि इससे दोनों ही फैमिली में झगड़ा शुरू हो जाता और दोनों ही परिवारों की बदनामी होने का भी डर था इसलिए मैंने उसकी बात नहीं मानी और उसको समझाने की कोशिश की.

मैं उसकी टांगों के बीच आया, उसकी चूत के खुले हुए लबों के बीच लण्ड का सुपारा रखते हुए कहा- ये लो बेबी.

उसकी कसरत की क्लास सुबह 4 बजे से शुरू होती थी और 11 बजे तक चलती थी. अब और बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैं उसको नीचे देखने गया तो दोनों बहनें आपस में बात कर रही थी. फिर मैंने एक किस उसकी गर्दन पर किया तो उसके मुँह से प्यारी सी आह्ह निकली।मैंने फिर 3-4 किस उसके कंधों और गर्दन पर जड़ दिए.

भाभी भी मेरे लंड को ऊपर से हल्का हल्का सहला रही थी और मादक सिसकारियां ले रही थी- ऑईईई …तभी भाभी बोली- पहले दरवाजे को कड़ी लगा दो. ये सब दलीलें सुनकर मेरे घर वाले मान गए और थोड़ी ना नुकुर के बाद चाची के घर वाले भी ये सोच कर मान गए कि उनकी बेटी का घर फिर से बसने वाला था.

तुम शादी से पहले मुझे ऐसे ही अपना मुट्ठ पिलाते रहोगे ना?मैंने कहा- हां, जैसा तुम कहो. मैंने अपने होंठों से उसके गाल की मुलायम त्वचा को पकड़कर चूसना चालू कर दिया. तभी मामा ने मुझे रोकते हुए कहा- अरे शकील, कल तुम जॉब से सीधे यहीं आ जाना.

कुंवारी फिल्म सेक्सी

वो तो शराब में ही डूबा रहता है मुझे देखने का टाइम ही कहां है उसके पास.

दीदी के ब्लाउज के बटन पूरे न लगे होने के कारण उनका एक निप्पल मुझे दिख गया. ब्रा और पैंटी पहनने के बाद मैंने एक गुलाबी रंग की ही पारदर्शी नाइटी भी पहन ली. वो बोली- आप तो उस दिन के बाद ऐसे गायब हुए कि आज 2 महीने बाद मिले हो.

फिर वो बोला कि कल वो मेरे घर आयेगा और वहां पर आकर बाकी की सारी डिटेल बतायेगा. मेरे दिमाग में एक फैंटेसी थी कि मैं मधु को रश्मि के सामने भी चोदता रहूँ, तो रश्मि मुझसे गुस्सा नहीं, सिर्फ प्यार करे. सेक्स लव सेक्सपर पता नहीं मुझे क्या हुआ … उससे बात करते करते मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.

लेकिन उसकी बुर से खून निकलने लगा और वो रोने लगी तो मैंने उसके मुँह पर हाथ रख दिया. कभी बाहर घूमने चले जाते तो कभी साथ में आइसक्रीम खाने के लिए निकल जाते थे.

लेकिन तब भी मैं अन्दर जाते हुए खिड़की से उसको एक बार जरूर देखता कि वो क्या कर रही है. अब तक मैडम के अंदर से भी डर चला गया था तो वो भी एन्जॉय करने लगी और कहने लगी- और चाटो … पूरी जीभ डालकर चाटो. लेकिन तभी बस ने ब्रेक लगाए और एक झटका इतनी जोर लगा कि मुझसे सम्भला ही न गया और मेरे चुचे उसकी छाती से रगड़ खा गए.

यह कह कर अंकल ने ऊपर से धक्के देना और तेज कर दिए और आंटी के बड़े स्तन चूसने लगे. मैं शर्म भूलकर दोनों चूचियों पर हाथ रखकर बोली- अंकल धीरे से दबाइएगा, मुझे दर्द होगा. मैं इस पल को यादगार बनाना चाहता था … इसलिये मैंने अपनी पैन्ट की जेब से डेरी मिल्क का पैकेट निकाला.

अब मैं भी समझ गया था कि इस भाभी को शांत करने के लिए तो कामदेव को भी अपनी सारी ताकत झोंकनी पड़ जाये.

मानसी बोली- ऐसा क्या पता चला दीदा आपको?हेतल ने आगे बताया:उस दिन घर पर कोई नहीं था. मैं तो बस इसी बारे में एक रिक्वेस्ट करने आया था आपसे बात करने के लिए.

इस गर्माहट के वजह से मुझे पेशाब लगने लगी, मैंने गैप में हाथ डालकर लंड को मुट्ठी में लिया और नम्रता से अपनी कमर को थोड़ा उठाने के लिये बोला. दोस्तो, पहले तो मुझे लगा ये मजाक कर रही है, लेकिन फिर भी मैंने मूवी हॉल के बाहर पहुंचते ही उसको मैसेज कर दिया. फिर मैंने श्वेता मैडम को बेड पे लिटा दिया और उनके पैरों के बीच आ गया.

आंटी की चुदास बता रही थी कि वो चुदाई की ललक में कितनी अधिक बेबस थीं. दीक्षा बहुत ही मादक सिसकारियां ले रही थी, जो मुझे और मदहोश कर रही थीं. वो जोर-जोर से ऊह्ह आह्ह … कर रही थी और बोल रही थी- और जोर से चोदो जान … बहुत मजा आ रहा है! और तेज … और तेज चोदो … और चोदो … आज मुझे अपनी बना लो.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स आह … मर गई … कल रात ही तो किया था यार … अब बाहर भी निकालो … जलन हो रही है. मैंने उसकी ओर देखा तो वो एकदम बोला- पाना!मैंने कहा- क्या?पाना पकड़ना है पाना!” वो हिम्मत करके बोला।:पाना?” मैं उसकी ओर देख कर बोली.

ब्लू पिक्चर चाहिए हिंदी में सेक्सी

कुछ ही देर बाद हम दोनों चरम पर आ गए और मैं सुमन भाभी की चूत के अन्दर ही झड़ गया. मैंने उसे कंडोम से चुदने को कहा, तो उसे कंडोम वाला सेक्स पंसद नहीं था. मेरी नजर तुरन्त ही घड़ी पर गयी, तो देखा कि कॉलेज जाने का टाईम हो रहा था.

मैं तुमको भरोसा दिलाता हूँ मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा।फिर वो नॉर्मल हो गयी. ये सब पहले मुझे अजीब लगा, लेकिन फिर मैं भी अपने होश खोकर उसका साथ देने लगा. सजनी सजनीअगली चुदाई कहानी तक के लिए नमस्कार, प्लीज़ कमेंट करके मेरा उत्साहवर्धन ज़रूर करना.

मैं क्या करूँ मुझे समझ नहीं आ रहा था इसलिए मैं उनसे सामने जाने से कतरा रही थी.

फिर साहिल के अंदर काम वासना जागने लगी और उसने हीना की कमर पर हाथ डाल दिये और उसके होंठों को किस करने लगा. वो अन्दर आ गई और बोली- मैं अपनी बहू को यह कहकर निकली हूँ कि मैं नारायण नगर जा रही हूँ.

शिशिर तो मेरे पति से बहुत दमदार चुदाई कर रहा था और मुझे उनसे चुदवाने में बहुत आनन्द आ रहा था. मैंने कहा- ऐसा करते हैं कि तुम अपना फोन नम्बर मुझे दे दो और मेरा भी ले लो. उसने खुद अपने हाथों से मेरा मोटा लंड अपनी रसीली चुत पे सैट किया और मेरे लंड के ऊपर चढ़ गयी.

फिर एक दिन मैंने उससे कहा- कल यानि हैप्पी न्यू ईयर को मुझे तुमसे ख़ुशी चाहिए.

वह भी मेरे साथ चालाकी दिखाने की कोशिश कर रही थी कि कहीं मुझे ये पता न लग जाये कि उसने कॉन्डोम के पैकेट को देख लिया है. अब जब भी वक़्त मिलता, तो मैं उसे बहला फुसलाकर अपने पास बैठा लिया करता और उसके गाल पर किस कर लेता, वो भी जवाब देने लगी थी. क्लास में मैंने बात अपनी सहेली को ये बात बताई तो उसने कहा- शादी से पहले मेरा भी एक ब्वॉयफ्रेंड था.

न्यू लड़कीआह्ह … रेखा … सक इट… (चूसो इसे) … ओह बेबी … उफ्फ … तुम तो बहुत अच्छे से लंड चूसती हो. मेरा गार्मेन्ट्स का बिजनेस है और मेरी बीवी ऋतु (बदला हुआ नाम) 25 साल की है.

देहाती घरेलू सेक्सी वीडियो

कुछ देर तक उसके रसीले होंठों का रस पीने के बाद मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपने लंड पर रखवा दिया. पर एक दिन बाहर गाँव में रिश्तेदार की शादी थी, इसलिए घर में से सास ससुर और देवर तीनों चले गए. मैंने उसके लंड को अपनी आंखों से देखने के लिए रजाई को थोड़ा सा साइड में से उठा दिया और कुछ रोशनी अंदर आने लगी.

मैंने देखा कि कई बूढ़े आदमी भी सामने से आते हुए उसकी चूत की लाइन को ताड़ रहे थे. यात्रा बस संचालक के साथ मैं कई बार यात्रा कर चुका था इसलिए वो मुझसे आग्रह करने लगा. मैंने मामी से पूछा कि ये जनाब कौन थे?मेरी मामी बोलीं- मेरे पहचान वाले थे.

वो जब देखो तब सेक्स की ही बातें करती थी और अपने बॉयफ्रेंड को लेकर डींगें मारा करती थी. भाभी बोली- मेरा एक काम करोगे राज?मैंने कहा- जी भाभी बोलिये?मैं आंखें नीचे करते हुए ही बोल रहा था. तो वो बोली- अचानक तुमने मेरी चूत पर पेशाब करना शुरू कर दिया, तो गर्म धार की वजह से ऐसा हो गया.

रात को उसका कॉल आया कि चूत से खून की बूंद हर बार टॉयलेट जाते समय आ रही ही, कुछ होगा तो नहीं?मैंने कहा- कुछ नहीं होगा. मैंने अपने कपड़े निकाले और एक एक करके चाची के सारे कपड़े निकाल दिए.

मैंने उसे अपना नंबर दे दिया।जब मैं सौरव को नम्बर बता रही थी तो बाकी छात्र हम दोनों की तरफ ही देख रहे थे। मैं आराम से आकर सीट पर बैठ गई।मेरी दो-चार सहेलियाँ भी आ गईं, मुझसे पूछने लगीं- क्या चक्कर चल रहा है तेरे और सौरव के बीच में?मैंने मजाक में कह दिया कि वो मेरा नंबर मांग रहा था तो मैंने दे दिया।मेरी सहेलियाँ भी खुश हुईं और मैं भी हँसने लगी।जब घर पहुँची तो मोबाइल देखा.

दूर-दूर तक सुनसान रास्ता था और रोड पर गाड़ियां भी बहुत कम चल रही थीं।रात के करीब 8 बज चुके थे और मुझे भूख लग रही थी, मगर आस-पास दूर-दूर तक कुछ नहीं था।तभी अचानक मेरे सामने जंगल में से भागता हुआ एक नीलगाय (हिरन जैसा जानवर) मेरी कार के सामने आ गया. मोटा लंड छोटी चूतउस वक़्त कमरे में लाल रोशनी जल रही थी और उस लाल रोशनी में उसका दूधिया बदन बिल्कुल सोने के जैसा चमक रहा था. खेत में चुदाई वीडियोमेरी मम्मी को यह बात पता थी कि मैं जीतू से फ़ोन पर बात करती हूँ लेकिन मम्मी को इस बात से कोई एतराज नहीं था क्योंकि जीतू मेरे पापा के दोस्त का बेटा था और वो लोग हमारी फॅमिली की तरह थे. मेरे बारे में बता दूँ कि मैं पतला और लंबा इंसान हूँ और लंड भी ठीक ठाक है.

मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि देखने वाले की नजर सबसे पहले उनके चूचों पर जरूर पड़ेगी.

जब मैं उसकी गांड की चुदाई करने लगता था, तो वो अपनी पुत्तियों को मसलने लगती, या फिर उंगली चूत के अन्दर डालने लगती. उसका कहना था- तुम नहीं थके तो आ जाओ, मैं भी तैयार हूं जंग के लिये।फिर मैंने अपना लिंग एक ही झटके में अंदर डाल दिया और अक्षिता के मुँह से फिर एक सिसकारी निकली. मेरे कॉलेज पहुंच जाने के बाद उसने मुझे फोन किया और पूछा- तुम ठीक हो ना?मैंने कहा- हां.

मगर उसके पति को जॉब के कारण समय नहीं मिल पाता था। काफी समय वहां रहने के बाद मेरी ज्योति से पहचान हो गई व बात भी होने लग गई।ज्योति को मैं भाभी कहता था मगर ज्योति को ये अच्छा नहीं लगता था, वो बोलती थी- मुझे भाभी मत बोला करो. कोई जवान लड़की अपने प्रेमी को भी इतना प्यार नहीं देती होगी जितना कि हीना साहिल के जिस्म को दे रही थी. मैंने उससे यूं ही पूछ लिया कि आजकल तुम मुझे व्हाट्सैप पर रिप्लाय नहीं देती हो.

चुदाई सेक्सी मूवी वीडियो

जब नम्रता को बर्दाश्त नहीं हुआ, तो उसने लंड को पकड़ा और थोड़ा आगे की तरफ खिसककर लंड को अन्दर ले लिया और अपनी कमर को चलाने लगी. जैसे ही भाभी ने मेरे कॅप्री को देखा, तुरंत मेरे लंड को कॅप्री के ऊपर से ही पकड़ कर बोला- तुम भी इसको उतार फ्री होकर मेरी मालिश करो. मैंने बोला- तो तुम्हें यह बात टेंपो में पता नहीं चली? जब मैं अपनी आंखों से तुम्हारा ब्लाउज फाड़ कर तुम्हारी चुचियों को काट रहा था.

मेरे कंठ से मस्त आवाज उसको जोश दिला रही थीं- आआह आह मेरा बेटा आह आई लव यू सन.

आह-अह … हीना … रंडी … ले ले मेरा लंड … आह … करते हुए मैंने लंड को रगड़ दिया.

एक तरफ आंटी को खुश कर दिया था और दूसरी तरफ मुझे चोदने का प्लान बना लिया था. अब आप रिसॉर्ट बुक करो … और हां मुझे जाने से पहले थोड़ा शॉपिंग भी करना है. हाथों से खेलने वाला गेमथोड़ी देर में ही डॉली की थकावट दूर हो गई तो मैंने लेटे लेटे ही ट्रेन स्टार्ट की.

अब तो उल्टा मेरे घर जाने का समय हो गया था लेकिन घर जाने की हिम्मत नहीं हो रही थी. फिर वो तारीख़ मुझे आज भी याद है जब 18 नवम्बर 2017 को मैंने उसे एक नए नम्बर से व्हाट्सैप मैसेज किया. मैंने कुछ देर चुत चाटने के बाद उसे छोड़ा क्योंकि मैं उसे झड़ने नहीं देना चाहता था.

मुझे इसी सब से प्रेरणा मिली और अपनी ये अगली चुदाई की कहानी लिख पाया हूँ. आपने मेरी बीवी की गांड चुदाई की पिछली कहानीवाइफ की गांड चुदाई इनकमटैक्स ऑफिसर सेपढ़ी होगी.

मेरा लंड लोअर में से ही उसकी मुलायम गांड की दरार में दस्तक दे रहा था.

जैसे ही मैंने उनके पैर पर हाथ रखा और दबाया, तो मैं उनके पांव की नरमाई को देखता ही रह गया. जैसे ही मेरी नज़र वसुन्धरा की नज़र से टकराई तो मारे शर्म के, वसुन्धरा ने फ़ौरन अपने दोनों हाथ अपनी आँखों पर रख कर करवट ले कर मेरी ओर पीठ कर ली. तूने मेरी जरूरत पूरी कर दी, अब मैं तुम्हारी जरूरत पूरी कर देती हूं.

देवर भाभी की सुहागरात सेक्सी वीडियो मैंने उसको एक झापड़ मारा और बोली- साले मादरचोद … रखैल नहीं, बीवी बनाना है. वो दर्द से कराह उठी और उसके मुँह से चीख़ निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’फिर एक मिनट बाद वो ऊपर नीचे होने लगी.

मैंने पूछा- मैम, मज़ा आया कि नहीं?तो उसने कहा- हाँ!और कहा- तुम चुत अच्छी चाटते हो! आज तक ऐसी कभी किसी ने नहीं चाटी मेरी!मैंने कहा- लेकिन मैम, मुझे आपकी चुत मारनी है!तो उसने कहा- फिर कभी!पर मैं जोर देने लगा तो वो तैयार हो गई. मैंने सोनम के साथ क्या क्या चैटिंग में लिखा है, कभी कभी सोना खुद भी चैटिंग पढ़ लेती थी. मैं- ओहो आंटी … अब मेरी रांड और कुतिया बनी हो, तो अपने इस यार से अपनी गांड का भी उद्घाटन करवाना ही पड़ेगा.

कुंवारी लड़की का सेक्सी वीडियो दिखाइए

मैंने उसको बताया कि मुझे एक हॉट फिगर वाली लड़की चाहिए, जो आगे से और पीछे से मस्त दिखती हो. अंत में मैं आंटी की चुत में अपना लावा उगल दिया और आंटी के ऊपर ही ढेर हो गया. और उसके बाद से मैंने अपनी बीवी को कभी भी अकेली नहीं रहने दिया।आपको मेरी बीवी की चुदाई की यह सच्ची कहानी कैसी लगी? अपने विचार और सुझाव मुझे कमेंट्स में बता सकते हैं।.

इस सेक्स कहानी के पहले भागमैडम ने जिगोलो बनने का रास्ता दिखाया-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे साथ काम करने वाली श्वेता मैडम के साथ मेरी काफी नजदीकी बढ़ चुकी थी. आंटी अब जोरों से कंपते हुए चिल्लाने लगी थीं- बहनचोद अब क्या जानलेकर रहेगा … चोद दे कमीने … फाड़ दे मेरी चुत … आह लौड़ा ठोक इसमें … अपनी कुतिया रांड पर लौड़े की दया कर … मेरे देव राजा, मेरे मालिक … चोद दे प्लीज़.

विक्की ने मेरी चूत को अच्छी तरह से गीला कर दिया और अपना लंड डाल दिया.

कुछ दूर चलने के बाद उसमें एक बहुत ही सुन्दर लड़की आकर मेरे साथ बैठ गई।क्या बताऊं दोस्तो, उसकी उम्र 21-22 साल के आस-पास थी. तभी अचानक बहुत तेज बिजली की आवाज आई और वो डर कर मेरी बांहों में आ गयी. तनाव इतना प्रबल था कि मेरी जांघ न चाहते हुए भी काजल की जांघ को धकेलती हुई थोड़ी सी फैल गई और कोशिश करने लगी कि काजल की उंगलियां मेरे लंड को पूरा का पूरा कवर कर लें.

पवन अपना हाथ मेरी कमर के पीछे से निकालते हुए मेरे हाथ पर रखते हुए बोला- मैडम, आपने तो कहा था कि आप एक बार पकड़ने के बाद छोड़ती नहीं पर आपने तो बहुत ढीला पकड़ा हुआ है, आज थोड़ा टाइट पकड़ लो नहीं तो फिर गाड़ी तेज कैसे दौड़ेगी. मैं बोली- जल्दी से लंड घुसा दे मेरी चुत में, मैं बहुत तड़प रही हूँ. भाभी गांड उठाते हुए बोल रही थी- आह डाल दो पूरा … मेरी चुत में आआह … फाड़ दो मेरी चुत को … आह राज प्लीज़ जल्दी डालो … आआह.

यदि सुबह जिम में मिलना बहुत जरूरी हो, तो मैं कल सब काम छोड़ कर जिधर तुम कहोगे, आ जाऊंगी.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स: उसके हाथ का टच होते ही मेरे शरीर में सनसनी दौड़ गई उसकी आंखों में देखने लगी. उसने पूछ लिया- तुम्हारे कितने बॉयफ्रेंड हैं?मैं- कितने से क्या मतलब है तुम्हारा? एक ही तो होता है और फिलहाल मैं अभी सिंगल ही हूं.

अब मैं अपना ध्यान काम पर लगाने लगा और कभी अनुषी दिख जाती, तो कुछ कुछ होने लगता था. मैंने बोला- पर चुत चिकनी रखती हो … ऐसा क्यों?वो- नहीं बाबू … आज ही साफ़ की है, जब आपने बोला कि यहीं रुक जा, मैं तब ही समझ गयी थी कि आज आप मेरी चुदाई करोगे. एक दिन भाभी मेरे घर पे आयी और उसने बताया कि अजय 3 दिन के लिए बाहर जा रहा है.

अंकल ने मेरा दुपट्टा हटाया और चूची पकड़ते हुए बोले- तेरे कबूतर बड़े सुन्दर हैं.

कुछ देर टीवी देखते हो गई तो मानसी मौसी के लिए दूध गर्म करके ले आई थी. अब भाभी के मुँह में मेरा लंड एक मोटे और बड़े लंड में तब्दील हो गया था. मुझे घर पर सवाल समझ नहीं आ रहे थे, तो मैंने देखा कि अमित की नोटबुक पर उसका नंबर लिखा था.