बुर बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,आर्केस्ट्रा नंगा नाच

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती चोदाई: बुर बीएफ सेक्सी, यह कहते हुए शीना अपना घूंघट उठा कर मेरे ऊपर कूद पड़ी और बिल्कुल जंगली जानवर की तरह मुझे नोचने लगी.

अमेरिकंसेक्स

मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि शालिनी को मेरे लंड से आनन्द मिल रहा था. गांव की chudaiमेरी लाइफ से जुड़ी कुछ अन्य रोचक सेक्स कहानियां हैं, वो सब मैं आप सभी के आदेश पर फिर कभी बताऊंगा.

तभी पिंकी ने नीचे बैठ आकर राहुल का टॉवल हल्का सा हटाया और उसका लंड मुँह में ले लिया. लड़कियों का फोटो दिखाइए” नीलम ने परेशान होते हुए कहा।अरे तो क्या हुआ बेटी, तुम चिंता मत करो वैसे भी मेरे नालायक बेटे ने तो इतने सालों से बच्चा जना नहीं, अगर मुझसे तुम्हें बच्चा होता है तो इससे अच्छी क्या बात होगी.

उसने मजा लेते हुए आगे कहा- क्या मीटिंग्स अब रेस्टोरेंट्स में हुआ करेंगी?मैंने कहा- नहीं शिवानी, ऐसी कोई बात नहीं.बुर बीएफ सेक्सी: और मुझे बोले- तुम जितनी सुन्दर हो, उतना ही अच्छा खाना बनाती हो।अपनी तारीफ सुन कर मुझे अच्छा लग रहा था।उन दोनों को ही शराब चढ़ चुकी थी.

वो एक संदेश भी छोड़ गए थे, जिसमें लिखा था कि मैं बच्चे को ले जा रहा हूँ.फिर काका हमारी माँ को वापस पलट कर उनका दूध पीने लगे। वे अपनी जीभ से मम्मी के नुकीले निप्पलों को चुभलाने लगे।फिर गुलाब काका ने अपने घुटने नीचे धरती पर टिका दिए और हमारी मम्मी की पैंटी को भी अपने दोनों हाथों की उँगलियों को पैंटी में फंसा कर उतार दिया। अब मम्मी पूरी नंगी खडी थी.

सैक्सविडो - बुर बीएफ सेक्सी

वो मेरी टी-शर्ट निकालने लगी, मैंने हाथ आराम से उठा दिया … जैसा मैं भाई ले लिए करती थी.तभी मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दी और उसकी चूत के पिंक होंठों को किस करने लगा, तो वो तो जैसे पागल ही हो गयी थी.

शहर तक रोज़ आने जाने के झंझट से छुटकारा पाने के लिए उसने उधर ही एक रूम किराए पर ले लिया और वहां रहने लगी. बुर बीएफ सेक्सी इस वक्त मेरे अन्दर तो आग पहले से ही सुलगी हुई थी … मेरे सोचने समझने की शक्ति मानो खत्म हो चुकी थी.

लेकिन कल मेरी अन्तर्वासना को टटोल कर उसने मुझे बेशर्म बनाने पर मजबूर कर दिया था.

बुर बीएफ सेक्सी?

अरे बेटी इतनी भी क्या जल्दी है, अब तो हम दो जिस्म एक जान बन चुके हैं फिर भी तुम इतना शर्मा रही हो?” महेश ने अपनी बहू को कलाई से पकड़ते हुए कहा और उसे अपने साथ अंदर ले जाते हुए शावर के नीचे खड़ा कर दिया।पिता जी छोड़िये न … हमें शर्म आ रही है. मेरा पेनिस यह सोचकर खड़ा हो गया था कि जल्द ही ये जवानी मुझे एन्जॉय करनी है. मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और फिर उसे लेकर बाथरूम में आ गया।कहानी जारी रहेगी.

उसने अपने निचले आधे हिस्से को उसके ऊपर धकेल दिया और ऐसा महसूस किया जैसे उसके कपड़ों के ऊपर से कुछ अंदर चला गया हो. हर बार जब अंकित धक्का मारता था जवाब में शबनम नीचे से अपने कूल्हों को उछाल कर उसका साथ दे रही थी. ”अरे मेरी जान इसमें शर्म की क्या बात है यह तो भगवान् का एक पवित्र और और नैसर्गिक कार्य है हम तो बस एक माध्यम हैं.

फिर उसने मेरी माँ को पेट के बल लेटा दिया और माँ के पूरे शरीर को सहलाने और चाटने लगा. मेरे निवेदन है सही से पढ़िये और पूर्ण ज्ञान के साथ आनन्द लीजिये!एक बार फिर से आपके प्यार भरे मेल के लिये शुक्रिया. फिर उसने भी सॉरी बोला और बताया कि मैंने ही तुम्हें कंधे पर दोहत्तड़ मारा था इसलिए मुझे भी सॉरी बोलना चाहिए.

वो अपने हाथों से मेरे सर को दबाते हुए चिल्ला रही थी- आआहह जानू … ऊओह … बेबी फक माय पुसी बेबी … अयाह कम ऑन फक मी … सक मी हार्डर. आज यही कारण है कि मैं भी तुम्हें जानती नहीं थी और तुम्हारे साथ एक अजीब सा रिश्ता बना लिया.

देव कभी मेरी गाण्ड में भी उंगली फिरा देता था तो कभी चूत में उंगली डाल रहा था। मेरी चूत रस बहाने लगी, मेरी चूची सख्त होने लगी.

अब दादा जी मेरे पीछे से डालने लगे और मैंने अपनी टांगें चिपका लीं, ताकि उन्हें लगे कि लंड चुत में जा रहा है और वैसा ही हुआ.

मैंने उससे पूछा- मजा आया या नहीं?उसने शर्माते हुए बताया- बहुत मजा आया, आज से पहले ऐसा मजा कभी नहीं आया था. मैंने अन्दर जाकर देखा, तो भाभी ने अपना ड्राइंग रूम बहुत अच्छे से सजा रखा था. मैं तुरंत लंड को उनकी गांड पर रगड़ा और आंटी गांड को फाड़ कर अपने हाथों से पकड़ ली.

हम दोनों की इस बात पर वेरोनिका और एना ने ताली बजा दी और ओके बोल दिया. वो मस्ती में बोली- हाय देखो आज कैसी अय्याशी चल रही है, मेरे एक हाथ में जाम है … एक दोस्त मेरे बदन की मालिश कर रहा है … मेरा पति बाहर गया हुआ है. कुछ दिन के बाद मुझे मेरे बैग में एक पर्ची मिली, जिसमें लिखा था:मैं वही हूं, जिसने उस दिन बाथरूम में तुम्हारे बोबे चूसे थे और मुझे पता है कि तुम्हें उस दिन मेरा तुम्हारे मम्मों को चूसना और तुम्हारी हॉट बॉडी के साथ खेलना बहुत मज़ा दे गया.

अगर आपने अभी तक किसी के साथ भी सेक्स नहीं किया है तो लड़की को छूते ही वीर्यपात सामान्य बात है.

” समीर ने नीलम से कहा।हाँ मेरा ही क़सूर है, मगर तुम अपनी बहन के साथ … छी! छी… मुझे सोचते हुए भी शर्म आती है. वो मेरे कमरे पे शाम में ही आ गयी और अपने घर पे बता दिया कि उसे ऑफिस के काम से 2 दिनों के लिए बाहर जाना है. इस कहानी को पढ़कर आप अपने लौड़ों को हिलाने और चूत में उंगली करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे, ये मेरा दावा है.

ज़रीन जाते जाते मुझसे बोली- घर के कामों के बीच और पैसे कमाने की होड़ में मैं इतनी बिजी रहती थी कि ऐसे पल भूल ही गयी थी. उसकी आधुनिक ड्रेसेज के साथ उसके तन पर कई तरह के कॉस्मेटिक्स और डीओ दिखने लगे और उसके चहेरे पर एक अलग सी चमक दिखने लगी. फिर मैं उससे इतना भी नहीं खुली हुई थी कि उसकी निजी जिंदगी में किसी तरह की बात करूँ.

मैंने उसकी पैंट निकाल दी तो वो मेरे सामने केवल पैंटी में ही रह गई थी.

मैंने उनकी आँखों में देखते हुए आठ दस बार लंड के सुपारे को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा. मोहन भैया मुझे लगातार किस कर रहे थे, तो अब मैं भी उनका साथ देने लगी.

बुर बीएफ सेक्सी वो चिल्ला नहीं पायी लेकिन उसकी आँखों से आंसू आ गये और मुझे धक्का देने लगी. दोस्तो, वन्दना की एक खासियत है कि वो किसी भी तरह के सेक्स को न नहीं करती.

बुर बीएफ सेक्सी अभी उनका पानी नहीं निकला था पर वे ढीले दिख रहे थे, लंड भी ढीला पड़ गया था. लेकिन उसके लिए कोई भरोसेमंद अनुभवी पुरुष चाहिये जो मुझे (अमित) आप में (राज) में दिखता है.

जैसे जैसे मैं उसकी जांघों में अन्दर की तरफ हाथ ले जाता, वो और गर्म हो उठती.

न्यू देसी बीएफ वीडियो

एक बार अपने ससुर के लंड की सवारी करते हुए और दूसरी बार उल्टी कुतिया की तरह अपने ससुर से चुदवाते हुए।दोनों बुरी तरह से थक चुके थे और दोनों एक दूसरे से अलग होकर बेड पर लेटकर हांफ रहे थे।पिता जी, आपने दो बार मेरी चूत में अपना वीर्य गिराया है, मुझे तो डर लग रहा है कि कहीं मैं आपके बच्चे की माँ न बन जाऊं क्योंकि आपका वीर्य सीधा मेरी बच्चेदानी में गिरा है. फिर उन्हें तेल की शीशी दिखाई दी तो वे लपक कर उठा लाए और अपनी उंगलियों पर डाल कर चुपड़ने लगे. फिर मैंने ही चुदाई का खेल शुरू किया और पहले उसको अपनी तरफ खींच कर उसके होंठों पर किस किया.

मेरी इस हरकत से भाभी एक बार के लिए चौंक गईं, क्योंकि भाभी को मालूम नहीं था कि मैं भाभी की गांड के साथ खेलूंगा. खैर उसके बाद हमने सिंगर को स्टेज पर छोड़ा और अपना आगे का काम करने लगे. लेकिन शायद उसका लंड ज्यादा अन्दर तक चला गया था, जिस वजह से फिर मुझे दर्द होने लगा.

मेरे होंठों को किस करते हुए उसने अपनी दो उंगलियां एक झटके के साथ मेरी चुत के अन्दर डाल दीं.

दोस्तो, मेरी सेक्स कहानीमौसी की बेटी ने चुदाई का मजा दियाको आप लोगों ने ढेर सारा प्यार दिया. मैंने महसूस किया कि रचना के चेहरे से साफ़ लग रहा था कि वो मेरी गैरहाजिरी की बात सुन ख़ुश हो गयी है. यहाँ मेरी हालत बुरी थी, वहां उसकी, मेरा लंड फटने जैसा हो चुका था, पर मुझे अपने आपको कण्ट्रोल करना था … जो कि बहुत ही मुश्किल काम था.

नितिन उसको पहली बार देख रहा था। दोनों टांगो के बीच बसी हुई मेरी नन्ही सी नाजुक गाजरी गुलाबी रंग की चुत के ऊपर छोटा सा मदनमणि चुत के गीलेपन से चमक रहा था।अभी अभी हुई चुदाई की वजह से उसका छेद खुला ही रह गया था और अंदर का गुलाबी मांस दिख रहा था, टांगें फैलाने से उसकी नाजुक पंखुड़ियाँ भी फैल गयी थी।नितिन मेरी चुत को बिना पलक झपकाए देखे जा रहा था. ख़ास तौर से किसी भी लड़की को गलती से भी मत छूना … क्योंकि यहां अमीर घरों की बिग्ड़ी औलादें आने वाली हैं. मैं मुश्किल से दो अढ़ाई घण्टे ही सोया था कि किसी के जोरों से हिलाने‌ के कारण मेरी नींद खुल‌ गयी.

आप मेरी कहानी पे कमेंट जरूर करना ताकि अन्तर्वासना पर मेरी रसीली कहानियों का सिलसिला यूं ही चलता रहे. उसके अंदर की पतिव्रता स्त्री ने अब हवस भरी कामुक स्त्री का रूप ले लिया था.

मैंने सोचा क्यों ना इसको ज़्यादा खोलने के लिए शिवानी की सहायता ली जाए. अब कमलेश ने उसका टॉप उतार दिया और ब्रा के ऊपर से उसके चूचे ही दबाने लगा. जैसे ही शीना संजना के घर से निकली वैसे ही मैंने जाकर दरवाजा बंद कर दिया और आकर संजना के साथ लिपटकर रोने लगा.

सोनिया ने ट्रे रसोई में रख दी और अशोक की तरफ देख मुस्कुरा कर कमरे में तेज़ी से चली गई.

उसकी चूत से ‘पक्क’ जैसी आवाज निकली जैसी कोल्ड ड्रिंक की छोटी बाटल का ढक्कन ओपनर से खोलने पर निकलती है; ऐसी आवाज नयी चूत का वैक्यूम रिलीज होने से ही आती है. मनोज को दीपा के गोल गोल दूध जैसे मम्मे और गुलाब की पंखुरी सी नाजुक चूत चाटने में बड़ा ही मजा आता था. हमारे आने तक अपनी बहन का ध्यान रखना और टाइम से दादाजी को खाना दे आना.

मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि शालिनी को मेरे लंड से आनन्द मिल रहा था. उसने मुझे सोफे पे बिठाया और खुद घुटनों के बल नीचे बैठ कर वो मेरा लंड चूस रही थी.

”आपते लिए नाश्ता बना दूं?”नहीं रहने दो गौरी! अब भूख नहीं है। मैं ऑफिस में ही कुछ खा लूँगा. वो मेरी पेशानी पर चूमने लगा … धीरे-धीरे उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रखते हुए मुझे लिप किस किया. रोनित ने रचना को अपना 9 इंच का लंड पकड़ा दिया और बोला- इसको मुँह में लो.

बीएफ बीएफ पोर्न

इतना मोटा और लम्बा लंड मैंने अपनी 42 साल की जिंदगी में कभी नहीं देखा था.

मैंने कहा- अच्छा अब समझा कि आप मेरी छोटी गाड़ी की वजह से नहीं बैठ रही हो. मगर वो हमारे घर में नहीं रहते थे, हमारे घर के ठीक पीछे उनका एक कमरे का मकान था. रचना को देखकर रोनित का मुँह खुला रह गया … क्योंकि रचना आज बहुत ही सेक्सी हॉट लग रही थी.

तो तुम आज शाम मेरे घर पे आ जाना, मैं और तुम्हारा सरप्राइज दोनों इंतज़ार में रहेंगे. मेरी बहन का साइज़ लिखूँ, तो उसके मम्मे 32 इंच के, कमर 28 की और कूल्हे 36 इंच के हैं. कैटरीना सेक्स इमेजकहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं उस विधवा औरत की बरसों से प्यासी चूत को चोदने में कामयाब हो गया था.

मैं पहली बार डेटिंग पर जा रहा था और वो भी एक बहुत ही हॉट, खूबसूरत और अमीर औरत के साथ. उन मैसेज में कोई लड़की मुझे इतनी बुरी तरीके से डांटते हुए लिख रही थी, जैसे मैंने उसे परेशान कर रखा हो.

उसको पलंग पर लिटा कर मैंने पहला ही झटका मारा कि वो चिल्ला उठी- आह साले … धीरे कर ना … कमीन चुत फाड़ दी मादरचोद. वो अपना एक हाथ मेरी चूची पर रखे थे और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत में धक्के मार रहे थे. नशे की पिनक में मेरे मुँह से यह बात निकल तो गयी, लेकिन मुझे तुरंत अहसास हो गया कि मैंने कुछ ज्यादा बोल दिया.

मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि ये खुशी के आंसू है … आज तक उनके पति ने उन्हें ऐसा यौन सुख कभी नहीं दिया था … जो आज मुझसे मिला. उसका लंड वाकई में ही बहुत बड़ा था जैसा कि मैंने बाकी लड़कियों से उसके बारे में सुन रखा था. जैसे ही मैंने दरवाजे की घंटी को बजाया, तो एक बहुत ही खूबसूरत महिला ने दरवाजा खोला.

वैसे ज्योति को अपने पिता के मोटे लंड को देख कर कुछ कुछ होने लगा था क्योंकि महेश का लंड समीर के लंड से बहुत बड़ा था.

अब मैं जोश में आ गया और मैंने अपने हाथ उनकी पीठ पर फेरने शुरू कर दिए. इस पर उसकी पत्नी यानी मस्त भाभी जी हाथ जोड़ कर बोलीं- हमारी इज्जत खराब हो जाएगी.

फिर जब मैं वापस आया, तो उसके एक हाथ में एक सीडी थी और दूसरे हाथ में वो स्टोरी का पेपर था. मेरे घर का दरवाजा लॉक था, तो मैंने चाभी लगा कर खोला और बॉस को अन्दर बिठाया. मैंने चाची को पूल की सीढ़ियों पर लिटा दिया और उनकी दोनों टांगों को खोल कर चूत को अच्छे से फोम से गीला कर दिया.

उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया. इतना कह कर पूजा ने मेरे लंड को पकड़ लिया और बोली- चलो मेरे राजा, अब मुझे भी दिखलाओ तुम्हारे लंड से निकलते पेशाब की धार को. इसके बाद भाभी ने मेरे ऊपर 69 में आकर अपनी चूत को मेरे मुँह पर रख दिया और मेरे लंड को चूसने लगीं.

बुर बीएफ सेक्सी बॉस ने मुझे आंख मारी और अपनी पेंट की जिप बंद करते हुए बाहर हॉल में आ गए. फिर एक उंगली अपने मुंह में डाल कर निकाली और वह थूक से भीगी उंगली मेरी गांड में डाल दी और उसे गोल गोल घुमाने लगे.

रिश्ते बीएफ

उनका आगे पीछे कोई नहीं है, इसलिए जब वो आर्मी से रिटायर हुए, तो यहीं आ कर रहने लगे. मैंने देखा कि अन्दर कमलेश था और उसने लड़की को कमरे में लेते हुए ही अन्दर से गेट लगा लिया था. अब तक ऐसा कोई कारण नहीं था कि मुझे संदेह हो कि यह एक लड़का हो सकता था, जो मुझ पर प्रैंक खेल रहा था.

वेरोनिका की बहन, जिसका नान एना था, वो अपने ब्वॉयफ्रेंड हेक्टर के साथ आई और हमारे टूर के ग्रुप के साथ जुड़ गई. तो चुदाई एक्सप्रेस दौड़ती चली गयी … धीरज के लंड में पूरी जान बाकी थी … पिंकी क्यों इतनी मस्त रहती है, ये बात नायरा को अब समझ आई कि जिसकी रोज एसी चुदाई होती हो, उसे सेक्स के अलावा और नजर भी क्या आएगा. सेक्सी कमवो मेरे स्तनों को मसल रहा था और मैं उसके लण्ड को सहलाने का मज़ा ले रही थी।वो मेरे स्तनों को दबाते-दबाते दूसरा हाथ मेरी चूत पर ऊपर से फिराने लगा.

फिर मैंने ड्रामा करते हुए तुरंत अपना पल्लू ठीक किया और उनकी तरफ देखा.

मैंने सोचा कि ऐसा सरप्राइज दूँ जिसे वो जिंदगी भर याद रखे!मैंने रास्ते में कैडबरी डेरी मिल्क की चॉकलेट लिया और उनके घर पहुंच गया. मैं- फिर अगर तुम मुझे अपना दोस्त मानती हो … तो प्लीज मेरे प्रपोजल को स्वीकार लो … प्लीज मान जाओ.

सासू माँ ने मुझे आवाजें देते हुए बुलाया- अरे रसिका बहू … इधर आओ तुझे हमारे बड़े कुंवर साहब से मिलवाती हूँ. जब भाई का लंड मेरी चूत में घुस रहा होता था तो वो दिव्या की चूत को दबोच लेते थे और जब दिव्या की चूत में लंड जाता था तो उनका हाथ मेरी चूत को दबोच लेता था. तब पूजा मेरे ऊपर से उठ कर खड़ी हो गई और बोली- क्या तुम्हें पेशाब नहीं करना? चलो अभी तुम भी पेशाब कर लो, फिर हम लोग फिर से पलंग पर चलते हैं.

धीरे धीरे हमारी कंडीशन खराब होती गई और हम कर्जदाता से कर्जदार बन गए.

उसकी चूत से ‘पक्क’ जैसी आवाज निकली जैसी कोल्ड ड्रिंक की छोटी बाटल का ढक्कन ओपनर से खोलने पर निकलती है; ऐसी आवाज नयी चूत का वैक्यूम रिलीज होने से ही आती है. अब आगे…तब पूजा मेरे मुँह के पास अपनी चूत रख कर मेरे सीने के ऊपर अपनी चूतड़ रख कर बैठ गयी. चुदाई के बाद मामाजी को अंधेरे में दरवाजा नहीं सूझ रहा था, मैंने उठ कर लाईट जला दी व दरवाजा खोल दिया.

सपने में बिल्ली के बच्चे देखनासाईट-सीइंग के बाद हम सभी एक इटालियन रेस्तरां में बैठे थे कि वेरोनिका की बहन का फोन आ गया. धीरे धीरे उन्होंने मेरे बॉक्सर के अन्दर हाथ डाल कर अपना हाथ मेरी गांड पर ले लिया और मेरी गांड सहलाने लगीं.

स्कूल टीचर बीएफ वीडियो

फिर बॉस खड़े हो गए और अपना लंड निकाल कर मुझे बिना बताये, मेरी गांड में घुसा दिया. ” समीर ने नीलम से कहा।हाँ मेरा ही क़सूर है, मगर तुम अपनी बहन के साथ … छी! छी… मुझे सोचते हुए भी शर्म आती है. औरत को जितना लंड मजा देता है, उससे कहीं ज़्यादा मज़ा आपकी जीभ देता है.

मुझे यह देख कर बहुत खुशी मिलती थी कि कॉलेज का सबसे हॉट लड़का सबसे हॉट कॉलेज गर्ल का बॉयफ्रेंड है और उसको देख कर बाकी सारी लड़कियां अपनी चूत मसल कर रह जाती थीं. खैर सबसे पहले तो मैंने मुकेश औऱ निशा को शादी में न आने की क्षमा माँगकर उन्हें शादी हेतु उपहार में घड़ी का सेट दिया. साथ में उनके चुत के पास ही थोड़ी से ऊपर एक छोटा सा लाल रंग से बना हुआ गुलाब का टैटू था.

दोस्तो, एक बात बताना भूल गया कि मैं चूत चूसने का बहुत शौकीन हूं, चोदना छोड़ सकता हूँ चूत चूसना नहीं छोड़ सकता।69 में आने के बाद चाची मेरा लंड और मैं चाची की चूत चूसने लगा. मैं अपने एक हाथ से पूजा की गांड को सहलाता हुआ बोला- यार मेरी जान, तुम उस समय इतना बिदक गयी जिसका कोई इन्तेहा नहीं. तभी सीमान्त ने भी एक बियर की बोतल ले ली और मेरे पेट की नाभि में डालने लगा.

उन्हें पता चल गया था कि मैं जग गया हूं और मजा ले रहा हूँ, तो भैया ने मेरा मुँह घुमाया और किस करने लगे. मैंने बोला- ये क्या बोल रहे हो?फिर वो बोला- उस दिन तो खिड़की में से बड़े प्यार से मुझे देख रही थीं.

ये कुछ ऐसा था जो उसने पूरी ज़िन्दगी में पहले कभी नहीं महसूस नहीं किया था.

सर्दी का मौसम था मगर मेरा जिस्म किसी आग की भट्टी की तरह गर्म था।मेरी चूत ने भी पानी छोड़ना शुरु कर दिया था।उनके चुम्बन करने से साफ़ तौर पर उनके अनुभव का पता चलता था। वो किसी भी तरह की जल्दबाजी नहीं कर रहे थे. हिंदी पिक्चर फिल्म तिरंगामैं भी थोड़ी थोड़ी देर से चैक कर रहा था कि कहीं कोई गड़बड़ ना हो जाए. विद्मते ओरिजिनलकुछ देर बाद उसे भी मेरे साथ साथ अपनी चुदाई का मजा आ रहा था और उस पूरे रूम में चुदाई की आवाजें और महक फैल रही थी. उसकी गांड की चुन्नटें बहुत ही कसीं हुईं थीं मैंने लंड को पूरी दरार में दबा के तीन चार बार स्वाइप किया.

और मुझे अपनी बांहों में पूरी शक्ति से कस लिया और अपनी टाँगें मेरी कमर में लपेट दीं.

वन्दना ने वो सारे माल को अपने पेट पर ऐसे मसला जैसे कोई बॉडी लोशन लगा रही हो. उपिन्दर ने मेरी माँ की चुचियाँ मसलीं- वापस घर पे आके तो तेरी लूंगा ही, वहां अंधेरे में प्रोग्राम शुरू करेंगे, मज़ा आएगा. चाची का दिल खुश था, क्योंकि उनकी चूत को भी मेरे लंड से चुदने का मौका मिल गया था.

उसने मेरा फोन चार्ज में लगाने के लिए ले लिया और रोज की तरह आज भी वो मेरा फोन देखने लगी. मुझे उसकी जवानी देख कर नशा सा होने लगा और लंड खड़ा हुआ तो मैं बाथरूम में चला गया. लेकिन मेरी कोशिश रहती है कि मैं ज्यादा से ज्यादा पाठकों के मेल्स का जवाब दे सकूं.

हिंदी लेडीस बीएफ

उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ क्योंकि उनका लौड़ा ज्यादा मोटा भी नहीं था … तो अच्छा भी लगने लगा. मैंने कन्फर्म पर क्लिक कर दिया और उसके सामने ही उसका नम्बर डिलीट कर दिया. अब मैंने लंड को अच्छे से बाहर तक निकाल निकाल कर वापिस चूत में पेलना शुरू किया तो कम्मो को भी मज़ा आने लगा और वो अपनी चूत उठा उठा कर मेरे लंड से लोहा लेने लगी.

मैंने भाभी की चूत में लंड डालने के बाद उनको किस करने लगा और किसिंग के साथ साथ धीरे धीरे आराम से चोदने लगा.

करीब 15 से 20 मिनट की चुदाई के बाद मैं रीना की गांड में ही झड़ गया.

आलिया- अगर कल जाकर इस बारे में हमारे पेरेन्टस को पता चल गया तो!मैं- हम दोनों एक अच्छे दोस्त हैं, वो हमारे पेरेन्टस जानते हैं, अगर कल जाकर पता चलेगा भी, तो भी हमें कुछ नहीं बोलेंगे. ऐसे ही करीब करीब बीस मिनट तक की चूमाचाटी में वो एकदम से भरभरा कर निढाल हो गईं. ब्लाउज का नया डिजाइन” महेश ने अपनी बहू को रास्ता दिखाया।पिता जी, मगर यहाँ पर तो समीर के सिवा कोई और है ही नहीं!” नीलम ने सोचते हुए कहा।बेटी तुम बुहत पगली हो? मैं तुम्हारे पिता समान हूँ, मगर मैं तुम्हारा साथ दे सकता हूं.

प्रीति ने बिलबिला कर मेरे होंठ छोड़ दिए और मेरी तरफ सवालिया निगाहों से देखा. किन्तु अमित के मन में भी अपनी पत्नी को किसी दूसरे मर्द से चुदते हुए देखने का मन है, दूसरा मर्द जब उसे चोद रहा हो तो उसकी मादक सिसकारियां सुनने का मन है. मेरे लंड में सख्ती आ गई और मैंने मौके का फायदा उठाने का मन बना लिया.

बबलू ने पिंकी की चूत में लंड घुसा दिया था और पिंकी छिनाल मजे से गालियां बकते हुए बबलू को ज़ोर से उसकी चोदने के लिए उकसा रही थी- चोद मुझे कुत्ते … ज़ोर से चोद … आह्ह उम्म … सी … आह … ओह … उसकी मधुर आवाज़ों से कमरा गूँज रहा था. मैंने फिर पूछा- अरे ऐसा क्या था, जो उसने डाल दिया और तू इतने जोर जोर से क्यों चीख रही थी?सलमा ने कहा- अम्मी, उसका वो बहुत तगड़ा है.

देखो बेटा, लंड के स्वागत के लिए अपनी चूत पर अपने दोनों हाथ रखो और उंगलियों से इसका दरवाजा पूरी तरह खोल दो अच्छे से.

एक तो अनीता की गांड बहुत टाइट थी और इससे पहले उसने गांड में लंड लिया भी नहीं था. फिर मैंने उन दोनों को ऋतु की फोटो दिखाई तो वो उसको ध्यान से देखने लगे. अरे बेटी इतनी भी क्या जल्दी है, अब तो हम दो जिस्म एक जान बन चुके हैं फिर भी तुम इतना शर्मा रही हो?” महेश ने अपनी बहू को कलाई से पकड़ते हुए कहा और उसे अपने साथ अंदर ले जाते हुए शावर के नीचे खड़ा कर दिया।पिता जी छोड़िये न … हमें शर्म आ रही है.

फुल एचडी फोटो वो अपनी माँ को नाम से ही बुला रही थी- आआअहह मोहिनी … साली चोदो अपनी बेटी को … आआअहह और ज़ोर से … आअहह और अन्दर डाल दो अच्छे से चाट लो माँआ … आआहह उउम्म्मह उउउफ्फ. अगर कोई ऐसी बात है, जो नहीं बताना चाहते, तो छोड़ो … वरना बताओ कि क्या हो गया.

जब तक सोनिया घोड़ी बनती, तब तक अशोक ने अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया. उस दिन मैंने जालीदार ड्रेस पहनी हुई थी जिसमें मेरी ब्रा और पैंटी की झलक भी दिख रही थी. अपना लन्ड मैंने उसके मुंह की तरफ किया तो पहले उसने मेरे लन्ड को ऊपर से नीचे तक चाटा फिर उसे पूरा मुंह में लेकर चूसने लगी.

सनी लियोन का सेक्सी बीएफ एचडी

अचानक से उनकी नज़र ऊपर उठी तो उन्होंने मुझे वहां देखते हुए पकड़ लिया. उसके हाथ मेरे बालों में आ गए थे और मेरे हाथ उसके बोबों पर लग गए थे. उस दिन मैं अपने द्वार (घर के बाहर की वो जगह जहाँ बाहर के मेहमानों को बैठाया जाता है.

अमायरा मेरी मम्मी की बहुत ही लाड़ली थी और वो मेरे घर कभी भी कहीं भी आ जा सकती थी. फिर हम दोनों सो गए और अगले तीन दिनों तक हम लोग घर से बाहर ही नहीं निकले, बस चुदाई और चुदाई ही की.

मैं उनको अच्छे से देखने लगा, फिर मुझे खुद ही बुरा लगा कि मेरी मदद करने वाले इंसान की बीवी को मैं ऐसे देख रहा हूँ.

वहां जाकर उसके जिस्म से छेड़छाड़ करना, अगर वो कुछ नहीं कहे तो उसके कपड़ों के अन्दर भी हाथ मारना. दस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद उन्होंने लंड बाहर निकाला और पूरे रसोई में फव्वारा मार दिया. इस बात पर मैं भी हंसने लगा और अपने कपड़े पहन कर हॉल में पानी पीने आ गया जहां संजय ड्रिंक करता हुआ अपने मोबाइल पर बिजी था.

चूंकि उसने मिलने की हामी भर दी थी, इसलिए इसके बाद भी हम दोनों लोग मिलते रहे. इस पर मैंने उसे कहा- भाई निराश मत हो, मार्केट में इसके लिए दवाई मिलती है. मेरे लंड ने 5 मिनट बाद पानी छोड़ दिया तो एना ने अपने मम्मों पर सारा पानी लगा लिया.

इसके बाद हम दोनों आने लगे, तो संजय ने मुझसे उसके घर चलकर चाय नाश्ता करने का आमंत्रण दिया.

बुर बीएफ सेक्सी: उसके बाद उसी के एक खास दोस्त कबीर ने बताया कि उसका स्टेमिना बहुत कम है और वो तुम्हें खुश नहीं कर सकता है. उस कुरते का शायद गला भी काफी गहरा था, इस वजह से वो और भी ज्यादा दिख रहा था.

दोस्तो, मेरी सेक्स कहानीमौसी की बेटी ने चुदाई का मजा दियाको आप लोगों ने ढेर सारा प्यार दिया. परवीन- क्या तेरे में इतना दम है, जो तीनों को खुश कर सकेगा?मैं- सच कहूं … तो मैं दो बार अच्छे से चुदाई कर लेता हूँ. मेरे तने हुए मम्मों के साथ साथ मेरी गांड भी बहुत सेक्सी है और काफी उठी और बड़ी है.

कुछ ही देर में आंटी भी गर्म हो चुकी थी, वो भी मेरे किस का जवाब मेरे होंठों को चूस कर देने लगी.

भाभी- अरे ऐसे क्यों बोल रहे हो … क्या मैं इतनी मोटी हो गई हूँ?मैंने कहा- और नहीं तो क्या … आपको देख कर लग रहा है कि मुझे पूरा खा भी जाओगी … तो भी आपका मन नहीं भरेगा. अब कब उसने मेरे लंड को शांत किया ये मैं आपको जल्द ही उसकी चुदाई की कहानी लिखता हूँ. उसका नाम बेबी(बदला हुआ) है क्योंकि मैं उसको प्यार से बेबी बोलता हूँ.