एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर फुल एचडी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

भौजी के सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म, मगर तब भी तुम मेरी गुलाम नहीं हो … तुम चाहोगी कि तुम ऐसा अपने दिल से करना चाहती हो तब ही तुम अपनी सहमति देना, अन्यथा मेरी तरफ से किसी तरह की कोई जबरदस्ती नहीं है.

सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो गाना

उनकी बातों में भाभी के लिए जो बातें मैंने सुनी, उसमें यही सब था कि भाभी की पतली कमर … उफ़ क्या चुदती होंगी … मगर पति गान्डू सा है. हिंदी ऑडिओ सेक्सी व्हिडिओजब सितंबर में काम शुरू हुआ, तो मुझे किसी काम से देश के सबसे साफ शहर इंदौर जाना पड़ा.

अब मैंने उससे पूछा- यदि तुमको दिक्कत हो तो साफ़ बता देना क्योंकि मैं नहीं चाहता हूँ कि तुम जबरन मेरी बात को मानो. स्कूल मैडम सेक्सीसोनिया- मेरी दीदी ने देख लिया, तो आपका सारा प्यार निकाल कर रख देगी.

अब शिल्पा भी अपने हाथ को मेरे अंडरवियर में डाल कर लंड को सहलाने लगी.एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म: उसने मुझसे कहा- क…कोई बात नहीं देवर जी … मेरे पति के कपड़े रखे हैं.

अब फिर से मेरी चूत में आग लगा दी ना!इतना कहकर उसने आगे को सरक कर मेरे लंड का सुपारा अपनी चूत में ले लिया.जब विशाल को लगता, वो झड़ने वाले हैं तो वह अपना लंड बाहर निकाल लेते.

खचाखच चोदने वाला सेक्सी वीडियो - एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म

मैंने पूछा- आपको कैसे पता?उन्होंने कहा- मैंने नीचे गाड़ी रुकने की आवाज़ सुनी है और उनके आने का टाइम भी हो गया है.जब मैं उसे नाश्ता करा रही थी, तभी मम्मी ने भाई से कहा- बेटा स्टेशन जाने के लिए ओला बुक कर दो.

मैं लैब में आई तो सर मुस्कुरा कर बोले- कैसी हो?मैंने भी हंस कर कहा- एकदम अच्छी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म साथियो, Xxx कहानी के अगले हिस्से में आपको फ़लक की Xxx एनल बैक सेक्स कहानी का मजा पढ़ने को मिलेगा.

उसने गाड़ी में बैठते ही सबसे पहले मुझे आई लव यू बोला, जिसके जवाब में मैंने भी आई लव यू टू कह दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म?

अब मैंने सौम्या को घोड़ी बनाया, इससे उसके लटकते हुए मम्मे मुझे लगाम जैसे लगे. अम्मी, खाला और जेबाँ एक ही कमरे में उसी बेड पर सोती थीं जिस बेड पर मैंने खाला को चोदा था. बाजू के रूम में तुम्हारे पिताजी, मम्मी और सोनाली के सास ससुर नहाकर तैयार हैं.

बेलन से रोटी जितनी आगे बढ़ती, उससे ज्यादा तो उसका लंड मेरी चूत में अन्दर हावी होता जा रहा था. अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगी कि विलियम ने कैसे मेरी गांड मारी और उसके दोस्त के साथ मैंने क्या क्या मजे किये. निशा बोली- अभी कुछ नहीं … वो सब बाद में!मैं भी कौन सा चुदाई करने जा रहा था.

वो बोला- लौड़ा तो तूने बहुत ही अच्छे से ऐसे पकड़ा है, जैसे मेरा लौड़ा कहीं भाग ही जाएगा. वो लड़का बोला- और तुम्हें कोई लंड नहीं मिलने वाला, इसलिए तुम यहां अपनी चूत में उंगली करने आई हो।उसने पलटकर हंसते हुए कहा. अब चाची वॉशरूम में ब्रा पैंटी भी नहीं रख रही थीं और ना ही मुझसे बात कर रही थीं.

उसका लैटर पढ़ने के बाद तो मेरी खुशी का ठिकाना ही नहीं था और मुझे लग रहा था कि मेरी वर्षों की तमन्ना आज पूरी होने जा रही है. खाना सच में लाजवाब बना था, मैंने फ़ौरन फ़ोन निकाला और खाली बर्तन की फोटो ली और लिखा कि खाना सच में बहुत स्वादिष्ट था.

जिसकी चारदीवारी बनी हुई थी और वहां पर एक कमरा भी था, जिसमें पलंग पड़ा था और कमरे में दरवाजा भी लगा था.

मैंने कहा- हां सिमरन, आज मैं तेरी चुत को अपने 7 इंच लम्बे लंड से हचक कर चोदूंगा.

मैं मिनी के पास गया तो उसने खुद से अपनी गांड को उठा दिया, मैंने तुरंत उसकी पैंटी को नीचे कर दिया. पूरे कमरे में आह आह की मधुर ध्वनि गूंजने लगी थी- उफ्फ अह्ह जान लव यू बेबी उफ्फ्फक बेबी अब मैं रोज चुत चुसवाऊंगी … आह. ए रियल लव स्टोरी कॉलेज में पहले साल की पढ़ाई के लिए आये एक लड़के और लड़की की है.

आगे की बात अगले भाग में!अभी तक की गांडू सेक्स की कहानी पर अपने विचार आप मुझे मेल जरूर करें. चूंकि गांव से बाजार के लिए एक नई सड़क बन गई थी, तो सभी लोग अपने निजी साधनों से उसी रास्ते से जाते थे. जैसे ही ब्रेक लगी, निशा मेरे साथ ऐसी चिपक गई … जैसे शहद से मधुमक्खी.

एक दिन प्रियंका ने मेरा लंड को अपने हाथ से पकड़ा और उसे सहलाने लगी.

फिर उसने कल के लिए थैंक्स कहा और आंखों में आंखें डाल कर बस मुस्कुरा दी. मैंने रोहित को आवाज़ लगाई और बोला- भाई आप जरा ये सीढ़ी पकड़ो, मैं बल्ब लगा देता हूँ. कुछ देर ऐसा करने से वो भी गर्म होने लगी और उसने अपने आपको ढीला छोड़ दिया.

मैं उसका सारा माल पी गया और उसके मुंह में अपने लंड के झटके मारता रहा।वो मस्ती में मेरा लंड चूस रही थी. कुछ देर बाद चाचा ऑफिस चले गए और रानी का फोन बजने लगा तो वो कमरे में चली गई. उसने अपनी चूत पर उंगली लगाई और उस पानी को अपनी उंगली पर लगा कर अपने मुँह में ले ली.

मैंने हाथ लगाया तो मैं जानबूझकर हाथ अन्दर को डालते हुए नाड़ा खोलने लगा.

इस सेक्स कहानी को लिखने में मैंने इतना ज्यादा एंजॉय किया है और इसीलिए मुझे उम्मीद है कि आपको भी यह मैन टू मैन सेक्स कहानी जरूर पसंद आएगी. मैंने मॉम से कहा- पापा तो बाहर ही रहते हैं तो उन्हें तो कुछ नहीं पता चलेगा.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म मैंने टी-शर्ट और लोअर पहना हुआ था और शिल्पा भी सोते टाइम नाईट सूट पहनती थी. मैं उससे खुलता चला गया और हम दोनों सेक्स के बारे में बातें करने लगे थे.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म वो मुझे भी बराबर देख रही थी, उसका मुझे अधिकार से बोलना कि अभी खाना लगा दूंगी, आप रूम में जाइए. फिर मैंने कुछ देर बाद उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को अपने हाथों में ले लिया.

तभी मैंने उन्हें समझाया कि मेरे पास एक ही लंड है और तुम लोगों की हरकतों से इसमें दर्द हो रहा है.

मां बेटे के सेक्सी

अगर आप लोगों को पसंद आए, तो लिखना जरूर … फिर और भी किस्से शेयर करूंगा. मुझे थोड़ा दर्द भी रहा था पर वो मानने को तैयार नहीं थे और थोड़ी कोशिश के बाद उसका पूरा लण्ड मेरी गांड में समा गया. ये हॉट सिस्टर Xxx कहानी हमारे मतलब हम दोनों भाई बहन के 19 वें जन्मदिन की है.

रात के करीब एक बजे मुझे महसूस हुआ कि मेरे पेट पर अमित का हाथ रखा है. जिनल- तो साले रंडीबाज़ किसने रोका है … ले पी ले … इसी लिए तो ब्रा नहीं पहनी ताकि तुझे दिखाकर चुसवा सकूं. वो बोली- क्या?मैंने कहा- दारू पियोगी?वो बोली- पागल है क्या?मैंने कहा- क्यों बियर तो पीती ही है … दारू में कौन से कांटे लगे होते हैं?वो बोली- नहीं बियर तक ही ठीक है.

वहां दुकानदार ने बोला कि वो मोबाइल कुछ मिनट में ठीक कर देगा … उसका चार्जिंग शॉकिट खराब हुआ है.

मैंने नाटक करते हुए जय से कहा- यह क्या कर रहे हो तुम?जय मेरी आवाज़ सुनकर डर गया और झट से अपना लन्ड पैन्ट के अंदर कर लिया. सोने समय मैंने भी सिर्फ़ एक निक्कर पहनी थी और उसके नीचे कुछ भी नहीं पहना था. चूचियां सहलाते सहलाते उसकी पीठ पर सभी जगह अपने होंठों से चूमने लगा.

तो सरिता भी मेरे गाल को चूमती हुई बोली- सब तुम्हारी मेहरबानी है हर्षद. उनकी बड़ी बड़ी चुचियां मेरे सामने ब्रा में कैद थीं और बड़ी ही मोहक लग रही थीं. कुछ देर रुक कर मैंने शिल्पा के होंठों को चूमना शुरू कर दिया और साथ ही मैं उसके चुचे भी दबा रहा था.

हम ठहरे तो नौसिखिए ही, पहली चुदाई में कौन सा आसन सही होता है, ये हम दोनों में से किसी को पता नहीं था. मौत के कुंए का खेल जैसे ही चालू हुआ, तो मुकेश ने फिर से अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और मेरी गांड को दबाने लगा.

इतना सब होने के बाद भी मैं अब तक चोदन कला में अनुभवहीन एक लड़का था. उसकी गांड की दरार देखकर मुझसे रहा नहीं गया, तो मैं एक हाथ से सरिता की गांड सहलाने लगा. दोस्तो, मेरी किंकी सेक्स फंतासी स्टोरी को लेकर आपका क्या कहना है … प्लीज मुझे मेल करें.

अब सरिता अपने घुटने के बल बैठकर मेरा लंड का सुपारा अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

हंसते समय उनके मम्मे बड़े मस्त हिलते थे और मैं बड़ी हसरत से शीला भाभी की जवानी को निहारने लगता था. उन दोनों पूरी चुदाई देखने के बाद मैं अपने लंड को शांत करने के लिए टॉयलेट में चला गया. मैंने भी पानी पीकर बोतल साइड में टेबल रख दी और मैं पीठ के बल लेट गया.

मैंने उसका दूध दबाते हुए पूछा- मैं कितना कमीना हूँ ये तो तुम्हें अभी थोड़ी देर बाद मालूम चलेगा. मिनी ने मुस्कुराते हुए मुझसे पूछा- मजा आया या और चूस दूं?मैंने उसे अपने पास खींच कर किस किया और बोला कि बहुत मजा आया.

मैंने उसके पेट के नीचे तकिया लगाया, फिर से चूतड़ पर चमाट मारी और चूत फैला कर चाटने लगा. कुछ देर के बाद वो सामान्य हो गई और रोती हुई मुझे गाली देने लगी- बहनचोद, तूने मेरी चूत का भोसड़ा बना दिया … मादरचोद निकाल ले लंड बहुत दर्द हो रहा है. उसके चूसने का तरीका इतना ज्यादा मादक था कि मैं पानी पानी हो रही थी.

सेक्सी भाभी देवर के साथ

मेरे ऐसा बोलने पर आंटी ‘चल हट बदमाश …’ कह कर हल्की सी सिसकारी लेने लगीं.

मैं उससे पेड़ पर लता की भांति लिपट गई थी और अपने हिप्स को नीचे से उठा उठा कर उसके गोरे लोड़े को अपनी चूत की जड़ तक समाने दे रही थी. वो मेरे लंड के ऊपर आकर बैठ गयी और अपने हाथ से मेरा लंड अपनी चूत पर सैट करके धीरे धीरे ‘आअह्ह …’ करती हुई अपनी चूत में मेरा लंड खा गयी. तो मैं बाथरूम में गया, गीजर चालू करके गर्म पानी को एक जग में ले आया.

मैंने थोड़ा आगे आकर कहा- भाभी जी, वो मैं बचपन से ही घर से लड़कर चला गया था. चाय खत्म होते ही सोनाली ने उठकर दरवाजा अन्दर से बंद कर दिया और हम दोनों ऊपर बेडरूम में आ गए. सेक्सी ब्लू टू सेक्सीतब एक बार और … क्या हुआ हुआ, समझ गए न!बहुत दिनों बाद उस तरह की चुदाई से मैं भी खुश थी।उसके बाद हम तीनों ने पूल में मस्ती की और फिर आकर मैंने कपड़े पहने.

मुझे हैरानी इसलिए हुई कि जिधर से मैं खा रहा था, वहीं से वो भी जीभ से कुल्फी चूस रही थी. तो भाभी बोलने लगीं- नहीं अभी किसी ने भी आज तक मेरी गांड नहीं मारी … और ना ही मैं अपनी गांड मरवाना चाहती हूँ.

मैंने कहा- क्या उन्हें नींद की गोली दे दी थी?वो हंस दी और आंख दबा कर वापस चली गई. आज मैं आपको एक बात बताता हूँ कि एक विधवा औरत और एक बच्चे की सोचने की क्षमता एक जैसी होती है. शुरू में मुझे राहुल की बात पर ज्यादा यकीन नहीं हुआ क्योंकि राहुल एक फट्टू किस्म का लौंडा है, उस साले की किसी से बात करने में भी गांड फटती है, तो उसने ऐसा कैसे किया होगा, मुझे जरा कम समझ आ रहा था.

हॉट सिस Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने भाई के साथ ब्लू फिल्म देखते देखते उसके साथ सेक्स का मजा लेने लगी थी. उसका वो अन्दर जाकर वापस बाहर आकर बाय करना मुझे आह वाला फील दे रहा था. मैं भी वहीं खड़ा होकर देखने लगा और अपने मोबाइल से उसकी वीडियो बनाने लगा.

इसके बाद में तुम खुद ही लंड अपनी चूत में बार बार लेना चाहोगी, सिर्फ एक बार रेखा सहन कर लो … और फिर खुशियां ही खुशियां हैं मेरी जान!रेखा बोली- ठीक है हर्षद अब मैं तुम्हें नहीं रोकूंगी.

मैंने पूरा लंड चूत के अन्दर तक पेला और एक पल रुक कर दीदी की चूत चुदाई की स्पीड बढ़ा दी. मैंने पूछा- ऐसा क्यों?तब वो बोली- तुमको भी तो ऐसा लगना चाहिए कि तुम्हारी फ़लक की सील तुमने ही तोड़ी हो.

उसके ऊपर अपने घुटनों के बल आ गया और उसके ऊपर झुक कर मैंने उसके माथे को चूम लिया. अब पिंकी के आंसू निकलने लगे और वो झटपटाने लगी।रोमिल ने अपने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चोदने लगा।थोड़ी देर बाद लंड अंदर बाहर करने लगा. उनके मुँह में अपनी पिचकारी मारते मारते मैंने अपना लंड बाहर निकाला और पम्मी आंटी के मुँह पर पिचकारी चला दी.

सिनेमा हॉल में कोई किसी का लंड चूस रहा है, तो कोई किसी के लौड़े के ऊपर बैठ कर कूद रहा है. वो अपने हाथ से मुझे अपने दूध पिलाने लगी और मादक आवाजें भरती हुई मुझे उकसाने लगी. चूमते हुए मैं उसकी पैंटी तक पहुंच गया और उसकी पैंटी पर एक किस कर दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म फिर रानी की चूचियों को सोचते हुए मुझे कब नींद आ गयी, कुछ पता ही नहीं चला. मैंने अपनी पैंट और टी-शर्ट निकालकर बेड पर रख दिए और सिर्फ अंडरपैंट में ही बाथरूम में जाकर फ्रेश होने लगा.

एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो न्यू

वो मेरे गले, मेरी छाती पर बिल्कुल बेकाबू शेरनी की तरह चुम्बन करने लगीं. फिर जैसे ही मैं निशा की गांड पर बैठा, निशा बोली- अमित तुमने बहुत देर लगा दी. आह … जेठ जी … प्लीज छोड़ दीजिए ना!”जेठ जी ने ब्लाउज का हुक खोला और मेरे बूब्स को सहलाने लगे.

नमस्कार दोस्तो, मैं युवराज आप लोगों के साथ अपने वासना की कहानी का पहला अनुभव लेकर हाज़िर हुआ हूँ. अभी 5-6 धक्के ही मारे होंगे कि वो रोती हुई आवाज में बोली- प्लीज़ अपना लंड बाहर निकाल लो. लडकी लडकी की सेक्सी व्हिडिओवो बोली- कैसी चाहिए?मैंने कहा- आपको क्या लगता है कि मुझे कैसी की लेनी चाहिए?वो बोलीं- मतलब?मैंने कहा- मतलब कैसे लेनी चाहिए?वो मेरी इस बात को समझ रही थीं और मुस्कुरा रही थीं.

जिसके बाद वो पराँठे बनाने में लग गई और मैं भी किचन में खड़ा होकर उससे बाते करने लगा.

मैं जितना भी उनके साथ रोमांस करूं, उनको गर्म करूं, उन्हें चोदने के लिए उकसाऊं, फिर भी उनकी उत्तेजना में कमी रहती है. जिस प्रकार लोगों को तंबाखू, सिगरेट की तलब रहती है, उसी प्रकार मुझे अन्तर्वासना की कहानी पढ़ने की चुल्ल रहती है.

फिर उसके मम्मों के उस हिस्से पर किस करने लगा जो ब्रा से बाहर निकला हुआ था. शायद आंटी को भी अब ये खेल अपने आवेश में लेने लगा था क्योंकि अब वो भी सोफे में और नीचे की ओर खिसक कर लेटने सी लगी थीं. मेरे पास मेरी और भी बहुत सी सच्ची कहानी है जो मैं आकर जल्दी शेयर करूंगा।[emailprotected].

विशाल ने मोनिका (रवि) की मैक्सी उतार दी और उसे गोद में उठाकर शयन कक्ष में ले गया.

रास्ते में मैंने उससे पूछा- फ़लक एक बात बताओ, आज तुमको इतना दर्द क्यों हुआ … और तुम्हारा खून भी निकला. वे बोले- सन्नो सही में तुम औरत होती, तो आज किसी की किस्मत चमक उठी होती. तो ये आराम से तुम्हारी चुत में चला जाएगा और तुम पोर्न स्टार के बारे में बड़ा जानती हो.

सेक्सी सेक्सी नौकरानीइसलिए मैंने उससे कहा- अभी तुम अन्दर चली जाओ और रात को 10:00 बजे जब सब सो जाएं तो मिलने के लिए बाहर आ जाना. मैं बहुत बेताब हो रहा था … मुझसे रहा नहीं गया तो मैं आहिस्ता से उसके रूम में गया.

દેશી ભાભી સેક્સી વીડીયો

मुझे पता था कि इसकी सांस अटक जाएगी और चुदने से मना कर देगी इसलिए मैं लंड को निक्कर में ही छोड़कर उसे गर्म करने में लग गया, उसकी चूत चाटने में लगा रहा. तुम उनको मज़ा दे सकोगी?मैं बोली- धीरू तुम जो बोलोगे, मैं वो करूंगी. उसने मेरी गांड को अपने हाथों से ऊपर करके मेरे नीचे से बेड का पूरा चादर हटा लिया और उसी भीगे हुए चादर से मेरी चूत और अपने बदन और चेहरे को साफ करने लगा.

मैंने सबकी नजरें बचाकर टीना को किस करना चाहा तो उसने इंकार कर दिया और वो दूर बैठ कर टीवी देखने लगी. मैं उसके घर पंहुचा तो उसने मुझे घर के अन्दर खींच लिया और दरवाजा बंद कर दिया. इसी के साथ मैंने अपना एक हाथ आगे ले जाकर उसके मम्मे को पकड़ लिया और उसे मसलने लगा.

यह कहते हुए उसने अपनी गांड से मेरे लंड पर जोरदार धक्का देकर मुझे दूर कर दिया. एक हाथ से मैंने पेटीकोट का नाड़ा खोलना चाहा लेकिन नहीं खुला तो मैंने झटके से तोड़ दिया. लोगों की तकलीफ़ को महसूस करता हूं … और उनको यथासंभव सहारा भी देता हूं.

बाथरूम में मैंने उसकी गांड की सिकाई बिल्कुल वैसे की जैसे उसकी चूत की. सौम्या ने मुझे खुद ही बुला लिया और कहा- मेरे लिए जूस ला दो प्लीज़!मैं सौम्या के लिए जूस लेकर गया.

निशा अब लंबी लंबी सांस ले रही थी, उसे भी मेरी मालिश से मजा आ रहा था.

फिर मेरे मुरझाये हुए लंड की तरफ देखकर रेखा बोली- हर्षद मुझे तुम्हारे लंड के अमृत का स्वाद लेना है. गांव देहात की सेक्सी लड़कीमुझे लगा अब देरी करना ठीक नहीं, भट्टी गर्म है … लंड डाल देना चाहिए. मोटे चित्र वाली सेक्सी वीडियोजब वो मटक मटक कर चलती है तो ये तय मानिए कि किसी की भी नीयत उस पर खराब हो सकती है. उसने अपने दोनों पैरों से मेरी गांड को जकड़कर लंड का पूरा दबाव अपनी चूत में बनाए रखा.

उसकी चुत ने कितने इंतजार के बाद मेरे लंड का स्पर्श अपने मुँह पर पाया था.

जब दो दिन तक मैं चाची के साथ बिस्तर पर सोया तो मैंने अपनी हरकत शुरू कर दी. अब तो मुझे समझो मजा आने लगा था क्योंकि रात को चाची के घर सोने जाता था तो चाची भी मैक्सी पहन कर मेरे सामने आ जाती थीं. वो मेरा लंड लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी; मेरे लंड को पूरा मुँह में लेना चाहती थी पर मेरा आधा ही लंड उसके मुँह में जा पा रहा था.

इससे वो बिन पानी की मछली की तरह तड़पने लगी।तभी मैंने उसकी ब्रा और पैंटी को भी उतार कर एक तरफ फेंक दिया, साथ ही अपना अंडरवियर भी उतार दिया।अब हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए. उसके बाद मुझे वहां से जाना पड़ा लेकिन हम दोनों बहुत दिनों तक कॉलेज के नाम पर मिलकर चुदाई कर रहे थे. मैंने बात करते करते 2-3 बार उसकी चुचियों को देखा तो पाया कि वो मेरी तरफ ही देख रही थी.

हिंदी में ब्लू फिल्म ब्लू

उस दिन ना मुझे कोई जल्दी थी ना रीटा को … क्योंकि दिन के 2 बजे से लेकर अगली सुबह 10 बजे तक हम दोनों कमरे में ही रुकने वाले थे. मेरी सौम्या डार्लिंग को थोड़ी देर में इतना मजा आने लगा कि वो बहुत लंबी लंबी सांसें और सिसकारियां भरने लगी. धीरू ने ब्लाउज के ऊपर से मेरे कप वाले मम्मों को दबा दबा कर मुझे बेहाल कर दिया.

खाने के बाद मैं एक रूम में जहां फर्श पर गद्दा डला हुआ था जाकर लेट गया और कुछ देर में वो भी पास में लेट गई.

मगर अगले ही पल मेरे मन में लड्डू फ़ूटने लगे कि अच्छा मौक़ा हाथ आ गया.

दो तीन कोशिशों में जब कामयाबी नहीं मिली तो उसने खुद अपने ब्लाउज को ऊपर खिसका दिया।ब्लाउज अब भी था तो सीने पर मगर मम्मे आजाद थे।मैंने उनको अपने हाथों में भर लिया. उसे और मुझे आज लंड चुसवाने में इतना मज़ा आ रहा था कि मैं बता नहीं सकता. फुल सेक्सी कॉलेजमैंने उसकी आंखों की पट्टी थोड़ी सी हटाई और उसके सामने खुद भी बिल्कुल नंगा हो गया.

इसलिए मैं बोर होने पर पड़ोसन के घर चला जाता था, जिससे उसका भी मन बहल जाता. इतने में ही विलियम भी बाहर से अंदर रिसेप्शनिस्ट के पास आया और अपना रूम पूछने लगा. चाची बोलीं- यहां नहीं, मेरे रूम में मालिश का तेल रखा है, वहीं आ जा.

वो बोली- हां बस मेरा भी होने वाला है … और तुम मेरे अन्दर ही अपना निकाल दो, मैं तुम्हारा पानी अपने अन्दर फील करना चाहती हूँ. इसलिये मैं एक बार फिर खड़ा हुआ और कमरे में जितने भी लाईट के स्विच थे, सबको ऑन कर दिया।पूरा कमरा रोशनी से भर गया।एक बार फिर मैं उसी पोजिशन पर आकर रिया की स्कर्ट को उठाने लगा तो इस बार रिया ने मेरे हाथों को दबोच लिया.

होली के बहाने उसने नशे के बहाने कैसे अपनी चाची के चूचे दबाए और नशे में अपने खड़े लंड का दीदार चाची को करवा दिया.

मुझे ये पता लग गया था कि भाभी की चूत तो मेरे लंड ही से चुदने को तरस रही है. तब मैंने भाभी की चूत में अपनी दो उंगलियां डाल दीं और अन्दर बाहर करने लगा. मैंने कहा- यदि तुम मुझे इतना ही प्यार करती हो तो मुझे कुछ और भी पिला दो.

यात्रा का सेक्सी वीडियो इसी दौरान हमारे सीनियर्स ने हम जूनियर्स के लिए एक फ्रेशर पार्टी अरेंज की।हम सभी पार्टी में आए. सगे भाई बहन … हमें यह सब नहीं करना चाहिए!तो मैंने कहा- मादरचोद रंडी … तुम तुम्हारी प्यास बुझाने के लिए यह सब कर सकती हो.

उनके झड़ने के कुछ देर बाद भी मैं उनकी चूत को चूसता रहा और उनका नमकीन पानी मेरे मुँह में आता रहा. अब चाचा ने टूरिंग का काम पकड़ लिया था तो वो ज्यादातर बाहर ही रहने लगे थे. मुझे तो बहुत मजा आ रहा था लेकिन मौसी को बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

एक्स एन एक्स एक्स वीडियो हिंदी

इसी दौरान हमारे सीनियर्स ने हम जूनियर्स के लिए एक फ्रेशर पार्टी अरेंज की।हम सभी पार्टी में आए. बाकियों की तरह मुझे अपनी तारीफ करने का कोई शौक नहीं है और ना ही मैं अपने लंड के बारे में झूठी तारीफ करना चाहता हूं. समीर मुझे देख कर मेरे भाई से बोला- अरे वाह, तेरी बहन तो इस ड्रेस में मस्त माल लग रही है.

नाभि के नीचे एक टैटू बना था और नाभि में एक चमकदार नग चिपकाया हुआ था जो भाभी के चलने से चमक रहा था. उन्होंने गुड़िया को चारपाई पर लिटाया और मेरी तरफ देख कर अपने एक दूध को खुजाने लगीं.

तभी मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया और मैंने मेडिकल स्टोर से कुछ दवाएं ओर कंडोम ले लिए … और घर आ गया.

मैं उसके साथ बातचीत करते हुए जब रोने लगी तो उसने मुझे अपनी बांहों में कस लिया. मैं जीजा जी को अन्दर बिस्तर पर लिटा कर वापस जाने लगा तो माया दीदी को मुझ पर भी कुछ शक हुआ. मैंने उसके दूध से मुँह हटाया और उसके होंठों के ऊपर अपने होंठों रख कर उसके होंठों को चूसने लगा.

मैंने चूत की झांटें साफ़ करते हुए ही उसकी चूत में उंगली करना शुरू कर दी थी जिससे वो बेहद कामुक हो गई थी और मेरे लंड से चुदने के लिए मरी जा रही थी. मैंने लंड सौम्या की चूत से निकाल कर उसकी चूचियों पर हिलाना शुरू कर दिया और एक दो पल बाद अपनी पूरी मलाई गिरा दी. तभी मेरे मुँह से गाली निकल गयी- बहनचोद ठीक से चोद न … मर्द है तो मेरी चीख निकाल साले … मेरी नंगी वीडियो बनाता है.

जिस वजह से उसे मुँह बना लिया था और मुँह में आए हुए लंड रस को थूक कर अपने आपको ठीक करने लगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म: सबके चले जाने के बाद जब पम्मी आंटी वापसी अपने फ्लैट में गईं, तो मैं भी उनके पीछे पीछे उनके फ्लैट में चला गया. ये ओरिजिनल नाप है … लड़कियां देखना चाहेंगी तो उन्हें दिखा भी सकता हूँ.

उसने दरवाजा खोला तो उसके बाल भीगे हुए थे और उसने स्किन टाइट शर्ट और कैफेरी पहन रखी थी जिसमें उसके मम्मों का साइज बड़ा मादक लग रहा था. अब तुम ठीक हो गए हो, लेकिन दवाई समय पर लेते रहना और दो दिन तक क्लीनिक आते रहना. शुरू में सौम्या को चूत में दर्द और जलन फील हो रही थी लेकिन लगभग 5 मिनट बाद उसकी चूत पूरी तरह से गर्म हो गई थी.

मेरी बात सुनकर रेखा ने मेरे सीने पर अपना सर रख दिया और मेरे सीने पर अपने हाथों से सहलाती हुई बोली- हर्षद तुम मुझे भरोसेमंद इन्सान लगे इसलिए तो तुम्हें बुलाया है.

मेरी मम्मी आज घर पर नहीं थीं वो अपने स्कूल के काम से शहर से बाहर गई हुई थीं और मेरा भाई मेरे लिए कोई समस्या नहीं था. मैं चाहता हूँ कि तुम उसके जन्मदिन पर उसके साथ चुदाई करो, मुझे ख़ुशी होगी. लंड लेते ही वो दर्द के मारे चिल्लाने लगी, मुझे रोकने लगी- छोड़ दे … नहीं चुदवाना मुझे … दर्द हो रहा है … रुक जा कमीने.