गोवा के बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,हिंदी इंग्लिश सेक्सी बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

छोड़ा छोड़ि वीडियो में: गोवा के बीएफ सेक्सी, मैंने भाभी की चूचियों को पीना शुरू कर दिया तो भाभी ने मुझे धक्का देकर पीछे हटा दिया.

सेक्सी वीडियो हिंदी में चोदने वाला

मैं उसके होंठों को चूसने लगा, वो भी मेरे करीब आकर मेरा साथ देने लगी. बाप बेटी की जुदाईजब वो आग की रौशनी में मेरे पास आये तो पता लगा कि वो शक्ल से चोर नहीं लग रहे थे.

मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि उनके पति एक होटल में मैनेजर की पोस्ट पर हैं. बिहारी भाभी के सेक्सी वीडियोऔर क्लास में आते ही मैंने अपनी व्हाटसअप पर अपनी एक बहुत सेक्सी वाली डी पी लगा लिया जिससे जब वो मेरा नंबर देखे तो उसे दिख जाए।मैंने शाम तक इंतज़ार किया कि वो मैसेज करेगा.

मैं उसको मना लूंगी।अब हम दोनों के अलावा सपना को भी मामी लन्ड का स्वाद दिलाना चाहती थी.गोवा के बीएफ सेक्सी: अब भाभी ने मुझे फिर से बेड के ऊपर धक्का दे दिया और लंड को चुत में लेकर भाभी घूम गईं और मेरी तरफ होकर बोलीं- इतनी जल्दी थक गए क्या?मैंने उनसे कहा- नहीं … साली रंडी … अभी और बहुत जोर है मुझमें.

मैं अपना ऑफिस का काम करके आराम करने सोफे पर बैठा था।मैं मोबाइल में गेम खेल रहा था लेकिन मेरा ध्यान गेम पर नहीं था। बार बार मेरी आँखों के सामने शांता की बड़ी गांड आ रही थी.मैंने उसको पूछा कि उसके पति कहां पर हैं तो उसने जवाब दिया कि वे ड्राइवर हैं.

इंग्लिश सेक्स ब्लू फिल्म वीडियो - गोवा के बीएफ सेक्सी

तब मुझे पता चला कि इतनी देर चुदाई होती है। दोनो लोगों ने एक दूसरे को बांहों में कस लिया ननद धीरे-धीरे शांत होने लगी.उनको देख कर मेरे तो पैंट में लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया था, लौड़ा पैंट फाड़कर बाहर आने को मचलने लगा था.

मेरी बहन की चूत काफी पानी छोड़ चुकी थी और उसका पानी उसकी जांघों पर बह रहा था. गोवा के बीएफ सेक्सी पहले प्रिन्सिपल ने मेरे मुँह में लंड झाड़ा, फिर टीचर ने भी मुझे रस पिला दिया.

वो मेरे कान में दर्द में कराहते हुए बोली- आराम से नहीं कर सकता है क्या? इतनी जोर से दबा दी.

गोवा के बीएफ सेक्सी?

वहां मैंने ब्रश किया और जैसे ही मुंह धो रही थी, दो हाथ आ कर मेरे चूतड़ों को सहलाने लगे. उसने मेरा लंड फिर से चूसना शुरू कर दिया … इससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी गर्लफ्रेंड की सुहागरात की कहानी-2.

बीस मिनट की चुत चुदाई के बाद वो फ़िर से झड़ गई … परंतु मैं अब भी नहीं रुका. अब आगे:मैंने प्रशांत से कहा- प्रशांत यार, तेरे तो मज़े आ गए, आज तो तू मेरी मां के गोरे गोरे बदन का मज़ा लेगा. ये समझ कर वो यीशा को दूसरे रूम में खींच कर ले जाने लगा और यीशा भी चुपचाप उसके साथ चली गई.

उसके बाद दस मिनट तक लगाकर लंड से गांड चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी गांड में ही छोड़ दिया. उधर उसने आराम से मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया था और चूसने लगी थी. मैं- आह भाभियो … आप दोनों क्या मस्त गांड वाली माल हो … मेरा तो जी कर रहा है … दिन रात आप दोनों के साथ ऐसे ही पड़ा रहूं.

उसने अपने दोनों हाथों में मेरी चूचियों को भर लिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उन्हें गूंथने सा लगा. अन्जाने में मैंने शिल्पी की गांड को छू लिया और मेरा लंड खड़ा हो गया.

उसकी पीठ पर अपने दांत गड़ा कर उसे काटने लगा और उसकी गांड पर थप्पड़ जड़ दिया.

तभी सलोनी भाभी मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो जी भर भर के चूसो … अब ये तुम्हारे ही संतरे हैं.

शाम को यह बात मैंने कोमलप्रीत जी को बताना जरूरी समझा क्योंकि मेरे में इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं उस से यह कह सकूँ कि मेरी सहेली भी उस से चुदना चाहती है. इस पोजीशन में झुके झुके अवनीत को दिक्कत होने लगी तो उसने अपने हाथ मेज से हटाकर कुर्सी पर रख दिये जिसके कारण वो और ज्यादा झुक गई. वो बोलीं- लेकिन हम अब चूत में लंड नहीं ले पाएंगे … गोली ली थी तो भी दर्द कर रही है.

फिर मैंने धीरे धीरे उसके मम्मों पर हाथ रखकर दबाने लगा … जिससे उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं. भाभी ने मना करते हुए कहा- फिलाहल तो मेरी यही एक समस्या थी, जो आपने हल कर दी है. जांघें चाटते चाटते उसकी चूत के छेद तक जाता और जीभ बढ़ाकर उसकी गांड के छेद तक चाट आता.

मगर मैं अपनी कहानियां लगातार आपके लिये लिखता रहूंगा।मेरी पिछली कहानी थी:मेरी बहनों ने मेरे लंड का मजा लियाआशा है कि आज की ये कहानी भी आपको अच्छी लगेगी.

यूं ही एक बार हमने मिलने का प्लान बनाया और शाम को साथ में एक पार्क में आ गए. हम दोनों की अच्छी बनती थी और वो मुझसे हर तरह की बात शेयर कर लिया करती थी. मैं- उफफ्फ़ अहह … तनिष्क चोद दो मुझे … आंह … और तेज़ और तेज़ उफ्फ़ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक तनिष्क … चोद दे अपनी रानी को … बड़ा मजा आ रहा है.

किस्मत से वो भी बेटी ही थी और कुछ दिन बाद नजमा बाजी का फोन आया और उन्होंने मुझे पास के ही सरकारी अस्पताल में बुलाया. जैसे ही चूत पर हाथ पहुंचा तो मेरे बगल वाले लड़के और मेरे शौहर दोनों के हाथ आपस में टकरा गये. ज़ोहरा आपा बाहर बरामदे में आराम कुर्सी पर आँखें बंद करके ध्यान मग्न थी.

साली तेरी सारी होशियारी निकाल के रख दूंगा कुछ ही देर में, साली मेरी बाइक को टक्कर मार कर भाग रही थी, रांड कहीं की… आह्ह … अब चुद साली.

हूर ने खुद ही अपने और मेरे कपड़े उतार दिए और जल्दी से चोदने के लिए बोलने लगी. फिर पांचवें दिन भाभी हमारे घर आईं और उन्होंने मेरी मम्मी से कहा- आज मेरे पति 3 दिन के लिए बाहर गए हैं … मैं घर पर अकेली हूँ.

गोवा के बीएफ सेक्सी चूंकि पापा अपने बिजनेस की मीटिंग के लिए एक हफ्ते के लिए घर से बाहर गए हुए थे. न्यूड भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में भाई कई महीने घर नहीं आये.

गोवा के बीएफ सेक्सी मेरे बगल वाले घर में एक नवविवाहित जोड़ा आया तो भाभी से मेरी दोस्ती हो गयी. मैं- ओह्ह … आपकी चुत तो बड़ी गर्म है … अब मुझे आपको डॉगी स्टायल में चोदना है.

अब मैं खड़ा हुआ और आकांक्षा के पास जाकर उसका हाथ पकड़ कर उससे बोला- यार प्लीज मुझे माफ़ कर देना, मैं पता नहीं मैं क्यों तेरी तरफ खुद ब खुद खिंचा जा रहा हूँ.

12 साल की सेक्सी वीडियो

मेरी छाती और पीठ पर उन दोनों के बड़े बड़े मम्मे रगड़ रगड़ कर सुख दे रहे थे. मैं दोपहर में लेटा हुआ था और मेरी भतीजी सोनिया बाहर हॉल में टीवी देख रही थी. लेकिन जब सोनल ने काजल को बताया, तो काजल ने सोनल से कहा था कि प्रेम के साथ मेरी सैटिंग करवा दे.

वो मुझे बहुत पहले से जानती थी और हमारी बातें भी इससे पहले से होती थीं. वो दीदी से बोला- आपका नाम क्या है जी?दीदी ने कहा- क्यों?उसने कहा- मैं आर्मी में जवान हूँ … बहुत जगह घूमता हूँ, पर आज तक आपकी जैसी खूबसूरत लेडी को नहीं देखा. तो वो गुजराती में गाली बोलने लगीं- जोर थीं … नाक जोर थीं नाख … बहुत मजा आवे छे … मजा पड़ी गई … तारा जेवो कोई लोड़ों मलयो नथी.

उसने मेरे एक चूचे को जोर से पकड़ कर दबाते हुए कहा- मेरी रानी, लंड का पानी तो मैं अंदर ही निकालूंगा.

उमेश सर मुझे लिटाया और मेरे होंठों से शुरू करके मेरे पूरे बदन पर चुम्बन किए. तब के बाद जब भी हम दोनों को मौका मिलता तो मैं उसकी खूब चुदाई करता था. मैं नाराजगी और गुस्से में बोला- आपको मेरी क्या जरूरत है, मैं बेकार हूं.

मैं बोला- नहीं वो तो आप बच्चा होने के समय की बता रही हो, इसके अलावा कितनी बार चुदी हो और किस किस से चुदी हो, वो भी बता दीजिए. उसके बाद मैंने अपने स्कूल के पास में ही डिग्री कॉलेज में एडमिशन लिया. हम दोनों को ही ऐसा लग रहा था कि न जाने हम कितने वर्षों बाद मिल रहे हैं.

आप परेशान क्यों हो रही हो?उसके बाद उसने जो कहा, उसे सुनकर मेरे होश उड़ गए. कभी कभी मैं नीचे से धक्का देता तो लंड उसकी बच्चेदानी तक पहुंच जाता और उसकी एक तेज चीख निकल जाती- आहह …वो जब धक्के लगा रही थी तब उसके बूब्स ऊपर-नीचे हो रहे थे, जिनको मैं अपने दोनों हाथों से मसल रहा था.

मैं तुझे ऐसे नहीं छोड़ने वाली।मैंने कहा- ठीक है, तेरे लिये तो हमेशा हाजिर हूं मेरी जान।सोने की बारी आयी. आखिरकार कुछ धक्के और मारने के बाद मुझे भी महसूस हुआ कि मेरा भी होने वाला है. उसके ऊपर वाले होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच में दबा कर कसके चूमा.

मैं बोला- आप दोनों की चूत इतनी टाइट है … मैं जानना चाहता हूँ कि आप आखिरी बार कब चुदी थीं?इस सवाल पर वो दोनों थोड़ा भावुक हो गईं और बोलीं- इसने 11 साल पहले लंड लिया था और मैंने 14 साल पहले.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम लवजीत है और मैं जोधपुर शहर का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 27 साल है. फिर उसने मुझे दोबारा से घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी गांड को चाटने लगा. मैंने धीरे भाभी के ब्लाउज के हुक खोल दिए और ऊपर से उन्हें नंगी कर दिया.

उसका पैर मेरे पैर से टच हो रहा था और मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा हाथ उसके हाथों में आ गया था. उस दिन मैंने भाभी पर ध्यान दिया, तो मुझे वो बहुत ही मस्त माल लग रही थीं.

मैंने अपने लंड को धीरे से पीछे लेकर थोड़ा नीचे कर दिया और बुआ की चुत पर सटा दिया. अंकल एक हाथ से मॉम के मम्मों को दबा रहे थे, तो दूसरी हाथ से उनकी चूत सहला रहे थे. मेरे नंगा होते ही उसने मुझे अपनी ओर खींच लिया और मेरे लंड को अपने हाथों में थाम लिया.

कुत्ता की सेक्सी फिल्म

खुशबू हल्के स्वर में कहे जा रही थी- आह विक्की … तेरी नजरों ने मेरी चूचियों को क्या ताड़ा, साले चुत में आग लग गई.

एक बार अपनी पिचकारी जिसकी चूत में छोड़ी तो उसकी कोख में 100% बच्चा आ जाएगा. मगर अब भाभी उदास रहती थी और मैं जान गया था कि उसको भाई की कमी लग रही है. मेरे प्यारे दोस्तो, मैं राजेश हूँ, 23 साल का मैं शादीशुदा नहीं हूँ, मैं अपनी माँ के साथ दिल्ली में रहता हूँ.

उन्होंने पूछा- तुम कितने बजे कॉलेज आती हो रोज?मैंने उन्हें अपने कॉलेज की टाइमिंग बताई तो वो कहने लगे- मेरा भी उसी वक्त अपने बैंक जाना होता है. भाभी कहने लगीं कि मैंने नेट पर बहुत खोजबीन की, मगर मुझे किसी पर भरोसा नहीं हुआ. xxnx हिदीतो अम्मी ने शकील को फोन किया और सारी बात समझाई और कहा- मैंने कोशिश कर ली.

उम्मीद है कि मेरी आपबीती आप लोगों को ज़रूर पसंद आएगी।कहानी आगे बढ़ाने से पहले मैं अपने बारे में बता देता हूं. ऐसे ही हमारे एग्जाम खत्म हो गए और मैं अपने घर जाने की तैयारी करने लगा क्योंकि अब एक महीने के लिए कॉलेज की छुट्टियां भी हो गई थीं.

तब उन्होंने अपने आपको देखा और बोलीं- राज … ये क्या किया!वो आश्चर्य भरी नजरों से मेरी ओर देखकर बोलीं- तुम कब जागे? और ये सब कब किया?मैं- जान … जब तुम नींद में अपने सपने सजा रही थीं … तब मैं तुम्हें सज़ा रहा था. मैं- ओह्ह … आपकी चुत तो बड़ी गर्म है … अब मुझे आपको डॉगी स्टायल में चोदना है. वह ज़ोर ज़ोर से आहें भरने लगी- आह छोड़ दो भाईजान … इतना मत काटो … आह आह मेरी तो जान ही निकली जा रही है.

और अमित मुस्कराने लगा।उसके बाद तो कई बार हम दोनों ने चुदाई की, कभी होटल के कमरे में तो कभी अमित के घर में!लेकिन फिर अमित का तबादला बहुत दूर के शहर में हो गया. मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के अन्दर भर दी और उसके रस का आनन्द लेने लगा. बहन भाई सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी शादीशुदा बहन को सेक्स के लिए मनाया और अपने घर में बहन की चूत की चुदाई की.

आपको ट्रक ड्राईवर कीबीवी की चुदाईकी मेरी यह सेक्स कहानी कैसी लगी? आप मेरे को मेल करके बताना.

उसने दीदी के दोनों मम्मों को हाथों से पकड़ा और लंड को मम्मों के बीच में रख कर आगे पीछे करने लगा. मुझे पता नहीं था कि मौसी कैसे प्रतिक्रिया देगी लेकिन फिर उसने मेरे चेहरे की हवस को देखा और अपना मुंह खोलकर मेरे लंड को अंदर ले लिया.

उसके बाद अभय ने मेरी बहन की गांड में लंड डाला तो वो आसानी से घुस गया. लेकिन मेरे जो इंग्लिश के सर थे, वो मुझे थोड़ा अजीब ढंग से देखते थे. उनके जाते ही मैंने उल्फ़त को पकड़ कर बेड पर लिटाया उसकी चूत में लंड डालकर चुदाई करने लगा.

मैंने अपने हाथ को वहीं रहने दिया और चाची की चूचियों को चूसने और काटने लग गया. फिर थोड़ी देर बाद हमने एक ही रजाई कर ली और मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने होंठ उसके होंठों पे लगा दिए. मेरी नर्म जीभ भी मेघा को सिसकारियां निकालने पर मजबूर कर रही थी।वह लेट कर उम्म्म् … आआह्ह.

गोवा के बीएफ सेक्सी और चूंकि मीनाक्षी और उसका पति दोनों कम पढ़े लिखे थे तो वो डॉक्टर के पास भी नहीं गये थे।मेरी पत्नी सुषमा के मायके जाने के पश्चात से हमारी नौकरानी भाभी मीनाक्षी अब मेरे साथ कुछ ज्यादा ही बात करने लगी।मीनाक्षी हर रोज सुबह आठ बजे के करीब घर की सफाई के लिए आती है. कभी मेरे हाथ उनकी गांड पर सहला रहे थे तो कभी उनकी चूत पर सहला रहे थे.

सीएनसीसीसी

फिर मैंने अपने लंड का टोपा आइला की चूत पर रखा और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर उसके मम्मों को पकड़ लिया. और मेरा हाथ पकड़ कर अपने रूम में ले गए।मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश था लेकिन उनका मूसल लंड को याद कर डर भी लग रहा था. फिर बाथरूम में जाकर फ्रेश होकर बॉडी स्प्रे लगा कर मम्मी को बोला- मैं बाहर ही खाना खा लूंगा दोस्तों के साथ!मैं फिर घर से निकल गया और गुजराती वैशाली भाभी की घर की गली के पास जाकर उनको कॉल किया तो उन्होंने बोला- इतनी देर?मैंने बताया- मैं अभी ही फ्री हुआ हूँ शॉप पर से!तो बोली- ठीक है, दस मिनट के बाद मैं ऊपर वाले रूम में आ जाना.

मैंने उसको पूछा कि उसके पति क्या करते हैं?तो उसने बोला कि उसके पति एक ड्राइवर हैं और ज्यादा टाइम वह बाहर ही रहते हैं. मैं बोला- मैंने कहा था मेरी रानी … एक बार ले लिया तो खुद ही तू अपनी गांड चुदवाने के लिए कहा करेगी. मुसलमानी की चुदाईअगर ये अब्बू को पता चला तो वो शर्म से मर जाएंगे।फिर मैंने कहा- बाजी अब मैं क्या करूं?बाजी ने कहा- अभी हम सब घर जाएंगे और घर में बता देंगे कि रुबीना को बुखार था। मगर किसी दूसरे अस्पताल में इसकी सफाई करवा देंगे। तू 4 हजार रूपए इकठ्ठे कर ले।उसके बाद सब घर आ गए और किसी को कुछ पता नहीं चला.

उनको देख कर मेरे तो पैंट में लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया था, लौड़ा पैंट फाड़कर बाहर आने को मचलने लगा था.

आंटी ने अपने गुलाबी होंठों से मेरे लंड को पूरा दबा लिया और अन्दर लेकर लंड चूसने की आवाज निकलने लगी. मैं शाम को फिर स्कूल आई और प्रिन्सिपल के रूम तक मुझे ले जाने उसके क्लास टीचर आए थे.

मेरे लंड में तूफान आना स्टार्ट हो गया था, तो साला उल्फ़त की गांड में घुसा जा रहा था. ये सब बातें मेरी सास चुपके से देख सुन रही थी। यह बात उन्होंने मुझे बाद में बताई थी।मैं बहुत मायूस हो गया, सोचा कि ये तो खडे लंड पे धोखा हो गया। मैं गुस्सा होकर वापिस अपने कमरे में आ गया और हाथ से अपना लंड हिलाने लगा. वह ज़ोर ज़ोर से आहें भरने लगी- आह छोड़ दो भाईजान … इतना मत काटो … आह आह मेरी तो जान ही निकली जा रही है.

बारी बारी से मैंने भाभी के दोनों निप्पलों को होंठों से दबा कर चूसने लगा और खीँचने लगा.

अभी हम दोनों एक दूसरे को देख ही रहे थे कि अचानक अर्चना भाभी नीचे आ गईं और ज़ोर से बोलीं- प्रिया, चल चलें. अब मैंने बिना टाइम खराब करे अपने दोनों हाथ उसकी सलवार के अन्दर डाल दिए. आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके जरूर बताएं ताकि मुझे और भी कहानियां लिखने की प्रेरणा मिले।[emailprotected]मेरी ये सेक्सी फ्रेंड की चुदाई कहानी का अगला भाग:अपनी दोस्त और उसकी कुंवारी दीदी को चोदा- 2.

सेक्स करते हुए दिखाओमां सो चुकी थीं, मैंने एक चादर से मां के जिस्म को ढक दिया और खुद भी उनके साथ नंगा ही चिपक कर सो गया. मैं चाबी के छेद से देख रहा था, अंकल माँ के साथ आ रहे थे और कह रहे थे- आज तुम्हारा बेटा जल्दी तो नहीं आएगा?माँ ने कहा- नहीं।वह आदमी आज उत्साहित था, वह माँ के दूध दबा रहा था।माँ ने उससे पूछा- क्या आप पानी पिएंगे?वह कहने लगा- मैं आपके दूध का प्यासा हूँ, मुझे पिछले एक हफ्ते से आपको चोदने का मौका नहीं मिला.

अश्लील चित्र

चाचा जी पहले तो मेरी खूब जम कर गांड मारी और फिर चूत में लंड पेल दिया. मम्मी- नहीं नहीं प्रशांत, वो हमारा बेटा है, ये सब उसके सामने ठीक नहीं, मुझे शर्म आएगी. मैं थोड़ा गुससे और थोड़ी हंसी के साथ बोला- शनाज़ … ज़ोहरा आपा को लेकर इतना गलत मज़ाक ना करो … ज़ोहरा आपा मेरी बड़ी बहन हैं.

मैं रुक गया और थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद धीरे धीरे उसको चोदने लगा. आप लोगों को मेरी गांड चुदवाने की यह आपबीती कैसी लगी मुझे इसके बारे में जरूर बताना. भाभी ने काले रंग की एक पारदर्शी साड़ी पहनी हुई थी और वो भी एकदम कमर की नीचे … मेरे ख्याल से भाभी की चुत सिर्फ़ दो इंच नीचे रह गई होगी.

हमारा गाँव का घर बहुत बड़ा है और गाँव में केवल भैया भाभी और चाचा ही रहते हैं बाकी सब बाहर जॉब में हैं. इसलिए मैंने मन बहलाने के लिए ओल्ड मॉन्क की हाफ के पैग अकेले ही लगाने शुरू कर दिये. मैं भी शादी में गया लेकिन मुझे भाभी के साथ चुदाई भी करनी थी इसलिए मैं ज्यादा देर रुका नहीं और तबियत ठीक न होने का बहाना करके वापस घर आ गया.

फिर एक राउंड उसने थ्रीसम किया। उस कॉलबॉय ने हम दोनों को इतना खुश किया कि उस फीलिंग को शब्दों में लिखना संभव नहीं है।तो दोस्तो, आपको मेरी पहली कहानी कैसी लगी? मैं दुबारा फिर से माफी चाहती हूँ कि मेरी कहानी में अगर कोई गलती हो तो मेरी आप सब से हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि कृपया मुझे अपने अपने सुझाव मेरी मेल आई डी[emailprotected]पर दें. फिर मैंने चाची को कुतिया बना कर एकदम से उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

मैं भाभी की मदमस्त जवानी को देख कर उनके जिस्म को अपना बनाने के बारे में सोचने लगा था.

मैंने कमर पर नाईटी को पकड़ लिया और वो मेरी जाँघों को सहलाने लगा और मेरी चूत को मसलने लगा. ब्लू फिल्म हिंदी में दीजिएअपनी एक आंख मैंने चारू की ओर दबाई और एक हल्की सी फ्लाईंग किस चारू की ओर उछाल दी. સેક્સ વીડીયો સેક્સ વીડિયો… डॉगी स्टाइल में थरथराती नंगी गांड को दबोच कर पकड़े हुए मेरे हाथ … लम्बे खुले बाल और पसीने से भीगा देसी अधखुला ब्लाउज़ … संजना आंटी के बदन की कामुक महक और गरम सांसों की उन्हह्ह आंहह्ह की मादक सिसकारियां … आंटी का अपलक वासना की निगाहों से मुझे देखते रहना … कड़क लोहे लंड का अन्दर बाहर होना … इन सबसे एक अलौकिकता का वातावरण बन रहा था. मुझे बहुत अच्छा लगेगा आपकी राय जानकर। थैंक्यू फ्रेंड्स।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected].

ऐसा बोल कर भैया अन्दर कमरे में चले गए कि मेरी ऑफिस की क्लाइंट कॉल चल रही है.

मैंने भाभी की चूचियों को पीना शुरू कर दिया तो भाभी ने मुझे धक्का देकर पीछे हटा दिया. बाजी ने ये भी समझाया कि उसकी शादी नहीं हुई तो डॉक्टर बोले- जिसने ये किया उससे ही शादी कर दो. तो मैंने उसे उठाकर गले लगा लिया।फिर उसने मिठाई निकाली, हम दोनों ने खाई।उसने मुझे एक चांदी का छल्ला पहनाया।मैं बोला- भाभी, ये सब क्या है?वो बोली- राज, आज से मैं तुम्हारी बीवी हूं और मैं तुम्हारे बच्चे की मां बनना चाहती हूं। आज तुम भाभी संग सुहागरात मनाओ.

लेकिन पहली रात में जब वो मेरे पास में पहुँचे और जब मैंने उनका लंड देखा तो बिल्कुल छोटा था. मैंने दरवाजा खटखटाया तो दोस्त की बीबी ने ही दरवाजा खोला और मुस्मेंकुरा कर मेरा स्वागत किया, अंदर आने को कहा. पर आज शनाज़ ऐसे अनाड़ी जैसे लंड क्यों चूस रही है?मुझे लंड चुसवाने में मजा नहीं आया तो मैंने अपनी ज़ोहरा आपा के मुँह से अपना लंड निकाला और लंड को सीधा ज़ोहरा आपा की चूत की दरार के बीच में टिका दिया.

सेक्सी वीडियो देखने सेक्सी वीडियो

हालांकि उसके मुँह से तो आवाज नहीं निकल पाई, लेकिन आंखों से आंसू बहने लगे और बुर से खून निकलने लगा. जब मैं कॉलेज में प्रथम वर्ष में था तो जया अपनी बारहवीं पास करने वाली थी. सच कहूं तो मैंने कभी इतने बड़े लंड से सेक्स नहीं किया था, मन बहुत था लेकिन, मौका नहीं मिला.

मेरा हाथ भाभी की चूत पर पहुंचने ही वाला था कि भाभी ने मेरे हाथ को रोक लिया और बोली- अरे … रुक भी जाओ … इतने उतावले क्यों हो रहे हो … अभी पूरी रात पड़ी है।मोनिका भाभी ने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- यह बात किसी को पता नहीं चलनी चाहिए.

अब तक मुझे भी थकान से राहत मिल गई थी, तो मैं उठ कर तैयार हुई और उसके साथ चली गई.

मगर मन में एक बात भी थी तो मैंने रिंकी से पूछा- लंड चूसना कहां से सीखा?वो लंड चूसते हुए बोली- पोर्न देख कर सीख गयी. हैलो फ्रेंड्स, मैं परिमल एक बार फिर से आपको चाची और भाभी की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. नंगी तस्वीर दिखाओमैंने कहा- सच कहूं तो आप में वो बात है, जो किसी को भी पागल कर सकती है.

मेरी हाइट 5 फीट 6 इंच है, बॉडी ज्यादा मस्कुलर नहीं है, पर ठीक ठाक ही हूँ. उसकी मादक आवाजें तेज सांसों में बदल गईं और मेरे ऊपर ही गिर गई।मैं उसके कान के पास चूमते हुए बोला- मज़ा आया आपको?वो बोली- हां, बहुत मज़ा आया. मगर फिर मेरी जिद के कारण उसने लंड मुँह में ले लिया और धीरे धीरे पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

उसके कुछ धक्कों के बाद ही मेरा वीर्य निकल गया और मैं मौसी की चूत में झड़कर उसके ऊपर ही लेट गया. एक दिन मैंने उसे चूत में बैंगन डाल अन्दर बाहर करते देखा तो मेरा मन अपनी बहन की वासना शांत करने का होने लगा.

अब उमेश सर अपनी टी-शर्ट उतार कर लेट गए और उन्होंने मुझे इशारा किया.

खेत में चुदाई करवाते हुए मैं पूरा चुदक्कड़ हो गया था और मुझे चाचा के लंड की आदत हो गयी थी. अभी तक शादी का कुछ सोचा?मैंने उन्हें बताया- मेरे घर वाले मेरे लिए कोई लड़का देख रहे हैं. उसके शरीर में अकड़न होने लगी उसकी आवाज बंद हो गई।मैंने और तेज़ तेज़ झटके मारना शुरू कर दिया।थोड़ी देर बाद उसे जैसे होश आया वो चिल्लाने लगी- और जोर से चोद … और तेज़ तेज़ … फ़ाड़ दे मेरी … आहह आहह आहह ऊईई … और तेज़ तेज़!मैं समझ गया कि यह तेल का कमाल है।मेरा लौड़ा अंदर तक जाने लगा उसकी बच्चेदानी तक जा रहा था। आज उसे दर्द नहीं हो रहा था.

ब्लू फिल्म भेज दो ब्लू फिल्म तभी रिंकी बाहर आई और बोली- तुम यहां?तो मैंने बोल दिया- हां, अंकल तुम्हारा ध्यान रखने लिए बोल कर गए हैं. उसकी चीख निकल पड़ी- आहह आहह ऊईई आहह ऊईई ऊईई सीईई आहह!वो बोली- राज, मैं मर जाऊंगी निकाल बाहर!मैंने उसकी एक न सुनी और झटके पे झटके लगाने लगा.

मैं दोनों हाथों से उसकी चूची भींचने लगा और उसके होंठों को चूमता रहा. कुछ देर तक तो मैंने नाटक किया, फिर मैं सही से उनके लंड को चूसने लगी. और जैसे ही मैंने उसकी चूत पर मुंह ले जा कर किस किया तो वो जोर से चिल्लाने लगी और उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह की आवाज़ करने लगी और मेरे सर को अपनी चूत में दबाने लगी.

সেক্সি মুস্কান ট্যাংগো সেক্স ভিডিও

अब तक मैं अपने घर से बहुत आगे निकल आया था और सर का घर पास ही में था. दो दिन बाद टीना की कॉल आई- क्या कर रहे हो मेरे मीत?मैं- मैं अपनी जान टीना को ही याद कर रहा था. धीरे धीरे उनकी चूचियों को मेरे हाथ मसलते रहे और देखते ही देखते मामी की सिसकारियां निकलने लगीं.

इस पोजीशन में झुके झुके अवनीत को दिक्कत होने लगी तो उसने अपने हाथ मेज से हटाकर कुर्सी पर रख दिये जिसके कारण वो और ज्यादा झुक गई. भाभी खुशी के मारे जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आहाह्हा … ओहोहोह … आआह बहुत मजा आ रहा है … और जोर से चोदो आह.

बाप बेटी, भाई बहन की चुदाई कहानी के पहले भागछोटी बहन को पापा से चुदवा दियामें अपने पढ़ा कि कैसे मेरी बहन के साथ मिल कर मैंने बाप बेटी की चुदाई करवायी और उसमें मैं भी शामिल था.

उसके बाद उन्होंने मेरी पैंट को खोल दिया और अंडरवियर भी नीचे कर दिया. बहुत बार चुत चुदाई के बाद आखिर सेक्सी आंटी गांड मरवाने को भी राजी हो गईं. अम्मी 2 दिन तक उसे इस बात के लिए मनाती रही लेकिन वह तैयार नहीं हुई.

अब उमेश सर अपनी टी-शर्ट उतार कर लेट गए और उन्होंने मुझे इशारा किया. तूने आना तुम क्यों कर दिया है? आता रहा कर!शकील ने उत्तर दिया- टाइम मिलता है तो मैं आ जाता हूं. उसने पूछा- किस बात की माफी?तो मैं बोला- उस दिन जो पार्क में हुआ था, उस बात के लिए!अर्चना बोली- ऐसी छोटी-मोटी चीजें तो दोस्तों के बीच चलती रहती हैं.

मैंने भाई से पूछा, तो पता चला कि वह भाभी की कजिन है, जो भुवनेश्वर में ही पढ़ाई कर रही है.

गोवा के बीएफ सेक्सी: अब आगे सेक्स की गोली की कहानी:प्रियंका भाभी की चुत में मैंने दो मिनट में एक साथ अनगिनत धक्के मार दिए. जब मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने धीरे से अपने भाई के ऊपर मेरा एक पैर रख दिया और सोने का नाटक करने लगी.

मेरा भी पानी निकलने वाला था और मैंने उसकी चूत में ही पानी छोड़ दिया. मैंने दो टिकट साइड वाली सीट की ले लीं और हम हॉल में जाकर फिल्म देखने लगे. ’अब मेरी मादक आवाज निकल रही थी और भाभी लंड का पूरा स्वाद लेते हुए मुँह में अन्दर गले तक डालतीं और मस्ती से लंड चूसने लगतीं.

एक मिनट बाद अंकल ने अपनी एक उंगली मॉम की चूत में डाल दी और उसे आगे पीछे करने लगे.

उन्होंने पूछा- तुम कितने बजे कॉलेज आती हो रोज?मैंने उन्हें अपने कॉलेज की टाइमिंग बताई तो वो कहने लगे- मेरा भी उसी वक्त अपने बैंक जाना होता है. तभी गाना खत्म हुआ और माधवी भाभी ने मेरे पास आकर अपने आपको मेरे ऊपर गिरा दिया. मैंने भी उसे अपनी बांहों में उठाते हुए बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.