सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी व

तस्वीर का शीर्षक ,

आदिवासी सेक्सी xxx: सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो, इधर धर्मपाल ने भी अपनी गर्लफ्रेंड रुखसाना की फोटो लखविंदर को दिखा दी.

भारतीय ओपन सेक्सी

मैंने भी कुछ ही देर में डिम्पल की चूत सहला कर उसे इतना गर्म कर दिया कि वो बिन पानी के मछली की तरह छटपटाने लगी. लड़की पटाने का दवाटी टी ने हवलदार को इशारा किया और मुझे खींच कर अपनी गोद में बिठा लिया.

पर मुझे यह नहीं समझ आया कि इतनी जल्दी इन दोनों की बात लन्ड और चुदाई तक बात पहुँची कैसे?लेकिन जो भी हो अब ये साफ था कि या तो मेरी सेक्सी मम्मी मेरे बॉयफ्रेंड का लंड खा चुकी थी या आने वाले समय में सुधा भी सागर का लन्ड लेने वाली है।अब मैं नीचे चली आयी और किचन में खाना बनाने लगी. रेशमा का सेक्सइस तरह से बारी बारी से मैं चाची और सोनी दोनों की चूत को चोद रहा था.

मुस्कुराते हुए मैंने कहा- मतलब पूरी तैयारी से आए हो, जब इतनी मेहनत किये हो तो तुम्हें मना कैसे कर सकती हूं.सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो: ठाकुर के लंड की ताकत देख कर ठाकुर की सास को काफी संतुष्टि हो गई थी.

आज सात साल बाद यह पहला मौका था … जब कोई मर्द मुझे इस तरह से उत्तेजित कर रहा था या मेरे शरीर को दबा रहा था.अब दोनों ही सिसकारियां निकालने लगे थे।अब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी कमर पकड़कर चोदने लगा.

घड़ी वाले गेम - सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो

उसकी दोनों चूचियों को रगड़ने के बाद मैंने उसके पेट को चूमा और मैं धीरे धीरे चूमते हुए उसकी चूत की ओर बढ़ा.तो वो बोली- नीचे मत गिराना!और जल्दी से घूम कर नीचे झुक कर मेरी बहन ने लण्ड को मुंह में ले लिया.

ये कह कर मामी ने मुझे अपने ऊपर गिरा लिया और हम दोनों नंगे फिर चूमाचाटी करने लगे. सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो सबसे पहले मैंने अपनी चूत शेव की, अण्डर आर्म्स शेव कीं फिर अच्छे से नहायी, पूरे बदन पर डियो लगाया और गाउन पहनकर बाहर आई.

अक्षय मेरे मदमस्त जिस्म को निहारने लगा और मेरी गोलाइयों को सहलाते हुए उनकी तारीफ करने लगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो?

मैं- अम्मी … आखिर बात क्या है?अम्मी गुस्से में- ज़ोहरा की सास कह रही है कि अगर इस बार ज़ोहरा के हमल ना रुका तो अगली बार रफ़ीक़ की दूसरी शादी करवा देगी. उसकी कमर के झुकाव से उसकी गांड का गोलाकार बढ़ गया था।इस वक़्त कोई लड़का प्रियंका को चोद रहा होता तो और मजा आ जाता।मगर उस वक्त हम दोनों ही एक दूसरे का सहारा थे।प्रियंका मेरी चूत चाटते हुए एक हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थी और मैं अपनी चूत के दाने को सहला रही थी. मैंने कहा- कभी कोई लड़की फंसी है?वो बोला- हां, एक बार एक को चोदा भी था.

अचानक गुरप्रीत उठी और मुझ पर सवार हो गई, अपनी चूत के होंठों को फैलाकर मेरे लण्ड पर बैठ गई और रगड़ने लगी. इतना बोलते हुए दो मिनट बाद मामी झड़ गईं और बोलीं- अब बस करो बहुत लग रही है. वह भी अपनी चूत को सहलाने लगी जो मेरे लिए एक साफ साफ इशारा था कि ‘आ और चोद डाल मुझे!’बस फिर क्या था कामाग्नि और नशे में चूर मैं भी उस रंडी पर चढ़ बैठा.

पिछली सेक्स कहानी में मैंने अपनी चाची को पटाकर खूब चुदाई की थी और आज तक चाची की चुदाई करता आ रहा हूँ. वैसे भी हम कुछ नाजायज तो कर नहीं रहे … अगर आपा जाग भी गयी तो हमने सेक्स करते देख खुद शर्मा कर बाहर चली जायेंगी और इसका एक और फ़ायदा यह होगा कि वो कल से हमारे कमरे में नहीं सोयेंगी. अंदर जाते ही मैंने चाची को बेड पर गिरा लिया और उसकी गांड में लंड को पेल दिया.

मेरी पिछली कहानी थीमेरे लंड की दीवानी गाँव की देसी बुरआज की यह नयी सेक्स कहानी मेरी ही कॉलोनी में रहने वाले एक किरायेदार के बारे में है. मैंने पूछा- तो फिर आप दूसरी शादी क्यों नहीं कर लेते?राजेश बोला- यार मैंने दूसरी शादी भी की हुई है.

दीपू के मुंह से बस आह्ह … आई … आह्ह … ऊह्ह … की आवाजें निकल रही थीं.

मेरा लौड़ा तना हुआ था जो मेरे एक हाथ में था और दूसरे हाथ में किताब पढ़ते हुए मैं उसको सहला रहा था.

वो भी मेरा साथ देने लगी।कुछ देर उसके होंठों को चूसने के बाद मैं झुककर बारी बारी बहन की दोनों चूचियाँ को चूसने लगा. ये कहानी तब शुरू हुई जब मैं गरिमा से मिलने कार में उसके घर जाने लगा. अलीमा के होंठों को चूसने के बाद बलविंदर धीरे-धीरे उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

कल्लू ने भी अपनी रफ़्तार बढ़ा दी तो अनु फिर से झड़ गई।अब भी कल्लू उसे चोद रहा था तो अनु बोली- थोड़ी देर पीछे भी कर दे!कल्लू ने अपना लंड निकाला और अनु को उल्टा लेटा कर उसके ऊपर चढ़ गया. वो मुझे लड़कियों की प्रॉब्लम्स और अपनी पसंद और ना पसंद खुल कर बताने लगी थीं. इस बात पर वह थोड़ा चुप हो गए और बोले- समधन जी आप ही बताइए, मैं क्या करूं.

मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और वो ऊं … ऊं … की आवाज करते हुए चिल्लाने की कोशिश करने लगी लेकिन उसकी आवाज मेरे मुंह में ही दब जा रही थी.

मैंने फिर से लंड चुत से बाहर खींचा और ज़ोरदार धक्के के साथ पूरा मोटा लंड चुत में घुसा दिया. वो नंगा होकर मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे जिस्म पर अपने जिस्म को रगड़ने लगा. बाजी बोली- आज तो गांड का जायजा लेगा ये बहनचोद!मैंने बाजी को कहा- कुर्सी पर झुक जाओ.

आज तक दीदी और मेरे बीच कभी भी ऐसे प्रकार की बात ही नहीं हुई थी, पर आज पता नहीं दीदी कौन से मूड में थी. फिर उसने कहा कि उसकी फैमिली अभी फिलहाल यहां शिफ्ट नहीं होना चाहती है. अभी भी मेरे अंदर इतनी हिम्मत नहीं आ रही थी कि मैं उसके साथ कुछ छेड़खानी कर सकूं.

अब मेरी आँखें पूरी तरह बंद थीं और मैं पिछले डेढ़ घंटे से गहरी निद्रा में थी.

मैंने मनजीत को बोला- जो भी हम दोनों के बीच में होगा, उसके बारे में मैं किसी को भी कुछ नहीं बताऊंगा. मुझे पूर्ण विश्वास है कि यह रचना अन्तर्वासना ग्रुप के समस्त प्रबुद्ध, गुणग्राहक इंटेलिजेंट पाठक पाठिकाओं को अच्छी लगेगी.

सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो उसकी 32 साइज की दूध जैसे सफेद चुचियां और ऊपर से पिंक ब्रा … आह मेरी तो नज़र ही नहीं हट रही थी. अनु मज़े से चूत में लंड पिलवा रही थी। अनु ने कल्लू की गांड पर हाथ मार कर उसे तेज तेज धक्के लगाने को बोला.

सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो अरे आपने पूछा ही कब था? चलो पूछो क्या क्या जानना है?”जो भी आप बताना चाहो!”मेरा नाम प्रियम है, मुनीम हूं, सेठ जी की नौकरी करता हूं. झुकने से ज़ोहरा के गाऊँ के अंदर बिना पैंटी के नंगे चूतड़ और उनके बीच की दरार पीछे से साफ दिखाई दे रही थी.

आशु का बदन सेक्स की छुअन से थिरक रहा था और मैं उसको अच्छे से फील कर सकता था.

औरत और मर्द का सेक्सी वीडियो

मैं भी अब गेट के बिल्कुल पास आ कर खड़ा हो गया तो उसके पेशाब गिरने की आवाज़ आने लगी. मेरे पति के जाने के बाद मुझे कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा, मेरी आपबीती को मैं विस्तार से आपको लिख रही हूँ. गर्मियों के दिन थे तो मॉम मासी के घर गई थी। दोपहर के टाइम मन नहीं लग रहा था तो मैं टेरेस पे चली गई.

टी टी ने मेरे पलट कर गौर से देखा और बोला- ठीक बोल रहे हो, पैसे और फाईन तो आते जाते रहते हैं, ऐसा माल मुश्किल से ही मिलता है. उसने भी एक बहुत ही छोटी सी शॉर्ट्स और एक स्लिम फिट टी-शर्ट पहन ली, जिसमें उसके सारे उभार साफ साफ झलक रहे थे. आह … की आवाज के साथ मेरी आँखें खुल गईं, बेसुध होकर सो रही किरण जाग गई और बोली- क्या कर दिया बाबूजी? ये क्या कर दिया?मैं मना न कर दूं और नीचे से खिसक न जाऊं, इस भय से मेरी बात सुनते ही बाबूजी ने मेरी कमर कसकर पकड़ी और अपना पूरा लण्ड मेरी चूत में उतार दिया.

जिस दिन हमें हॉस्पिटल से आने में देर होती उस दिन मैं प्रियंका को उसके घर छोड़ कर अपने घर चली आया करती थी.

मैं- ओह नताशा तुम तो मस्त लंड चूसती हो यार … ओह … आह यस पूरा अन्दर ले साली कुतिया!‘उन्ह … हां ले रही हूं न मेरे राजा … लंड बहुत बड़ा है मेरे राजा … उन्ह तेरा लंड टेस्टी है … आंह आज इसे चूस चूस कर निचोड़ दूँगी ललप्पपप्प … लप्प. उस गैर मर्द ने आखिर में अपने लंड का माल मेरी मां की चुत में छोड़ दिया. उसमें आवाज आ रही थी- पापा मुझे चोदो और जोर जोर से चोदो, फाड़ डालो इस आपकी ही दी हुई अमानत को!ऐसी आवाज़ पूरे कमरे में गूंजने लगी.

हां, मंजुला का फोन आता रहता, फोन पर हम सेक्स चैट भी करते रहते और कभी विडियो चैट भी कर लेते, वो पूरी नंगी होकर अपनी चूत में उंगली कर कर के मुझे दिखाती कि मेरे लंड ने उसे ये कैसी गंदी आदतें डाल दीं हैं. बच्चा सच में बहुत भूखा था, दूध पाकर वो जल्दी जल्दी पीने लगा और फिर जल्दी ही सो गया. उसकी इस कामुक क्रिया से मैं इतनी अधिक उत्तेजित हो गई थी कि मेरी चुत ने पानी छोड़ दिया था.

इस तरह आज मैं भी अपनी पहली चुदाई की कहानी आप सभी को सुनाने जा रही हूँ. फिर दो मिनट के बाद मेरा बदन अकड़ने लगा और मैंने पूरा लंड श्वेता के गले तक उतार दिया.

मनजीत बोली- मैं दूसरे कमरे में तुम दोनों के बारे में सोचते हुए उंगली कर रही थी. मैंने झट से एक हाथ से चुत को छुपाया और दूसरे हाथ से अपने बूब्स छिपाने लगी. फिर अचानक उसने मेरा हाथ पकड़ा और कहा- अब पीठ पर भी मालिश कर दो कर दोगे न!मैंने कहा- अगर तुम्हें करानी है, तो कर दूंगा.

ऐसे में मजा तब और बढ़ जाता है जब सामने वाली ब्याहता भी चुदाई की प्यासी हो.

भाभी के होंठों को कुछ देर चूसने के बाद मैं उनके चेहरे और गर्दन को चूमने लगा. कुछ ही पलों के अंदर उसके लंड में आ रहा तनाव मुझे अपने हाथ पर महसूस होने लगा. इधर सामने वाला लड़का मेरे दोनों मम्मों को मसलते हुए मेरे होंठों का रस पिए जा रहा था.

मेरे मुंह से जोर से आह्ह … निकली और वो एक हाथ से मेरी चूचियों को दबाते हुए मेरी चूत में उंगली करने लगा. मैं पीछे की ओर थी तो मुझे पता नहीं चल रहा था कि वो लंड को लगा रहा है या डाल रहा है.

मेरे अंडरवियर में तंबू बना हुआ था जिसे दीपू ने भी नोटिस कर लिया था. मेरे बहुत फोर्स करने पर वो बोलीं- ठीक है … थोड़ी सी पीकर देख लूंगी. जो देसी चुदाई कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूँ यह मेरी जिंदगी की एक सच्ची घटना है। मेरा बाप बहुत पहले बिहार से पंजाब में काम करने के लिये आ गया था। मेरा ज्यादा समय पंजाब में ही गुज़रा है। मेरा बाप एक जमींदार के घर में खेती का काम करता था.

इंडियन सेक्सी बीपी मूवी

दस मिनट बाद मेरा लंड आरती को नंगी देख कर खड़ा हो गया और मैं आरती को अपनी बांहों में लेकर किस करने लगा.

उसे देखकर चाची बोलीं- प्रियंका तुम चिंता मत करो … जब तुम परिमल के लौड़े से चुदोगी … तब मैं सिर्फ तुम दोनों की चुदाई देखूंगी. मैंने जोर से झटके पर झटके लगाने के साथ उनकी एक चूची को अपने मुँह में दबाया और लंड को बह जाने दिया. आपकी काबिलियत इसमें है कि जो भी पत्ते आपके हाथ में हों, आप उन्हीं पत्तों से अच्छा खेलें.

बलविंदर की नजर अलीमा पर बहुत पहले से थी … बहुत पहले से वो मौके की तलाश में था. इतने में रिया ने मुझे पकड़कर साइड में किया और मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लन्ड के साथ खेलने लगी. सोदा सोदीमाय इंडियन गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी दोस्त को उसके जन्मदिन पर होटल में ले गया.

अब मेरे सामने डिम्पल केवल रेड कलर की ब्रा और पैंटी में अधनंगी पड़ी थी. भाभी को पहले तो बहुत दर्द हुआ लेकिन धीरे धीरे भाभी ने सारा दर्द भुलाकर मेरा साथ देना शुरू कर दिया।अब मुझे भाभी की गांड चोदने में चूत से भी ज्यादा मजा मिल रहा था.

अब ससुर जी बेड पर आ गये, उन्होंने धीरे धीरे मेरी दोनों टांगें फैला दीं और मेरी टांगों के बीच आ गये. भाई के लंड का गर्म सुपारा चूत के अंदर घुसते ही मेरी बड़ी बहन की चूत वासना से तपने लगी. मतलब शनाज़ हर महीने गर्भ से होती थी पर वो गर्भपात की गोली खाकर अपना पीरियड चालू कर रही थी.

कुछ देर में ही वो मेरे दोनों निप्पलों को चूसने लगा और मेरे दोनों चुचों को चाट कर वो मेरी चुचियों पर ही अपना सिर रख कर सो गया. अलीमा के मम्मी पापा के दिमाग में भी उस वक्त ये नहीं आया कि बलविंदर से बोल देते कि अलीमा को तुम्हारे घर ही भेज देते हैं. मेरे बेड पर लेटते ही वो मेरे ऊपर चढ़ गया और मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर किस करने लगा.

जिसका लण्ड मुंह में था, उसने मेरी दोनों स्तन पकड़ लिए और उन्हें मसलने लगा.

उसने कहा- क्यों ना हम साथ में सोसाइटी की कैंटीन में कॉफी लें?मैं कुछ बोलता, उससे पहले माया ने हां बोल दिया और कहा- मुझे भी अभी कॉफी की जरूरत महसूस हो रही है. मैंने सिसकारते हुए पूछा- इसको अंदर लिया है क्या कभी तुमने?वो धीरे से बोली- नहीं, बस हाथ से किया है अभी तक.

अगले ही पल मैंने अपनी बीवी माया के लिए अजय का लंड फाइनल कर लिया था. एक दिन कल्लू ने पूछा- आप रोज इस टाइम घर क्यों जाते हैं?सेठ- मैं तो खांड खाने जाता हूं. चड्डी उतारते ही वो मेरे 7 इंच के लन्ड को अपने हाथ में पकड़ कर आगे पीछे करने लगी।उसने पहले मेरे लन्ड के अग्रिम भाग (लन्ड के टोपे) पर अपनी जीभ लगाई जिससे मेरे शरीर में झुरझुरी सी दौड़ गयी।उसके बाद उसने मेरे लन्ड का टोपा अपने मुंह में डाल लिया और उसको प्यार से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी।मेरे हाथ उसके सिर पर आ गए.

मैंने उसकी हल्की सी चिपचिप करती बुर को देखा और उसी में खो जाने का मन बनाने लगा. देसी न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी ईमेल का प्रयोग करें अथवा कमेंट बॉक्स में भी लिख सकते हैं. मगर जब मेरा लंड उसकी गुलाबी चूत में गया तो वो मुझे दुनिया की सबसे हसीन लड़की लगने लगी.

सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो इतने में रिया ने मुझे पकड़कर साइड में किया और मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लन्ड के साथ खेलने लगी. रात को अक्षय फिर देर से आया … लेकिन मैंने आज एक और ज्यादा हॉट सी नाईटी पहन ली थी.

विज्ञान सेक्सी

अब आहिस्ते आहिस्ते घर में सभी लोगों के मन में डर होने लगा कि कहीं हम दोनों भाई बहन के ऊपर कुछ ऐसा है कि हम बेऔलाद ही रहेंगे. जीजू के जाने के थोड़े दिन बाद आपा ने अम्मी को अपनी माहवारी ना आने का बताया तो अम्मी खुश हो गयी और उन्होंने आपा की सासू को फोन करके यह खुशखबरी दी. वो ऐसे लेट गई … जैसे किसी बरसों से प्यासे को बहुत दिनों के बाद पानी मिल गया हो.

उसकी कामुक बात सुनकर मैंने अपने लंड पर हाथ से सहलाते हुए कहा- आजमा कर देख लो भाभी. वो बोली- इतना बड़ा!मैं कुछ नहीं बोला, थोड़ा सा मुस्कुराया और उसके पास हो गया. सेक्स फुल मूवी हिंदीउनकी चुत एकदम कचौड़ी सी थी जिस वजह से पैंटी एकदम पावरोटी की तरह फूली हुई थी.

मैं एक हाथ से उसके मम्मों को दबा रहा था और दूसरा हाथ मैं धीरे-धीरे उसकी चूत पर ले गया.

तुम्हारे पूरे बदन पर टेटू या पेंटिंग करना है और मन भरके सेक्स करना है. ड्राईवर गाडी़ लेकर आया था पर मेरे शौहर ने उसे पैसे देकर टैक्सी से आने को कहा.

देसी लड़की की आधी अधूरी चुदाई करने के बाद वो लड़की अपने घर चली गयी और मैं अपने खेत की ओर चला गया. मैं भाभी को बिस्तर पर लिटाने के बाद वापस में ड्रॉइंगरूम में आया और सब बोतल आदि बंद कर के ठीक से रेफ्रिजरेटर में रख दीं. इस बार मैं निधि से बोला कि यार निधि मुझे तुम्हारी सबसे खूबसूरत चीज़ चाहिए.

फिर मैंने बहन की पैंटी भी उतार दी। अब मेरी बहन मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी.

वो मेरे नाना के छोटे भाई की बेटी यानि कि मेरी मौसी है लेकिन सगी नहीं है. इसके बाद अमित मेरी बीवी की गांड को दबा कर किस करने लगा और बोला- नहीं मेरी रांड, मैं अभी तेरा भोसड़ा फाड़ूगा. ऐसे ही उसने 3-4 बार किया और अरमान ने अपना पूरा लंड मेरी चुत में उतार दिया.

च अक्षर से नाम लड़काइस देसी हिंदी Xxx कहानी की नायिका मनजीत कौर मेरी बीवी के सबसे छोटे मामा जी की पत्नी है. फिर उसको नाराज होता देख मैंने सोचा कि इसका दिल तोड़ना ठीक नहीं है, पहली बार इसने कुछ करने को कहा है तो मैं भी कर देती हूं.

ইংলিশ পিকচার বিপি

मैंने लंड पेलते हुए दीदी से कहा- साली तू तो मेरी रांड है … तुझे तो हमेशा चोदूंगा. वो मेरे समधी के दूसरे बेटे यानि जो मेरी बेटी का छोटा देवर है, उसके जन्म के समय ही चल बसी थीं. नताशा ने बोला- क्या हुआ … ये क्या है? इतना बड़ा!शायद उससे भी रहा नहीं जा रहा था.

वो मेरे पूरे बदन पर हाथ फिरा रहा था और मैंने उसके शॉर्ट्स में हाथ डालकर उसके लंड को पकड़ लिया था. भाभी की आँखों में आंसू आ गए थे लेकिन वो खुश थी क्यूंकि उनको आज लण्ड मिल गया था जिससे उनकी चूत की प्यास बुझने वाली थी।मैंने धीरे धीरे अपना लण्ड अंदर बाहर करना शुरू किया।भाभी को भी बहुत आनंद आ रहा था. अब मैं गांड के बल बैठ भी नहीं पा रही थी, इतना दर्द हो रहा था मुझे!तो सागर ने मुझे दो पैग नीट दारू पिला दी जिससे मेरी सिर एकदम से घूम गया और मेरी गांड का दर्द जैसे गायब से हो गया।अब सागर मुझे गोद में उठाकर बाथरूम ले गया.

मगर अलीमा ये नहीं जानती थी कि लंड का स्वाद चुत को एक बार लग जाता है तो उसे बार बार लंड की जरूरत पड़ती है. मुझे तो काटो तो खून नहीं … मैंने हड़बडा़ कर कहा- ये क्या बोल रहे हैं?टी टी ने बीच में टोका और उनसे पूछा- क्या नाम है आपका?उन्होंने कहा- विश्वजीत सिंह. हॉट फैमिली Xxx स्टोरी में पढ़ें कि गर्मियों में सब एक दूसरे पर पानी डाल रहे थे.

वो मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहलाने लगी और मैंने मौका देखकर उसकी सलवार में हाथ डाल दिया. मैंने कहा- सफाई तो रोज होती है घर में!इस पर बाजी ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी सलवार के ऊपर से ही चूत पर रख दिया और बोली- यहां की सफाई के लिए बोला था पागल!अब मैं समझ गया तो बाजी ने अपना हाथ हटा लिया मगर मैंने अब भी वहीं हाथ रखा हुआ था।मैं बोला- बाजी मुझे दिखाओ ना … कैसी लग रही है अब सफाई करने के बाद?वो बोली- नहीं इमरान, ऐसे अच्छा नहीं लगता.

मैंने अपनी क्लासमेट गर्लफ्रेंड की चुदाई कैसे की?मेरी कॉलेज लाइफ की इस सेक्स कहानी के पहले भागटीचर की चुदाई देखकर मुझे कुंवारी चूत मिली-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी टीचर की चुदाई स्कूल के प्रिन्सिपल सर ने बाथरूम में की थी, जिसे मैंने और मेरे साथ पढ़ने वाली आकांक्षा ने देखा था.

अब मैं हेमा चाची से थोड़ा दूर सरककर लेट गया लेकिन हेमा चाची अभी भी अपनी गांड पर हाथ लगाए दर्द का अनुभव कर रही थीं और दर्द से कराह रही थीं. इंडियन सेक्स वीडियो देसीजब वो थोड़ी चुदासी हो गयी तो मैंने दोबारा से अपना लंड पकड़ कर उसकी चूत के छेद पर लगाया. पुराना पुराना सेक्सी वीडियोमैंने ऊपर आने का इशारा किया तो उसने यहां वहां देखा और पाया कि सब सो रहे हैं. हमने राबिया की तरफ देखा तो वो अपनी सलवार में हाथ डालकर चूत रगड़ रही थी.

अब यह रोज का क्रम हो गया, प्रीति सवा दो बजे आ जाती और आसन बदल बदल कर चुदवाती.

डिम्पी के बच्चों को भी उसकी मां का मेरे साथ रहने से कोई ऐतराज नहीं था. अब लंड और जल्दी जल्दी अंदर बाहर होने लगा क्योंकि चूत के पानी से चिकनाहट बहुत ज्यादा बढ़ गयी थी।फचच. मगर मुझे कुछ डर भी लग रहा था कि कहीं वो ये बात मेरे मम्मी पापा को न बता दें.

मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया।अपने लौड़े को मैंने चूत में सेट किया और एक झटके में पूरा घुसा दिया।उसके मुंह से एकदम से निकला- आहह … मर गई मम्मी … ईईई … ऊईई … निकाल लो बाहर …. अंदर आते ही पापा ने मुझे गोद में उठा लिया और मुझे बेड पर ले जाकर पटक दिया. शावर लेते हुए एक बार फिर से मैंने उसके लंड को चूस चूस कर खड़ा कर दिया.

सेक्सी व्हिडिओ कॉलेज गर्ल

उसके पति को अपनी बीवी को अपनी आंखों के सामने गैर मर्द से चुदते हुए देखने में बहुत मजा आता था. मुझे और कोई रास्ता समझ नहीं आ रहा था तो मैंने धीरे से कहा- नहीं ट्रेन से मत उतारये, आप जो बोलिएगा मैं करूंगी. क्या बताऊँ दोस्तो … जब मैं उससे मिलने उसके घर पहुंचा तो उसकी नौकरानी ने दरवाज़ा खोला और वह भी कम माल नहीं थी.

अब उसने मेरी चूचियों को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया और मेरी आहें निकलने लगीं.

वो आदमी बोला- मैं तो आपकी मदद कर रहा हूँ भाभी जी … मेरे लिए तो बहुत सी औरतें बिछने के लिए राजी हैं मगर आपके पास तो अपनी चुत में लेने के लिए किसी का लंड ही नहीं है.

गांड में लंड देने के बाद कल्लू फिर से राजधानी ट्रेन की रफ्तार से चोदने लगा।अनु मज़े से सिसकारी भर कर आवाज निकाल कर गांड चुदाई करवा रही थी।नौकर कल्लू ने आधे घंटे की चुदाई का फल उसकी गांड में ही निकाल दिया।लड़की की गांड चुदाई करके अब कल्लू दुकान पर वापस आया तो सेठ जी ने पूछा कहां गया था?तो कल्लू बोला- खांड खाने गया था. हमारी चुसाई इतनी अधिक हुई थी कि हम दोनों ही डिस्चार्ज हो गए थे और हम दोनों ने ही अपना अपना पानी एक दूसरे को पिला दिया था. कपड़ा हटाने का एप्सबच्चे के रोने से आसपास के लोग उस महिला को अजीब सी शिकायत भरी नज़रों से देखते थे.

शायद सोनाली ने हमारी हरकतों को भांप लिया था और उसने मजाक के अंदाज में कहा- डरो नहीं, आराम से कर लो. गनीमत रही कि उसको मैं पसंद आने लगा था वर्ना उसकी जगह कोई और होती तो मैं वहां से अपनी बेइज्जती करवाकर ही लौटता. तनु मां की टांगों के बीच में आ गयी और मेरी मां की चूत को चाटने लगी.

रजक लाल ने रोहन को जोर से नीचे घुटनों पर बिठा दिया और उसके मुँह पर अपना लंड चूसने को धर दिया. इसी क्रम में अलीमा का मुँह खुल गया था तो बलविंदर ने अपनी जीभ को अलीमा के मुँह में ठेल दी थी.

इस तरह से दिन कट रहे थे और एक दिन अचानक रात के 10 बजे भाभी का फोन बजा कि उसका मन बहुत घबरा रहा है.

अर्चना रसोई में पानी लेने गई और मैंने रिया को जोर से हग कर लिया।इतने में अर्चना पानी लेकर आ गई और हमें देखते ही बोली- थोड़ा तो सब्र कर लो … इतनी भी क्या जल्दी है?हम शर्म से मुंह नीचे करके अलग हो गए।थोड़ी देर बातें करने के बाद अर्चना ने बोला- मैं ऊपर छत पर कपड़े डालने जा रही हूं. सेक्स कहानी के पहले भागसास दामाद के बीच वासना का रिश्तामें अब तक आपने पढ़ा कि मैंने दारू के नशे में अपने दामाद के सर को अपनी चुचियों में भींच लिया था. फिर 25 दिन बाद दीदी के एग्जाम खत्म हुए तो दीदी कॉलेज से आने के बाद रेस्ट कर रही थीं.

सेक्स व्हिडिओ ओपन मराठी दोस्तो, आपको मेरी यह देसी सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं? अपने विचार मुझे बतायें. मेरा लंड बिल्कुल उसके मुँह के पास था और उसकी गुलाबी टाइट चूत मेरे मुँह के पास थी.

मेरे हाथ उसके नंगे बदन से खेल रहे थे कभी पीठ पर तो कभी उसके चूतड़ों पर।वो भी मुझमें खोयी हुई मुझे चूमे जा रही थी. ब्रा खुलते ही उसके बूब्स आजाद हो गए और अपने भरे पूरे रूप में मस्ती से फुदकने लगे. अब हेमा चाची पेट के बल उल्टी लेट गईं और मैंने हेमा चाची के कूल्हों को इस तरह चौड़ाया, जिससे मैं हेमा चाची की गांड का छेद साफ देख पा रहा था.

ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो सेक्स

अगर की तो उसने मुझे कैसे और कहाँ चोदा? अगर नहीं की तो मेरी चूत की प्यास कैसे बुझी?यह सब जानने के लिए कहानी का अगला भाग जरूर पढ़ें. मैं- वो तो बाद की बात है मेरी जान … अभी तुम अपनी नंगी फ़ोटो भेजो, तो मूड बने. लड़की की शादी थी और आप लोगों को पता ही होगा कि लड़कियों की शादी में जो माल आती हैं वो तो एकदम सेक्स बम की तरह होती हैं.

तब तक तो वो दो बार झड़ चुकी थी।फिर हम दोनों ने अपने कपड़े सही किये और बच्चों के पास आ गये. वो मुझसे छूटकर गुस्से में बोलीं- ये तुम क्या कर रहे हो तुम्हारे मामा से बोलूंगी … रुको!मैं बोला- वो मैं ही हूँ डार्लिंग … जिसका तुम अभी वेट कर रही थीं.

”तभी शालिनी मेरे आगे झुक गयी और मैंने अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगा के उसकी चूत में उतार दिया.

आपको ये लंड चुसवाने की गांड चोद सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल जरूर लिखें. पोज़ सेट करने के लिए कई बार चेहरा, बॉडी या कपड़ों को फोटोग्राफर एडजस्ट करता है. मैंने भाभी के हाथों को पकड़ कर उनको अपने ऊपर खींच लिया और उनको अपनी बांहों में भर लिया.

ससुर जी ने मेरी बांह पकड़कर मुझे करवट से सीधा करना चाहा तो नींद में ही मैं सीधी हो गई और करवट से सीधा होते समय मैंने अपना शरीर ढीला रखा और सीधा होते होते एक टांग इतना फैला दी कि मेरी चूत खुल गई. इस बार मेरा पूरे का पूरा लंड उसकी चुत के अन्दर घुस गया और वो बहुत ज्यादा छटपटाने लगी. मेरे अंडरवियर में तंबू बना हुआ था जिसे दीपू ने भी नोटिस कर लिया था.

भाभी की गर्दन को चूमते हुए मैंने उनके कंधे पर से साड़ी का पल्लू हटा दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही दुबारा उनकी चूचियां दबाने लगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो हॉट वीडियो: मैं और डिम्पी एक ही सीट पर चिपक कर बैठे थे और मेरा हाथ डिम्पी की गांड को सहला रहा था और बच्चे दूसरी सीट पर बैठे थे. इसी साइट से प्रेरित होकर मैंने सोचा कि मैं आप लोगों के साथ अपना अनुभव शेयर करता हूं.

मैंने कमरे में आते ही अपने कपड़े बदल कर वही नाइटी पहनी और चुत को ब्लैक कलर की पैंटी से ढक लिया. मेरा मन भी उसका लंड पकड़ने के लिए कर रहा था लेकिन मेरा हाथ उसके लंड तक नहीं पहुंच पा रहा था. प्लीज आप आ जाओ और मुझे अपने साथ ले चलना ज्वाइन करवाने!” वो बेचैनी से बोल रही थी.

कभी मैं उसके निप्पलों को जीभ से चाट रहा था तो कभी उनको दांतों से काट लेता था.

उन्हें देख कर यही लगता कि ये होता मेरा पति, तो अब तक मेरा काम लग गया होता. मैंने सोचा कि अब मौका मिल गया है।तभी मैंने कहा- तनु तेरे तो कंधे पर भी निशान हो गए।तो वो अपने कंधे पर हाथ से देखने लगी।अब मैंने उसके कंधे पर हाथ रख कर सहलाया तो मेरी हवस उभर गई।वो बोली- दीदी ऐसे तो मेरे कंधे पर निशान बन जाएगा।तो मैं बोली- तनु ला … मैं मालिश कर देती हूं. मैंने चाची को अपने सब काम के बारे में बताया, तब वह थोड़ा शांत हुईं और बोलने लगीं- चलो मेरे घर पर आ जाओ … मुझे तुमसे चुदना है.