बीएफ हिंदी में लिखें

छवि स्रोत,कैमरा सेक्सी ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

कालूखेड़ा: बीएफ हिंदी में लिखें, उधर हॉस्टल तो मुझे मिल गया था लेकिन मैं हॉस्टल में सही से खुद को अडजस्ट नहीं कर पाया.

हिंदी सेक्सी चुदाई करने वाला

उन दोनों में चूमाचाटी होती दिखी, तो मुझे मजा आने लगा और भाभी में मुझे उम्मीद दिखाई देने लगी. राजस्थान की लड़की की सेक्सी फिल्ममेरा मानना है कि अगर कोई उसे टाइट जींस टी-शर्ट में देख ले, तो देखता ही रह जाए.

हमारी सेटिंग कैसे हुई और बात कहां तक पहुंची?अब उसकी शादी हो चुकी है, और वो दो बच्चों की माँ है और उसका पति रेलवे पुलिस में अफसर है. नेट वाला सेक्सी वीडियोफोन काटने से पहले उसका ब्वॉयफ्रेंड उससे फोन पर किस मांगने लगा और वो मना करने लगी.

मेरा कड़क लंड सुमोना की कोमल गुलाबी चूत को कस कर रगड़ रहा था और मेरी बेचैनी को बढ़ा रहा था.बीएफ हिंदी में लिखें: मैंने न जाने किस झौंक में पूछ लिया- क्या तुम वर्जिन हो?इस बात का उत्तर उसने बड़े ही सहज भाव से दिया- नहीं मैं वर्जिन नहीं हूँ.

मगर मेरी सासू मां ने अपने उभारों को न तो ढकने की कोशिश की और न ही किसी तरह की लज्जा दिखाने की चेष्टा की.उधर शैंकी ने फिर से मेरे एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया था और वो उसे चूसने लगा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो सहित - बीएफ हिंदी में लिखें

विकी और मेरी सेक्सी मॉम की जबरदस्त Xxx चुदाई चल रही थी और फच फच की आवाजें आ रही थीं.काफ़ी देर तक चुदाई के बाद सेक्स ख़त्म हुआ और हम दोनों झड़ कर एक दूसरे से चिपक कर लेट गए.

अगला वीडियो देखा जाए?फिर उसने एक लड़का और एक लड़की के संभोग का वीडियो लगाया. बीएफ हिंदी में लिखें मैंने उसके बारे में पूछा, वो अहमदाबाद की रहने वाली थी और यहां सिर्फ स्टडी के लिए आई थी.

मुझे आज भी याद है उसका गदराया हुआ मादक बदन … बड़े बड़े बूब, जो उसके तंग ब्लाउज से बाहर निकलने को मचल रहे थे.

बीएफ हिंदी में लिखें?

दीदी एकदम सहज हो गई थीं मगर उनकी आंखों में चुदाई का नशा मुझे साफ़ समझ आ रहा था. इस पर उसने कहा- यहां पर एसी नहीं है, तू मेरे साथ बेडरूम में ही सो जाना. पीयूष मेरी अम्मी की चूत चाटने लगा और अम्मी उसके लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

तभी मम्मी ने कहा- तू सारा दिन फोन ही चलाता रह … घर में कौन आया, कौन नहीं … तुझे तो इस बात से कुछ लेना देना ही नहीं है. कुछ ही देर में भाभी ने मेरा हाथ पकड़ कर अपने एक दूध पर रखवा दिया और मैं उनके रसभरे मम्मों को सहलाने दबाने लगा. अपनी उस उंगली को मैंने अपने मुँह में डाल लिया जिस पर उमैय्या की चूत का पानी लगा था.

मैंने पूछा- दर्द हो रहा है क्या?वो बोलीं- हां हल्का हल्का सा होता है. जिससे मेरा लंड उसके कंठ तक चला गया औऱ कोमल ‘गुँ गुँ …’ की आवाज़ निकालने लगी. भाभी- मैं क्या बताऊं … तुम्हारे भैया IVF करवाना नहीं चाहते और अपनी कमी मानते नहीं हैं, बताओ मैं क्या करूं?मैं- भाभी, वो तो सब ठीक है, मगर मुझे खुद ही समझ नहीं आ रहा है कि इस मैटर में मैं आपकी किस तरह से मदद कर सकता हूँ.

कुछ देर बाद साई का लौड़ा थोड़ा सा ढीला पड़ गया था फिर भी वो मेरे मुँह में लौड़ा पेले जा रहा था. फ़िर उन्होंने हाथों से लंड को चुत के छेद में सैट किया और आंखों से इशारा किया कि पेलो.

आज फिर मैंने शिवानी को स्कूल जाते समय ऊपर से लेकर नीचे तक देखा और लंड को पकड़ लिया.

तभी मैंने देखा कि वो अफ्रीकी लड़कों का ग्रुप उसके सामने आकर एक्सरसाइज़ करने लगा.

अम्मी- हैलो धीरज … कैसा है? बता कैसे याद किया … उस दिन मजा तो आया था न?धीरज- अरे बहुत मजा आया था आंटी … आपने क्या मस्त चुदाई करवाई थी. मैं अपने घर जाने लगा, पर मेरी बीवी मेरे पास आई और 5 मिनट तक चूमाचाटी की. देर रात को अचानक से मेरी नींद खुली और मैंने देखा कि भाभी अपने मुँह से ‘अम्म्म आआहह …’ जैसी मादक आवाजें निकाल रही थीं और अपने मम्मों और चूत को सहला रही थीं.

मुझे तो ऐसा लग रहा है कि आज आसमान फट ही जाएगा आह … आह … दक्ष मैं आने को हो गई. जैसे उमैय्या मेरे दोस्त की गोद में बैठ जाती तो कभी उनके बीच चूमाचाटी होने लगती थी. उसने मुस्कान बिखेरी तो मैंने फिर से जीभ से उसकी चूत की फांकों को सहला दिया.

हॉस्पिटल के चक्कर में मैंने एक महीने तक मोनिका के साथ ठीक तरह से चुदाई भी नहीं की थी.

मैंने उसे बताया कि मैं अपनी सास के साथ होटल रूपा में रूकी हुई हूं।उसने बोला कि मैं भी आ रहा हूं. मैम की टाइट होती जांघों और मांसपेशियों से साफ पता लग रहा था कि थोड़ी देर में वो अपनी चुत से पानी छोड़ देंगी. मैंने उसे चोदते समय उसकी चूचियों को खूब मसला, मुँह में लेकर चूसा और काटा.

बच्चे के पैदा होने के कुछ दिन बाद काम के चलते भैया को दुबई जाना था, तो वो निकल गए. दीदी अपना पेटीकोट उतार आई थीं इसलिए टांगों का नजारा कुछ मस्त सा दिखने लगा था. वह गर्म हो गई और अपने हाथ से एक दूध को को मेरे मुंह में पूरा डालने की कोशिश करने लगी.

मेरी 34 की गांड बाहर को निकली हुई है।बस अपनी रफ़्तार से चल रही थी और अंदर अंधेरा था।अचानक से मुझे लगा जैसे किसी ने मेरी गान्ड पर हाथ लगाया हो।अंधेरे में मुझे कुछ नहीं दिखा लेकिन मुझे अच्छा भी लगा।थोड़ी देर बाद फिर से मेरी गान्ड पर हाथ चलने लगा.

मैं सपना की पढ़ाई में मदद भी कर दिया करता था और उसकी बड़ी बहन कशिश मुझे हिंदी पढ़ा दिया करती थी. उस दिन मैंने अपने छोटे भाई को जल्दी से खाना खिला कर चाचा के घर भेज दिया.

बीएफ हिंदी में लिखें मैंने कहा- आज का क्या प्रोग्राम है?वो आंख दबाती हुई बोली- देखते हैं … जगह मिल गई तो बल्ले बल्ले पक्के में होगी. वो बड़ी बोल्ड निकली उसने आते ही मुझे जोर से गले लगा लिया और चूमती हुई बोली- बाबू, आई लव यू.

बीएफ हिंदी में लिखें कुछ ही दिनों बाद गर्मियां शुरू हो गईं और मेरी वाइफ ने अपने घर कुछ दिनों के लिए जाने को कहा. मॉम की बाहर को निकली बड़ी सी गांड, कुछ फूला हुआ सा पेट और बड़े बड़े बूब्स थिरक रहे थे.

मेरा गीला लंड सटाक से गांड के अन्दर घुसता चला गया और मैं आंटी की क़मर पकड़कर दे दनादन चोदने लगा.

16 साल वाला बीएफ

मुझे जगा हुआ पाकर राखी मैडम ने लंड को और जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया. मैंने भी कहा- बिल्कुल … वो आदमी ही क्या, जो औरत को खुश ना कर सके!आंटी मुस्कुरा दीं. मैं अपनी अम्मी शाजिया के लिए अपने मकान मालिक जगप्रीत के लंड को सैट कर रहा था.

मेरे मामा को एक दिन किसी काम से एक हफ्ते के लिए मुंबई जाना था तो उन्होंने मेरी मम्मी को फ़ोन करके कहा- मैं कुछ दिन के लिए बाहर जा रहा हूँ. तभी मैंने उसे वहीं के वहीं फर्श पर नीचे गिरा दिया और शिवानी के ऊपर चढ़कर उसे अपनी बांहों में जकड़ कर लपेट लिया. मैंने तेज आवाज़ में गाने चला दिए और पास रखी टेबल पर तेल की शीशी में से तेल लेकर अपने लंड को अच्छी तरह से भिगो लिया.

उसके मुंह से मादक आवाजें आने लगीं- आह और जोर से … और जोर से चोदो … जल्दी जल्दी करो … आह मजा आ रहा है.

मेरे हाथों में मेरा लंड था और भाबी किसी छिनाल की तरह मेरे सामने अपने दूध गांड हिलाती हुई धीमे धीमे नाच रही थीं. मेरी भाभी दिखने में बहुत ही सुंदर हैं और वो मेरे भैया से बहुत प्यार भी करती हैं. मैं कामुक हो चली थी और गर्म सिसकारियां भरने लगी थी- ऊम्म नेता जी … आह मजा आ रहा है … ऊऊऊम्म!मेरी मादक आवाजों को सुनकर वो दोनों भी हॉट होते जा रहे थे.

उसने अपने मूत की एक एक बूंद मेरे मुँह में गिरा दी और बोला- अब उठ जा और जाकर साफ़ कर ले. उससे एक तेज आवाज होने के कारण में घबरा गया और वहां से भाग आया कि घर में किसी को पता न चल जाए. वो बोलीं- हट … इधर वो सब कैसे?मैंने हंस दिया और बोला- अच्छा इधर क्या दिखाया जा सकता है, वो दिखाओ.

अभी हमने एक एक पेग ही लगाया था तो मेरे ससुर के फ़ोन पर उनकी बहन यानि मेरी बीवी की बुआ की कॉल आयी. उसने अपनी पैंट खोल कर उतार दी और मुझे अपनी जांघों के बीच रगड़ने लगा.

इसी तरह से अब मुझे, विकी और मेरी मॉम के बीच कुछ कुछ तय होता सा दिखने लगा था. हम दोनों कुछ देर एक दूसरे को चूमते रहे।सुनील ने प्यार से मेरी साड़ी मेरी कमर तक हटा दी. मैंने सलईका से कहा- रुको यार … मैं कपड़े उतार देता हूं और तुम भी अपना सलवार सूट उतार लो.

जैसे जैसे आंटी लंड पर अपना हाथ चला रही थीं, मुझे उतना और ज्यादा मजा आ रहा था.

उसने दरवाज़ा खोला और मैंने देखा कि वो सिंपल सूट में पतली सी लड़की मेरे सामने खड़ी थी, जिसके चुचे और गांड का उभार अभी उठने शुरू ही हुए थे. मेरे पापा को कशिश के घर सोना था पर कशिश ने देर रात तक परीक्षा के लिए पढ़ने का बहाना किया. चूंकि इस आसन में चुत जल्दी रस छोड़ देती है तो लंड का घमंड भी कायम रहता है.

मैंने पूछा- क्या हुआ … आप गुस्सा हैं मुझसे?वो बोलीं- क्लास में क्यों नहीं आ रहे हो?मैंने कहा- मन नहीं था मैम क्लास करने का …इतना बोलकर मैं चुप हो गया. अभी मैं ऐसे ही आंख मूंदे लेटा था तो उन्होंने मेरे लंड से कंडोम उतारा, जो वीर्य से भरा हुआ था.

मैंने उससे कहा- क्या है बे … बच्चे को क्यों परेशान कर रहा है?मेरी चौड़ी छाती, गठीला बदन और हाईट देखकर वो सब वहीं ठिठक गए थे. मेरी पिछली कहानी थी:मैं बॉस और उसके भाई से चुद गईमैं बहुत समय से कोई सेक्स कहानी नहीं लिख पाई थी, इसलिए आज एक नयी सेक्स कहानी साथ आपके सामने हाजिर हूँ. शमा अपने ब्वॉयफ्रेंड से बातें कर रही थी और अपने हाथ से मेरे बाल सहला रही थी.

रूसी बीएफ

‘मां ने इलाज के लिए नहीं कहा?’भाभी- हां कुछ दिन इलाज के लिए तुम्हारे भैया ने डॉक्टर से भी सलाह ली, मगर कुछ नहीं हुआ.

मेरी मामी ये सब चुपके से देख रही थीं, पर मुझे तो पता ही था कि वो खिड़की से मेरे लंड को देख रही हैं. सेक्सी लड़की की गरमा गरम चुदाई की मैंने होटल के कमरे में! वो मेरी भानजी थी, उसे मैं कई बार चोद चुका था। पर वो मेरे साथ सुहागरात मनाना चाहती थी. वैसे तो हमारी सुहागरात बहुत अच्छी रही थी लेकिन दूसरे दिन मैं सुहागरात के बारे में सोच रहा था.

प्रीति लेटे लेटे जोर जोर से सांस ले रही थी, उसके चूचे ऊपर नीचे हो रहे थे. वो पूरी तरह से चुदाई का मजा ले रही थी, मैं भी उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था. वीडियो दिक्षित सेक्सी वीडियोमैंने उनकी दोनों टांगों को पकड़ चौड़ा करते हुए फैला दिया और उनकी चूत में उंगली अन्दर तक घुसा दी.

वो बोली- अरे नहीं जीजू, उसके साथ किये हुए तो मुझे दो साल से भी ऊपर हो गये. इसी बीच मेघा ने मेरा तौलिया हटा दिया और मुझे नंगा कर दिया क्योंकि मैंने नहाने की बाद केवल तौलिया ही लपेटा था.

इसी के साथ हमारे बॉस दीपक जी की शादी की बात भी चली और रिश्ता पक्का भी हो गया. दीदी ने अन्दर ही अन्दर खुश होते हुए कहा- सुन उनको एक सरप्राइज दें, तो कैसा रहेगा?मैं- हां अच्छा आईडिया है, लेकिन कैसा सरप्राइज?दीदी- हम उन्हें वहीं जाकर विश करेंगे. भाभी ने वीर्य तो ऐसे खाया, जैसे किसी बिल्ली को मलाई चाटने मिल गई हो.

अपने लंड को मैं उसकी चुत के पास ले गया और चुत के छेद के पास रख कर मैंने अन्दर डालने की कोशिश की. मेरे मुँह से ‘यस … कम ऑन बेबी … आह …’ की आवाजें निकल रही थीं और वो भी पूरी ताकत से गांड को पीछे धकेल कर लंड ले रही थी. सुमोना भी अपनी टांगों को और अपनी गांड को हिला हिला कर मेरे मन को मचलने पर मजबूर कर रही थी.

अगले ही पल मॉम ने हाथ बाहर निकाला तब मैंने देखा कि वो एक प्लास्टिक का लंड था.

कुछ देर बाद पीयूष ने चुदाई की पोजीशन बना ली और उसने अपने लंड को अम्मी की चूत रख दिया. एक दो दिन में ही मैं पीयूष के करीब बैठने लगी थी और वो भी मुझे समझाने के बहाने मेरे कंधे पर रख देता और कंधे को सहलाने लगा था.

उसने चुत खोल कर आंख मारी तो मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख कर जोरदार झटका दे दिया. अब तक मुठ तो मैं मारता था लेकिन आज जो मजा मुझे आंटी के हाथ से आ रहा था, वो मुझे आज तक नहीं आया था. मैंने ‘जी मैडम …’ बोल दिया, तो कहने लगीं- यार, प्लीज मैडम मत बोला करो … मेरा नाम तुम्हें पता है, वो बोलो और अब तो हम दोनों दोस्त हैं ना!तो मैंने ‘हम्म राखी …’ लिखकर भेज दिया.

फिर मैंने नफीसा आंटी को बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और ऊपर से चोदने लगा. हुआ यूं कि मैं कान में इअरफोन लगा कर गाना सुनते हुए शहर से वापस अपने गांव लौट रहा था. मैंने कमरे की लाइट बंद की और उसके बगल में जाकर सोने का नाटक करने लगा.

बीएफ हिंदी में लिखें मैं कभी होंठों पर होंठ रगड़ता, तो कभी गाल पर, तो कभी कान को, तो कभी गर्दन को चूमने लगता. जब वो लंड चूस रही थी तो इतना अधिक मजा आया था कि ऐसा लग रहा था मानो मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा हूँ.

धार्मिक बीएफ

मेरा इशारा पाते ही वो मेरी बीवी की जांघों की अन्दर तरफ मालिश करने लगा. भाभी की चूचियां बड़ी थीं तो जीजा जी के एक हाथ में एक पूरी चूची आ ही नहीं रही थी. पन्द्रह मिनट में ही भाभी दो बार झड़ चुकी थीं और मेरा अभी हुआ नहीं था.

मेरी बहन अपनी गांड उठा कर धीरज से बोल रही थी- आह चोद … जम कर चोद साले … मजा आ रहा है. कामवासना में डूबे हुए हम दोनों भाई बहन एक दूसरे को आलिंगन चुम्बन करने लगे. स्कूल गर्ल स्कूल गर्ल सेक्सी वीडियो‘अहो आप समझने की कोशिश कीजिए न! आप मानते है न कि सोनू जवान हो गई है? क्या आप चाहते है कि सोनू यह सब कहीं बाहर से सीखे? और आप तो एक शिक्षक हैं, आपको तो पता ही होगा कि इस उम्र के बच्चों का एक दूसरे के शरीर के प्रति शारीरिक लगाव कितना होता है.

मैंने पड़ोस की भाभी की फोटो ले ली मोबाइल पर … उनके जैसे कपड़े, क्रत्रिम आभूषण, बड़ी बिंदी और विग मैंने खरीद ली।हमारे बेडरूम में कंप्यूटर था.

मैं उसे पसंद करता था। उसकी शादी असफल रही और उसकी वासना मैंने समझी और मजा दिया. मैंने देखा कि भाभी बिल्कुल नंगी होकर नीचे मेरी तरफ मुँह करके बैठी थीं.

रोमांस सेक्स कहानी मेरी गर्लफ्रेंड के साथ वीडियो सेक्स चैट के बाद उसकी गर्म चूत की चुदाई की है. [emailprotected]Xxx सुहागरात की सेक्सी कहानी का अगला भाग:चुदी चुदाई बीवी संग चुदाई का मजा- 2. मां बेटी ने मिलकर भिड़े की बनियान भी निकाल दी और अब पूरा भिड़े परिवार बिना कोई शर्म और लाज की मर्यादा का पालन किए हुए अपने हॉल में नंगा खड़ा था.

फिर मैं उठ कर उसके पास गया और अपने होंठों पर जीभ फेरते हुए उसके होंठों पर उंगली फेरने लगा.

शीला दीदी मेरा लौड़ा देख कर चौंक सी गईं और कहने लगीं- बाबा, मैं अब तक कुंवारी हूँ. उसकी चुदाई कब कैसे और कहां की … यह सब मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा. मॉम घूम कर भिखारी की तरफ आईं और उसे बिस्तर के किनारे बैठा कर उसका लंड चूसने लगीं.

हिजड्यांचे सेक्सीमैं कुछ समझ नहीं पाया कि अभी तो भाभी कुछ चिंता सी दिखा रही थीं और अब मुस्कुरा रही हैं. डॉक्टर ने मेरी क्लिट को रगड़ते हुए एक उंगली मेरी चूत में डाल दी, जिससे मेरे शरीर में बुरी तरह से वासना जाग गई और मेरा शरीर मेरा साथ न देते हुए अपने आप उंगली को पूरा अन्दर लेने के लिए ऊपर उठने लगा.

यूपी देहाती बीएफ

शिवानी की चूत बहुत ज्यादा कसी हुई होने के कारण मेरा लंड अन्दर पूरा घुस ही नहीं पा रहा था. भाभी सिसकारियां लेने लगीं- आह उई आह ई चोद दो मेरे सनम … अच्छा लग रहा है. आंह उन्हह … आह हह … चोद साले मुझे … थोड़ा धीरे धीरे चोद प्लीज़ … आह मेरी सारी चूत छिल गई कमीने … अब छोड़ दे हरामी.

पहले तो मैंने यूं ही आनाकानी का नाटक किया, पर बाद में मैं हां बोलकर घर से आ गया. मगर अब मैं खुद ही उनसे जगप्रीत अंकल के साथ दोस्ती करने के लिए कह रहा था, तो वो राजी हो गई थीं. अब हमारे बीच मैडम की तरफ से आप वाला सम्बोधन समाप्त हो गया था और जान व तुम शुरू हो गया था.

मेरे ऐसा करने से प्रीति ने सिसस्स करके एक गर्म सिसकारी भरी और बोली- आह जीजू प्लीज! अभी मत करो. वो साथ में बोलती जा रही थी- मेरे मुँह में अपना वीर्य निकालो, मेरी प्यास मिटा दो. बीस शॉट मारने के बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाला और उसकी दोनों टांगें ऊपर उठा कर मेघना की गांड में लंड पेल दिया.

मौसी आंखें नचाती हुई बोलीं- हां तुझसे मैं बहुत खुश हूँ और मेरा जी कर रहा है कि तुझे भी खुश कर दूं. शैंकी ने मुझसे इस बात का वादा करवा लिया कि तुम अपने वादे से मुकरोगी नहीं.

शमा मेरे पास आई, उसने मेरा हाथ अपनी कमर पर रखा और अपनी बांहें मेरे गले में डाल दीं.

नफीसा आंटी की चूत खुली हुई थी, तो उनको दर्द नहीं हो रहा था और वो मज़े से लंड ले रही थीं. भैंस भैंस की सेक्सीमैंने तूफ़ानी चुदाई जारी रखी और तीस चालीस धक्कों के बाद अपना रस कोमल की चूत में छोड़ दिया. नया सेक्सी पंजाबीडॉक्टर ने उसके बाहर जाते ही रूम अन्दर से बंद कर लिया और मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दिया. ऐसा करते ही उसने मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और मस्ती से चूसने लगी.

लड़की के पिताजी ने मुझे खाने पर बुलाया।मैं खाने पर उनके घर गया। अच्छा परिवार था। लड़की का नाम मोहिनी था और देखने में सुंदर थी।उसकी एक छोटी बहन भी थी.

दोस्तो, जब आपका सेक्स का फर्स्ट टाइम होता है और बिना किसी पॉवर वाली दवा के, आप चुदाई करते हैं तो हद से हद 8-10 मिनट ही टिक पाते हैं. ‘मम्मम … अहहह … आंह बाबू चाटो … आंह आज मेरी चूत का सारा रस निचोड़ लो उम्म मर गई आंह उन्ह … और जोर से … और जोर से चाटो मेरी चूत को. मैंने एक बार फिर से उसकी चिकनी चूत पर मेरे लंड का टोपा रखा और अबकी बार ज़ोरदार धक्का देकर लंड चूत में ठोक दिया.

मैंने भाभी को अपनी बांहों में भरते हुए कहा- भाभी, सुहागरात तो ससुराल में मनाई जाती है. ’भाबी एकदम से उछल पड़ीं और खुद को आगे को करती हुई गांड में लंड निकालने की चेष्टा करने लगीं. मगर उतनी देर में तो चाचा का काम ही उठ गया था; वो चाची के ऊपर ढेर हो गए और हांफने लगे.

बीएफ चाटने वाला

फिर मैंने भी अपनी बुआ सास के पांव छुए और प्रीति ने भी मुझे नमस्ते जीजा जी बोला. मैंने बात बनते देखी, तो उससे पूछा- वो कैसे?जगप्रीत- तुम अपनी अम्मी से मेरी दोस्ती करा दो बस … बाकी मैं देख लूंगा. किचन में मौका पाकर मैंने पीछे से दोनों चूचियां पकड़ लीं और कहा- चाय नहीं, मुझे दूध पीना है.

मैं रात के मैसेज पढ़ कर समझ गया था कि राजेश जी भी दीदी को पसंद करने लगे हैं.

तभी उस लड़की ने फिर से कहा- तुम बस हमें हमारी कार से छोड़ दो, या वो सामने खड़ी हमारी कार इधर ले आओ.

चुदाई के बाद हम दोनों ने कपड़े सही किए और एक दूसरे की बांहों में सो गए. धीरज बोला- सबीना कहां है?अम्मी ने सबीना को आवाज दी तो सबीना रसोईघर से बाहर आ गयी. वीडियो सेक्सी वीडियो फ्रीये काम काफी देर तक चलने के बाद भाभी बिना कुछ किए अपनी चड्ढी में ही झड़ गई और जमीन पर चित लेट गई.

जब कॉलेज का तीसरा सेमस्टर शुरू हुआ, तो हमें पता चला कि हमारे कॉलेज में एक नई मैम आयी हैं … जो बला की सुंदर हैं. मगर आप इतनी जहीन हैं कि मुझे लगता है आपसे मिलकर ही मुझे मेरी जरूरतें पूरी हो पाएंगी. फिर उन्होंने मुस्कुराते हुए मुझे गले से लगाया और हम बातें करने लगे.

मैंने पूछा कि आप कौन हो और आपको किससे बात करनी है?मगर अभी वो अपने बारे में न बता कर मुझसे वही सब बातें बोले जा रही थी. मैं ऐसा शो करने लगा कि उसके होने ना होने से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.

मेरे से कैसा संकोच, आख़िर मैं तुम्हारी बीवी हूं।मैं नंगा होकर पेट के बल लेट गया.

फिर मैंने लंड चुत से निकाला और नफीसा आंटी को सोफे पर घोड़ी बनाते हुए झुका दिया. मैं ‘सीसी … आ आ आ … उफ्फ …’ की मादक सिसकारियां भरने लगी और काशिफ के मर्दाना हाथों से अपनी चुचियों को मिंजवाने का सुख लेने लगी. मैंने गाड़ी रोक दी और दीवार से झांक कर देखा तो वो दरवाजे की घंटी बजा रहा था.

सेक्सी फिल्म वीडियो एचडी ब्लू फिल्म मैंने भी विकी से मॉम के साथ नीचे जाने का कहा तो वो भी मेरे साथ नीचे आ गया. इस पूरी सफाई के दौरान मुझे उसकी ढीली टी-शर्ट और हाफ लोअर के कारण उसके मम्मों के और ठुमकती गांड के खूब दर्शन हुए, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया और तौलिये में से दिखने लगा.

स्कूटी पर बैठते ही मैंने दीदी को कमर से पकड़ लिया और एकदम सट कर बैठ गया. नमस्कार दोस्तो, मैं राज ठाकुर आपको अपनी हॉट सिस्टर सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ. मेरी देसी मॉम भी कराहती हुई बोलीं- हां बेटा, अंकल मेरी मदद कर रहे हैं.

सेक्सी बीएफ किन्नर

उनकी एक टांग को मैंने अपने कंधे पर रख ली और उनकी चुत में लंड पेल कर स्पीड से चोदने लगा. धीरे-धीरे मेरी चूत ने भी हार मान ली थी, ससुरी गीली होना शुरू हो चुकी थी।लेकिन अभी तक बाबूजी ने चूत के अन्दर उंगली तक नहीं डाली थी।फिर उन्होंने मुझे घुमाया और उसी तरह से अपनी उंगलियाँ मेरी पीठ से गांड की दरार तक चलाने लगे. उनकी उम्र यही करीब 38 साल के आस-पास की थी और जिस्म के मदमस्त उतार चढ़ाव थे … स्तन 38 इंच के थे, कमर 34 की … और हाहाकारी नितम्ब 40 इंच के थे.

दीदी- हां करो!मैं- दीदी आपको अभी ये सब गलत लग रहा है, कार में तो आप बड़े मज़े ले रही थीं. मैं- तुम बताओ कैसी चल रही है तुम्हारी लाइफ़?उमैय्या आंख दबाती हुई- ठीक है, पर तुम्हारी जैसे मस्त नहीं है.

मैंने पूछा- आपके रिश्तेदार इधर, किधर रहते हैं?उसने बताया कि जगह का सही सही पता तो नहीं मालूम … मगर वो नई आबादी है और बाजार से हटकर कुछ दूर है.

मैंने उसकी कच्छी को एक साइड रखा और उसकी टांगों को फैला कर उसकी नंगी गुलाबी चिकनी चूत को चूमा. एक दूसरी के स्तन चूस रही थीं, एक दूसरी की चूत सहला रही थीं।जेनी ने मुझे लिटा दिया। मेरी जाँघों को पकड़कर पैर दूर दूर किये और मेरी चूत अंदर तक चाटने लगी. अब मैं मेरी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि आगे भी मेरी मॉम ने विकी के अलावा दूसरे मर्दों से कैसे चुदाई के मजे लिए.

उसकी इस टी-शर्ट को देखने से ऐसा साफ़ समझ आ रहा था, जैसे उसने अन्दर कुछ ना पहना हो. उन दोनों की सेक्स कहानी को मैं अगले भाग में विस्तार से लिखूंगा कि जगप्रीत ने मेरी अम्मी को कैसे चोदा. मैंने कहा- क्या है वो नया नाम?वो बोलीं- अब से तुम्हारा नाम समीर है.

आज तूने पहली बार मुरादाबाद में आज मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा काम पूरा करने का न्यौता दिया है.

बीएफ हिंदी में लिखें: दोनों ने वैसा ही किया, दोनों का लावा एक साथ निकला और मेरे मुँह में टपटप गिरने लगा, कुछ इधर उधर भी गिरा. मैं इस बात को समझता था कि पहल मुझे ही करना पड़ेगी इसलिए मैंने दीदी को सुंदर बोल दिया था.

भाभी गांड उठाते बोली- बाबू क्या बुदबुदा रहे हो … मेरी चूत को इतना मत तड़पाओ … अब डाल भी दो … आज मेरी चूत का भोसड़ा बना दो. मैंने चाची के कपड़े उतारे तो उन्होंने अन्दर काली रंग की ब्रा पैंटी पहनी हुई थी. फांकों में लंड का सुपारा सैट होते ही मैंने झटका दे दिया और पूरा लंड एक बार में चुत के अन्दर पेल दिया.

अभी तक मैंने उसके कपड़े उतारे नहीं थे और ना ही उसके किसी प्राइवेट पार्ट को टच किया था.

उसकी छटपटाहट देख कर मैं मुस्कुराया, तो वो भी मेरी मुस्कुराहट का राज़ समझ गयी. सुनील ने जब दरवाजा खोला तो वह अवाक् हो गया।मैंने इठलाते हुए कहा- भाई साहब, मुझे कंप्यूटर सीखना है. उसकी चुत का रस निकला तो मैंने अपनी जीभ को चूत की सेवा में लगा दिया.