बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो में मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी गांव का बीएफ: बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द, उसके गहने चूड़ियां सब धीरे-धीरे निकाल दिए और ये सब करते वक्त वो उसके मम्मों को भी दबा रहे थे.

बीएफ सेक्सी सेक्सी एक्स एक्स

उस पर ढेर सारा मक्खन, एक बड़ा कटोरा सब्जी का और साथ में मट्ठे के दो बड़े-बड़े ग्लास. नौकर मलकिन के बीएफआपको मेरी यह गे सेक्स स्टोरी कैसा लगा मुझे जरूर बताइयेगा और अगर मैं आप की कोई सेवा कर संकू तो मुझे याद कर लेना क्योंकि आपका ये लिक्विड आप की सेवा में हमेशा तत्पर है.

अब आप जानते ही हैं कि जब एक घर में दो लोग दो घंटे रहें तो कुछ न कुछ निजी बातें होंगी ही. आलो सेक्सी बीएफमैंने एक हाथ से उसका मुँह बंद किया और लंड के सुपारे को बुर में सही जगह फंसा कर जोरदार धक्का दे मारा.

मैंने आइसक्रीम को उसके शरीर पर लगाना शुरू कर दिया और फिर उसके पूरे शरीर को चूसने लगा.बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द: मेरा मन अब मौसी से भर चुका था, पर मौसी की चूत की आग ठंडी ही नहीं होती थी.

अच्छा, मैं तो मंदिर जा रही हूँ, तो मुझे वापिस आने में 30 से 45 मिनट लग जाएंगे.उस रात पप्पू से चुदवाने के बाद रूपा सहेली के घर जाने की बजाय वापस अपने घर गई.

बीएफ मूवी साउथ की - बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द

मगर वो ये भूल गई कि सबके साथ बरखा की पहली मुलाकात है, इसको अड्जस्ट होने में थोड़ा तो टाइम लगेगा ही.अब मैं उसके साथ पूरी तरह खुल चुका था और उसके साथ मजाक के साथ डबल मतलब वाली बातें भी करने लगा था, जिस पर वो भी हंसते हुए बोलने लगी.

हालांकि वो थोड़ी सी मोटी हो गई थीं, उनकी चूचियां भी बहुत बड़ी बड़ी थीं, तब भी मेरी मौसी एक काँटा माल थीं. बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द मामी ने एक बार एक से अधिक लड़कों से एक साथ सेक्स के लिए प्लान बनाने के लिए कह दिया था.

उसके पड़ोस में जागरण था और उसको चुदास लगी थी, जो मुझको अब भी रोज चूत चोदने की लगती है.

बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द?

अब मैं पीछे से आगे को आया और भाभी के एक चूचे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. जब फिल्म 10-15 मिनट की निकल गई, तो उसने इधर उधर की बातों में ही अपना हाथ नीचे करके पूरी तरह से मेरे बूब के ऊपर रख लिया। मैं भी उसके हाथ से निकालने वाली गर्मी को अपने बूब पर महसूस कर रही थी मगर मैं तो खुद चाहती थी कि वो पकड़ कर दबाये. ”अमित माया की गांड की जबरदस्त चुदाई करते हुए बोला- साली छिनाल की गांड सच मैं बहुत टाइट है रे उस्मान.

हम दोनों गरम हो चुके थे मैंने उसको लिटाया और उसकी चुत चाटने लगा तो उसने चुत के ऊपर रम डाली और मुझे चाटने को कहा. कल तो बड़ा मजा ले ले कर सेक्स की बातें कर रही थी?”पिंकी के चेहरे पर कामुकता के नशे का गुलाबी रंग छा गया. पर मैं उनका हाथ पकड़ कर बाथरूम में खींच ले गया और शावर खोल दिया मौसी ने अपनी ब्रा उतार दी.

उसने मेरी गांड को थूक से भर दिया और मुझसे बोला- बेबी गांड थोड़ी ढीली करो और अपने हाथों से इसे फैला लो. पहले आंटी ने साड़ी उतारी, बाद में ब्लाउज खोला, फिर आंटी ने ब्रा निकाली. जब आंटी बाज़ार से लाई गई नयी ब्रा पहन रही थीं तो वो उनको फिट नहीं रही थी क्योंकि उसकी साइज़ छोटी थी.

कुछ ने तो सीटियां मारी।हम आगे बढ़ी तो एक बेहद सुन्दर लड़की ने आकर मुझे आगोश में लिया, मेरे होंठों को किस करते हुए कहा- ओह बेबी… आज तो तुम्हें भगवान् ही बचा सकता है!मैंने और रिया ने एक दूसरी की तरफ देखा, पता नहीं क्यों मगर हम एक दूसरी की तरफ देखकर हंस पड़ी और फिर उस जादुयी दुनिया में खो गयी. मैंने सोचा कि यार पहली बार है, कुछ तो रोमांटिक होना चाहिए, ताकि ज़िन्दगी भर याद रहे.

फिर आज हम यहाँ कैसे करेंगे और तुमने ऐसा क्या प्लान बनाया है मुझे भी तो बताओ?पूजा- मामू मुझे तो कल ही पता चल गया था कि आज सब जाने वाले हैं.

मेरा लंड उसकी गांड के अन्दर चला गया और अगले झटके के साथ मेरा लंड उसकी गांड में काफी अन्दर तक उतर गया.

उसके दोनों नंगे पैर एकदम सुडौल, केले के तने की तरह चिकने और नर्म लग रहे थे. अब कविता जोर जोर से सिस्कारियां भर रही थी, अपनी पीठ ऊपर को उचका कर अपनी चुची मुझे चुसवा रही थी. प्लीज डोंट स्टॉप!थोड़ी देर में उसने मेरे मुँह में अपना पूरा पानी निकाल दिया और मैं उसे पूरा चाट गया।जो थोड़ा बहुत लगा था मुँह पर.

मामी ने मेरी बुर इतने जोर से पी कि चूत की नाक दूसरे तीसरे दिन तक सूजी रही. मामी मुस्कुराईं और शरारत करते हुए रेणु को अपने पास बुलाया और मुझसे बोलीं- थोड़ा दरवाजा बंद कर दो. और मेरा सर पकड़ कर नीचे धकेल दिया- एक बार और चुत चूस ले…मैंने भी नीचे जा कर उसकी चूत का टपकता जूस पिया और फिर होंठों को किस करके उसे पिलाया.

अनिता- हा हा हा हा आपका तो आज पोपट बन गया हा हा हा… आपका केएलपीडी हो गया है.

नीता को नहाते देखने के ख्याल से और रूपा द्वारा लंड चूसने से वो यह सोच कर गर्म हुआ कि है तो साली बीस साल की, पर जिस्म एक भरी हुई औरत जैसा है. हमने चौंक कर देखा, सारे मर्द वासना भरी नजरों से हम दोनों को देख रहे थे. मैं विनीता की जांघों के बीच अपना मुँह लाया और उसके हुस्न के खजाने यानि चूत पर अपने होंठ रख दिये और अपने दोनों हाथों से विनीता की चूचियां मसलने लगा.

लगभग आधे घंटे बाद लंड अनचाहे ही चूत में अन्दर बाहर होने लगा, उधर चूत भी प्रत्युत्तर देने लगी, हमारे होंठ एक दूसरे से लड़ने लगे. तो वो कहने लगी- जब इसमें इतना दर्द हुआ तो उस में तो बहुत ज्यादा होगा. यह कहते ही मैं फिर उसकी चुचियों पे टूट पड़ा और दोनों ही अमृत-कलशों को पूरा निचोड़ डाला.

उस वक़्त जब जब मुझे सेक्स का मतलब भी या यूं कहें लंड का इस्तेमाल भी नहीं पता था, उस टाइम चुत तो मिल गई.

मैं अपनी बेटी रेखा की मस्त बुर को पेलता रहा, कुछ देर बेटी की चुदाई के बाद मैंने पिंकी को अपने पास बुलाया और पिंकी के रसीले होठों को चूसने लगा. उस दिन वो मेरे साथ सिर्फ़ 3 घंटे रही थी मगर उस दौरान 4 बार हम दोनों ने ओरल सेक्स किया.

बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द वहाँ बैठने की जगह नहीं थी, बस एक स्ट्रेचर ट्रॉली थी मरीजों वाली, जिस पर मोनिका लेटी थी. उस दिन मैं और मेरा दोस्त रात के समय कॉलेज से घर निकले, मुंबई स्टेशन पहुँचे, तभी मेरी नजर एक लड़की पर गई.

बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द तब फरीदा ने मेरा उससे परिचय करवाया, वो फरीदा की चचेरी बहन थी और उसका नाम आयशा था. मैं इसी पोजीशन में गहरी गहरी सांसें भरता हुआ लंड को आगे पीछे डुलाता रहा.

मादरचोद… नीचे बैठ!मैं चुपचाप नीचे बैठ गया।आंटी उठ कर सींक की झाड़ू लेकर आई और बोली- खड़े हो कमीने!मैं जैसे ही खड़ा हुआ उसने मुझे झाडू गाण्ड पर मारना शुरू कर दी।मैं दर्द से कराहने लगा.

हॉट लड़की की बीएफ

कल तो तू लुल्ली बोल रही थी और अब बड़े आराम से लंड बोल रही है, इसका मतलब तुझे पहले से पता था इसको लंड कहते हैं क्यों?नीतू ने शर्माते हुए कहा- हाँ दीदी, मगर सच्ची मैंने बस सुना था और एक-दो बार दूर से देखा भी था. वैसे मुझे भी बड़ा मन कर रहा है सब एक साथ मेरे साथ ग्रुप सेक्स, चूमाचाटी करें. मेरा लंड किसी डंडे की तरह अकड़ रहा था और मौसी लंड को हाथ में लेकर बहुत गौर से देख रही थीं.

फिर सागर ने जैसे ही मेरी चुत में लंड डाला और मैं बिना दर्द के भी जोर से चिल्ला उठी- ओह राजा. करीब 20 मिनट के बाद चाचा ने मम्मी को छोड़ा तो मम्मी दरवाजे की तरफ आकर अपने कपड़े ठीक करके बाहर चली गईं. वैसे तेरी लड़कियों की उम्र क्या है रूपा? मेरा लंड तुझे इतना अच्छा लगा है तो देख आज तुझे कितना मजा दूँगा, वैसे बता न मेरा लंड इतना अच्छा क्यों लगा तुझे रूपा जान?अपनी चिकनी चूत पे पहले पप्पू का हाथ और फिर चूत को चाटने से रूपा को अच्छा लगा.

नहीं हो पाया तो आ जाएंगी बाहर! क्या कहती है?मैंने एक मिनट के लिए सोचा और फिर मेरी की तरफ देखकर कहा- मेरी, हम दोनों क्लब ज्वाइन करेंगी। अगर ना हो सका तो बाहर निकाल लेना।मेरी ने हमारी तरफ देखकर सुन्दर स्माइल किया और कहा- अब आप अपने ड्रिंक ले सकती हैं.

मैंने कहा- आपका कोई बॉयफ्रेंड है?उसने कहा- आप क्यों पूछ रहे हो?मैंने बोला कि बस ऐसे ही. तुम औरतें ये ऊंची ऐड़ी की सैंडल पहन कर खूब अच्छा करती हो… इससे तुम्हारी गांड और उभर जाती है. मैंने यश की पेंट निकाल दी, यश अब अंडरवियर में था और उसका लंड उन्द्र्वीय्र फाड़ कर बाहर निकलने को था.

शमशेर एक तरफ हट गया तो अब मोहन ने भी लंड चूत में डाला तो जैसे उसका लंड अन्दर गया तो चूत से एक सफेद पदार्थ की पिचकारी निकली क्योंकि शमशेर का वीर्य चूत से पूरी तरह निकला नहीं था. अपनी विजय पर फूलता हुआ मैं उसे उठा कर उसके बेडरूम में ले गया और कुछ ऊपर से उसके बेड पर छोड़ दिया. इस चुदाई की कहानी में मैं बता रहा हूँ कि मैंने अपनी मौसी को कैसे चोदा हूँ और उसकी 18 साल की लड़की को चोदने की मेरी लालसा का क्या हुआ.

मैंने मम्मों की आजादी देखी तो भाभी की ब्रा को उनके शरीर से निकाल दिया और साथ ही साथ मैंने उनके पेटीकोट का नाड़ा भी खींच कर उसकी गांठ खोल दी, जिससे उनका पेटीकोट भी ढीला होते ही जमीन पे गिर गया. हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे और उस रात एक-दूसरे की बाँहों में लेटे रहे.

अब तक इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि गुलशन जी और सुमन ने नंगे होकर बाथरूम में एक-दूसरे के लंड चुत की झांटें साफ़ की थीं और रात को होने वाली सील तोड़ प्रोग्राम के लिए ये दोनों तैयार हो गए थे. मैं अपने रूम में आ गया और नहाने जाने के लिए अपने कपड़े कलेक्ट करने लगा. वंदिता को चिंता होने लगी कि यदि मैं सो गया, तो सारा प्लान खराब हो जाएगा.

बाद में रीना ने मुझे बताया था कि उस पल उसके जिस्म में करंट सा लगा था, क्योंकि पहली बार किसी ने उसके होंठों को चूमा था.

”यह कह कर मैंने पिंकी को हटाया और रेखा की टाँगों के बीच आकर लंड का सुपाड़ा उसकी कुँवारी बुर में फंसा कर दबाने लगा. फिर पापा ने मकान तुड़वाने का और बनवाने का काम एक कांट्रेक्टर को दे दिया, जो हमारे पैतृक गांव का था. इस बार गुलशन जी ने सुमन को गोद में उठा लिया और हवा में उसकी चुदाई की.

दो मिनट तक लंड की चुसाई करने के बाद मामी अब मेरे लंड पर फिर से बैठ गईं. मामी ने एक बार एक से अधिक लड़कों से एक साथ सेक्स के लिए प्लान बनाने के लिए कह दिया था.

ऋतु- क्या हुआ, जनाब का मूड सही नहीं है क्या?मैं- नहीं यार, बस मन नहीं है. पहले ये बता कि आज तेरी चूत ऐसी टाइट कैसे हो गयी?” मैंने अधीरता से पूछा. शायद उसने मेरे चेहरे को देखकर समझ लिया था कि मैं उस पर लट्टू हो गया हूँ.

भोजपुरी बीएफ बोलने वाला

मैं तो डर गई और पीछे पलट कर देखी तो एक अच्छा हट्टा कट्टा आदमी था, जो मेरी चूत को चूस रहा था.

मैंनेचुत में उंगलीडाली और चुत को चाटा, मुझे चुत चुसाई में बहुत बहुत मजा आ रहा था. संजय ने पूजा की गांड के छेद पर अच्छे से थूक लगाया, फिर अपनी एक उंगली उसमें घुसेड़ने लग गया, वो वाकयी बहुत टाइट गांड थी… मगर धीरे-धीरे उसने उंगली अन्दर घुसा ही दी. मैंने विनीता के बगल में लेट कर ज्यों ही उसे छुआ वो तड़प कर मुझसे लिपट गई.

जब पीछे से मेरी चूत में लंड डाल कर जीजू मुझे चोदने लगे तो मैं एकदम से गनगना गई और अपनेजीजू का लंडअपनी चूत में लेकर चुदवाने लगी. जोशना अपने चूचे को मेरे मुँह पे दबाती हुई बोली- आह मेरा दूध पसंद आया?रिक्की ने चूचे को मुँह में रखकर कहा- उम्म… मजेदार है. बीएफ हिंदी में एचडी वालीवो सिसकारियाँ भरने लगी, उसने मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चुत में दबा दिया.

और वो मेरे सीने का दाना ऐसे क्यों मसल रहे हो आप? लेकिन अंकल आपने बताया नहीं कि आप मम्मी को कैसे छेड़ते थे?नीता के हाथ हटा कर उसका सीना पूरा नंगा देख कर पप्पू झुक कर बारी बारी उसके निप्पल खूब अच्छे से चूसते हुए बोला- अरे वाह, यह अच्छा किया जो तूने कम से कम मुझे तो अपनी ब्रा और कप का साइज़ बता दिया नीता. एक दिन मैं घर से थोड़ा लेट निकला तो मेरी रोज वाली ट्रेन निकल गई और मुझे दूसरी लोकल ट्रेन से ऑफिस जाना पड़ा.

काजल ने अपनी टांगें ऊपर उठा कर सुरेश को अपने कपड़े उतरने में मदद की. फिर वो दिन आ ही गया, जो अब तक की मेरी जिन्दगी का सबसे मुश्किल दिन था. प्रीति की एक लम्बी आह निकल गई उसने मेरे लंड को अपनी फुद्दी में जज्ब कर लिया.

यह मुझे अच्छा नहीं लगा क्योंकि मेरा पति कैसा भी था, मैंने उसके लिए ही व्रत किया था. पप्पू अपनी टाँगें फ़ैला कर अंजान बनते हुए लंड को मसलता हुआ नीता का क्लीवेज देख कर बोला- अरे नीता, तेरी जैसी सैक्सी लड़की कसम से आज तक ना दिखी ना मिली. क्या बताऊँ!मैंने उसे लिटाया और फिर उसके पेट पर अपनी जीभ घुमाना चालू किया। उसको गुदगुदी होने लगी और उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी थीं- अहह्ह ह्ह म्म्म म्म्म्म.

हिंदी एडल्ट स्टोरी का पहला भाग :बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से-1कहानी का दूसरा भाग :बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से-2मेरी एडल्ट स्टोरी में अभी तक आपने पढ़ा कि मैं अपनी बीवी को अपने दोस्त से चुदवाने लाया था और कार में मेरी बीवी पूरी नंगी होकर मेरे दोस्त का लंड चूसने लगी थी.

उस दिन हमें गाँव के 2 लड़कों ने देख लिया और आते जाते उसको ताने मारने लगे, फिर मेरे धमकाने और समझाने पर रुके. पप्पू ने सोचा कि कुछ किया नहीं तो भी ये औरत नाराज़गी दिखा रही है तो कुछ करके इसकी नाराज़गी लेना अच्छा है.

जब तक श्वेता यहाँ थी, वो दोनों बहनें अक्सरचुदाई की बातेंकरती थीं, पर जबसे श्वेता हॉस्टल गई तब से वो अकेली पड़ गई थी. मैं समझ गया कि चाची को मेरा लंड पसंद आ गया है इसीलिए वो मेरे साथ इतना खुल रही हैं. उसकी चूत अब खूब रसीली हो उठी थी और लंड बड़े आराम से मूव करने लगा था.

भाभी को फिर दर्द हुआ और उन की आँखों में से आँसू आने लगे, लेकिन मैं नहीं रुका और तीसरे झटके में अपना पूरा का पूरा लंड भाभी की गीली चिकनी चूत में पेल दिया. मुझे भी अब कुंवारी कन्या की बुर चोदने के असीम आनन्द की प्राप्ति होने लगी और मैं किसी मंजे हुए खिलाड़ी की तरह ताबड़तोड़ चोदते हुए बुर की धज्जियां उड़ाने लगा. अब मेरे शरीर में थोड़ी सी भी हिलने की ताकत नहीं रह गई थी, इसलिए दो बार चुत और तीन बार गांड मारकर हम एक दूसरे को पकड़े पता नहीं कब सो गए.

बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द उस रात मैंने मौसी को 3 बार चोदा और उसी हालत में हम दोनों नंगे ही सो गए. इशारे से रूपा पप्पू को अपने साथ आने के लिए बोल रही थी… ये पप्पू समझ गया और रूपा के पल्लू ओढ़ने से ये भी समझ गया कि ये औरत अब मस्ती चाहती है.

बीएफ सेक्सी नंगी फिल्म वीडियो में

मैंने इसके लिए बहुत अच्छा प्लान बनाया है, किसी को पता भी नहीं लगेगा और तू इसको अच्छी तरह चोद भी देगा. मैंने अपनी जीभ उसकी फुद्दी में अन्दर घुसाई तो उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं और वो मेरे सर पकड़ कर फुद्दी पर रगड़ने लगी. सामान्य दिनों में आंटी लाइट ऑफ करके सोती हैं लेकिन उस दिन बल्ब जल रहा था। मैंने झाँकने की कोशिश की.

उसने मेरी गांड को थूक से भर दिया और मुझसे बोला- बेबी गांड थोड़ी ढीली करो और अपने हाथों से इसे फैला लो. और सच हमेशा से फिल्म से ज्यादा उत्तेजक होता है ये बात तो आप लोगो को भी पता होगी. बीएफ फिल्म ब्लू इंग्लिशतो मैंने अपने लंड को उनकी गांड के छेद पर रख कर जोर का धक्का दे दिया.

बरात उसके घर तक जाने तक मैं उधर रुका, उसके बाद मुझसे वहाँ रुका नहीं गया और मैं अपने घर आ गया.

वह जैसे ही उठी, मैंने उठ कर उसे बाहों में भर लिया और कस कर ऊपर उठा लिया और उस के होठों पर अपने होंठ रख दिए. थोड़ी देर बाद संजय ने पूजा के पैरों को उल्टी दिशा में मोड़ दिया और उसकी चुत पर लौड़ा टिका कर एक झटके में लौड़ा घुसा दिया.

संजय- बहाना नहीं बनाता हूँ… आजकल माँ दोपहर में सो नहीं रही ना, अब उनके आने का ख़तरा रहता है और वैसे भी इतने भी दिन नहीं हुए, जितने तू बता रही है. चुदाई की मस्ती में मैं यह भी भूल गई थी कि सलमा और एक अजनबी आदमी ऊपर की बर्थ पर लेटे हैं. इसके बाद मैंने भी गौर किया तो पाया कि अर्चना अक्सर मुझे लगातार देखती रहती थी.

फिर मैं बोली- प्लीज मुझे छोड़ दो!तभी चाचा ने कहा- ज्यादा नाटक मत करो अब! इसकी यारो मत सुनो, साली को जम कर चोदो! ना जाने दूसरों के कितने लंड घुसवाये होंगे इसने!यार बोतल देना पीछे से!” उन्होंने दारू निकाली और पीने लगे दस मिनट के अंदर चारों ने दो दो पेग पी डाले.

फिर ऐसे ही इशारों इशारों में मैंने उन को अपना नम्बर दिया और हमारी बातें शुरू हो गईं फोन पर! कुछ ही दिनों में हम दोनों अब काफ़ी क्लोज़ आ चुके थे, फोन सेक्स चैट भी करते थे. मेरे रुक जाने से बहूरानी ने मुझे प्रश्नवाचक दृष्टि से देखा जैसे आंखों ही आंखों में पूछ रही हो कि रुक क्यों गए. जाइए और अपनी जिंदगी के सबसे सुनहरे अवसर का लुत्फ़ उठाइए।कहकर उसने क्लब का दरवाजा खोला।जैसे डोर खुला तो अंदर से वासना भरी सीत्कारें सुनाई दी.

बीएफ बीएफ बीएफ फिल्म बीएफ फिल्मउसमें से तो कुछ निकला ही न होगा, है ना?”बहूरानी ऐसे बोलती हुई किचन में गयी और पौंछा लाकर फर्श साफ़ करने लगी. उसके गहने चूड़ियां सब धीरे-धीरे निकाल दिए और ये सब करते वक्त वो उसके मम्मों को भी दबा रहे थे.

खचाखच वाली बीएफ

दस मिनट में ही उसने अपनी बाँहों में मुझे कस लिया और धक्कों के साथ गांड उछाल उछाल कर मजा लेने लगी. मैं बाहर निकला गाँव के अंदर का रास्ता काफ़ी लंबा था परन्तु शॉर्टकट वाले सीधे रास्ते में खेतों से होकर गुज़रना पड़ता था. मैंने अपनी शेरवानी निकालनी चाही तो दीदी ने बोला- नहीं, मेरे स्वामी इसे मैं निकालूँगी.

चूत एकदम गीली थी, मैंने बिना देर किये उस की टांगों को चौड़ा किया और एक ही झटके में पूरा लंड अंदर घुसा दिया. मैंने उस के सारे शरीर पर हाथ फिराया और उसे अपनी गोदी में बैठा लिया. कमरे में गुप्प अंधेरा था इसलिए उसने फ़ोन की लाइट ऑन की तो उसकी नज़र हड़बड़ी में कच्छा ऊपर करते राहुल पर पड़ी.

गुलशन- फ्लॉरा इधर देखो… तुम ये सब क्या कर रही थीं?फ्लॉरा- स…सॉरी अंकल व्व…वो मैं जब यहाँ आई तो आपकी लुंगी हटी हुई थी. अब मैं पीछे से आगे को आया और भाभी के एक चूचे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. मैंने भी आज अपनी पोर्न मूवीज का पाया हुआ ज्ञान आज दीदी के साथ चुदाई में लगा दिया.

मैं सोचने लगा कि करूँ भी तो क्या?अगले दिन वो नई लड़की खाना लेकर अकेली आई. क्या, सरप्राइज दोगी बिस्तर में? मैं कुछ समझा नहीं बहू बेबी?” मैंने अचंभित होकर पूछा.

मैं भी जब तक उनके घर रहा, रोज किसी एक को हम दोनों मिल कर चोदते रहे.

लेकिन जब अर्चना दूसरे कमरे में जाते हुए पीछे मुझे देखते हुए हंस रही थी. सेक्सी बीएफ एचडी वॉलपेपरमैंने अपने जयपुर दौरे में विनीता को अपने लंड का स्वाद चखाने का संकल्प कर लिया चाहे इसके लिए लिए मुझे कुछ भी करना पड़े. हीरोइन की सेक्स बीएफमेरे भोले भैया ने अपनी बहन की चूत पर लंड रखा और एक ही धक्का मारा आधा लंड अन्दर चला गया. अतः मैंने फिर से बहूरानी को अपने नीचे लिटा लिया और उसे पूरी स्पीड से चोदने लगा.

मेरे बहुत कहने पर उसने अपने लिए कुछ सामान खरीदा, उसने मुझको भी कुछ कपड़े दिलाए.

मैंने उसे गोद में उठाया और उसे लेकर ही जा रहा था, तभी रास्ते में ही उसने मेरे शरीर पर पेशाब कर दी. लेकिन उसने लंड चूसना नहीं छोड़ा, पहले तो उसने पानी गटक लिया और तब भी लंड को जोरों से चूसती रही. फिर अचानक आंटी ने मेरा लंड अपनी चूत के अन्दर निगल लिया, मुझे लगा जैसे मेरा लंड किसी बड़ी सी गुफा में घुस गया हो.

करीब 10 मिनट बाद मेरा शरीर ऐंठने लगा और मैं झड़ गई और शांत पड़ गई।फिर से अंशुल ने दो धक्के लगातार मारे और मेरी बुर में उसका पूरा लंड घुस गया था क्योंकि उसकी गोलियाँ मेरी गांड के छेद पर टकरा रही थी. जैसे ही भाभी ने दरवाज़ा बंद किया, मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और उनकी साड़ी के पल्लू के नीचे उनके नंगे पेट पर हाथ रख कर उस को सहलाने लगा, उनके गाल और गले, कानों पर पागलों की तरह किस करने लगा. जीजू बोले- रोमा ये राज है, मेरा दोस्त… मेरे साथ मेरे ही ऑफिस में काम करता है.

डॉग कुत्ता बीएफ

पूजा करीब आई और हमारे बीच में ऐसे बैठी कि उसकी पीठ रीतिका की तरफ़ और चूत मेरी तरफ थी. उसकी चूचियाँ उछल उछल कर उसकी फ्राकनुमा कुर्ती से बाहर कूद कर आ जातीं तो मैं अपने दोनों हाथों से उन्हें मसल कर चूस रहा था. मैंने अजय को पैसे दिए और कहा- अजय, ये 500 रुपए ले और दो घन्टे से पहले घर मत आना.

मैं उसकी नाइटी उठा कर चूची पीने लगा, मैं जीभ उसकी चूची के चारों तरफ फिरा रहा था.

मैं भाभी के चूत के दाने को चूसने लगा, दो तीन बार चूसने और जीभ से चाटने के बाद भाभी ने मेरा सिर अपनी टांगों से कस कर जांघों में भींच लिया और उनकी चूत से पानी निकल गया.

’ इस तरह की आवाजें निकालती और कहती- बहनचोद आज चोद दे अपनी इस नाज़ुक सी छोटी बहन को. तो जरूर करवाती थी। लेकिन उसने मुझे चुदाई नहीं करने दी। इसी बीच मैंने अपनी दीदी की गाण्ड देखनी शुरू कर दी।मैंने रात में एक बार उसको चूत में उंगली डालते देखा था. हिंदी पंजाबी बीएफ सेक्सीरवि ने मुझ से कहा- तू यहीं रुक, मैं अभी 10 मिनट में आता हूं।कह कर वो बाहर चला गया।तब तक मैं उसके साथ सेक्स की बातें सोचने लगा।आधा घंटा बीत गया लेकिन वो लौटा नहीं।मैंने सोचा- 10 मिनट की कह कर गया था और अभी तक नहीं आया। मुझे उसके पास न होने से बेचैनी सी होती थी। लेकिन करता भी तो क्या.

पता नहीं फिर इसके बाद वो मेरे लंड के नीचे आती भी या नहीं, इसीलिए मैं दोबारा से अंजलि के ऊपर आ कर उसके मम्मों को सहलाने लगा और मेरा खड़ा लंड अंजलि की फुद्दी से रगड़ खा रहा था. यौन सम्बन्ध कैसे बना, ये आपको बताता हूं कि कैसे मेरी बांहों में रागिनी आकर अपनी कई सालों पहले की चुत की भूख मिटा लेती है. बिल देते टाइम सेल्स गर्ल मोनिका को बोली- आपके पति बहुत अच्छे हैं!मोनिका बोली- हां!ये सुन कर मोनिका बहुत खुश हुई और मैं भी, पर ये मैंने मोनिका को जाहिर नहीं होने दिया.

तो मैंने शिखा को सारा वृतांत सुना दिया तो शालू बोली- इसका मतलब तुम जीजू से चुदने आई हो?तो मैं एक दम से शांत हो गई. ये गलत है और आप भी मुझसे प्रोमिस कीजिए कि आज के बाद आप आज जो कुछ भी हुआ, उसे भूल जाएंगे और कभी भी इस तरह की हरकत नहीं करेंगे.

मैंनेचुत में उंगलीडाली और चुत को चाटा, मुझे चुत चुसाई में बहुत बहुत मजा आ रहा था.

सुमन- पापा आराम से करना, इसमें आज के पहले उंगली भी नहीं गई और आज आपका ये अज़गर घुसने वाला है. वो दोनों अब भी मम्मी की चूचियां दबा रहे थे और भोला ठाप पर ठाप मार रहा था. मेरा लंड अभी भी मुरझाया हुआ था आखिर हो भी क्यों न… रात में सुगंधा इस डर से तीन बार से चार बार चुदवाती है कि कहीं मैं उसकी बहन को न चोद दूँ.

गाना की बीएफ मम्मी भी अब शांत हो गई थीं, उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हो रही थी. अंजलि मेरेहोंठों को बार बार चूम रही थी और आत्मसंतुष्टि के भाव के साथ मुस्कुरा रही थी.

घर पर भी मैं माही के अंगों को किसी ना किसी बहाने से छूने की कोशिश करता था. मैं उठ नहीं रहा था, मौसी ने मुझे बाकी बातें घर में बताने का वादा करके मुझे वापस ले आईंरात को खाने के बाद मैं तुरंत ही मौसी के पास चला गया और पूछने लगा, तो मौसी बोलीं- सबको सो जाने दो फिर बताऊंगी. अब मैं चाहता था कि ये पीड़ा जल्द खत्म की जाए, जिसका इलाज था लिंग का योनि में पूरा प्रवेश.

ब्लू पिक्चर वीडियो बीएफ पिक्चर

बस सबके मेल इसी तरह से आते रहे थे कि मुठ मार लो … कोई चुत मिलने वाली नहीं है और अगर ज्यादा चुदास चढ़ी हो, तो तो किसी रंडी के साथ चुदाई कर लो. दोनों की मुलाकात एक शादी समारोह में हुई थी, दोनों की जान पहचान बढ़ी और इस कदर बढ़ी कि रजत के बिस्तर तक जा पहुँची और अभी तक चुदाई जारी है. तभी मैंने चूत पर हाथ लगाया, उनकी चूत को टच करते ही मैं बोली- झाँटे बना रही थी इतनी देर से?तो मेरी सास बोली- हाँ!मैं अपनी सास से बोली- मेरी जान, मैं भी तो हूँ, मुझसे नहीं करोगी सेक्स?उन्होंने यह सुन कर मुझे कसकर पकड़ लिया और मैंने उनके होंठों को किश किया और वे भी मुझे कसकर पकड़ कर किश करने लगी.

फिर मैंने उसके गले के ऊपर आ गया, वो भी बहुत गरम होने लगी थी और ‘उम्म्म… अम्म्ह उउम्म हाह…’ करने लगी. मरता क्या नहीं करता, मैं अपनी ममेरी बहन की काली पैन्टी निकाल आज्ञाकारी कुत्ते की तरह फटाफट बुर चाटने लगा.

माँ लंड के सुपारे की चमड़ी को आगे-पीछे जैसा करने लगीं, तो मुझे दर्द होने लगा.

लेकिन जब तक दीपक भैया अपना माल नहीं निकाल लेते, तब तक तो उसे लंड भुगतना ही था. आंटी बहुत गर्म हो गई थीं, उन्होंने मेरी लुंगी निकाल दी और बोलीं- मेरे ऊपर आ जाओ. बहूरानी की चूत बिल्कुल वैसा मज़ा दे रही थी जैसे किसीकुंवारी गर्लफ्रेंड की चूतदेती है.

काजल अपने कमरे से बाहर आई और अपने भाइयों के लिए ग्लास में पानी ले आई. जब भी दीदी के साथ जीजू मेरे घर आते हैं, तो हम दोनों एक-दूसरे से गंदे मजाक करते हैं. ” मैंने बहूरानी को मक्खन लगाया और उसके निप्पल चुटकी में भर के उसका निचला होंठ चूसने लगा.

जब यश आया तो हम दोनोंमाँ बेटी नंगी पड़ी थीं, यश के आते ही मैंने उसे गले से लगाया और उसे खूब चूमना शुरू किया… यश ने भी मेरी रसीले ओंठ खूब चूसे.

बीएफ वीडियो हिंदी में दर्द: मैं उन पर पागलों की तरह टूट पड़ा और उन्हें बहुत जोरों से चूसने लगा. यह बात उस समय की है, जब मैं बारहवीं कक्षा पास करके ग्रेजुएशन करने के लिए दिल्ली से मेरठ आया था क्योंकि मेरे बारहवीं कक्षा में मार्क्स में बहुत कम आए थे इसलिए मुझे दिल्ली यूनिवर्सिटी के किसी भी कॉलेज में एडमिशन नहीं मिला इसलिए मैं मेरठ आ गया.

मगर तुम शदी के बाद बरखा से इस रात के बारे में लड़ाई तो नहीं करोगे ना कि वो कैसे मज़ा लेकर चुद रही थी. मैंने उस से पूछा- आप कहाँ तक जाओगी?तो मालूम हुआ कि उसे मेरे स्टॉप से दो स्टॉप आगे उतरना था. उस दिन दोनों का जवान पानी में भीगा जिस्म देखकर मेरा लंड पानी में खड़ा होने लगा और मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं.

जय ने अपना लंड निशा की चुत से बाहर निकाला और निशा की गांड में घुसाने लगा.

आज भी जब मैं वो सब याद करता हूँ तो ‘फच फच…’ की वो आवाज़ मेरे कानों में गूंजती है. मैं चुपचाप सब सुन रहा था और मैंने पूछ लिया- मौसी चुत में कहाँ छेद होता है, मैंने तो नहीं देखा?इस पर मौसी ने कहा- रूको, मैं दिखाती हूँ. अब उसको लंड की जरूरत है, बाहर किसी से चुदवाए, इससे अच्छा तू उसकी प्यास बुझा दे.