बांग्ला बीएफ देखो

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो वीडियो राजस्थान

तस्वीर का शीर्षक ,

बल्ला कैसे बनाते हैं: बांग्ला बीएफ देखो, उसने मेरे पूरे शरीर में साबुन लगा देखा और मुझसे चिपक कर बोली- जीजू, आपसे अलग होने का मन ही नहीं हो रहा था.

हिंदी भाषा में सेक्सी ओपन

फ्रेंडशिप ऐप पर मैंने अकाउंट बनाया और अपनी अच्छी बॉडी वाली खूब सारी फोटोज अपलोड कर दीं. इंग्लिश सेक्सी पिक्चर वीडियो ब्लूफिर मैंने आसन बदला और उसे चित लिटा कर अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत को थोड़ा चौड़ा किया.

सायरा एक बार फिर पूरी तरह पेट के बल लेट गयी और मैंने उसके ऊपर हल्के से अपना वजन रख दिया. सेक्सी सेक्सी सेक्सी में सेक्सीमैं बोलने लगी- आह ऐसे मत करो यार … आह अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो.

रात को डिनर के बाद कभी नीचे घूमने जाते, तो वो पिंकी को बिना ब्रा के टी-शर्ट पहनने को कहता.बांग्ला बीएफ देखो: उसने बताया- उसको आज सुबह ही निकाल दिया गया … क्योंकि वो कल रात भर दारू पीकर होटल से कहीं गायब था.

पर मैं अपने सीने में एक लड़की का दिल लिए फिरता हूँ … और जवां मर्दों को देख कर ये दिल धड़क ही जाता है.रात को भाभी को चोदा तब भी अपने नीचे ट्विंकल की चुदाई को ही याद करके भाभी की चुदाई की.

सेक्सी वीडियो हिंदी में देखने का - बांग्ला बीएफ देखो

लौड़ा हलक तक जाता … और वो उसे वहीं हलक में थोड़ी देर रखकर बाहर निकाल देता.मैं एक दूध को चूस रहा था और अपने हाथ से दूसरी चूची को मसल कर मजा लेने लगा.

मुझे आप लोगों के जवाबों का इंतजार रहेगा। मुझे मेरी ईमेल पर संपर्क कर सकते हैं. बांग्ला बीएफ देखो अब ऊपर रश्मि मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबा कर आह्ह … आह्ह … की आवाजें करने लगी.

तब क्या हुआ था, इस देसी बहू की चुदाई कहानी को लिखने के लिए कहा गया.

बांग्ला बीएफ देखो?

फिर मैं उसके पैरों के पास गयी और उसकी जांघों को प्यार से चूमने लगी. चाचा जी बोले- उम्महह … उम्म … बेटा सुहानी मैंने आज तक किसी की गांड नहीं मारी है … हम्म … प्लीज … एक बार पीछे से लंड डलवा लो. मुझे इस तरह देखते रहने से डॉक्टर बोला- क्या हुआ मिस नंदिनी?मैंने उत्तर दिया- कुछ नहीं.

मेरी आंखों में आंसू आ गए थे जो मेरे गालों से होते हुए नीचे लुढ़क गए. कुछ देर इसी तरह लेटे रहने के बाद मेरे कमरे का दरवाजा हल्का सा खुला और हल्की रोशनी में मुझे वो लड़का मेरे कमरे में आता हुआ दिखा. मैं मामी के पास आ गया और उनके ऊपर लेट कर उन्हें फिर से किस करने लगा.

नौशीन का हाथ बाहर आ गया था और मेरे चेहरे पर एक संतुष्टि फैल गयी थी. अगर आपके पति या ब्वॉयफ्रेंड आपके चूचों तो ऊपर से नीचे की ओर दबाता है, तो उन्हें मना किया करो वरना आपके चुचे लटक जाएंगे. वो जानता था कि इतनी हाइ क्लास चूत उसको अपनी जिन्दगी में कभी नसीब नहीं होगी इसलिए उसने अपना सारा हुनर लगा दिया मेरी चूत को खुश करने के लिए।उसने मेरी चूत में जीभ डाली और प्यार से ऊपर नीचे करते हुए मेरी चूत में चलाने लगा.

मैंने पीछे से अपना लंड मासी के चूत में डाल दिया और उनकी कमर पकड़ कर अपनी तरफ खींचा तो लंड अन्दर घुस गया. हमारे घर में पहले काम कर चुकी नौकरानियों में से ही एक की बेटी हमारी नयी नौकरानी थी.

दो मिनट में ही सूरज का लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने मुँह से निकाल के कहा- चाचा जी, इसका खड़ा हो गया है.

शुरुआत के दिनों में हम दोनों ने मिलकर कई लोगों को शादी के बंधन में बांधने में मदद की, लेकिन हमें सबसे पहली शोहरत तब मिली, जब हमने कानूनी बंदिश के हट जाने के बाद समलैंगिक शादियां करवाईं.

मेरे जीवन में भी ऐसे बहुत से मौके आए और उन बहुत से मौकों में मैंने चौके छक्के भी खूब मारे. मैं भी अपने कड़क हो चुके लंड को अपनी पूरी ताकत लगाकर जोर से रगड़ रहा था. जैसे ही भाभी आईं, तो मैंने उन्हें अपनी बांहों में भर लिया और भाभी की चूचियों को अपने हाथों से जोर जोर से दबाने लगा.

काम वासना के चलते मेरे मन में कोई डर नहीं, कोई ख्याल नहीं!मैं बस मुट्ठी चलाता रहा. मुझे आप लोगों के जवाबों का इंतजार रहेगा। मुझे मेरी ईमेल पर संपर्क कर सकते हैं. मैंने कुछ नहीं कहा, तो वो संतुष्ट हुए और इस अहसान के बदले मेरा बदन दबाने लगे.

ऐसा लग रहा था मानो किसी ने मेरे गर्मी से झुलसते जिस्म पर बर्फ की धार बौछार कर दी हो.

ये कह कर प्रियंका अनामिका का सर पकड़ कर अपनी चूत में दबाने लगी और वासना में बड़बड़ाने लगी- आअह्ह्ह जीजू … आपका लंड याद आ रहा है … आह कैसे मेरी चूत का भोसड़ा बनाया था आपके लंड ने … उफ़ आपके वो दमदार झटके … वो दमदार रफ़्तार … धक् धक् ढिचाक … धक् धक् ढिचाक … दो धीमे धक्के … और एक तगड़ा झटका आपका लंड सीधे मेरी बच्चेदानी से टकराता है जीजू … आह आपने मुझे दो बार जन्नत की सैर कराई है. मैंने बोतल रोहिणी के हाथ से ले ली और निशु और रोहिणी को तेल से तरबतर कर दिया. उसने पहले अपने लंड पर जैली लगायी और मेरी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा.

वे बोलीं- होता है इस उम्र में … लड़कियां होती ही हैं ऐसी कि कोई भी मिला पैसे वाला, तो उसके साथ हो गईं. मैं- अब क्या सोच रही हो?वो- तुम कितना प्यार करते हो मुझे?मैं- अब ये तो नहीं जानता … पर मैं तुम्हें बस प्यार करता हूँ. मैं जानता था कि ये अभी गर्म है और इसकी भी बुर में जोर की खुजली हो रही होगी।मैं उससे बात करते हुए उसके चेहरे की ओर बढ़ता गया।मैंने अब आखरी दांव खेला और बोला- देखो प्रिया, हम दोनों के बीच जो हुआ, वो हम दोनों तक ही रहने वाला है.

अजय ने मनीषा की ओर मुख किया तो मनीषा ने अपने होंठ उसके होंठों से चिपका दिए.

मेरे चाचा यानि चाची के पति की 2 साल पहले बीमारी की वजह से मौत हो गई थी. सनी की मां बोलीं- तो मुझे कौन चोदेगा?मैं सनी की मां को चोदने में लग गया.

बांग्ला बीएफ देखो फिर उसने जैसे ही आंख खोली, मैंने पूछा- कैसा लगा?उसने मुझे बैठ कर हग कर लिया और बोली- बहुत ज़्यादा अच्छा लगा … तुम्हें पसंद नहीं आया ना?मैंने कहा- शुरूआत थी तो ऐसा हुआ, बाद में ज़रूर आएगा. वो- क्याआआ?शायरा कॉकरोच के नाम से डर गयी, पर उसके उछलने से पहले मैंने कॉकरोच को पकड़ लिया और उसे शायरा को दिखाते हए बोला.

बांग्ला बीएफ देखो मैं ये सुनकर निहाल हो गया कि मेरी संस्कारी बीवी अपने यार की फ़रमाइश पर अपनी चूत की झाँटें बढ़ाती रही लेकिन मुझे बताया भी नहीं!चूँकि मैंने एक सप्ताह से उसे चोदा ही नहीं था तो उसका ये राज़ मेरे लिए राज़ ही रहा।मैं इधर अपने खयालों में खोया था और उधर पंकज ने सुमन की चूचियाँ चूसकर निप्पल लाल कर दिए थे. उसके ऐसा करते ही मेरी आंखें मदहोशी से बंद हो गईं और मैं उस क्षण को शब्दों में बयान नहीं कर सकती.

इस बार उसने मेरे मम्मों पर अपने हाथ चलाना शुरू किया और साथ ही मेरी सहेली (मेरी चूत) पर भी अपनी उंगलियां चला रहा था.

चुदाई का सेक्स

ये कह कर प्रियंका अनामिका का सर पकड़ कर अपनी चूत में दबाने लगी और वासना में बड़बड़ाने लगी- आअह्ह्ह जीजू … आपका लंड याद आ रहा है … आह कैसे मेरी चूत का भोसड़ा बनाया था आपके लंड ने … उफ़ आपके वो दमदार झटके … वो दमदार रफ़्तार … धक् धक् ढिचाक … धक् धक् ढिचाक … दो धीमे धक्के … और एक तगड़ा झटका आपका लंड सीधे मेरी बच्चेदानी से टकराता है जीजू … आह आपने मुझे दो बार जन्नत की सैर कराई है. अदल बदल कर हम चारों ने भांति भांति के आसन में चुदाई की और इस बार हम दोनों गबरुओं ने उनके मुँह में माल झाड़ कर लंड साफ़ करवा लिए. आज असलम भाई ने बताया कि मैं उनसे मिलता जुलता हूं, तो जानकर ख़ुशी हुई.

मगर जैसे ही मैं उसके पास जाकर खड़ा हुआ, उसने एक बार तो मेरी तरफ घूरकर देखा, फिर मुँह से कुछ बड़बड़ाते हुए मुझसे थोड़ा सा हटकर खड़ी हो गयी. com/imranovaish2देसी ओरल सेक्स इन हिंदी कहानी का अगला भाग:मज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 4. फिर अपनी पैंट की चैन खोली और अपना लंड निकाल कर भाभी की चूत पर सैट कर दिया.

जैसे ही मैंने उसे छिपाकर रखने का सोचा, तो उन्होंने ही एक न्यूजपेपर दे दिया.

मैं- ऐसा क्यों कह रही हो, तुम भी तो मुझसे प्यार करती हो न!वो- वो मुझे नहीं पता. तो मैंने आफ़िया भाभी को देखते हुए काफ़ील को बोला- आपको मालूम होगा कि मैं शराब का नशा नहीं करता हूँ. अब मैं अपनी चाची के सिखाए हुए तरीके से अपनी मस्त मादक मामी को ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था.

मेरी कुंवारी बुर की पहली चुदाई कैसे हुई- 3अब तक आपने जाना था कि चाचा जी मुझे एक बार चोद चुके थे और अब मेरा मन दुबारा चुदने का हो गया था. मैं फव्वारे के नीचे उसे पीछे से हग करके उसके मम्मों को मसलने लगा; उसे किस करने लगा. एक बार वो घर में अकेली थी तो …मेरा नाम राम है, मैं अपनी ग्रेजुएशन के फर्स्ट ईयर में हूं और मैं कोटा के पास एक गांव से हूं.

कहते हुए मैं उसके चेहरे के एकदम पास आ गयी और उसकी आंखों में आंखें डालकर देखने लगी. प्रिया भाभी ने मुझे इशारा करके बियर और कुछ स्नैक्स लाने के लिए कहा, जोकि हमने पहले ही सब अरेंज किया हुआ था.

जब मैंने उसे नींद के इंजेक्शन के बारे में बताया, तब उसे शान्ति हुई. उसकी चीख और आंसू एक साथ निकल पड़े।मैंने लंड को रोक दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा और गले को चूमने लगा।धीरे धीरे उसकी चूत में दर्द कम हुआ तो मैंने लंड को चलाना शुरू कर दिया।अब वो भी पूरी गरम हो गई थी. मेरे वीर्य को अपर्णा ने पूरा गटक लिया और लन्ड को जीभ से चाट कर साफ कर दिया.

अनु बोल … आज तुम्हारी मौसी की गांड का मुहूर्त भी कर दूँ!अनु ने हामी भरते हुए आसन बताया.

मैंने भाभी से पूछा- आज कितनी बार चुदाई हुई?भाभी बोलीं- वो लोग सुबह छह बजे के करीब आ गए थे. चूंकि उनकी गांड मराने की बात खुल गई थी, जूते पड़े थे और लड़के चिढ़ाते थे. तो फ्रेंड्स! आपको ये सजा कैसी लगी जो मैंने उस मॉडल को दी? आखिरकार हम दोनों ही संतुष्ट और खुश हो गये थे.

चूंकि अब मुझे भी चढ़ चुकी थी और मालूम था कि अब से कुछ देर में ये सब मुझे नंगी करके मेरी गांड और चूत मार रहे होंगे. उसकी हाफ पैंट को नीचे खिसकाया तो उसकी गुलाबी रंग की पैंटी भी दिख गयी मुझे!उसने गुलाबी रंग की ब्रा-पैंटी का सेट पहना हुआ था जिसमें वो पूरी कहर लग रही थी.

प्रियंका ने कुछ और तेल उसकी उठी गांड के छेद पर उड़ेल दिया, जो बहता हुआ उसकी ऊपर से दिख रही चूत पर भी जाने लगा था. मामी तुरंत बोलीं- अच्छा ऐसा क्या देख लिया तुमने … जो इतने तारीफ किए जा रहे हो?मैं- हैं ही आप इतनी सुंदर … तारीफ़ तो करना ही पड़ेगी. वो- मुझे धोखा मत देना, तुम पर विश्वास तो पहले ही था मगर अब सच में तुमसे प्यार करने लगी हूँ, इस प्यार को बदनाम मत होने देना.

हिंदी क्सक्सक्स हद वीडियो

मम्मे इतने बड़े और कठोर थे कि उनका साइज कपड़ों में 34 लग रहा था जबकि छातियाँ नंगी होने के बाद साइज 36 बनता था.

रसखलन होने से पहले तक हम दोनों ही इसी अवस्था में एक-दूसरे को चोद रहे थे. वो मेरे करीब आकर मेरी पैंट को निकालने लगी और मेरा अंडरवियर निकाल कर देखा. कुछ देर के झटके देने के बाद मुझसे अब खुद पर नियंत्रण रखना मुश्किल हो गया.

आपका राहुल[emailprotected]गाँव में चुदाई की कहानी का अगला भाग:देसी मामी की प्यासी चुत चुदाई- 2. वो तकरीबन 10 मिनट तक ऐसे ही करता रहा और ना जाने कब साले ने मेरी गांड पर क्रीम को लगा दिया. नंगा वीडियो सेक्सी वालाइस पर भाभी ने मुझसे पूछा कि अच्छा … आपको मुझमें क्या सबसे अच्छा लगा?मैंने भाभी की आंखों में झांकते हुए कहा कि सच कहूँ?भाभी ने भी मेरी आंखों में प्यार से देखा और बोलीं- हां … आज सब सच ही कहना.

उसकी नजर एक बार मेरी चूचियों पर जाती तो फिर एक बार मेरे चेहरे पर।उसके कच्छे में मुझे उसका लंड तनाव में आता हुआ दिखने लगा था. वो- ठीक है … ठीक है, हो गया अब चलो भी?मैं- तुम्हें समझना चाहिये ना.

अब तक पुण्या काफी गर्म हो चुकी थी और वो मेरे बदन से एकदम चिपकने की कोशिश कर रही थी. कुछ दिन ठहर कर एक मकान और दुकान देख कर मैंने अनु और कमल को मुम्बई बुला कर शिफ्ट कर दिया. मगर इतने व्यस्त समय में कहानी लिख पाना बहुत ही मुश्किल होता है।फिर मेरी बात कोमल जी से हुई.

मैंने जैसे ही मां की चुत में हाथ लगाया, वो दर्द के मारे चीख उठीं- क्या कर रहा है मां के लौड़े … साले चोद चोद कर चुत सुजा कर ला कर दी. उसकी बातों से मुझे पता चला कि उसका पति उसे ज्यादा भाव नहीं देता है … खाली दिखावा करता है. रवि ने कहा- नहीं, ऐसा नहीं है, जितना हम आज कर रहे हैं … उतने तक में, या कुछ हल्के से ऊपर से कर ले.

क्योंकि एक बार हमारे क्लास की एक लड़की को आंटी ने एक लड़के से चुदवाते हुए बाथरूम में पकड़ लिया था.

ऐसे ही अस्मिता हर बार मेरे सामने एक कॉलेज गर्ल की तरह रहती … और घर पर एक इंडियन हाउस वाइफ की तरह बनी रहती. मेरे जोर जोर से धक्के देने के कारण उनकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं और वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं.

अब चाची से रहा न गया तो उसने अपनी पैंटी उतार दी और अपनी चूत मेरे सामने नंगी कर दी. उसको मैं इतनी ख़ुशियां देता कि वो मेरे सिवा किसी के बारे में सोचती भी नहीं. तभी प्रिया भी उन्हें ढूंढती आ गयी और बोली- अरे! तुम दोनों तो फिर शुरू हो गए.

अविना बोली- मेरी भी है … आप प्रोग्राम बनाओ … किसी हिल स्टेशन चलते हैं. फिर चाचा जी ने मेरी कुंवारी चूत का जायजा लिया और सूंघ कर बोले- आह क्या बात है … गज़ब की चूत है, किसी ने चोदी भी नहीं है. सूरज ऐसे ही लेटे रहा और मैं उसकी तरफ मुँह करके उसके लंड पर बैठ गयी और चूत में लंड लेकर ऊपर नीचे उछल उछल कर चुदवाने लगी.

बांग्ला बीएफ देखो मगर एक डर भी लग रहा था कि कहीं कोई जाग न जाए और खामखां में रायता फ़ैल जाए. थोड़ी देर में ही मैंने लंड पर चुदाई चालू कर दी … और इसी तरह वो मेरे लंड को भी अपने मुँह में ले पा रहा था.

सेक्स वीडियो ब्लू ब्लू

मैंने ये मासूम सा बनते हुए कहा और छोटा चेहरा करके वहां से जाने लगा, जो कि शायरा को भी शायद अब बुरा लगा इसलिए उसने मुझे रोक लिया. फिर मैंने उसके मुंह को चूत में दबा लिया और तेजी से उसके सिर को चूत पर दबाते हुए उसके होंठों को चूत पर रगड़वाने लगी. वो मुझसे 3 साल बड़ी थी तो मैंने कभी उसे ऐसी नज़र से देखा ही नहीं था.

मैं काफी देर से अपने आपको रोके हुए था … इसलिए मेरा ये वीर्यपात अब इतना उग्र व भीष्ण हुआ कि मेरे लंड से निकलने वाला ज्वार शायद सीधे शायरा के गर्भाशय से ही टकराने लगा. सायरा अपनी चूत से उंगली निकालती उसको चाटती, फिर जीभ को अपने निप्पल पर चलाती और उंगली को एक बार फिर अपनी चूत के अन्दर डाल देती. कुंवारी लड़की की सेक्सी बफरिसेप्शन पर बड़ा ही खूबसूरत सजा हुआ आंगन था, जिसमें काफी सारे बड़े बड़े कांच के पॉट्स में पानी के ऊपर गुलाब, केवड़ा और चमेली के फूलों को रखा गया था.

शायरा भी मेरे साथ साथ अपने कूल्हों को ऊपर उचका उचका कर मेरा साथ दे रही थी.

तीसरे दिन मैं फिर से घूमने निकली और रात को फिर देर से कमरे पर पहुंची. मैंने अधनंगी हालत में दरवाजा खोला, तो देखा दरवाजे पर कोई नहीं था, पर सामान की लिस्ट चिपकी थी.

फिर मैंने रेशमा को चित लिटा दिया और नंगा होकर उसकी चुत पर लंड घिसने लगा. जाते जाते डॉक्टर ने अपना मोबाईल नंबर मुझे देते हुए कहा- कोई कमी हो तो मुझे बिंदास बता देना. थोड़ी देर चूस कर चाची ने चाचा का लंड गीला किया और अपनी भोसड़ी दो उंगली की मदद से चौड़ी करके लंड पर बैठने लगीं.

रश्मि ने हेतल से कहा- भाभी, ये किसी इन्सान का लंड है या घोड़े का?फिर वो उम्म … म्म … की आवाज करती हुई मेरे लंड को चूसने लगी.

मेरे जहन में तो बस शायरा ही शायरा घूम रही थी और चारों तरफ मुझे बस वो ही वो नजर आ रही थी. मैंने थोड़ी देर लंड को ऐसे ही घुसा रहने दिया और उसके दूध मसलते हुए चूसने लगा और उसे किस करने लगा. मैं- तो अभी बना लो, मुझे भी बहुत दिन हो गए तुम्हारे हाथों का टेस्टी टेस्टी खाना खाए.

ओमान का सेक्सी वीडियोतो दोस्तो, आपको इस स्टोरी में कैसा मजा आया?इस बीडीएसएम सेक्स घटना को मैंने तो बहुत इंजॉय किया था. उसकी चूत पूरी भीगी‌ हुई थी … इसलिए मैं बाहर बाहर से ही चूत को प्यार करने लगा.

चाची की चुदाइ

चूंकि वो कुर्सी पर बैठा था और मैं खड़ी थी, तो मैंने उसको उठा कर अपनी छाती से लगा लिया और उसका मुँह मेरी चुचियों के बीच दबा लिया. मैंने बोल दिया कि आप आओगे गद्दे चादर लेकर … और वो कॉलेज में बर्थ सर्टिफिकेट लगना है, वो भी लाओगे. वो- अब नाश्ता तो नहीं बनेगा … मुझे नहाना है, पर तुम चाहो तो लंच कर सकते हो?मैं- और कॉलेज?वो- वो तुम‌ जानो.

अविना बोली- मेरी भी है … आप प्रोग्राम बनाओ … किसी हिल स्टेशन चलते हैं. अनामिका ने औंधे लेटे हुए ही अपनी चुत को फैला लिया था, इससे उसकी गांड का छेद भी खुल गया था. रोजी को फिर मैंने वही क्रिसमस की सुबह वाला सीन बताया जो मैंने अपनी बड़ी बहन और अंकल को कार में देखा था.

उसके मसल्स जान अब्राहम की तरह थे, पूरा भरा हुआ शरीर, काफी लंबा छह फीट दो इंच का और चौड़ा सीना. (सेक्स करने का)मैं बोली- तू पागल है क्या? क्या बोले जा रहा है? ऐसा कुछ नहीं हो सकता. मैं चाह कर भी उन्हें नहीं बता पाया कि मैं उनसे बम्बई जाकर शाबासी ले आया हूं.

मैं- ये भी कोई गिफ्ट देने की चीज है? अभी तुम‌ अपने पास ही रखो, हां हो सकता है … कभी मेरे काम भी आ जाए. वो भी पलट कर जवाब में अपनी चूत को मेरे लंड पर सटाने में लगी हुई थी.

कुछ देर बाद मैंने बोतल से एक पैग लेकर खींचा और एक सिगरेट खींच कर अपने कमरे का दरवाजा बंद करके उनके कमरे की तरफ आ गई.

कुछ देर बाद मैंने अपनी स्कर्ट थोड़ी ऊपर कर ली, जिससे मेरी जांघ और थोड़ी नंगी दिखने लगी. भैंसों का सेक्सी वीडियोउसने चूत चाट चाट कर पिंकी को गर्म कर दिया और फिर उसके ऊपर चढ़ कर उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया. भाभी का सेक्सी चोदा चोदीअगर सच कहूं कल का उसकी उंगलियों का मेरे जिस्म में उसका जो स्पर्श था, उस स्पर्श को मैं भुला नहीं पा रही थी. मेरा दर्द अब कुछ कम हो गया और मैं भी अब गांड हिलाते हुए सनी का साथ देने लगी.

आप सभी ने मेरी सेक्स कहानीगांव की लड़की संग पहला सेक्सको काफी पसंद किया, उसके लिए आप सभी को बहुत धन्यवाद.

मगर अफसोस! दो हफ्ते के बाद ही एक दिन मेरी मां के सारे प्रयास विफल हो गये. मैंने आखिरी बार उसको गले से लगाया और हम दोनों पांच मिनट तक एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे।फिर वो न चाहते हुए भी मुझसे अलग हुआ और मैंने चुपके से उसको दरवाजे तक छोड़ा. वो- क्या हुआ?मैं- कुछ नहीं … बस तुम्हारे ये हां करने की बात हजम नहीं हो रही है.

चूंकि वो दूसरी जाति से था इसलिए मेरे घरवाले हम दोनों की शादी के लिए कभी राजी नहीं हुए. तब तक आप मुझे मेल करके बताएं कि सेक्स कहानी में कितना मजा आ रहा है. उसने अपनी गांड के बारे में जो विवरण वहां पर दिया हुआ था उसे पढ़कर तो मुझे मेरी बहन की गांड याद आ गयी और उसी वक्त मेरा लंड बहुत ज्यादा टाइट हो गया.

bhai चुदाई

माफ़ी चाहूंगा मेरी एक सरकारी ऑफिस में 2017 से जॉब लग जाने के बाद मैं काफी बिजी हो गया था. विक्रम बोला- नहीं रे … अब मैं बिजनेस में काफी बिजी रहता हूँ, लगभग एक साल हो गए, बुर का स्वाद नहीं चखा है. अब मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजना हो रही थी क्योंकि मैं हर तरफ से व्यस्त हो गया था.

इतना कहते ही वो मेरे से चिपक कर बोली- क्या सच में तुम मुझे छोड़ कर चले जाओगे?मैंने एक बार उसे तसल्ली दी और उससे गिलास खाली करने को बोला.

मनोहर लाल जी की पत्नी को हमारे सम्बन्धों के बारे में पता है और उनका कहना है कि सलोनी की शादी कहीं भी हो, किसी से भी हो वो बच्चा विजय बाबू का ही पैदा करेगी ताकि बच्चा हृष्ट पुष्ट लम्बा तगड़ा हो.

स्नेहा भी समझ गई और इसके बाद दोनों ने नंगी होकर एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स करना शुरू कर दिया और ठंडी हो गईं. रश्मि भी ऊह्ह … गूं उउ … की आवाज के साथ मेरी गोटियों को चूसे जा रही थी. मौसमी सेक्सीजब मैं बाहर निकलती हूँ, तो सबकी नज़रें मेरी चूचियों और गांड पर ही होती है क्योंकि मैं बहुत खुले और फैशनेबल कपड़े पहनती हूँ … जिससे मेरा पूरा शरीर परफेक्ट दिखे और लगे कि हां मैं बहुत चुदक्कड़ माल हूँ.

उस दिन के बाद से मेरी अभिषेक को देखने का नज़रिया बिल्कुल बदल गया था. मेरी पिछली कहानियां पढ़कर आप में से बहुत से पाठकों को पता लग ही गया होगा कि मैं बहुत ही सुडौल बदन वाली लड़की हूं और तीस साल की हो चुकी हूं. अब तक मैंने भी उसका लंड पैंट से बाहर निकाल कर हिलाना शुरू कर दिया था.

प्रियंका ने पहले मुझको तौलिया से साफ़ किया … फिर मैंने उसे साफ़ किया. पिंकी बेचैन हो गयी, उसने दोनों से अपने हाथ छुड़ाये और बोली- चुपचाप मूवी देखो … वर्ना मैं उठ जाऊँगी.

ट्रेन में सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं दिल्ली आया और चूत का प्यासा था.

दोस्तो, आज इतना ही, कल मैं अपनी सेक्सी इंडियन वाइफ स्टोरी में आगे लिखूंगा. डेजी बोली- मुझे तो 40 मिनट तक नचाया था इसने, तेरी चूत में 20 मिनट में ही कैसे झड़ गया?मैंने डेजी को समझाया- जान … तेरी चूत मेरे मुंह में थी. उसने एक नीले रंग का स्किन टाइट शॉर्ट पहना हुआ था और ग्रे रंग की स्पोर्ट्स ब्रा पहनी हुई थी.

व्याप सेक्सी व्हिडिओ इसके बाद उसने अगले ही पल ये बोला कि अगर आप चाहो तो हमारे साथ हमारी पार्टी एन्जॉय कर सकती हो … और दारू तो है ही. वो कच्ची नींद में ही मेरे बालों में हाथ फिराने लगी और फिर वो पूरी तरह से जाग गयी.

मैंने पूछा कि किसके साथ पहली बार चुदने से तुम्हें सबसे ज्यादा मजा आयेगा?तो उसने सबसे पहले पंकज का नाम लिया और फिर मेरे एक दूसरे मित्र सुशील का नाम लिया. फिर हम दोनों पहले एक बस अड्डे के पास एक जगह पर मिले, ये जगह मैंने कुछ सोच समझ कर चुनी थी. अभिषेक ने मेरे हाथ से साड़ी को ले लिया और पीछे से लेकर एक बार आगे तक घुमाया और साड़ी लपेट कर वो एक स्टूल पर बैठ गया और उसकी प्लेट बनाने लगा.

देसी सेकसी वीडीयो

लेकिन उसे पता चला तो?वो बोली- किसी को पता नहीं चलेगा मेरे राजा!अब मैं उसे जोर जोर से चोद रहा था।फिर मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया और लन्ड को चिकनी गुलाबी मखमली चूत में घुसा दिया।हम दोनों मस्ती से चुदाई का मज़ा लेने लगे और एक दूसरे को चूमने लगे।वो नीचे से गांड उठा उठा कर लंड लेने लगी. डेजी बोली- ठीक है, चल मेरी रंडी भाभी, आज मैं खुद ही तुझे अपने आशिक के लंड से चुदवाती हूं. नैना के बैठते ही मैं नैना के बगल वाली कुर्सी पर आकर बैठ गया और मानवेन्द्र मेरे बगल वाली कुर्सी पर.

हम दोनों दस मिनट तक यूं ही एक दूसरे से नंगे ही चिपक कर चूमाचाटी करते रहे. मैं आप लोगों को बता दूं कि मेरा जिस्म थोड़ा सा भरा हुआ है।मेरा भरा हुआ जिस्म देखकर वह तो मेरे जिस्म पर टूट पड़े और मेरे बूब्स को मेरी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगे.

मैंने उसके लंड को पकड़ कर भींच दिया और उसको फिर से एक तमाचा जड़ दिया.

झड़ने के बाद हम दोनों निढाल होकर गिर गए और अलग अलग हो कर वहीं बेड पर लेट गए. मामी बोलीं- अन्दर ही निकाल दो … बहुत दिन से इसके अन्दर पानी नहीं गया है. अनामिका- अब बता, तू अपने जीजू से दो बार पहले कैसे चुदी और कहां कब कैसे चुदी … साली सब बता.

ऊपर मेरे मुँह पर अनु अपनी चुत चटवा रही थी और नीचे मौसी मेरे लंड को अपनी चुत से मत रही थी. मेरी कुंवारी बुर की पहली चुदाई कैसे हुई- 3अब तक आपने जाना था कि चाचा जी मुझे एक बार चोद चुके थे और अब मेरा मन दुबारा चुदने का हो गया था. मैं- इसका मतलब ये जो सब हुआ, इसमें तुम्हारी मर्ज़ी नहीं थी?वो- हां थी, पर हमें ये नहीं करना चाहिए था.

मैंने जानबूझ कर थोड़ा जोर से कहा … ताकि शायरा मुझे उस दिन के लिए पकड़ ले.

बांग्ला बीएफ देखो: प्रियंका भी मजे में अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत चुसवा रही थी और अपने हाथों से उसका सर अपनी चूत में दबाने में लगी थी. उसकी चीख और आंसू एक साथ निकल पड़े।मैंने लंड को रोक दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा और गले को चूमने लगा।धीरे धीरे उसकी चूत में दर्द कम हुआ तो मैंने लंड को चलाना शुरू कर दिया।अब वो भी पूरी गरम हो गई थी.

एक हफ्ते पढ़ाने के बाद सलोनी कुछ समझ पाई या नहीं … लेकिन मैं समझ गया कि इसको चोदने का प्लान बनाना है. कल को कोई गड़बड़ हो गयी तो! और फिर तुम्हारी आग बुझाने को मैं हूँ न!इतना कह कर रवि ने पिंकी की चूत में अपनी जीभ घुसा दी. मैंने उन्हें आवाज लगाई कि भाभी, भाभी कहां हो आप?संगीता भाभी यानि मॉम बोलीं- क्या हुआ संध्या, मैं नहा रही हूं, कुछ काम है क्या?संध्या चाची- हां भाभी … पर आप नहा लो … मैं बाद में आती हूं.

फिर उसने पूछ लिया- अभी करना है या पहले खाना खा लें?मैं एकदम से चुप हो गया और फिर सोचने लगा कि जब गांड चुदाई करवानी ही है तो पहले ही चुदवा लो, खाने के बाद क्या होगा.

आज से करीब दो साल पहले जब मैं डॉक्टर की परीक्षा के लिए जयपुर में रह कर तैयारी कर रहा था, तो मेरी एक लड़की से बात होने लगी. वो मेरे ऊपर लेट गया और फिर अपना लंड मेरी गांड की दरार में फंसा दिया. मैंने बाहर आकर एक कार टैक्सी से बात की उसने मुझे कालका स्टेशन छोड़ दिया.